Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


मर जाऊंगा माफी नहीं मांगूगा-राहुल

नयी दिल्ली (आससे.)। रेप को लेकर रांची में दिये गये बयान पर भाजपा द्वारा माफी की मांग पर राहुल गांधी ने कहा है कि  मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं है, राहुल गांधी है, मैं सच्चाई के लिये कभी माफी नहीं मागूंगा। साथ ही उन्होंने कहा है कि  देश से माफी तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को मांगनी चाहिये। आज यहां रामलीला मैदान में कांग्रेस द्वारा आयोजित भारत बचाओ रैली को संबोधित करते हुये राहुल गांधी ने कहा कि कल भाजपा के लोगों ने संसद में भाषण के लिये माफी मांगने को कहा। राहुल ने कहा कि सही बात बोलने के लिये माफी मांगू। भाईयो और बहनों, मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं है, मेरा नाम राहुल गांधी है। मैं सच्चाई के लिये कभी माफी नहीं मागूंगा। मर जाऊंगा मगर माफी नहीं मागूंगा। साथ ही उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि इसके लिये न ही कोई कांग्रेस वाला माफी मांगेगा। उन्होंने कहा कि माफी नरेन्द्र मोदी को मांगनी है।  मोदी जी को देश से माफी  मांगनी है। अमित शाह को देश से माफी मांगनी है। राहुल गांधी ने कहा कि इस देश की आत्मा, इस देश की शक्ति, इसकी अर्थव्यवस्था थी, अर्थव्यवस्था है नहीं, थी।  पूरी दुनिया हमारी तरफ देखती थी, कहती थी, ये हिंदुस्तान में क्या हो रहा है। ये देश, अलग-अलग धर्मों का देश, अलग-अलग जातियों का देश, अलग-अलग विचारधाराओं का देश, मिलकर एक साथ ९ फीसदी जीडीपी पर कैसे बढ़ रहा है। एक तरफ चीन दूसरी तरफ हिंदुस्तान, चिंडिया बोलते थे, चिंडिया। उन्होंने कहा कि आज प्याज २०० रुपये किलो, हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था नरेन्द्र मोदी ने स्वयं अकेले नष्ट कर दी, खत्म कर दी। जीएसटी को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि जो बचा था मोदी सरकार ने गब्बर सिंह टैक्स के जरिये इकॉनमी को खत्म कर दिया। मोदी जी ने रात को १२ बजे गब्बर सिंह टैक्स लागू कर दिया। ४५ साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी आज के दौर में है। जीडीपी ग्रोथ ९ फीसदी से घटकर ४ फीसदी पर पहुंच गयी। यहां तक कि जीडीपी नापने का भी तरीका बदल दिया। हमारे तरीके से नापोगे तो अब जीडीपी २.५ फीसदी है। राहुल ने कहा कि हमारे देश के दुश्मन इकॉनमी को बर्बाद करना चाहते थे। यह काम दुश्मनों ने नहीं बल्कि प्रधानमंत्री ने किया। पूरा पैसा दो से तीन उद्योगपतियों को ही पकड़ा दिया। मैं इस बात को मानता हूं कि किसान देश को बनाता है तो ईमानदार उद्योगपति भी देश को बनाता है। मगर पिछले ५ सालों में मोदी अडानी को ५० कॉन्ट्रैक्ट दिये हैं। १ लाख करोड़ से ज्यादा के एयरपोर्ट और पोर्ट पकड़ा दिये। उन्होंने कहा कि इसे आप चोरी या भ्रष्टाचार नहीं कहेंगे तो क्या कहेंगे।