Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


नवीनतम समाचार » दैनिक मंडी समीक्षा

दैनिक मंडी समीक्षा

नयी दिल्ली। दाल मिलों की मांग बढऩे से उड़द, मूंग व मसूर के भाव 50 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ गये। काबली चना भी ग्राहकी निकलने से 100 रुपए सुर्ख हो गया। आटा मिलों की मांग से लारेंस रोड पर गेहूं के भाव पूर्वस्तर पर मजबूत रहे। ग्राहकी कमजोर होने से चीनी के भाव 5/25 रुपए और नीचे आ गये। वहीं सप्लाई कमजोर होने से गुड़ 100 रुपए बढ़कर 3700/3800 रुपए हो गया। विदेशों के मंदे समाचार आने से कांदला में सीपीओ 20 रुपए नरम पड़ गया। अखाद्य तेलों में उठाव न होने से अरंडी तेल 50 रुपए घट गया। आयातकों की बिकवाली कमजोर होने से बादाम कैलिफोर्निया 100 रुपए प्रति 40 किलो तथा इसकी गिरी 7/10 रुपए प्रति किलो बढ़ गयी।
अनाज-दाल-दाल मिलों की मांग निकलने तथा आयातकों की बिकवाली कमजोर होने से रंगूनी उड़द के भाव 50 रुपए बढ़कर 5200/5250 रुपए प्रति क्विंटल हो गये। सीमित बिकवाली से मसूर, देसी चना 50 रुपए तथा काबली चने के भाव 100 रुपए बढ़ाकर बोले गये। आटा मिलों की मांग से लारेंस रोड पर गेहूं के भाव 1965/1980 रुपए पर मजबूत रहे। छिटपुट मांग से आटा, मैदा व सूजी में भी स्थिरता रही। कैटलफीड वालों की लिवाली से मक्की 1435/1440 रुपए तथा बाजरे के भाव 1475/1500 रुपए पर मजबूत रहे।
तेल-तिलहन-विदेशों में सीपीओ के भाव 5 डॉलर घटकर 565 डॉलर प्रति टन रह जाने तथा उठाव न होने से कांदला में 20 रुपए मुलायम होकर 4000 रुपए प्रति क्विंटल रह गया। जबकि स्टॉकिस्टों की बिकवाली कमजोर होने से लारेंस रोड पर सरसों 25 रुपए बढ़कर 4075/4175 रुपए हो गयी। सरसों तेल भी सीमित बिकवाली के कारण 8650 रुपए पर टिका हुआ था। औद्योगिक मांग कमजोर होने से अखाद्य तेलों में अरंडी तेल 50 रुपए घटकर 9350/9450 रुपए रह गया।
गुड़-चीनी-आवक कमजोर होने तथा ग्राहकी निकलने से गुड़ 100 रुपए बढ़कर लड्डïू 3700/3800 रुपए प्रति क्विंटल हो गया। शक्कर व खांडसारी के भाव सीमित बिकवाली से पूर्वस्तर पर सुस्त रहे। जबकि ग्राहकी का समर्थन न मिलने से मिल डिलीवरी चीनी 5/25 रुपए मुलायम होकर 3200/3350 रुपए तथा हाजिर भाव 3500/3650 रुपए रह गये।
किराना-मेवे-माल न आने से स्थानीय मेवा बाजार में बादाम कैलिफोर्निया 100 रुपए बढ़ाकर 18800/18900 रुपए प्रति 40 किलो बोला जा रहा था। इसकी गिरी भी 673/675 रुपए की बजाय 680/685 रुपए किलो हो गयी। अन्य मेवों एवं किराना जिंसों में स्वतंत्रता दिवस पर सख्ती के चलते उठाव नगण्य रह जाने से कारोबार सुस्त रहा।
सराफा बाजार-विदेशों के मजबूत समाचार आने तथा ग्राहकी निकलने से सर्राफा बाजार में चांदी के भाव 50 रु पए प्रति किलो बढ़ गये। सीमित बिकवाली से सोने में भी सुधार का रुख रहा। अंतर्राष्टï्रीय बाजार में चांदी के भाव 1528 से बढ़कर 1530 सेंट प्रति औंस हो जाने तथा औद्योगिक मांग निकलने से चांदी हाजिर के भाव 50 रुपए बढ़कर 39050 रुपए प्रति क्विंटल हो गये। सटोरिया लिवाली बढऩे से चांदी वायदा 37970 से बढ़कर 38045 रुपए प्रति किलो हो गया। जबकि उठाव न होने से चांदी सिक्के के भाव 10 रुपए घटकर 730/740 रुपए प्रति नग रह गये। डॉलर की तुलना में रुपये की कीमतों में गिरावट आने के कारण बिकवाली कमजोर होने से सोना किलोबार 30500 से बढ़कर 30510 रुपए तथा स्टैंडर्ड के भाव 30650 के बजाय 30660 रुपए प्रति 10 ग्राम हो गये। सीमित बिकवाली के कारण गिन्नी के भाव 24600 रुपए पर टिके रहे। हालांकि विदेशों में ग्राहकी का समर्थन न मिलने से इसके भाव 1211 से घटकर 1208 डॉलर प्रति औंस रह गये।
प्लास्टिकके राष्ट्रीय ध्वजके इस्तेमालपर रोक
नयी दिल्ली। केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने स्वतंत्रता दिवस से पहले राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को परामर्श जारी कर प्लास्टिक के राष्ट्रीय ध्वज के इस्तेमाल पर रोक लगाने को कहा है। मंत्रालय ने राज्यों के मुख्य सचिवों, केन्द्र शासित प्रदेशों के प्रशासकों और मंत्रालयों के सचिवों को पत्र लिखकर कहा है कि स्वतंत्रता दिवस सहित सभी राष्ट्रीय, सांस्कृतिक और खेल समारोह में राष्ट्रीय ध्वज संहिता 2002 और राष्ट्रीय ध्वज से संबंधित सम्मान अधिनियम 1971 का सख्ती से पालन किया जाना चाहिए। परामर्श में कहा गया है कि राष्ट्रीय ध्वज देश के लोगों की आशाओं और आकांक्षाओं का प्रतिनिधित्व करता है, इसलिए इसे सम्मान दिया जाना चाहिए। राष्ट्रीय ध्वज के प्रति सार्वभौमिक प्रेम और सम्मान है फिर भी अक्सर लोगों, संगठनों और सरकारी एजेन्सियों में राष्ट्रीय ध्वज को फहराने से संबंधित कानूनों, परंपराओं और सिद्धांतों के बारे में जागरूकता की कमी है। परामर्श में कहा गया है कि इस संबंध में व्यापक जागरुकता कार्यक्रम चलाये जाने चाहिए और विज्ञापनों के माध्यम से भी इसकी जानकारी दी जानी चाहिए।