Mob: +91-7905117134,0542 2393981-87 | Mail: info@ajhindidaily.com


दिल्लीमें एक और डॉक्टर की मौत

नयी दिल्ली। कोरोना वायरस के कारण कई राज्यों ने लॉकडाउन को भी बढ़ा दिया है पर इसके खत्म होने के साथ साथ कोरोना के मामले घटने की बजाय बीते कुछ दिनों में तेजी से बढ़े हैं। इसी का परिणाम है कि सिर्फ दिल्ली  में ही संक्रमितों की संख्या 903 हो गई है और मृतकों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। यही वजह है कि दिल्ली सरकार अब तक 30 इलाकों को सील कर चुकी है। यूपी सरकार ने जिन 15 जिलों के हॉटस्पॉट को सील किया है वहां पूरी सख्ती बरती जा रही है। बुलन्दशहर के शिकारपुर के डॉक्टर की कोरोना से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में बीती देर शाम मौत हो गई है।  इस सूचना से बुलंदशहर स्वाथ्य विभाग में हड़कंप मच गया, जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने डॉक्टर के परिजनों का भी सैंपल ले लिया है।
--------------
गुटखा खाकर थूकनेसे भी फैल सकता है कोरोना
नयी दिल्ली(एजेंसी)। कोरोना वायरस के प्रसार की रोकथाम के मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों से सार्वजनिक स्थानों पर चबाने वाले तंबाकू के इस्तेमाल और थूकने पर रोक लगाने को कहा है। सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशाों के मुख्य सचिव को भेजे पत्र में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि गैर धूम्ररहित चबाने वाले तंबाकू, पान मसाला और सुपारी से शरीर में लार अधिक बनने लगती है और इससे थूकने की अत्याधिक इच्छा होती है। सार्वजिनक स्थानों पर थूकने से कोविड-19 के प्रसार में तेजी आ सकती है। कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते खतरे के मद्देनजर भारतीय आयुर्विज्ञान चिकित्सा परिषद (आईसीएमआर) ने जनता से चबाने वाले तंबाकू के उत्पादों के सेवन से दूर रहने और सार्वजनिक स्थानों पर नहीं थूकने की अपील की है। पत्र के मुताबिक, राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों के पास विभिन्न कानूनों के तहत कोविड-19 से निपटने के जरूरी अधिकार हैं।