Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


उन्नाव के समय कुंभकरण की नींद में थीं स्मृति

नयी दिल्ली(एजेंसी)। बलात्कार को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के कथित बयान को लेकर संसद में भाजपा सदस्यों के हंगामे के बाद कांग्रेस ने सत्तारूढ़ पार्टी के नेताओं पर देश में फैली अराजकता से ध्यान भटकाने का आरोप लगाया और दावा किया कि उन्नाव की घटनाओं पर महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी कुंभकरण की नींद में थीं और निर्भया कोष की विफलता पर उनके पास कोई जवाब नहीं है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक भाषण का संक्षिप्त वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया कि मोदी को माफी मांगनी चाहिए। पार्टी प्रवक्ता सुष्मिता देव ने संवादाताओं से कहा, च्च्राहुल जी इस मुद्दे पर बोल चुके हैं, लेकिन मैं ये जरुर कहूंगी कि अगर हम रैली में किसान की बात कर सकते हैं, युवाओं की बेरोजगारी की बात कर सकते हैं तो महिलाओं पर बढ़ते हुए अत्याचार के ऊपर रैली में बोलने पर कोई रोक क्यों है? उन्होंने स्मृति ईरानी पर पलटवार करते हुए कहा, च्च्अगर भारत और विदेश के अखबारों आज भारत में हो रहे बलात्कार यानि रेप इन इंडिया हैडलाइन में है तो राहुल जी ने गलत क्या कहा है। हमें दुख इस बात का है कि जो माननीय केन्द्रीय मंत्री खुद महिला और बाल विकास मंत्रालय को चलाती हैं, उनके पास निर्भया कोष की विफलता पर कोई जवाब नहीं है। सुष्मिता ने कहा,  जिस राज्य से खुद महिला और बाल विकास मंत्री आती हैं, जिस राज्य से खुद प्रधानमंत्री आते हैं वहां अखबारों में रोज बलात्कार, किसी पीडि़ता को जलाने की खबर आती है, बनारस हिंदू विश्ववद्यालय में महिलाओं के आंदोलन की खबर आती है, इलाहाबाद विश्वविद्यालय की खबर आती है, बागपत में एक पीडि़ता के घर के बाहर धमकी भरा पत्र चिपका दिया जाता है, तब महिला एवं बाल विकास मंत्री और हमारे देश के प्रधानमंत्री कुछ टिप्पणी नहीं करते। उन्होंने कहा, जो आज महिलाएं सदन में भाजपा की तरफ से शोर मचा रहीं थी, मैं उनको बोलूंगी कि अपने गिरेबान में झांककर देखें, आपके पीछे आपके कुछ ऐसे सांसद बैठे हैं, जिनके खिलाफ इतने संगीन मामले दर्ज हैं। आप उनके खिलाफ क्यों नहीं बोलतीं? सुष्मिता ने कहा, मैं माननीय मंत्री महोदया से कहूंगी कि आप कुंभकरण की नींद में थीं, आप जागे भी तो कब जागे। हमें दुख है कि न प्याज पर आप बोलीं, न उन्नाव पर बोलीं। सुरजेवाला ने कहा, मोदी जी, देश में फैली अराजकता से ध्यान भटकाने के लिए आप खुद ही संसद नहीं चलने दे रहे। आप जान लें कि देश की बेटियाँ आए दिन की बलात्कार व मनमानी के ख़िलाफ़ निर्णायक कार्यवाही चाहती हैं। उन्होंने कहा, रेप इन इंडिया मंज़ूर नहीं। और इस बारे खुद का बयान भी सुनिए अगर यह सही नहीं, तो पहले खुद माफ़ी माँगिए। सुरजेवाला ने सवाल किया, मोदी जी, जब विपक्ष में हो तो बलात्कार की घटनाओं पर रैली करो, दुष्कर्मों की संख्या गिनवाओ, तालियाँ बजवाओ, इल्जाम लगाओ और सत्ता में आते ही सुर बदल लो। पर जब राहुल गांधी सवाल उठाएँ, तो उनकी सदस्यता ख़त्म करवाओ। क्या यही आपका राज धर्म है?  दरअसल, लोकसभा में भाजपा सदस्यों ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष की झारखंड के गोड्डा में एक रैली में बृहस्पतिवार को की गयी टिप्पणी को लेकर भारी हंगामा किया। भाजपा की महिला सांसदों ने खासतौर पर राहुल गांधी से माफी मांगने की मांग की। स्मृति ईरानी ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, उन्होंने (राहुल ने) महिलाओं के बलात्कार और उनकी पीड़ा को राजनीति के लिये इस्तेमाल किया। भारत की महिला इसका जवाब देने में सक्षम है।