Mob: +91-7905117134,0542 2393981-87 | Mail: info@ajhindidaily.com


जम्मू-कश्मीरके लिए १३५० करोड़का पैकेज

नयी दिल्ली/श्रीनगर (आससे.) जम्मू-कश्मीर का उपराज्यपालबनने के बादमनोज सिन्हा नेपहली बार राज्यके लिए आजकई ऐलान किएहैं। उपराज्यपाल मनोजसिन्हा ने शनिवारको राज्य केलिए करोड़ों रुपयेके पैकेज कीघोषणा की। उन्होंनेसंकट का सामनाकर रहे जम्मू-कश्मीर के कारोबारियोंके लिए 1,350 करोड़रुपये के आर्थिकपैकेज का ऐलान  किया।इसकेअलावा केंद्र शासितप्रदेश के लिएएक साल तकपानी और बिजलबिल का 50 फीसदीमाफ किए जानेका ऐलान कियागया। ऐलान करतेहुए मनोज सिन्हाने कहा किमुझे आर्थिक कठिनाइयोंका सामना कररहे राज्य केकारोबारियों के लिए1,350 करोड़ रुपये के आर्थिकपैकेज की घोषणाकरते हुए खुशीहो रही है।यह कारोबारियों कोसुविधा देने केलिए आत्मनिर्भर भारतऔर अन्य उपायोंके लाभों केअतिरिक्त है। उपराज्यपाल मनोज सिन्हाने बिजली-पानीके बिलों परएक साल तक50 प्रतिशत छूट देनेकी भी घोषणाकी। जम्मू कश्मीरमें बिजली औरपानी के बिलमें एक सालतक के लिए50 फीसदी की छूटदी जायेगी।इसके अलावाजम्मू-कश्मीर मेंसभी कर्जधारकों केमामले में मार्च2021 तक स्टैंप ड्यूटी मेंछूट दी गयीहै। अच्छे मूल्यनिर्धारण पुनर्भुगतान विकल्पों केसाथ पर्यटन क्षेत्रमें लोगों कोवित्तीय सहायता के लिएजम्मू और कश्मीरबैंक द्वारा कस्टमहेल्थ-टूरिज्म योजनाकी स्थापना कीजायेगी। मौजूदा वित्तीय वर्षमें छह महीनेके लिए बिनाकिसी शर्त केकारोबारी समुदाय में सेप्रत्येक उधारकर्ता को 5 फीसदीब्याज देने काफैसला किया गयाहै। उपराज्यपाल नेकहा कि यहएक बड़ी राहतहोगी और राज्यमें रोजगार पैदाकरने में मददमिलेगी।उपराज्यपाल मनोज सिन्हाने हथकरघा औरहस्तशिल्प उद्योग में कामकरने वालों को7 प्रतिशत सबवेंशन देने कीघोषणा की है।उन्होंने कहा किक्रेडिट कार्ड योजना केतहत हमने हथकरघाऔर हस्तशिल्प उद्योगमें काम करनेवाले लोगों केलिए अधिकतम सीमाएक लाख सेदो लाख रुपयेतक बढ़ाने काफैसला किया है।उन्हें पांच प्रतिशतब्याज सबवेंशन (आर्थिकमदद) भी दियाजायेगा।जारी बयान केमुताबिक इस योजनामें लगभग 950 करोड़रुपये का खर्चआयेगा। यह अगलेछह महीने केलिए इस वित्तीयवर्ष में उपलब्धरहेगा. एक अक्टूबरसे जम्मू-कश्मीरबैंक युवाओं औरमहिलाओं के उद्यमोंके लिए एकविशेष डेस्क शुरूकरेगा। इसमें युवा औरमहिला उद्यमियों कोकाउंसिलिंग दी जायेगी।इन घोषणाओं कोप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केआत्मनिर्भर भारत अभियानको आगे लेजाने को लेकरपहल बताया जारहा है।