Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


नवीनतम समाचार » सेंसेक्स ३०.४७ अंक टूटा

सेंसेक्स ३०.४७ अंक टूटा

मुंबई। विदेशी संस्थागत निवेशकों की धन निकासी से बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 30.47 अंक की मामूली गिरावट के साथ 32,370.04 अंक पर बंद हुआ। प्रोत्साहन उपायों में नरमी को लेकर अमेरिकी फेडरल रिजर्व की घोषणा तथा ब्याज दर में एक और वृद्धि के संकेत के बाद विदेशी संस्थागत निवेशकों ने शेयर बाजारों से धन की निकासी की। एशिया के अन्य बाजारों में भी गिरावट का रूख रहा जिससे निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई।
तीस शेयरों वाला सेंसेक्स बढ़त के साथ 32,406.42 अंक पर खुला और मुख्य रूप से घरेलू निवेशकों की लिवाली से एक समय दिन के उच्च स्तर 32,462.61 अंक तक चला गया। हालांकि, कारोबार के दौरान डालर के मुकाबले रुपये के दो सप्ताह के न्यूनतम स्तर 64.81 रुपये प्रति डालर पर पहुंचने से इसमें गिरावट आयी और एक समय 32,164.42 के न्यूनतम स्तर तक चला गया।
अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दर में वृद्धि के मजबूत संकेत से डालर में मजबूती आयी। बाद में यूरोप के प्रमुख शेयर बाजारों में शुरूआती कारोबार में तेजी की खबर से सेंसेक्स में सुधार हुआ और यह यह 30.47 अंक या 0.09 प्रतिशत की गिरावट के साथ 32,370.04 अंक पर बंद हुआ। पचास शेयरों वाला एनएसई निफ्टी भी 19.25 अंक की या 0.19 प्रतिशत की गिरावट के साथ 10,121.90 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 10,158.90 अंक से 10,058 अंक के दायरे में रहा।
मुंबई। विदेशी संस्थागत निवेशकों की धन निकासी से बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स ३०.४७ अंक की मामूली गिरावट के साथ ३२,३७०.०४ अंक पर बंद हुआ। प्रोत्साहन उपायों में नरमी को लेकर अमेरिकी फेडरल रिजर्व की घोषणा तथा ब्याज दर में एक और वृद्धि के संकेत के बाद विदेशी संस्थागत निवेशकों ने शेयर बाजारों से धन की निकासी की। एशिया के अन्य बाजारों में भी गिरावट का रूख रहा जिससे निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई। तीस शेयरों वाला सेंसेक्स बढ़त के साथ ३२,४०६.४२ अंक पर खुला और मुख्य रूप से घरेलू निवेशकों की लिवाली से एक समय दिन के उच्च स्तर ३२,४६२.६१ अंक तक चला गया। हालांकि, कारोबार के दौरान डालर के मुकाबले रुपये के दो सप्ताह के न्यूनतम स्तर ६४.८१ रुपये प्रति डालर पर पहुंचने से इसमें गिरावट आयी और एक समय ३२,१६४.४२ के न्यूनतम स्तर तक चला गया।
अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दर में वृद्धि के मजबूत संकेत से डालर में मजबूती आयी। बाद में यूरोप के प्रमुख शेयर बाजारों में शुरूआती कारोबार में तेजी की खबर से सेंसेक्स में सुधार हुआ और यह यह ३०.४७ अंक या ०.०९ प्रतिशत की गिरावट के साथ ३२,३७०.०४ अंकपर बंद हुआ। पचास शेयरों वाला एनएसई निफ्टी भी १९.२५ अंक की या ०.१९ प्रतिशत की गिरावट के साथ १०,१२१.९० अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह १०,१५८.९० अंक से १०,०५८ अंक के दायरे में रहा।
सोनेमें २५० रुपयेकी गिरावट

नयी दिल्ली। अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में वृद्धि किये जाने के मजबूत संकेत से डॉलर में मजबूती आई और सर्राफा मांग प्रभावित हुई। इससे सोने की कीमत २५० रुपये की गिरावट के साथ ३०५०० रुपये प्रति दस ग्राम पर बंद हुई। औद्योगिक इकाइयों तथा सिक्का विनिर्माताओं की कमजोर उठान के कारण चांदी की कीमत भी ६०० रुपये की गिरावट के साथ ४०३०० रुपये प्रति किलो रह गयी। वैश्विक बाजारों में सोना अपने करीब तीन सप्ताह के निम्न स्तर को छू गया। अमेरिका के केन्द्रीय बैंक अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा संकट के दौर के आर्थिक प्रोत्साहन कार्यक्रम को क्रमवार ढंग से समाप्त करने और बेंचमार्क ब्याज दरों को अपरिवर्तित रखने के ताजा नीतिगत पहल के बाद भविष्य में ब्याज दरों में वृद्धि किये जाने की संभावना प्रबल हो गयी है जिससे डॉलर मजबूत हुआ और सर्राफा मांग प्रभावित हुई। वैश्विक स्तर पर, सिंगापुर में सोने की कीमत ०.२१ प्रतिशत की गिरावट के साथ १,२९७.८० डॉलर प्रति औंस रह गयी। राष्ट्रीय राजधानी में, ९९.९ प्रतिशत और ९९.५ प्रतिशत शुद्धता वाला सोना २५०-२५० रुपये की गिरावट के साथ क्रमश: ३०५०० रुपये तथा ३०३५० रुपये प्रति दस ग्राम रह गया है। बहुमूल्यू धातु में कल १५० रुपये की तेजी आई थी। हालांकि, सीमित सौदों के बीच ८ ग्राम वाली गिन्नी के भाव २४७०० रुपये पर स्थिर है। चांदी तैयार के भाव ६०० रुपये की गिरावट के साथ ४०३०० प्रति किलो हो गयी जबकि साप्ताहिक डिलीवरी के भाव ६५५ रुपये की गिरावट के साथ ३९,६६५ रुपये प्रति किलो रह गये। हालांकि चांदी सिक्का लिवाल ७४००० रुपये और बिकवाल ७५००० रुपये प्रति सैकड़ा पर स्थिर रहे।