Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


नवीनतम समाचार » धोनीसे कोहलीकी जंग

धोनीसे कोहलीकी जंग

चेन्नई (एजेन्सियां)। महेंद्र सिंह धोनी की गत चैम्पियन चेन्नई सुपर किंग्स और आईपीएल खिताब को तरस रही विराट कोहली की रायल चैलेंजर्स बेंगलूरू के बीच मुकाबले के साथ ही इंडियन प्रीमियर लीग का शनिवार को आगाज हो जायेगा। कोहली की टीम अगर धोनी के धुरंधरों को उनके गढ़ में हरा देती है तो इससे बड़ी शुरूआत उनके लिये नहीं हो सकती। चेन्नई की कोर टीम की उम्र ३० बरस के पार है। मसलन धोनी और शेन वाटसन दोनों ३७ वर्ष के हैं जबकि ड्वेन ब्रावो ३५, फाफ डु प्लेसिस ३४, अंबाती रायुडू और केदार जाधव ३३ और सुरेश रैना ३२ बरस के हैं। स्पिनर इमरान ताहिर ३९ और हरभजन सिंह ३८ वर्ष के हैं। भारतीय टीम से बाहर लेग स्पिनर करन शर्मा (३१) और तेज गेंदबाज मोहित शर्मा (३०) भी ३० वर्ष के पार हैं। इंडियन प्रीमियर लीग में लगातार अच्छा प्रदर्शन करने वाली टीम चेन्नई ने हालांकि उम्र को हमेशा धता बताया है। यह टीम हमेशा शीर्ष चार में रही और उस के उत्साही दर्शकों को हमेशा जश्न मनाने के मौके दिये हैं। जहां चेन्नई तीन बार की चैम्पियन है, वहीं बेंगलूरू टीम में कई बड़े नाम होने के बावजूद अभी तक खिताब नहीं जीत सकी है। शनिवार के मैच का नतीजा गेंदबाजों पर और दबाव का सामना करने की क्षमता पर निर्भर होगा। आरसीबी के खिलाफ चेन्नई ने १५ मैच जीते और सात हारें हैं जबकि एक का नतीजा नहीं निकला। दोनों टीमों के बीच हुए आखिरी छह मैचों में चेन्नई ने जीत दर्ज की है, जबकि बेंगलुरू ने आखिरी बार २०१४ में चेन्नई के खिलाफ जीत दर्ज की थी। वहीं चेपक में आखिरी बार विराट की टीम २००८ में जीती थी। विराट की कोशिश रहेगी कि चेन्नई के खिलाफ उसी के मैदान पर जीत से अपना आत्मविश्वास शुरूआत से ऊंचा रखें और सत्र का जोरदार आगाज करें वहीं धोनी की टीम भी अपने मैदान पर घरेलू समर्थन के साथ जीत दर्ज करने का दावा कर रही है जहां पिछले सत्र में उसे केवल एक ही मैच खेलने को मिला था। कावेरी जल विवाद के कारण दो वर्ष के निलंबन से वापसी करने वाली चेन्नई को अपने सभी घरेलू मैच विरोध प्रदर्शनों के चलते पुणो में खेलने पड़े थे। चेन्नई को तेज गेंदबाज लुंगी एनगिदी की चोट से परेशानी हुयी है, जिनकी जगह डेविड विली खेलेंगे। इसके अलावा शार्दूल ठाकुर और मोहित शर्मा नयी गेंद से जिम्मेदारी संभाल सकते हैं। अन्य विकल्पों में शेन वाटसन और ड्वेन ब्रावो हैं। स्पिन मददगार पिच पर धोनी के भरोसेमंद रवींद्र जडेजा को भी मौका मिलना तय है जबकि बल्लेबाजों में केदार जाधव और अंबाती रायुडू के प्रदर्शन पर निगाहें होंगी जिनका लक्ष्य विश्वकप टीम में जगह बनाना है। ३७ वर्षीय धोनी भी टीम के लिये अहम होंगे जो १७५ आईपीएल मैचों में ४०१६ रन बना चुके हैं, जिसमें २० अद्र्धशतक भी शामिल हैं। दूसरी ओर बेंगलुरू के कप्तान विराट ने १६३ मैचों में ४९४८ रन बनाये हैं और टीम के नेतृत्व के अलावा रन बनाने की भी उनपर अहम जिम्मेदारी रहेगी। बेंगलुरू के पास भले ही कागज पर शानदार खिलाड़ी हैं लेकिन उसके आंकड़े काफी निराशाजनक रहे हैं और पिछले सत्र में वह छठे नंबर पर रही थी। बेंगलुरू की टीम स्पिन मददगार पिच पर युजवेंद्र चहल पर काफी निर्भर रह सकती है, इसके अलावा मोइन अली, पवन नेगी, गुरकीरत सिंह और वाशिंगटन सुंदर भी महत्वपूर्ण रहेंगे। नाथन कोल्टर नाइल, उमेश यादव और मोहम्मद सिराज जैसे तेज गेंदबाज भी व्यक्तिगत प्रदर्शन से टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभा सकते हैं।
भारतीय महिलाओंने लगाया खिताबी 'पंच'

सैफ फुटबाल
विराटनगर (एजेन्सियां)। भारत ने नेपाल को ३-१ से हराकर लगातार पांचवीं बार सैफ महिला फुटबाल चैंपियनशिप जीत ली। इस जीत से टूर्नमेंट के इतिहास में भारत का अपराजेय रेकार्ड २३ मैचों का हो गया। भारत के लिए डालिमा छिब्बर, ग्रेस डांगमेइ और सब्स्टीट्यूट अंजु तमांग ने गोल दागे। भारत ने सेमीफाइनल में बंगलादेश को हराया था। मैच के २६वें मिनट में भारत को फ्री-किक मिली और ३० गज की दूरी से दालीमा ने शानदार गोल करते हुए अपनी टीम को बढ़त दिला दी। नेपाल के लिए बराबरी का गोल ३४वें मिनट में सबित्रा ने हेडर के जरिए दागा। दूसरा हाफ भी भारत के लिए दमदार रहा। ग्रेस ने ६३वें मिनट में गोल कर मेहमान टीम को एक बार फिर बढ़त दिला दी। मैच में दोबारा बढ़त बनाने के बाद भारतीय टीम ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और ७८वें मिनट में अंजू ने गोल कर भारत की जीत सुनिश्चित कर दी।