Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


‘जंगली’ ‘ की सीरीज बनाना चाहता हूँ - विद्युत जामवाल

मुंबई। अभिनेता विद्युत जामवाल की ‘जंगली’  की कहानी यहीं खत्म नहीं होगी। कहानी को आगे बढ़ातेहुए श्रृंखलाबद्ध फिल्में बनाने की अभिनेता की योजना है। एक प्रशिक्षित मार्शल आर्टकलाकार विद्युत ने कहा कि एक्शन फिल्मों में अभिनय के मामले में भारतीय कलाकार हॉलीवुडकलाकारों जितने ही बेहतर हैं। विद्युत ने कहा, अक्षय कुमार ने खिलाड़ी फिल्मों की सीरीज़ बनाई, मैंने कमांडो की अब मैं ‘जंगली’की भी सीरीज का निर्माण करुंगा। उन्होंने कहा, हम ऐक्शन फिल्मों में कहीं भी उनसे कमतर नहीं हैं। भारतीय कलाकार अच्छा कर रहेहैं। कोई भी ऐक्शन के मामले में हमारी बराबरी नहीं कर सकता क्योंकि हम सचमुच बहुत अच्छाकर रहे हैं।

------------------------

स्वस्थ हो रहे हैं पापा जी - रनबीर कपूर

मुंबई। अभिनेता रनबीर कपूर ने कहा है कि उनके पिता और वरिष्ठ अभिनेता ऋषि कपूरस्वस्थ हो रहे हैं और जल्दी ही वह वापस आ जायेंगे। मंगलवार को सिने अवार्ड्स 2019 समारोहरनबीर कपूर में कहा । समारोह में रनबीर को फिल्म ‘संजू के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार मिला।

रनबीर ने कहा, ‘‘वह (ऋषि) स्वस्थ हो रहे हैं। वह जल्द ही वापस लौटेंगे। मुझेउम्मीद है कि आप सब की प्रार्थनाओं और शुभकामनाओं के चलते वह जल्द वापस आयेंगे।’’ रनबीर  ने कहा कि पुरस्कार समारोहोंसे पूरे फिल्म उद्योग को एक साथ आने का मौका मिलता है और कलाकारों को एक दूसरे के कामको सराहने का मौका मिलता है।

उन्होंने कहा, ‘‘फिल्म उद्योग के लिए 2018 का साल अच्छा रहा। समय बीतने केसाथ ही फिल्में बेहतर कर रही हैं। अच्छी विषय वस्तु सामने आ रही है और यह सबसे महत्वपूर्णबात है। इस साल की शुरूआत भी शानदार रही।’’ वर्तमान में फिल्म‘‘ब्रह्मास्त्र’’ में काम कर रहे है।

 -----------------------------

प्री सेंसरशिप युग में रह रहे हैं इस समय  फिल्म निर्माता और लेखक - महेश भट्ट

मुंबई। निर्देशक महेश भट्ट का कहना है कि भारतीय संविधान ने भले ही लोगों कोअभिव्यक्ति की आजादी का अधिकार दिया हो लेकिन मौजूदा समय में फिल्म निर्माता और लेखकोंको खुद ही अपने पर सेंसरशिप लगानी पड़ रही है। भट्ट ‘नो फादर्स इन कश्मीर के ट्रेलर लॉन्च के मौके पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि उन्हें यह देखकरतकलीफ होती है कि इस फिल्म को केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) की तरफ से मंजूरीमिलने में समस्या हुई।

फिल्म निर्माता ने कहा, ‘‘पहले से ही सेंसरशिप लगाने का दौर है ये ।एक फिल्मनिर्माता और लेखक कागज पर कलम चलाने से पहले ही दस बार सोचता है कि उसे क्या लिखनाचाहिए? सीबीएफसी उसे मंजूरी देगा या नहीं .... इस देश का जन्म अभिव्यक्ति की आजादीके प्रति प्रेम के चलते हुआ था और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता एक संवैधानिक अधिकार है।’’उन्होंने कहा कि वह इस फिल्म के निर्देशक अश्विन कुमार के साथ खड़े हैं क्योंकिवह कुमार के नजरिए में विश्वास करते हैं। इस फिल्म में महेश भट्ट की पत्नी सोनी राजदानभी हैं।

--------------------------

खुद के  निर्देशन वाली फिल्म में एक्टिंगनहीं- तिग्मांशु धूलिया

नयी दिल्ली। तिग्मांशु धूलिया ने अपने निर्देशन एवं अभिनय से सिने दर्शकोंको भले ही प्रभावित किया हो लेकिन उनका कहना है कि एक ही फिल्म में दोनों कार्यों केबीच संतुलन साधना बेहद कठिन काम है। अपने निर्देशन में बनी नयी फिल्म मिलन टॉकीज में मुख्य कलाकार (अली फजल) के पिता का किरदार निभाने वाले निर्देशक ने कहाकि उन्होंने यह किरदार करने का फैसला इसलिए किया क्योंकि अन्य कलाकार उपलब्ध नहीं थे।

इस फिल्म में धूलिया पहली बार अपनी किसी निर्देशित फिल्म में संपूर्ण भूमिकामें नजर आएंगे। इससे पहले वह 2011 में अपनी फिल्म साहेब बीवी और गैंगस्टर’’ में मेहमान भूमिका में नजर आए थे। निर्देशक ने बताया, मैं कभी भी यह भूमिका नहीं करना चाहताथा। भविष्य में मैं अभिनय एवं निर्देशन साथ-साथ नहीं करुंगा क्योंकि यह बहुत मुश्किलहै। मिलन टॉकीज 15 मार्च को सिनेमाघरों में प्रदर्शित हो चुकी है। फिल्म में आशुतोषराणा, संजय मिश्रा, ऋचा सिन्हा, सिकंदर खेर भी हैं।