Mob: +91-7905117134,0542 2393981-87 | Mail: info@ajhindidaily.com


एलएसीपर भारतीय वायुसेनाके युद्धक विमानोंका ऑपरेशन

नयी दिल्ली  (एजेंसी)। एलएसी पर चीन के साथ तनाव के बीच भारत ने सीमा पर अपनी गतिविधियां तेज कर दी हैं। भारतीय वायुसेना ने पहले ही अपने युद्धक विमानों को सीमा के पास एयरबेस पर तैनात कर दिया है। एयरफोर्स के सुखोई एसयू-30एमकेआई और मिग 29 विमानों के साथ अपाचे हेलिकॉप्टर भी सीमा पर उड़ान भरते नजर आते हैं। भारतीय सेना चीन सीमा पर एयर ऑपरेशन कर रही है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि भारत चीन को संदेश दे चुका है कि किसी भी मामले में थोड़ा भी समझौता नहीं किया जाएगा। गलवान घाटी में चीन की नापाक हरकत और हिंसक झड़प के बाद भारत ने कमर कस ली है। चीन की हेकड़ी को देखते हुए भारत ने सीमा पर अपने विमान तैनात कर दिए। सीमा पर मिग, सुखोई और हरक्युलिस विमान पहले से तैनात थे लेकिन अब अकसर ये सीमा के पास उड़ान भरते देखे जाते हैं। सूत्रों का कहना है कि तीनों सेनाओं से किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा गया है। एलएसी पर तैनात एक स्कॉड्रन लीडर ने कहा कि सभी बेस पर भारतीय वायुसेना पूरी तरह से तैयार है और किसी भी चुनौती का सामना कर सकती है। उन्होंने कहा, जवानों का जोश हमेशा हाइ रहता है औऱ   आसमान की ऊंचाइयों को छूने के लिए वे तैयार रहते हैं। बता दें कि शुक्रवार को प्रधानमंत्री मोदी भी जवानों की हौसला आफजाई और चीन को कड़ा संदेश देने के लिए लेह पहुंचे थे। उन्होंने विस्तारवादी चीन को लताड़ा भी और घायल जवानों से मुलाकात के दौरान कहा कि भारत न किसी के सामने कभी झुका है और न ही झुकेगा। ये युद्धक हेलिकॉप्टर अमेरिकी कंपनी बोइंग ने बनाए हैं। इसका कुल वजन 6838 किलोग्राम के आसपास होता है। ये अधिकतम 279 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकते हैं। इसमें दो टर्बोशाफ्ट इ्ंजन होते हैं। इसमें एयर टु एयर मिसाइलें, रॉकेट और गन की क्षमता होती है। इसकी ऊंचाई लगभग 15.24 फीट होती है और पंख 17.15 फीट तक फैले होते हैं।