Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


‘दिल चाहता है’ का सीक्वल बनाने की योजना नहीं: फरहान अख्तर

मुंबई। बॉलीवुड फिल्म ‘दिल चाहता है’ करीब 16 साल पहले आई थी और यह व्यस्कों में अब भी सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली फिल्म है लेकिन निर्देशक फरहान अख्तर का तीन दोस्तों की कहानी को आगे ले जाने का मन नहीं है। ‘दिल चाहता है’ में आमिर खान, सैफ अली खान और अक्षय खन्ना तीन गहरे दोस्तों की भूमिका में थे लेकिन प्यार और जिंदगी को लेकर इनका नजरिया अलग अलग था। इस फिल्म से ही फरहान खान ने अपने निर्देशन करियर की शुरूआत की थी और इसे राष्ट्रीय पुरस्कार मिला था।
 
दो वर्ष पहले इस तरह की खबरें थी कि इस फिल्म के सीक्वल की योजना बनाई जा रही है मगर फरहान ने उस वक्त इससे इनकार किया था। फरहान से जब पूछा गया कि उन्होंने कभी इस फिल्म का सीक्वल बनाने का सोचा है तो उन्होंने कहा, ''मैंने वास्तव में फिल्म को आगे ले जाने के बारे में विचार नहीं किया। मेरा मानना है कि मेरी जिंदगी में उस वक्त ऐसी ऊर्जा, मूड और वक्त था जब यह ‘दिल चाहता है’ बनी और इसलिए मैंने इसे लिखा था।’’

----------
हॉलीवुड में भारत का कोई स्टार नहीं है: अभिनेत्री टिस्का चोपड़ा

नयी दिल्ली। हॉलीवुड में भारतीयों के कदम जमाने की आम धारणा के विपरीत अभिनेत्री टिस्का चोपड़ा का कहना है, ‘‘हमने अभी पश्चिम में शुरूआत नहीं की है।’’ 43 वर्षीय अभिनेत्री ने कहा कि केवल दो भारतीय कलाकार प्रियंका चोपड़ा और इरफान खान हॉलीवुड में बने रहने में सफल रह पाए हैं जो अंतरराष्ट्रीय सिनेमा में भारत का स्थान बनाने के लिए पर्याप्त नहीं है। टिस्का ने कहा, ‘‘हमारा इतना बड़ा देश है और अगर एक या दो लोग अंतरराष्ट्रीय प्रोजेक्ट में काम कर रहे हैं तो इससे कोई फर्क नहीं आता। जब उन्हें एशियाई चेहरे की जरुरत होती है तो वे यहां वहां से कास्ट करते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि केवल प्रियंका चोपड़ा और इरफान खान ही पश्चिम में लगातार काम करने में सफल रहे हैं। इनके अलावा मुझे नहीं लगता कि कोई और कुछ खास कर रहा है। भारत से हॉलीवुड में कोई स्टार नहीं है।’’ अभिनेत्री ने कहा कि पैसा कमाने के लिहाज से भारत पश्चिम में फिल्म निर्माताओं और कलाकारों के लिए बड़ा बाजार हो सकता है लेकिन वे अब भी यहां बन रही फिल्मों से आकर्षित नहीं हैं।
 
टिस्का ने कहा, ‘‘हम वैश्विक फिल्म बाजार में स्थान बनाने से काफी दूर हैं। चीन, कोरिया, ईरान और तुर्की ने पश्चिम में अपने लिए बाजार बनाए हैं। भारत में हम हर साल 700 से ज्यादा फिल्में बनाते हैं और उनमें से एक या दो फिल्में भी विश्व स्तर पर पहचान नहीं बना पाती। हमने पश्चिम में शुरूआत तक नहीं की है। हर किसी की नजर पैसा कमाने पर है। हमारा कंटेंट पश्चिम के फिल्म निर्माताओं के लिए पर्याप्त आकर्षक नहीं है। उन्हें जो आकर्षित करती है वह हमारी बड़ी आबादी है। उनके पास भारत में बड़ा बाजार है।’’ टिस्का शेक्सपीयर के नाटक ‘‘टाइटस एंड्रानिकस’’ पर आधारित फिल्म ‘‘द हंग्री’’ में दिखाई देंगी। यह फिल्म एक विधवा और होने वाली दुल्हन के प्रतिशोध की यात्रा पर आधारित है। ‘‘द हंग्री’’ का टोरंटो फिल्म महोत्सव में कल प्रीमियर होगा और टिस्का इस फिल्म को इस महत्चपूर्ण महोत्सव में दिखाए जाने को लेकर उत्साहित हैं।
-----------
कंगना अपने दिल की बात कहती हैं, इसे प्रचार के तौर पर नहीं देखता: मेहता

मुंबई। फिल्म ‘सिमरन’ के कथानक को लेकर या फिर इसमें प्रमुख भूमिका निभा रही अभिनेत्री कंगना रनौट द्वारा अपनी निजी जिंदगी को लेकर दिये गये बयानों पर मचे घमासान के बावजूद निर्देशक हंसल मेहता का कहना है कि वह फिल्म के प्रचार को लेकर ऐसा कुछ भी जान-बूझकर नहीं कर रही हैं। हाल ही में कंगना ने ‘‘आप की अदालत’’ शो में हिस्सा लिया और उसमें ऋतिक रोशन, आदित्य पंचोली और अध्ययन सुमन के साथ अपने कथित संबधों को लेकर बात की थी।
हालांकि कंगना पर ध्यान केन्द्रित होने को लेकर मेहता परेशान नहीं है क्योंकि उनका मानना है कि कंगना ऐसी अभिनेत्री नहीं हैं जो अपनी निजी जिंदगी के बारे में पूछे जाने पर पीछे हट जायें। एक साक्षात्कार में निर्देशक ने कहा ‘‘क्यों हर बार उनसे सार्वजनिक मंच पर निजी जिंदगी को लेकर उनसे सवाल पूछा ही जाता है? वह ऐसी शख्स नहीं जो अपने बारे में पूछे जाने पर चुप रहेंगी। वह अपने दिल की बात रख देती हैं...(मैं) इसे प्रचार के तौर पर नहीं देखता।’’
-----------
जीनत अमान को लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से नवाजा गया

वाशिंगटन। मॉडल और अभिनेत्री जीनम अमान को सिनेमा के क्षेत्र में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए डीसी दक्षिण एशिया फिल्मोत्सव (डीसीएसएएफएफ) में लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से नवाजा गया। भारतीय मूल के अमेरिकी परमार्थी फ्रांक इस्लाम ने 65 वर्षीय इस अभिनेत्री को सम्मानित किया।
छठे सालाना फिल्मोत्सव के अंतिम दिन आठ सितंबर को पुरस्कार ग्रहण करते हुए जीनत ने कहा, ''यह शाम बेहद यादगार रहेगी।’’ इस्लाम ने सभी उम्र की महिलाओं को सिल्वर स्क्रीन के जरिए प्रेरित करने के लिए जीनत की प्रशंसा की।