Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


हवाई सफर करने वालोंकी जेबपर घटेगा बोझ

नयी दिल्ली। अगर आप अक्सर हवाई यात्रा करते रहते हैं तो आपकी जेब पर पडऩे वाला बोझ घटने वाला है। आने वाले दिनों में हवाई सफर के टिकटों के दामों में कटौती हो सकती है। दरअसल, तेल विपणन कंपनियों ने घरेलू विमान सेवा कंपनियों के लिए 01 दिसंबर से विमान ईंधन की कीमत में 10 से 11 प्रतिशत तक की कटौती की है, जिससे वित्तीय संकट से जूझ रहे विमानन क्षेत्र को काफी राहत मिलेगी। उल्लेखनीय है कि विमान सेवा कंपनियों की कुल लागत का 35 से 40 प्रतिशत विमान ईंधन पर खर्च होता है। इसकी बढ़ती कीमतों के कारण चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में अंतरराष्ट्रीय और घरेलू, दोनों विमान सेवा कंपनियों की वित्तीय स्थिति बुरी तरह प्रभावित हुई है। दिल्ली में नवंबर में विमान ईंधन की कीमत 76,378.80 रुपए प्रति किलोलीटर पर पहुंच गई थी, जो ऐतिहासिक दूसरा उच्चतम स्तर है। अक्टूबर 2013 में इसकी कीमत 77 हजार रुपए प्रति किलोलीटर के पार रही थी।  देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में आई गिरावट और डॉलर की तुलना में रुपए की मजबूती से दिसंबर महीने के लिए विमान ईंधन की कीमत 8,327.83 रुपए यानी 10.90 प्रतिशत घटाकर 68,050.97 रुपए प्रति किलोलीटर तय की गयी है। यह मई 2018 के बाद का निचला स्तर है। कोलकाता में विमान ईंधन 9.88 प्रतिशत सस्ता होकर 73,393.55 रुपए, मुंबई में 10.57 प्रतिशत सस्ता होकर 67,979.58 रुपए और चेन्नई में 10.71 प्रतिशत सस्ता होकर 69,216.61 रुपए प्रति किलोलीटर हो गया है। गौरतलब है कि घरेलू विमान सेवा कंपनियों के विमान ईंधन की कीमत कम करने का असर आम जनता पर भी दिखेगा। ईंधन के सस्ते होने से एयरलाइन्स टिकटों की कीमतों में भी कटौती कर सकती है।
फोर्ड इंडियाने नवंबरमें की रिकॉर्ड वाहनों की बिक्री

नयी दिल्ली। प्रमुख वाहन निर्माता फोर्ड इंडिया ने नवंबर में कुल 19,905 वाहनों की बिक्री की, जबकि एक साल पहले इसी महीने में कंपनी ने कुल 27,019 वाहनों की बिक्री की थी। कंपनी ने शनिवार को यह जानकारी दी। फोर्ड इंडिया ने एक बयान में कहा कि नवंबर में घरेलू थोक बिक्री कुल 6,375 वाहनों की हुई, जबकि पिछले साल नवंबर में कंपनी ने कुल 7,777 वाहनों की बिक्री की थी। वहीं, इस साल नवंबर में कंपनी ने कुल 13,530 वाहनों का निर्यात किया, जबकि 2017 के नवंबर में कंपनी ने कुल 19,242 वाहनों का निर्यात किया था। फोर्ड इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अनुराग मेहरोत्रा ने कहा, "अर्थव्यवस्था की स्थिति खराब होने के कारण लोग वाहन खरीदने का विचार नहीं कर रहे हैं। हमारा अनुमान है कि ईंधन कीमतों में उतार-चढ़ाव जारी रहने और महंगाई बढऩे के कारण यात्री वाहन उद्योग पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। उन्होंने आगे कहा, "हमारे पुरस्कार विजेता और मूल्य से भरपूर उत्पादों के बाद हमने साल 2018 में उद्योग से बेहतर प्रदर्शन किया और अगले साल हम मजबूत ब्रांड, सही उत्पाद, प्रतिस्पर्धी कीमत और प्रभावी परिमाण की अपनी रणनीति को जारी रखेंगे।