Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


धवन,पुजारा के शतकों से भारत मजबूत

गाले(एजेन्सियां)। भारत और श्रीलंका के बीच यहां खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के पहले दिन शिखर धवन (१९०) और चेतेश्वर पुजारा (अजेय १४४) के शतकों की बदौलत भारत ने अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। पहले दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने तीन विकेट के नुकसान पर ३९९ रन बना लिये। दिन का खेल खत्म होने पर पुजारा के साथ अजिंक्य रहाणे ३९ रन बनाकर अजेय रहे। मैच के दूसरे दिन भारतीय खेमे को इन दोनों बल्लेबाजों से बड़ी पारी की उम्मीद होगी, ताकि भारत श्रीलंका पर पूरी तरह से हावी दिखे। बता दें कि किसी टेस्ट मैच के पहले ही दिन यह (३९९/३) भारत का दूसरा सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। इससे पहले भारत ने २००९-१० में श्री लंका के ही खिलाफ कानपुर टेस्ट मैच के पहले दिन दो विकेट के नुकसान पर ४१७ रन बनाये थे।
श्री लंका के नजरिए से इस मैच में कुछ भी सही नहीं रहा। केवल नुवान प्रदीप ही एक मात्र ऐसे गेंदबाज रहे, जिन्होंने भारत के तीनों विकेटों को अपने नाम किया। प्रदीप के अलावा कोई भी गेंदबाज भारत के बल्लेबाजों पर प्रभाव नहीं डाल पाया। श्री लंका ने पहले दिन अपने पांच गेंदबाजों को अपनाया। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। मेहमान टीम की ओर से मैदान पर उतरी अभिनव मुकुंद और शिखर धवन की नयी सलामी जोड़ी अपनी लय हासिल करने में लगी थी, तभी प्रदीप की एक गेंद मुकुंद के बल्ले का बाहरी किनारा लेकर विकेटकीपर निरोशन डिकवेला के हाथ में चली गई। मुकुंद २७ के कुल स्कोर पर पवेलियन लौटे। उन्होंने अपनी पारी में २६ गेंदें खेलीं और दो चौके लगाये। यहां से पुजारा और धवन ने पारी को आगे बढ़ाया और दोनों ने पहले सत्र के अंत कोई और विकेट नहीं गिरने दिया और तेजी से रन बनाये। पहले सत्र में श्रीलंकाई गेंदबाजों पर बनाये गये दबाव को इस जोड़ी ने दूसरे सत्र में कायम रखा और आसानी से रन बनाते रहे। श्री लंका की गेंदबाजी में धार नहीं दिखी और यह धवन तथा पुजारा को परेशान भी नहीं कर पायी। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए २५३ रनों की साझेदारी की। वापसी कर रहे धवन दोहरे शतक की ओर बढ़ रहे थे। इसी दौरान धवन ने प्रदीप की गेंद पर आगे निकल कर मिड ऑन के ऊपर से मारने का प्रयास किया, लेकिन गेंद सीधे एंजेलो मैथ्यूज के हाथों में दे बैठे।  धवन का विकेट २८० के कुल स्कोर पर गिरा। धवन ने अपनी धमाकेदार पारी में १६८ गेंदें खेलीं और ३१ चौके जड़े। कप्तान  कोहली आज वह कुछ नहीं कर पाये और तीन रन बनाकर वापस पविलियन लौट गये। अजिंक्य रहाणे ने क्रीज पर पैर जमाकर पुजारा का बढिय़ा साथ दिया। दोनों ने मिलकर भारत का कोई और विकेट नहीं गिरने दिया। चौथे विकेट के लिए ११३ रन जोड़ लिये हैं। इससे पहले मेजबान टीम ने चायकाल तक दो विकेट के नुकसान पर २८२ रन बना लिये हैं। भारत ने अभिनव मुकुंद (१२) और धवन के रूप में अपने दो विकेट खोए हैं।  हार्दिक पंड्या के आने से टीम को एक तेज गेंदबाजी का ऑप्शन मिला है। इसके साथ ही मोहम्मद शमी और उमेश यादव भी टीम में शामिल हैं। स्पिन की कमान आर.अश्विन और रविंद्र जाडेजा के हाथ में है। धर्मशाला में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने पहले ही टेस्ट मैच में चार विकेट लेने वाले कुलदीप यादव प्लेइंग ११ में जगह नहीं बना पाये हैं। मुरली विजय (कलाई की चोट) और केएल राहुल (वायरल बुखार) के कारण नहीं खेल रहे हैं। ऐसे में शिखर धवन और अभिनव मुकुंद ने पारी की शुरुआत की है।
स्कोर बोर्ड
भारत पहली पारी: शिखर धवन का का मैथ्यूज बो प्रदीप १९०, अभिनव मुकुन्द का निरोशन डिकवेला बो प्रदीप १२, चेतेश्वर पुजारा अजेय १४४, विराट कोहली का डिकवेला बो प्रदीप ३, अजिंक्य रहाणे अजेय ३९, अतिरिक्त ११।
योग: ९० ओवरमें तीन विकेटपर ३९९ रन।
विकेट गिरे: १-२७, २-२८०, ३-२८६।
गेंदबाजी: नुवन प्रदीप १८-१-६४-३, लहिरू कुमरा १६-०-९५-०, दिलरुअन परेरा २५-१-१०३-०, रंगना हेरात २४-४-९२-०, दानुष्का गुणतिलका ७-०-४१-०।