Mob: +91-7905117134,0542 2393981-87 | Mail: info@ajhindidaily.com


करन तिवारी ने किया सुसाइड

नयी दिल्ली (एजेन्सियां)। भारतीय क्रिकेट को एक बड़ा झटका लगा है। मुंबई में एक क्लब क्रिकेटर करन तिवारी ने सोमवार रात सुइसाइड कर लिया। वह अपने मलाड पूर्व स्थित घर पर मृत पाया गया। इस बारे में उसके एक दोस्त ने बताया कि वह इंडियन प्रीमियर लीग  में सिलेक्ट नहीं होने की वजह से परेशान था। करन को मुंबई का डेल स्टेन (साउथ अफ्रीका के दिग्गज फास्ट बोलर) कहा जा रहा था। २७ वर्ष के करन तिवारी के बेडरूम का दरवाजा अंदर से बंद था। रात १०:३० बजे दरवाजा नहीं खुलने पर परिजनों ने दरवाजा खुलवाया तो उसे सीलिंग फैन से लटका पाया। पुलिस के अनुसार, करन तिवारी ने गोकुलधाम कोनु कंपाउंड में सुसाइड कर लिया। पुलिस ने दर्ज की है। कुरार पुलिस के अनुसार- थाने में एडीआर दर्ज कर ली है और मामले की जांच की जा रही है। पुलिस के अनुसार, १९ सितंबर को यूएई में शुरू होने वाले आइपीएल में नहीं चुने जाने के बाद करन उदास था। करन ने उदयपुर में अपने बेस्ट फ्रेंड को फोन पर कहा था कि वह आत्महत्या करने जा रहा है। वह आईपीएल में मौका नहीं मिलने की वजह से उदास था। दोस्त ने इस बारे में उसकी सगी बहन को फोन करके सूचना दी, जो मुंबई में ही रहती हैं। करन की बहन ने मां को बताया, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। करन को अस्पताल में मृत घोषित किया गया। दोस्त ने पुलिस को बताया, वह राज्य टीम में चुने जाने की उम्मीद कर रहा था। वह लगातार इसके लिए कोशिश कर रहा था। वह अपने बोलिग और बैटिंग के वीडियोज भी स्टेटस पर अपलोड करता रहता था। उसका यह कदम उठाना हैरान करने वाला है। बता दें कि आईपीएल में केवल वही खिलाड़ी हिस्सा ले सकते हैं, जिन्होंने किसी भी आयु वर्ग में राज्य की टीम का प्रतिनिधित्व किया है। करन इस नियम पर खरा नहीं उतरते थे। करन की कदकाठी और खेल काफी हद तक साउथ अफ्रीकी महान तेज गेंदबाज डेल स्टेन से मिलती था। इस वजह से उसे साथी उसे मुंबई का डेल स्टेन कहते थे।
राजस्थान रॉयल्स के फील्डिग कोच कोरोना पॉजिटिव
नयी दिल्ली (एजेन्सियां)। राजस्थान रॉयल्स के फील्डिंग कोच दिशांत याग्निक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। अगले हफ्ते टीम ने मुंबई में जमा होना है और उसके बाद यूएई  के लिए रवाना होना है। इससे पहले टीम से जुड़े सभी लोगों का कोरोना टेस्ट करवाया गया जिसमें याग्निक के पॉजिटिव होने की खबर आई है। राजस्थान रॉयल्स ने एक बयान जारी कर कहा है, बीसीसीआई द्वारा जरूरी किए गए दो टेस्ट के अलावा हम यूएई जाने वाले सभी खिलाडिय़ों, सपॉर्ट स्टाफ और मैनेजमेंट एक और टेस्ट करवा रहे हैं, ताकि प्रक्रिया को अधिक सुरक्षित बनाया जा सके। याग्निक फिलहाल उदयपुर के अपने घर में हैं उन्हें १४ दिन के क्वॉरनटीन के लिए अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी है। १४ दिन बाद बीसीसीआई के प्रोटोकॉल के हिसाब से दो बार उनकी जांच की जाएगी। दो रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें यूएई जाने की इजाजत मिलेगी। वहां छह दिन आइसोलेशन में रहने के बाद और तीन नेगेटिव टेस्ट आने के बाद ही वह टीम के साथ जड़ पाएंगे।  
जर्मनी ने ऑस्ट्रिया को ८३ रनों से हरायामहिला इंटरनैशनल क्रिकेट की हुई वापसी
नयी दिल्ली। मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) पर सात महीने पहले आईसीसी टी20 महिला विश्व कप फाइनल के सात महीने बाद बुधवार को पहली बार महिला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला गया जब ऑस्ट्रिया ने पांच टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की सीरीज में जर्मनी की मेजबानी की। कोविड-19 महामारी के कारण सभी महिला टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों को निलंबित किया गया था। गोल्डन ईगल्स के नाम से मशहूर जर्मनी आईसीसी महिला टी20 अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग में दुनिया की 27वें नंबर की टीम है जबकि ऑस्ट्रिया की रैंकिंग 50वीं हैं। इस मैच में जर्मनी ने ऑस्ट्रिया महिला टीम को 82 रनों से पराजित किया। जर्मनी महिला टीम ने पहले बैटिंग करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में 2 विकेट पर 165 रन बनाए। उसके लिए क्रिस्टिना गफ ने सबसे अधिक 62 गेंदों में 9 चौके की मदद से 72 रन बनाए, जबकि कप्तान अनुराधा डोडाबल्लापुर ने 30 गेंदों में 4 चौके की मदद से 27 रन बनाए। जवाब में ऑस्ट्रियाई टीम 19 ओवरों में महज 83 रनों पर सिमट गई। जर्मनी की कप्तान अनुराधा डोडाबल्लापुर ने कहा, 'सबसे पहले मैं ऑस्ट्रिया क्रिकेट का इस मुश्किल हालात के वाबजूद हमारी मेजबानी के लिए शुक्रिया अदा करना चाहती हूं। हम लंबे ब्रेक के बाद दोबारा मैदान पर उतरने को लेकर उत्साहित हैं। ऑस्ट्रिया की कप्तान माए जेपेडा ने कहा, 'टीम काफी उत्साहित हैं और कोविड-19 के कारण लगे लॉकडाउन के कारण मिले लंबे ब्रेक के बाद हम प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलने के लिए तैयार हैं।Ó उन्होंने कहा, 'कुछ टीमें यातायात पाबंदियों के कारण इसमें हिस्सा नहीं ले सकतीं, लेकिन हम इस बात से खुश हैं कि इस तरह की पाबंदियां ऑस्ट्रिया और जर्मनी के बीच हल्की हैं और इस साल हम कुछ अंतरराष्ट्रीय स्तर की क्रिकेट खेल पा रहे हैं।