Mob: +91-7905117134,0542 2393981-87 | Mail: info@ajhindidaily.com


हमें गूंगा-बहरा बननेके लिए पार्लियामेंटमें नहीं भेजा गया-रवि किशन

लखनऊ(एजेंसी)। बॉलीवुड में ड्रग्स के मुद्दे पर समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन के बयान 'कुछ लोग जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करते हैंÓ पर बीजेपी सांसद रवि किशन ने एक बार फिर प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि लोगों द्वारा हमें गूंगा-बहरा बनने के लिए पार्लियामेंट में नहीं भेजा गया है। एक समाचार त्र को दिए इंटरव्यू में रवि किशन ने कहा, देश के स्वच्छता अभियान में हर तरह की गंदगी साफ होनी चाहिए। आदमी शुरुआत अपने घर से ही करता है। अगर हमें कुछ चीजें पता है तो हम उस पर बोलेंगे। लोग हमें चुनकर क्यों भेजे हैं। हमें गूंगा-बहरा बनने के लिए पार्लियामेंट में नहीं भेजा गया है। अब इस पर एक आंदोलन छिड़ गया है। वह भी कलाकार ने छेड़ दिया है। इससे पहले ऐसा कभी नहीं हुआ था। जया बच्चन ने जो बोला है उसपर क्या कहेंगे के सवाल पर रवि किशन ने कहा, मैं तो चाह रहा था कि वे मुझे आशीर्वाद देंगी। मेरा समर्थन करेंगी, क्योंकि हम सबके बच्चे फिल्म इंडस्ट्री में हैं। हम चाहते हैं कि हमारे बच्चे अच्छे माहौल में रहे। यह अमित जी के जमाने में तो था नहीं। आठ-दस साल में यह जो बढ़ा है, वह चरस-गांजा नहीं है। यह केमिकल ड्रग्स है, जो जहर है। हम उसकी बात कर रहे हैं। चरस, गांजा भी गंदा नशा है, पर उससे भी ज्यादा डेंजरस केमिकल ड्रग्स है। इसे कोकीन कहते हैं, एलर्जी कहते हैं, एमजी कहते हैं, इसके कई नाम हैं। आपके विरोध में जया ने क्यों बात उठाई इस पर क्या कहेंगे के सवाल पर रवि किशन ने कहा- वे समाजवादी पार्टी की वरिष्ठ नेता है। यह उनकी विचारधारा है, मुझे लगता है कि उन्हें समझ में ही नहीं आया।  समाजवादी पार्टी एक तरफ ब्राह्मणों के पक्ष में परशुराम का मंदिर बनाने की बात कर रही है और उसी पार्टी की वरिष्ठ नेता जया बच्चन से एक ब्राम्हण के बेटे रवि किशन को जलील करवा रही हैं। आखिर यह दोहरे चेहरे की राजनीति क्या है।