Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


नवीनतम समाचार » राजकोटपर भारतका राज

राजकोटपर भारतका राज

धवन, स्मिथ शतकसे चूके, कोहली, राहुलने जड़ा अद्र्धशतक, आस्ट्रेलिया ३६ रनसे पराजित
कुलदीपने एकदिनीमें पूरा किया विकटोंका शतक 
रोहित के सात हजार एकदिनी रन
राजकोट। शिखर धवन (९६), कप्तान विराट कोहली (७८) और केएल राहुल (८०) की उम्दा पारी के बाद शमी की अगुवाई में गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर भारत ने मुम्बई में मिली हार का बदला लेते हुए आस्टे्रलिया को दूसरे एकदिनी में ३६ रन से पराजित कर तीन मैचौं की एकदिनी शृंखला में १-१ से बराबरी कर ली। इसी के साथ भारत ने राजकोट में न जीतने के मिथक को भी तोड़ दिया। भारत ने पहले ५० ओवर में छह विकेट पर ३४० रन का स्कोर खड़ा किया फिर कंगारुओं को ४९.१ ओवर में ३०४ रन पर समेट दिया। आस्ट्रेलिया को जीत के लिए ३४१ रन का लक्ष्य मिला था। पहले मैच में जिस तरह से डेविड वार्नर  और कप्तान एरोन फिंच की सलामी जोड़ी ने अपने बल्ले का जौहर दिखाया था अगर आज भी वे ऐसा कर जाते तो यह लक्ष्य भी बौना ही साबित होता पर ऐसा हुआ नहीं और पहले मैच के शतकवीर वार्नर १५ रन बना कर मोहम्मद शमी की गेंद को मनीष पाण्डेय के हाथों में खेल बैठे। आस्ट्रेलिया का पहला विकेट २० रन पर गिरा। वार्नर का स्थान लेने आये स्टीव स्मिथ ने फिंच का अच्छा साथ निभाया और दूसरे विकेट के लिए ६२ रन जोड़ते हुए टीम का स्कोर ८२ रन पहुंचा दिया। इसी स्कोर पर रविन्द्र जडेजा ने फिंच को राहुल से स्टंप करा भारत को दूसरी सफलता दिला दी। फिंच ने ४८ गेंदों पर तीन चौके की मदद से ३३ रन बनाये। अब मैदान पर स्मिथ के साथ थे एकदिनी में पदापर्ण कर रहे मार्नस लाबुशाने जिन्होंने टेस्ट मैच में अपने बल्ले से तहलका मचा रखा है। यहां भी वे एक बड़ी पारी खेलने के जज्बे के साथ उतरे। वे इस दिशा में बढ़ भी रहे थे लेकिन रविन्द्र जडेजा ने उनके पहले ही मैच में अद्र्धशतक लगाने के मंसूबे को नाकाम कर दिया। मार्नस लाबुशाने ने ४७ गेंदों पर चार चौके की मदद से ४६ रन बनाये। एलेक्स कैरी (१८) को कुलदीप यादवने अपना शिकार बनाया। कैरी का विकेट लेते ही कुलदीप ने एकदिनी में विकटों का शतक पूरा कर लिया। वे ऐसा करने वालेभारत के २२वें गेंदबाज बन गये। स्मिथ भी धवन की तरह दुर्भाग्यसाली रहे और शतक से दो रन पहले १०२ गेंदों पर नौ चौके और एक छक्के की मदद से ९८ रन बना कर कुलदीप यादवकी गेंद पर बोल्ड हो गये। टर्नर (१३) और कमिन्स (शून्य) को शमी ने लगातार दो गेंदों पर चलता कर आस्ट्रेलिया की कमर तोड़ दी जिससे मेंहमान टीम ४९.१ ओवर में ३०४ रन ही बना सकी। शमी ने तीन तथा नवदीप सैनी, रविन्द्र जडेजा, कुलदीप यादवने दो-दो विकेट लिए। बुमराह को एक विकेट मिला।  इससे पहले पहले मैचमें दस विकेटसे पराजयका दर्द लिए टास हार कर पुन: पहले बल्लेबाजीका न्योता इसबार मेजबान बल्लेबाजोंने चुनौतीके रूपमें लिया। शिखर धवन महज चार रनसे शतकसे चूक गये, जबकि कप्तान रोहित शर्मा ७८ और लोकेश राहुलने ८० रनकी तेज पारी खेलकर स्कोर ३४० तक पंहुचा दिया।  श्रीलंका के खिलाफ आखिरी टी-२० मैच में फार्म में वापसी करने वाले बायें हाथ के सलामी बल्लेबाज धवन ने ९० गेंदों पर ९६ रन बनाये जबकि अपने पसंदीदा तीसरे नंबर पर उतरने वाले कोहली ने ७६ गेंदों पर ७८ रन और राहुल ने ५२ गेंदों पर ८० रन की लाजवाब पारियां खेली। धवन ने अपने सलामी जोड़ीदार रोहित शर्मा (४२) के साथ पहले विकेट के लिये ८१ रन जोड़े और फिर उन्होंने कोहली के साथ दूसरे विकेट के लिये १०३ रन की साझेदारी निभायी। कोहली और राहुल ने भी केवल १०.३ ओवर में ७८ रन की भागीदारी की। राहुल ने आखिरी ओवरों में तेजी से रन बटोरने में अहम भूमिका निभायी। धवन की पारी में १३ चौके और एक छक्का शामिल है जबकि कोहली ने छह चौके लगाये। पैट कमिन्स पर लगाया गया उनका चौका दर्शनीय था। राहुल ने अपने आक्रामक अंदाज का खुलकर प्रदर्शन किया तथा छह चौके और तीन छक्के लगाये। उन्होंने मिशेल स्टार्क पर भी छक्का जड़ा। स्टार्क काफी महंगे साबित हुए और उन्होंने दस ओवर में ७८ रन दिये। उन्हें कोई सफलता नहीं मिली। एडम जम्पा आस्ट्रेलिया के सबसे सफल गेंदबाज रहे। कोहली जब अपने ४४वें शतक की तरफ बढ़ रहे थे तब उन्होंने भारतीय कप्तान को पवेलियन भेजा। यह सीमित ओवरों की क्रिकेट में सातवां अवसर है जबकि जम्पा ने कोहली को आउट किया। धवन ने फिर से खुद को टीम का महत्वपूर्ण बल्लेबाज साबित किया। उन्होंने ६० गेंदों पर आस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना छठा अद्र्धशतक पूरा किया। इससे पहले उन्होंने जनवरी २०१९ में न्यूजीलैंड के खिलाफ लगातार मैचों में अद्र्धशतक लगाये थे। यह उनका कुल २९वां पचासा है। बायें हाथ के इस बल्लेबाज ने विशेष तौर पर एश्टन एगर (आठ ओवर में ६३ रन) को निशाना बनाया जिन पर २५वें ओवर में उन्होंने लगातार दो चौके और २७वें ओवर में चौका और छक्का लगाया। धवन हालांकि अपने १८वें शतक से चूक गये। उन्होंने केन रिचर्डसन की गेंद पुल करके फाइन लेग पर कैच दिया। श्रेयस अय्यर (सात) और मनीष पाण्डेय (दो) दोनों नाकाम रहे जबकि रविंद्र जडेजा ने नाबाद २० रन बनाये।  शीर्षक्रम की शानदार बल्लेबाजी का नतीजा रहा कि भारत ने  ५० ओवर में छह विकेट पर ३४० रन बना लिए। एडम जम्पा ने १० ओवर में ५० रन खर्च कर तीन विकेट लिया जबकि केन रिचर्डसनने ७३ रन देकर दो विकेट लिया।
स्कोर बोर्ड
भारत-रोहित शर्मा पगबाधा बो एडम जम्पा ४२, धवन का स्टार्क बो केन रिचर्डसन ९६, कोहली का स्टार्क बो जम्पा ७८, अय्यर बो जम्पा ७, लोकेश राहुल रन आउट ८०, मनीष पाण्डेय का एगर बो केन रिचर्डसन २, रविंद्र जडेजा अजेय २०, शमी अजेय १, अतिरिक्त-१४, कुल-५० ओवर में छह विकेटपर ३४० रन, विकेट गिरे-१-८१, २-१८४, ३-१९८, ४-२७६, ५-२८०, ६-३३८, गेंदबाजी-पैट कमिंस १०-१-५३-०, स्टार्क १०-०-७८-०, केन रिचर्डसन १०-०-७३-२, जम्पा १०-०-५०-३, एगर ८-०-६३-०, मार्नश लाबुशेन २-०-१४-०। आस्ट्रेलिया- वार्नर का मनीष पाण्डेय बो शमी १५, फिंच स्टं राहुल बो जडेजा ३३, स्मिथ बो कुलदीप यादव ९८, लाबुशाने का शमी बो जडेजा ४६, एलेक्स कैरी का कोहली बो कुलदीप यादव १८, टर्नर बो शमी १३, एगर पगबाधा सैनी २५, कमिन्स बो शमी ०, स्टार्क स्टं राहुल बो सैनी ६, रिचड्र्सन अजेय २४, जम्पा का राहुल बो बुमराह ६, अतिरिक्त-२०, कुल-४९.१ ओवर में सभी विकेट खोकर ३०४ रन, विकेट गिरे-१-२०, २-८२, ३-१७८, ४-२२०, ५-२२१, ६-२५९, ७-२५९, ८-२७४, ९-२७५, गेंदबाजी-जसप्रीत बुमराह ९.१-२-३२-१, मोहम्मद शमी १०-०-७७-३, नवदीप सैनी १०-०-६२-२, रविन्द्र जडेजा १०-०-५८-२, कुलदीप यादव १०-०-६५-२।