Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


एसबीआईमें छमाही के दौरान 5,555 करोड़की धोखाधड़ी

इंदौर। देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई में मौजूदा वित्त वर्ष की पहली छमाही के दौरान कुल 5,555.48 करोड़ रुपये की बैंकिंग धोखाधड़ी के 1,329 मामले सामने आये। मध्य प्रदेश के नीमच निवासी आरटीआई कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ ने मंगलवार को बताया कि सूचना के अधिकार के तहत उन्हें यह जानकारी मिली। उन्होंने अपनी आरटीआई अर्जी पर भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की ओर से भेजे गए जवाब के हवाले से बताया कि इस वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) में बैंक में कुल 723.06 करोड़ रुपये की बैंकिंग धोखाधड़ी के 669 मामले सामने आये। एसबीआई में जारी वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) में कुल 4832.42 करोड़ रुपये की बैंकिंग धोखाधड़ी से संबंधित 660 प्रकरण प्रकाश में आये। गौड़ ने अपनी आरटीआई अर्जी में एसबीआई से यह भी पूछा था कि आलोच्य अवधि के दौरान बैंकिंग धोखाधड़ी से खुद बैंक को कितना वित्तीय नुकसान हुआ। इस पर बैंक ने जवाब दिया कि इस नुकसान की रकम का परिमाण तय नहीं किया जा सकता। आरटीआई कार्यकर्ता ने एसबीआई से यह भी जानना चाहा था कि आलोच्य अवधि में उसके कितने ग्राहक बैंकिंग धोखाधड़ी के शिकार हुए और इस वजह से उन्हें कितनी रकम गंवानी पड़ी। हालांकि, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ने संबंधित प्रश्न पर कहा कि चूंकि इस तरह की जानकारी उसके द्वारा सामान्य तौर पर इक_ी नहीं की जाती। इसलिए सूचना के अधिकार अधिनियम 2005 के सम्बद्ध प्रावधानों के तहत उसे इसके खुलासे से छूट प्राप्त है।
आईटेलने लांच किया मेगा फेस्टिव बोनांजा ऑफर
भारतमें 4 करोड़ से अधिक प्रसन्न ग्राहकों के साथ आईटेल परिवार और ज्यादा मजबूत हो गया है। इस सफलता की खुषी मनाते हुए, अरिजीत तालापात्रा, सीईओ, ट्रांजिय़न इंडिया ने कहा, 'भारत ट्रांजिय़न के लिए एक मुख्य बाजार है और इतने कम समय में 4 करोड़ से ज्यादा ग्राहक बन जाना भारत में हमारी बेहतरीन समूह के प्रयासों का परिणाम है। इस महत्वपूर्ण उपलब्धि को लगभग 2 वर्षों में हासिल किया गया, जिसमें बहुत ही मजबूत नेटवर्क के साथ ग्राहकों ने किफायती दाम में बेहतरीन सेवा समर्थन और बेजोड़ उत्पाद का अनुभव किया। ग्राहकों के लिए मेगा फेस्टिव बोनांज़ा ऑफर भारत में 10 अक्टूबर से षुरु होगा और 13 नवंबर तक चलेगा। 35 दिनों की इस अवधि में आईटेल स्मार्टफोन खरीदने वाले किसी भी ग्राहक को आकर्शक पुरस्कार जीतने का मौका मिलेगा। दैनिक पुरस्कार में प्रतिदिन 10 गोल्ड सिक्के और 1 मोटरबाईक दिए जाएंगे तथा प्रमोषन की अवधि के अंत में जैकपॉट पुरस्कार में 1 कार दी जाएगी। ग्राहकों के लिए ये त्योहार यादगार और बढिय़ा बनाने के लिए इस ऑफर में कुल 350 गोल्ड सिक्के, 35 मोटरबाईक्स और 1 कार दी जाएगी।
स्टार भारत के अपकमिंग शो के साथ तैयार हैं गौतम रोडे
दो साल के ब्रेक के बाद गौतम रोडे स्टार भारत के अपकमिंग शो कालभैरव रहस्य के दूसरे सीजन के साथ छोटे पर्दे पर लौटने को तैयार हैं। शो बहुत जोश-खरोश के साथ लौट रहा है लेकिन सुनने में आया है कि गौतम रोडे बीमार पड़ गए जिसकी वजह से काल भैरव रहस्य की शूटिंग रद्द करनी पड़ी। काल भैरव रहस्य एक सोशल-थ्रिलर शो है। शो का पहला सीजन भोपाल में शूट किया गया था जिसमें छवि पांडेय, राहुल शर्मा और सरगुन कौर मुख्य भूमिकाओं में थे। काल भैरव के दूसरे सीजन की शूटिंग की प्रक्रिया चल रही है और इसकी कहानी पहले सीजऩ से अलग होगी। हाल ही में शो की टीम भोपाल में एक आउटडोर शूट के लिए तैयार थी। लेकिन आखिरी समय में शूट कैंसिल करना पड़ा क्योंकि गौतम रोडे अचानक बीमार पड़ गए। इसकी पुष्टि करते हुए गौतम कहते हैं, हाँ, हम लोग भोपाल शूट के लिए निकलने ही वाले थे लेकिन मुझे वायरल फीवर हो गया। मैं शूट करने की स्थिति में नहीं था। अपनी वापसी के बारे में गौतम कहते हैं, कुछ प्रोजेक्ट्स ऐसे होते हैं जिनको आप ना नहीं कह सकते और श्काल भैरव रहस्यश् एक ऐसा ही शो है।
पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क कटौती, साखकी दृष्टिसे नकारात्मक
नयी दिल्ली। पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क कटौती भारत की साख की दृष्टि से नकारात्मक है। मूडीज इन्वेस्टर सर्विस ने मंगलवार को कहा कि इससे न केवल सरकार का राजस्व घटेगा बल्कि मार्च, 2019 को समाप्त होने वाले वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा भी बढ़कर सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 3.4 फीसदी पर पहुंच सकता है। मूडीज ने कहा कि इससे सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम विपणन कंपनियों (ओएमसी) की आय पर भी नकारात्मक असर होगा क्योंकि उन्हें मूल्य कटौती में एक रुपए प्रति लीटर का बोझ उठाना है। सरकार ने शुक्रवार को पेट्रोल, डीजल पर उत्पाद शुल्क में डेढ़ रुपए प्रति लीटर की कटौती की है।
 इससे चालू वित्त वर्ष में सरकार को 10,500 करोड़ रुपए के राजस्व का नुकसान होगा। मूडीज ने बयान में कहा, ''कुल मिलाकर उत्पाद शुल्क कटौती साख की दृष्टि से नकारात्मक है। इसके अलावा इससे सरकार का राजस्व संग्रहण घटेगा और देश का राजकोषीय घाटा बढ़ेगा।ÓÓ
अमेरिका की रेटिंग एजेंसी ने कहा कि सरकार ने पहले ही अगस्त, 2018 तक 94.7 फीसदी का बजटीय सालाना राजकोषीय घाटा छू लिया है। ऐसे में राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को पाने के लिए सरकार को अपने पूंजी व्यय में कटौती करनी होगी। हमारा अनुमान है कि सरकार का राजकोषीय घाटा फिसलकर जीडीपी के 3.4 फीसदी पर जा सकता है। वहीं केंद्र और राज्य का संयुक्त राजकोषीय घाटा सकल घरेलू उत्पाद के 6.3 फीसदी पर रहेगा। मूडीज ने कहा कि वित्त वर्ष 2013-14 से सरकार का पेट्रोलियम उत्पादों पर उत्पाद शुल्क से राजस्व दोगुना से अधिक हो गया है। राज्य सरकारें ईंधन मूल्य पर फीसदी से उन्हें फायदा हो रहा है। केंद्र ने राज्यों से पेट्रोल, डीजल पर वैट ढाई रुपए लीटर घटाने की अपील की है। उसके बाद से भाजपा और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) शासन वाले कई राज्यों महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश, त्रिपुरा, असम, झारखंड, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश ओर मध्य प्रदेश ने वैट में कटौती की है।