Mob: +91-7905117134,0542 2393981-87 | Mail: info@ajhindidaily.com


नवीनतम समाचार » शंखनाद महासंगा्रमका

शंखनाद महासंगा्रमका

  • 'बुढ़ी फौज'के सामने होगा 'नया जोश'
  • मैच का प्रसारण भारतीय समयानुसार रात्रि ७.३० बजेसे
अबु धाबी  (एजेन्सियां)। घातक कोरोना वायरस महामारी के खौफ के बीच दुनिया भर के क्रिकेट प्रेमियों के चेहरों पर मुस्कान लाने के लिए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) शनिवार से शुरू होगी। इसमें एक बार फिर दिग्मज महेंद्र सिंह धोनी के शांत रवैये, विराट कोहली की आक्रामकता और रोहित शर्मा की कप्तानी पर सभी की नजरें होंगी। गत चैम्पियन रोहित की मुंबई इंडियंस का सामना पहले मैच में धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) से होगा। भारत में लगातार बढ़ते कोरोना महामारी के मामलों के कारण टूर्नमेंट यूएई में खेला जा रहा है। ऐसा पहली बार होगा कि आईपीएल मैच के दौरान मैदान में दर्शक नहीं होंगे। कठिन हालात में सिनेमा और क्रिकेट के लिए तरस रहे दर्शकों के लिए भी यह आईपीएल खास होगा और खिलाडिय़ों के लिए भी। ऐसे में जब सोशल डिस्टैंसिंग और स्वास्थ्य प्रोटोकाल दिनचर्या का हिस्सा बन चुके हैं अगले ५३ दिन धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स, कोहली की रायल चैलेंजर्स बैंगलोर, रोहित की मुंबई इंडियंस, केएल राहुल की किंग्स इलेवन पंजाब और श्रेयस अय्यर की दिल्ली कैपिटल्स समेत आईपीएल की आठ टीमों के नाम होंगे। आईपीएल पहले भी विदेश में हुआ है लेकिन इस बार करोड़ों डालर का यह क्रिकेटिया जलसा पहली बार बायो-सिक्योर माहौल में होगा। इसमें क्रिस गेल और डेविड वार्नर के गगनभेदी छक्कों पर तालियां पीटने वाले नहीं होंगे और ना ही सुपर ओवर में कोई शोर सुनाई देगा। इसके बावजूद कोई शिकायत नहीं क्योंकि कम से कम खेल देखने को तो मिलेगा। कागजों पर आकलन करें तो मुंबई की टीम सबसे मजबूत नजर आ रही है जिसमें रोहित के अलावा हार्दिक और क्रुणाल पंड्या, कीरोन पोलार्ड और 'डेथ ओवरों के शहंशाहÓ गेंदबाज जसप्रीत बुमराह हैं। चेन्नई टीम को भले ही 'बूढों की फौजÓ कहें लेकिन इस टीम ने साबित किया है कि सफलता और प्रतिभा उम्र की मोहताज नहीं होती। दिग्गज शेन वाटसन, ड्वेन ब्रावो, फाफ डु प्लेसिस और आलराउंडर रविन्द्र जडेजा ने अपना सौ प्रतिशत इस टीम को दिया है और इस बार भी देंगे। पहले मैच में मुंबई का पलड़ा भारी लग रहा है। रोहित, क्विंटन डि काक, सूर्य कुमार यादव, ईशान किशन, पंड्या बंधु, कीरोन पोलार्ड बल्लेबाजी को मजबूती देते हैं। ट्रेंट बोल्ट और नाथन कोल्टर नाइल भी टीम में हैं। चेन्नई टीम में इतने सालों में ज्यादा बदलाव नहीं आया है। धोनी के सबसे विश्वस्त सिपहसालार सुरेश रैना इस बार नहीं है। उनकी जगह ऋतुराज गायकवाड़ भी उपलब्ध नहीं है जो कम से कम पांच बार कोरोना पाजिटिव आ चुके हैं लेकिन चेन्नई के पास वाटसन, अंबाती रायुडू, केदार जाधव, जडेजा और ब्रावो जैसे मैच विनर हैं। मिशेल सैंटनर और लुंगी एंगिडी भी चयन के लिए उपलब्ध हैं। चेन्नई सुपर किंग्स इंडियन प्रीमियर लीग की सबसे अनुभवी टीमों में शामिल है। इस टीम के खिलाडिय़ों ने कुल मिलाकर ३८४० टी-२० मैच खेले हैं। इस अनुभव से उन्हें बहुत फायदा होगा। हालांकि इनमें से कई खिलाडिय़ों ने काफी समय से प्रतिस्पर्धी क्रिकेट नहीं खेली है। सात खिलाडिय़ों ने तो इस साल यानी २०२० में कोई प्रतिस्पर्धी मुकाबला नहीं खेला है। यूएई उनके लिए अच्छा रहा है। साल २०१४ में जब आईपीएल का पहला हिस्सा यूएई में खेला गया था तब चेन्नई ने पांच में से चार मैच जीते थे। मुंबई इंडियंस के लिए यूएई हालांकि अच्छा नहीं रहा है। साल २०१४ में जब आईपीएल के शुरुआती चरण के मुकाबले वहां खेले गये थे तो मुंबई इंडियंस ने लगातार पांच मुकाबले हारे थे। हालांकि टीम अकसर धीमी शुरुआत करने के लिए जानी जाती है। इस टीम का मध्यक्रम दमदार है। उनके पास सूर्यकुमार यादव (स्ट्राइक रेट १३१.९६), पोलार्ड (स्ट्राइक रेट १४६.७७), क्रुणाल पंड्या (१५४.७८) और हार्दिक पंड्या (१४६.०६) जैसे बल्लेबाज हैं। टीम के पास इसके बाद क्रुणाल पंड्या, राहुल चाहर और जयंत यादव जैसे स्पिनर भी हैं जो सामने वाली टीम को बड़ा स्कोर बनाने से रोकते हैं। यूएई की पिचें स्पिनर्स के लिए बहुत मददगार हैं। दुबई और अबू धाबी में स्पिनर्स की इकॉनमी रेट ६.९८ और ६.६६ है और शारजाह में यह ७.२२ है। इससे पता चलता है कि फिरकी गेंदबाजों के लिए यूएई बहुत मुफीद है। मैच भारतीय समयानुसार रात्रि ७.३० बजे से शुरू होगा।