Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


स्वतंत्रता दिवस पर जमकर करें शॉपिंग

नयी दिल्ली। स्वतंत्रता दिवस के खास अवसर पर देश की दिग्गज कंपनियां ने अपने ग्राहकों के लिए फ्रीडम सेल का आयोजन किया है। इस मौके को और खास बनाने के लिए पेटीएम भी फ्रीडम कैशबैक सेल लेकर आया है। यह सेल 8 अगस्त से शुरु हो चुकी है और 15 अगस्त तक चलेगी। पेटीएम ने इस सेल के प्रमोशन में 100 करोड़ रुपए से ज्यादा का खर्च किया है।
वेबसाइट के अनुसार सेल के तहत पेटीएम अपने ग्राहकों को 100 करोड़ रुपए तक का कैशबैक देगी। 
सेल में इलेक्ट्रॉनिक्स, स्मार्टफोन्स सहित विभिन्न कैटेगरी के प्रोडक्ट्स पर ग्राहको को ऑफर्स, डील और कैशबैक मिलेगा। सेल में आईफोन पर 10,000 रुपए का तक कैशबैक। एफएमसीजी (दैनिक इस्तेमाल) प्रोडक्टस पर 30 फीसदी कैशबैक। वॉटर प्यूरिफायर पर 25 फीसदी तक कैशबैक। घडिय़ों पर 50 फीसदी, फैशन प्रोडक्टस पर 70 फीसदी तक का ऑफर। लैपटॉप और हैडफोन्स पर 20,000 रुपए तक का कैशबैक ऑफर। इसके अलावा नो कॉस्ट ईएमआई भी इन प्रोडक्टस पर ऑफर की जा रही है।
हर 12 घंटे मिलेगा ऑफर
पेटीएम की यह सेल अलग-अलग थीम पर आयोजित की जाएगी। इनमें मिडनाइट सुपर ऑफर, फ्लैश सेल, बाजार, रुपए 99 स्टोर और रुपए 1 डील शामिल हैं। मिडनाइट सुपर ऑफर के तहत रोजाना रात 10 बजे से सुबह 10 बजे तक यानी 12 घंटे ऑफर रहेगा। फ्लैश सेल हर दो घंटे पर आयोजित की जाएगी। बाजार के तहत रोजमर्रा के इस्तेमाल की चीजों की रेंज शामिल होगी, जो काफी किफायती कीमत पर उपलब्ध होंगी।
महाराष्ट्रमें ऋणमाफी योजनाके दायरेका विस्तार

मुम्बई। महाराष्ट्र सरकार ने एक ही कृषक परिवार में भिन्न ऋण खाते की स्थिति में उसके हर सदस्यों तक ऋणमाफी योजना का लाभ पहुंचाने के लिए इस योजना का विस्तार किया है। एक अधिकारी ने आज बताया कि इस संबंध में एक सरकारी आदेश जारी किया है।
इस बीच, यवतमाल के समीप एक गांव में बैंक द्वारा फसल के लिए कर्ज नहीं मिलने से निराश 32 साल के एक किसान ने कीटनाशक पीकर कथित रुप से खुदकुशी कर ली। महाराष्ट्र सरकार ने कहा कि उसने ऋणमाफी के तहत मार्च तक करीब 14000 करोड़ रुपये खर्च किये हैं।
सरकार ने कहा है कि योजना से अबतक राज्य में 35.32 लाख किसान लाभान्वित हुए हैं। इस ऋणमाफी योजना के दायरे के विस्तार के संबंध में दस अगस्त को एक सरकारी प्रस्ताव जारी किया गया। इस फैसले की घोषणा विधानसभा के मानसून सत्र में किया गया था। सरकारी प्रस्ताव के अनुसार परिवार के हर सदस्य पर यदि थोडा़ बहुत कृषि ऋण है तो वे सभी इसके अंतर्गत आयेंगे।
इस बीच, यवतमाल के समीप कृष्णापुर गांव में आज शाम खुदकुशी करने वाले 32 वर्षीय किसान प्रकाश निखाडे के बारे में उसके परिवार के सदस्यों ने दावा किया कि चार एकड़ क्षेत्र में कपास की फसल बाढ़ के चलते नष्ट हो जाने के कारण वह बहुत ज्यादा परेशान थे। परिजनों ने यह भी आरोप लगाया कि बैंक ने फसल के लिए उसे नया कर्ज देने से इनकार कर दिया। हालांकि पुलिस ने कहा कि निखाड़े के इस अतिवादी कदम के पीछे की वजह की जांच चल रही है।
एसबीआई बना देशका सबसे देशभक्त ब्रांड
नयी दिल्ली। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) को देश का सबसे समर्पित और देशभक्त ब्रांड बताया गया है। एसबीआई ने यह स्थान टाटा मोटर्स, पतंजलि, रिलायंस जियो और बीएसएनएल जैसी जानी-पहचानी कंपनियों को पछाड़कर हासिल किया है। ब्रिटेन की ऑनलाइन मार्केट रिसर्च और डेटा एनालिसिस फर्म यूगॉव  (ङ्घशह्वत्रश1) के सर्वे में यह सामने आया है। सर्वे में शामिल करीब 16 फीसदी लोगों ने एसबीआई को सबसे अग्रणी देशभक्त ब्रांड बताया। टाटा मोटर्स और पतंजलि के पक्ष में आठ-आठ प्रतिशत लोगों ने वोट किया। 6 फीसदी ने रिलायंस जियो और बीएनएनएल को चुना। सर्वे में 11 कटिगरी के 152 ब्रैंड्स शामिल थे। 2 अगस्त से 8 अगस्त के बीच हुए इस सर्वे में 1,193 लोगों ने हिस्सा लिया था।
सेक्टर्स की बात करें तो वित्त सेक्टर को सबसे ज्यादा देशभक्त बताया गया। इसमें एसबीआई और लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन (एलआईसी) को लोगों ने सबसे ज्यादा वोट किया। वित्त सेक्टर के बाद ऑटो, कन्ज्यूमर गुड्स, फूड और टेलिकॉम सेक्टर्स का नंबर रहा।
एसबीआई सबसे आगे
वित्त सेक्टर में एसबीआई 47 प्रतिशत वोटों के साथ सबसे आगे रहा। दूसरे नंबर पर एलआईसी (16 प्रतिशत) था। ऑटो सेक्टर में टाटा मोटर्स 30 प्रतिशत के साथ पहले और भारत पेट्रोलियम 13 प्रतिशत के साथ दूसरे और मारुति सुजुकी 11 प्रतिशत के साथ तीसरे नंबर पर थे।
पर्सनल केयर में पतंजलि आगे
फूड ब्रैंड में अमूल एक तिहाई लोगों की पंसद बनकर सबसे पहले नंबर पर रहा। वहीं रामदेव का पतंजलि ब्रैंड दूसरे नंबर पर था। हालांकि, पर्सनल केयर स्पेस में पतंजलि सबसे आगे है। यहां उसने डाबर और वीको जैसे जानेमाने और पुराने नामों को पछाड़ा। टेलिकॉम सेक्टर में बीएसएनएल ने 41 प्रतिशत लोगों की पंसद बनकर जियो आदि को पछाड़ दिया।