Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


नवीनतम समाचार » नई खबर...

नई खबर...

योजनाओंके क्रियान्वयनमें काशी गोमती ग्रामीण बैंकका महत्वपूर्ण योगदान
वाराणसी। पूर्वी उत्तर प्रदेश के आठ जिलों में कार्यरत काशी गोमती संयुक्त ग्रामीण बैंक की 444 शाखाओं द्वारा प्रधानमंत्री की विभिन्न लाभकारी योजनाओं का सफल क्रियान्वयन किया जा रहा है। बैंक के प्रधान कार्यालय, सिगरा एवं स्थानीय होटल के सभागार में उपस्थित ग्रामीण बैंक के शाखा प्रबन्धकों, क्षेत्रीय प्रबन्धकों, मुख्य प्रबन्धकों एवं बैंक के शीर्ष अधिकारियों के समूह को सम्बोधित करते हुए यूनियर बैंक आफ इण्डिया के कार्यकारी निदेशक विनोद कथूरिया ने यह उद्गार व्यक्त करते हुए ग्रामीण बैंक कार्मिकों की भूरि भूरि प्रशंसा की। कार्यपालक निदेशक का स्वागत करते हुए बैंक के अध्यक्ष भोला प्रसाद ने बैंक की उपलब्धियों से अवगत कराते हुए इस तथ्य पर भी प्रकाश डाला कि इस बैंक ने वर्तमान बैकिंग परिदृश्य के प्रत्येक परिक्षेत्र में सदैव अग्रणी भूमिका निभाई है और पूर्णत: सीबीएस होने के साथ बैंक का कुल व्यवसाय वर्तमान में रू० 13000 करोड़ से ऊपर हो गया है। उक्त अवसर पर बैंक के विभिन्न पैरामीटर्स पर उत्कृष्टï कार्य करने वाले शाखा प्रबन्धकों अधिकारियों को कार्यपालक निदेशक द्वारा प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर बैंक के महाप्रबन्धकगण श्री कैलाश नाथ, श्री राजीव श्रीवास्तव एवं श्री एसके वैश्य ने भी बैंक की प्रगति पर चर्चा करते हुये बैंक के विभिन्न लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु अपनाये गये कार्ययोजना/रणनीति से अवगत कराया। कार्यक्रम का संचालन श्री राजेश श्रीवास्तव, मुख्य प्रबंधक एवं श्री सुनील कुमार गौड़, मुख्य प्रबंधक एवं आभार व्यक्त श्री एसेे वैय, महाप्र्रबन्धक ने किया।
घरेलू विमान यात्रियोंकी संख्या १६ फीसदी बढ़ी
नयी दिल्ली। देश के घरेलू विमान यात्रियों की संख्या में अगस्त में 15.63 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई और कुल 96.90 लाख लोगों ने विमान यात्रा की, जबकि साल 2016 के समान माह में यह आंकड़ा 83.81 लाख का था। क्रमिक आधार पर जुलाई में घरेलू हवाई यात्रियों की संख्या में 12.43 फीसदी की वृद्धि हुई थी और कुल 95.65 लाख लोगों ने सफर किया। नागरिक उड्डयन नियामक नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के आंकड़ों के मुताबिक जनवरी से अगस्त के बीच यात्रियों की संख्या में करीब 17 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई। डीजीसीए ने अपनी मासिक घरेलू ट्रैफिक रिपोर्ट में कहा ?कि जनवरी से अगस्त के दौरान कुल 754.11 लाख यात्रियों ने घरेलू विमान यात्रा की, जबकि पिछले साल की समान अवधि के दौरान यह आंकड़ा 644.68 लाख थी। इस तरह से कुल 16.97 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है। आंकड़ों के मुताबिक अगस्त में किफायती विमान सेवा (एलसीसी) स्पाइसजेट के पास सबसे ज्यादा यात्री लोड फैक्टर 94.5 फीसदी था।
लक्मे फैशन वीकके बेस्ट लुक
नयी दिल्ली। अब समय आ गया है त्योहारों के लिए तैयार होने का आप इस दौरान काफी मौज-मस्ती करेंगी लेकिन इस दौरान ट्रेंडी और स्टाइलिश दिखना भी बेहद जरूरी है। इस सीजन में लक्मे फैषन वीक विंटर/फेस्टिव 2017 रनवे के बिलकुल नए लुक्स से प्रेरणा लें लक्मे के मेकअप एक्सपर्ट डोनल्ड सिमरॉक  और संध्या शेखर आपके लिए लेकर आ रहे हैं लक्मे फैषन वीक के बेस्ट लुक, जो त्योहारी सीजन के लिए बिलकुल उपयुक्त हैं। इन लुक को पाएं सिर्फ 4 साधारण स्टेप्स में।
पैनासोनिक ने पेश किया इलुगा रे 500, इलुगा रे 700
नयी दिल्ली। पैनासोनिक इंडिया ने अपने दो कैमरा केंद्रित स्मार्टफोन, इलुगारे 500 और इलुगा रे 700 पेश किए हैं।कंपनी ने अपना पहला ड्युअल कैमरा फोन, इलुगारे 500 पेष किया है, जिसमें 120 डिग्रीअल्ट्रा-व्हाईट 8 मेगापिक्सल एवं 13 मेगापिक्सल रियर कैमरा के बीच स्विच कर सकता है। इलुगा सीरीज़ में इस दो नए स्मार्टफोंस का मूल्य 8999 रु. इलुगा रे 500 के लिए तथा 9999 रु. इलुगा रे 700 के लिए है। ये 20 सितंबर, 2017 से फ्लिपकार्ट के बिगबिलियन डे के दौरानकेवल फ्लिपकार्ट पर उपलब्ध होंगे।
 महिन्द्राने किया ड्राइवर रहित टै्रक्टरका प्रदर्शन
गोरखपुर। महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा ने भारत के पहले चालक रहित टै्रक्टर का प्रदर्शन किया । चैन्नई स्थित समूह के इनोवेशन तथा टेक्नोलॉजी हब महिन्द्रा रिसर्च वैली में विकसित यह चालक रहित टै्रक्टर वैश्विक किसानों के लिए मशीनीकरण प्रक्रिया को पुनर्परिभाषित करने के लिए तैयार है। इस लांच के साथ इस चालक रहित टै्रक्टर की अदभूत प्रपोजिशन के साथ महिन्द्रा भारतीय टै्रक्टर उद्योग में अग्रगामी बन गया है। यह इनोवेशन उत्पादकता बढाकर दुनियाभर में खाद्यान्न की बढ़ती जरूरतों को पूरा करने के लिए उत्पादकता बढाकर भविष्य की खेती को बदल देगा। इस अवसर पर महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. पवन गोएनका ने कहा कि हमारा टै्रक्टर आर एण्ड डी  कटिंग एज साल्युशंस के अग्रगामी होने में हमेशा से आगे रहा है।  चालक रहित टै्रक्टर का आज किया गया प्रदर्शन हमारे लिए गर्व का एक और अवसर है क्योंकि इसने कृषि में नई संभावनाओं को खोल दिया है।
तेल, गैस क्षेत्रमें सहयोग बढ़ायेंंगे भारत, कजाकिस्तान
नयी दिल्ली। भारत और कजाकिस्तान ने तेल एवं गैस क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने के उपायों पर चर्चा की। साथ ही अंतरराष्ट्रीय उार-दक्षिण परिवहन गलियारा आईएनएसटीसी को कजाकिस्तान-तुर्कमेनिस्तान-ईरान रेल संपर्क से जोड़कर इसके विस्तार पर बातचीत की। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान की अगुवाई में एक प्रतिनिधिमंडल भारत-कजाकिस्तान अंतर-सरकारी आयोग आईजीसी की बैठक में भाग लेने के लिये अस्ताना गया हुआ है। इसके सह-अध्यक्ष कजाकिस्तान के र्जा मंत्री कानत बोजुमबायेव हैं। बैठक के दौरान दोनों पक्षों ने दोनों देशों के बीच र्जा क्षेत्र, व्यापार, आर्थिक निवेश, परिवहन और संपर्क, कृषि, सूचना प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष, स्वास्थ्य और सांस्कृतिक क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के उपायों पर चर्चा की। यहां जारी एक आधिकारिक बयान के अनुसार दोनों पक्षों ने हाइड्रोकार्बन की खोज और उत्पादन तथा तेल एवं गैस क्षेत्र में बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में निवेश को लेकर सहयोग बढ़ाने की संभावना पर भी चर्चा की। ओएनजीसी विदेश लि. की कैस्पियन सागर में स्थित सातपायेव तेलफील्ड में 25 प्रतिशत हिस्सेदारी है। परमाणु र्जा के क्षेत्र में दोनों पक्ष परमाणु विग्यान के स्वास्थ्य एवं कृषि क्षेत्र में उपयोग पर काम करने को सहमत हुए। बयान के मुताबिक, दोनों पक्षों ने अंतरराष्ट्रीय उार-दक्षिण परिवहन गलियारा को कजाकिस्तान-तुर्कमेनिस्तान-ईरान रेल संपर्क से जोड़कर उसके विस्तार की संभावना पर चर्चा की। आईएनएसटीसी भारत, रूस, ईरान, यूरोप और मध्य एशिया के बीच माल की ढुलाई के लिये 7,200 किलोमीटर लंबा पोत, रेल और सड़क मार्ग का नेटवर्क है।
यह मार्ग मुख्य रूप से भारत, ईरान, अजरबैजाना और रूस के बीच माल के आवागमन के लिये है।
भारत और कजाकिस्तान कृषि, खनन और नागर विमानन क्षेत्र में द्विपक्षीय संबंधों के विकास पर भी सहमत हुए।
बयान के अनुसार दोनों नेता द्विपक्षीय लाभ के लिये कजाकिस्तान में खासकर हाइड्रोकार्बन क्षेत्र में भारतीय निवेशकों से जुड़े मुद्दों का समाधान कर तेल एवं गैस क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए।
इस मौके पर बोजुमबायेव ने विभिन्न क्षेत्राों खासकर हाइड्रोकार्बन क्षेत्र, बुनियादी ढांचा, परमाणु र्जा के शांतिपूर्ण उपयोग, खाद्य प्रसंस्करण और सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में सहयोग और फिल्मों के सह-निर्माण में भारतीय निवेशकों को निवेश का न्यौता दिया।
दोनों पक्षों ने प्राथमिकता वाले निर्यात जिंसों की सूची का भी आदान-प्रदान किया।