Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


चांदकी तीसरी कक्षा में पहुंचा चंद्र्रयान-2

नयी दिल्ली (एजेंसी)।  चंद्रयान-2 ने बुधवार सुबह 9.04 बजे चांद की तीसरी कक्षा में प्रवेश कर लिया। अब इसकी चांद से न्यूनतम 179 किमी और अधिकतम 1412 किमी दूरी है। यह 2 दिन तक इसी कक्षा में चांद के चक्कर लगायेगा। 30 अगस्त को चौथी और 1 सितंबर को पांचवी कक्षा में प्रवेश करेगा। 2 सितंबर को विक्रम लैंडर और प्रज्ञान रोवर यान से अलग हो जाएंगे। विक्रम लैंडर 7 सितंबर को चांद के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेगा। 20 अगस्त को चंद्रयान-2 चांद की कक्षा में पहुंचा था। कक्षा में पूरी तरह स्थापित होने में इसे करीब आधा घंटा लगा। 23 दिन पृथ्वी के चक्कर लगाने के बाद चंद्रमा की कक्षा में पहुंचने में इसे 6 दिन लगे। चंद्रयान-2 ने 26 अगस्त को दूसरी बार चांद की तस्वीरें भेजी थीं। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने ट्वीट कर बताया था कि भेजी गयी तस्वीरें चांद की सतह से 4375 किमी ऊपर से टैरेन मैपिंग कैमरे के जरिए ली गयी हैं।   यह तस्वीरें चांद पर मौजूद क्रेटर्स (गड्ढों) की हैं। इनमें से एक फोटो क्रेटर 'मित्रÓ की है, जिसका नाम भारतीय प्रोफेसर और पद्म भूषण विजेता भौतिकशास्त्री शिशिर कुमार मित्रा के नाम पर रखा गया था। इसके अलावा चंद्रयान-2 ने जैक्सन, माक, कोरोलेव क्रेटर्स की तस्वीरें भी लीं। इसरो ने बताया कि यान ने चांद के नॉर्थ पोल क्षेत्र की भी कई तस्वीरें लीं। इसमें प्लासकेट, रोझदेस्तवेंस्की और हरमाइट क्रेटर शामिल हैं, जो कि पूरे सौरमंडल में सबसे ठंडे इलाकों में से एक है। इससे पहले चंद्रयान-2 ने बुधवार को  चांद की पहली फोटो भेजी थीं। उन्हें चांद की सतह से 2650 किमी की ऊंचाई से लिया गया था।