Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


निर्भया के दोषियों के वकील का बड़ा बयान

नयी दिल्ली(एजेंसी)। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने शुक्रवार को निर्भया मामले के चारों दोषियों की फांसी की सजा पर अमल करने के लिए जरूरी वारंट जारी करने की मांग करने वाली याचिका पर सुनवाई 18 दिसंबर तक टाल दी है। सुनवाई टालते हुए जज सतीश कुमार अरोड़ा ने कहा कि दोषियों में से एक दोषी अक्षय कुमार सिंह की पुनर्विचार याचिका पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगा। जब तक पुनर्विचार याचिका लंबित है तब तक हमें इंतजार करना होगा। वहीं मीडिया से बात करते हुए निर्भया केस में दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा कि जिस तरह निर्भया मामले में मीडिया ट्रायल चल रहा है वह आरोपियों के मानवाधिकारों का हनन है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का नाम लेते हुए एडवोकेट एपी सिंह ने कहा कि बापू भी फांसी की सजा के खिलाफ थे। पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए एडवोकेट सिंह ने कहा कि अभी दोषियों की कई याचिकाएं कोर्ट के विचाराधीन हैं जिसमें काफी वक़्त लगेगा, ऐसे में जल्द फांसी की संभावना ही नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल 9 जुलाई को तीन दोषियों-मुकेश, पवन गुप्ता और विनय शर्मा की पुनर्विचार खारिज करते हुए कहा था कि 2017 के उसके फैसले पर फिर से विचार करने का कोई आधार नहीं है। उल्लेखनीय है कि 16-17 दिसंबर 2012 की दरमियानी रात दक्षिण दिल्ली में एक चलती बस में 6 लोगों ने 23 वर्षीय एक छात्रा से गैंगरेप किया था। बर्बरता के बाद उसे सड़क पर फेंक दिया था। बर्बर हमले की शिकार छात्रा को निर्भया नाम दिया गया था। 29 दिसंबर को सिंगापुर के एक अस्पताल में निर्भया ने दम तोड़ दिया था। निर्भया के साथ हुई बर्बरता पर पूरे देश में रोष आज भी है और आरोपियों को जल्द से जल्द फांसी की मांग की जा रही है।