Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


एक को छोड़ सभी दक्षिण एशियाई देश यथाशीघ्र दक्षेस सम्मेलन चाहते हैं -पाकिस्तान

इस्लामाबाद(एजेंसी)। पाकिस्तान ने बृहस्पतिवार को भारत पर निशाना साधते हुए कहा कि एक देश को छोड़ कर अन्य सभी दक्षिण एशियाई देश दक्षेस सम्मेलन यथाशीघ्र चाहते हैं। यह सम्मेलन 2016 में स्थगित कर दिया गया था। पाक विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने अपनी साप्ताहिक प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि पाकिस्तान यथाशीघ्र इस सम्मेलन का आयोजन करना चाहता है। उन्होंने स्पष्ट तौर पर भारत की ओर इशारा करते हुए कहा, एक को छोड़ कर अन्य सभी दक्षिण एशियाई देशों ने सम्मेलन का जल्द आयोजन किए जाने की इच्छा जताई है। उल्लेखनीय है कि भारत ने जम्मू कश्मीर के उरी में थलसेना के एक ठिकाने पर पाकिस्तानी आतंकवादियों के हमले के बाद और देश में आतंकी गतिविधियों को पाकिस्तान के अनवरत समर्थन का उल्लेख करते हुए दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (दक्षेस) के 19वें सम्मेलन का बहिष्कार किया था। भूटान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान भी सम्मेलन का बहिष्कार करने में भारत के साथ हो गये थे। फैसल ने नागरिकता (संशोधन) विधेयक की आलोचना करते हुए इसे एक अतिवादी हिंदुत्ववादी विचारधारा और क्षेत्र में वर्चस्व कायम करने की आकांक्षा करार दी। फैसल ने कहा कि इस विधेयक को भेदभाव करने वाला बताते हुए भारत के लोगों ने भी इसकी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि कश्मीर में मानवीय स्थिति बदतर हो रही है, जिससे लाखों लोगों का जनजीवन प्रभावित हो रहा है।
भारतीय मंत्रियों के भाषणों का बहिष्कार जारी रहेगा- पाकिस्तान
इस्लामाबाद(एजेंसी)। पाकिस्तान ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह कश्मीर में स्थिति को लेकर अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारतीय मंत्रियों के भाषणों का बहिष्कार जारी रखेगा। विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने इस बात की पुष्टि की कि विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इस महीने की शुरूआत में तुर्की में 'हार्ट ऑफ एशिया कांफ्रेंसÓ में भारतीय मंत्री के भाषण का बहिष्कार किया था। गत सोमवार को इस्तांबुल में 'हार्ट ऑफ एशिया- इस्तांबुल प्रोसेसÓ के आठवें मंत्री स्तरीय सम्मेलन में जैसे ही केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग राज्य मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वी के सिंह ने भाषण देना शुरू किया, कुरैशी हॉल से बाहर निकल गए थे। फैसल ने कहा, भविष्य में भी ऐसे कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, निश्चित रूप से, हम जरूरत के अनुसार इस तरह के उचित कदमों को उठाना जारी रखेंगे।  गौरतलब है कि सितम्बर में कुरैशी ने दक्षेस देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक में विदेश मंत्री एस जयशंकर के भाषण का बहिष्कार किया था।
पाकिस्तानके बलूचिस्तानमें बस में आग लगनेसे 15 यात्रियोंकी मौत

इस्लामाबाद(एजेंसी)। पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत से अगजनी की बड़ी घटना सामने आई है। एक बस में आग लगने से 15 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई।। वहीं कई यात्रियों ने कूद कर किसी तरह अपनी जान बचाई। जानकारी के अनुसार ईरानी तेल की तस्करी कर ले जा रही एक वैन के चालक ने अचानक नियंत्रण खो दिया और झोब जिले के कान मेहतरजई इलाके में विपरीत दिशा से आ रही बस से टकरा गया। टक्कर लगते ही बस आग की लपटों में घिर गई। इस हादसे में बस में सवार लोग झुलस गए और उनकी मौके पर ही मौत हो गई। यात्रियों में से कुछ ने कूदकर अपनी जान बचाई लेकिन गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस के अनुसार बस ड्राइवर सहित 14 लोगों को लेकर डेरा गाजी खान जिले से क्वेटा जा रही थी, जबकि वैन में दो लोग सवार थे। वैन चालक और तस्करी के तेल के बारे में जांच चल रही थी।
हाफिज सईद समेत जमात-उद-दावा के 67 नेताओंकी याचिका खारिज

लाहौर(एजेंसी)। पाकिस्तान की एक अदालत ने मुंबई हमले के सरगना हाफिज सईद और गैर-कानूनी संगठन जमात-उद-दावा और उसकी तथाकथित धर्मार्थ संस्था फलाह-ए-इंसानियत के 67 अन्य नेताओं की याचिका खारिज कर दी, जिसमें उन्होंने आतंकवाद के वित्तपोषण के आरोप में अपने खिलाफ दर्ज 23 प्राथमिकियों को रद्द करने की अपील की थी। न्यायाधीश मोहम्मद कासिम खान की अध्यक्षता वाली लाहौर उच्च न्यायालय की दो न्यायाधीशों वाली पीठ ने याचिका खारिज करते हुए कहा कि याचिकाकर्ता के वकील प्रत्येक प्राथमिकी के खिलाफ अलग से याचिकाएं दायर कर सकते हैं। सईद के वकील ए के दोगर ने दलील दी कि जिन संपत्तियों का जिक्र किया गया है, उनका इस्तेमाल कभी भी आतंकवाद के वित्तपोषण के लिए नहीं किया गया और इस तरह के 'झूठे आरोपोंÓ के पक्ष में कोई सबूत मौजूद नहीं है। उन्होंने कहा कि सईद और जमात के अन्य नेताओं को  बताना 'तथ्यात्मक और कानूनी रूप से गलतÓ है। गौरतलब है कि आतंकवाद रोधी विभाग ने याचिकाकर्ताओं के खिलाफ पंजाब प्रांत के विभिन्न शहरों में आतंकवाद के वित्तपोषण के आरोप में 23 प्राथमिकियां दर्ज की गई थीं और 17 जुलाई को सईद को गिरफ्तार कर लिया था। उसे लाहौर की कोट लखपत जेल में हिरासत में रखा गया है।