Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


अब प्लेनके अंदर भी चला सकेंगे इंटरनेट

पिछले काफी समय से चर्चा का विषय बने हुए प्लेन के अंदर इंटरनेट इस्तेमाल करने के मामले को लेकर भारतीय दूरसंचार विनियामक ने कहा है कि भारतीय हवाई क्षेत्र में विमानों के अंदर (इन फ्लाइट कनेक्टिविटी या आईएफसी) इंटरनेट और मोबाइल कम्यूनिकेशन ऑन बोर्ड (एमसीए) सेवाएं प्रदान करने की अनुमति दी जानी चाहिए। ट्राई ने कहा कि इस मुद्दे पर प्राप्त परामर्श और खुली परिचर्चा के बाद उसने यह निर्णय लिया है और एमसीए सेवाओं के परिचालन की अनुमति स्थानीय मोबाइल नेटवर्क के साथ अनुकूलता के लिए न्यूनतम 3,000 मीटर की ऊंचाई प्रतिबंध के साथ दी जानी चाहिए। इसके अलावा अपने बयान में ट्राई ने कहा कि वाई-फाई ऑनबोर्ड के द्वारा इंटरनेट सेवाएं तब दी जानी चाहिए, जब इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसों को केवल फ्लाइट/एयरप्लेन मोड में इस्तेमाल करने की अनुमति दी जाती है।
भारतीय यात्रियोंको लुभा रहीं एयरलाइंस कंपनियां
बड़ी एयरलाइंस कंपनियों ने दुनियाभर का भ्रमण करने वाले भारतीयों को लुभाने के लिए टिकट की दरों में छूट का ऐलान किया है। ऑफर्स के तहत खाड़ी देशों से 10,000 रुपए, यूरोपीय देशों से 33,000 रुपए और नॉर्थ अमरीकी देशों से वापसी के टिकट 55,000 रुपए से शुरू हो रहे हैं। अभी कुछ भारतीय और विदेशी एयरलाइंस कंपनियां इन पॉपुलर रूट्स के लिए सामान्य कीमतों से 30 प्रतिशत सस्ते टिकट दे रही हैं। कंपनियां अलग-अलग अवधि में सेल ऑफर कर रही हैं और यह भी बता रही हैं कि किस खास समय अवधि में यात्रा के टिकट लेने पर ऑफर्स मिलेंगे। दरअसल विदेशी एयरलाइंस कंपनियां भारतीय कंपनियों का अनुकरण करते हुए ऑफर्स लांच कर रही हैं। भारतीय कंपनियां घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के लिए लगातार डिस्काऊंट ऑफर्स का ऐलान कर रही हैं। जेट एयरवेज पैरिस, एम्सटर्डम और वियना के टिकटों पर 20 प्रतिशत की छूट दे रहा है। तुर्की एयरलाइंस तो अपने मोबाइल ऐप के लेटैस्ट वर्जन से टिकट बुक करने वाले सभी यात्रियों को 15 प्रतिशत डिस्काऊंट ऑफर कर रही है। इसी तरह गल्फ करियर्स ने भी कुछ अवधि के लिए किराए में कटौती की है। वहीं, अमीरात, एतिहाद और कतर एयरवेज भारतीय हवाई यात्रियों को आकर्षित करने की दौड़ में सबसे आगे हैं। अमीरात ने कहा कि इकॉनमी क्लास से दिल्ली से मध्य पूर्व (पश्चिम एशिया) के देशों के लिए 13,600 रुपए, यूरोप के लिए 34,800 रुपए और अमरीका के लिए 57,400 रुपए के ऑल-इन्क्लूसिव टिकट मिल रहे हैं।
इंदिरा गांधी एयरपोर्टने बनाया नया रेकॉर्ड
इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट (आई.जी.आई.ए.) पर बढ़ते एयर ट्रैफिक ने एक नया रिकॉर्ड बना दिया है। पिछले दिनों यहां से हुए फ्लाइट मूवमैंट की संख्या इतनी अधिक हो गई कि उसने वल्र्ड के सबसे बिजी एयरपोर्ट में से एक लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट को भी पछाड़ दिया। इंडिया के किसी भी एयरपोर्ट के मुकाबले यह सबसे अधिक मूवमैंट रहा। दिल्ली एयरपोर्ट के एक अफसर ने बताया कि लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट पर 24 घंटे में अधिकतम 1300 फ्लाइट मूवमैंट होते हैं। इनमें टेक ऑफ  और लैंडिंग दोनों शामिल होते हैं। पिछले दिनों दिल्ली के आई.जी.आई. एयरपोर्ट के दोनों डोमैस्टिक और इंटरनैशनल टर्मिनल से हुए फ्लाइट मूवमैंट 1300 से भी ज्यादाहैं। हालांकि ऐसी स्थिति बहुत दिनों तक नहीं रही। अधिकारी ने बताया कि मौजूदा समय में दिल्ली एयरपोर्ट पर इतनी अधिक जगह नहीं रह गई है कि और अधिक फ्लाइट मूवमैंट को सहन कर सके। यहां एक घंटे में अधिकतम 73 फ्लाइट मूवमैंट कराए जा सकते हैं। कई बार यह संख्या 73 से भी अधिक पहुंची है। अधिकारी का कहना है कि वल्र्ड के टॉप-10 बिजी एयरपोर्ट की लिस्ट में शामिल होने के लिए तो अभी दिल्ली दूर है क्योंकि इसके लिए लगातार सालभर उतना एयर ट्रैफिक होना चाहिए जितना कि अन्य एयरपोर्ट पर नहीं होता हैण। अब वह दिन भी दूर नहीं जब दिल्ली का एयरपोर्ट वल्र्ड के सबसे बिजी एयरपोर्ट की लिस्ट में शामिल हो जाएगा। इसके लिए दिल्ली में एक और रनवे बनाया जाना होगा। साथ ही पुराने ए.टी.सी. टावर की जगह आधुनिक राडार और अन्य उपकरणों से लैस नए बनकर तैयार खड़े टावर से एयर ट्रैफिक मूवमैंट शुरू करने होंगे जिसमें लगातार देरी हो रही है।
बिल एण्ड मेलिंडिया गेट्स फाउंडेशन कार्यक्रमकी फंडिंग
'द थर्ड ऑय,Ó एशियन सेंटर फॉर एंटरटेनमेंट एजुकेशन का कार्यक्रम है, जो की ग्लोबल हेल्थ एंड सस्टेनेबिलिटी ऑफ हॉलीवुड हेल्थ एंड सोसाइटी, नार्मन लिअर सेन्टर, यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ कैलिफोर्निया, अन्नेबेर्ग का सहयोगी है। इस कार्यक्रम की फंडिंग बिल एंड मेलिंडिया गेट्स फाउंडेशन द्वारा की गयी है, जिसकी सहभागिता ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च कांक्ट्रोल ओर्मक्स मीडिया एवं स्कूल ऑफ आइडियाज, इंडिया के साथ है। एशियन सेंटर फॉर एंटरटेनमेंट एजुकेशन की निदेशक विनता नंदा कहती हैं की, बाल विवाह, कम उम्र में माँ बनना, लड़के का जन्म चाहना, दो बच्चों के बीच कम फासला और पुरुषों की परिवार नियोजन से दुरी, इन पांच प्रमुख कारणों से ही आज जनसंख्या विस्फोट हो रहा हैं। जी मैजिक के धारावाहिक 'हम पांच फिर सेÓ और जी बिग गंगा के प्रसिद्द रियल्टी शो 'बिग मेमसाबÓ के 22 जनवरी पर्यंत आने वाले एपिसोड अब कहानी के माध्यम से आज के समाज की ज्वलंत समस्याओं को दर्शकों के सामने रखेंगे। एशियन सेंटर फॉर एंटरटेनमेंट एजुकेशन के तत्वावधान में किया गए शोध को लागू करते हुए अब ये कार्यक्रम दर्शकों को मनोरंजन से कही कुछ ज्यादा प्रदान करेंगे।इस सप्ताह 24 एवं 25 जनवरी को बिग मैजिक पर आने वाले धारावाहिक 'हम पांच फिर सेÓ में कहानी के बिभिन्न चहेते चरित्र एक गाव में बाल विवाह को रुकवायेंगे।