Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


शिखरको छूकर लौटा सेंसेक्स

मुंबई। विदेशों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच बैंकिंग तथा वित्तीय कंपनियों में बिकवाली से शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजारों में उतार-चढ़ाव रहा और बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 42,063.93 अंक के रिकॉर्ड स्तर तक चढऩे के बाद अंतत: 12.81 अंक यानी 0.03 प्रतिशत की बढ़त में 41,945.37 अंक पर बंद हुआ।
नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी भी कभी लाल और कभी हरे निशान से होता हुआ कारोबार की समाप्ति पर 3.15 अंक यानी 0.03 प्रतिशत की गिरावट के साथ अंतत: 12,352.35 अंक पर बंद हुआ। मझौली और छोटी कंपनियों में निवेशकों का विश्वास बना रहा। बीएसई का मिडकैप 0.54 प्रतिशत चढ़कर 15,708.97 अंक पर और स्मॉलकैप 0.42 प्रतिशत यानी 14,708.70 अंक पर पहुँच गया। एक तरफ ऊर्जा, दूरसंचार और स्वास्थ्य क्षेत्र की कंपनियों में लिवाली से बाजार में तेजी रही तो दूसरी ओर बैंकिंग, वित्त और धातु क्षेत्र में हुई बिकवाली ने इस पर दबाब बनाया।
सेंसेक्स 3.54 अंक की गिरावट में 41,929.02 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान एक समय यह 42,063.93 अंक पर पहुँच गया जो अब तक का रिकॉर्ड स्तर है। अंतत: यह 0.03 प्रतिशत की बढ़त में 41,945.37 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान इसका दिवस का निचला स्तर 41,850.29 अंक रहा। बीएसई में कुल 2,715 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,331 के शेयर बढ़त में और 1,210 के गिरावट में रहे जबकि 174 कंपनियों के शेयर दिन भर के उतार-चढ़ाव के बाद अंतत: अपरिवर्तित रहे।
निफ्टी 27.10 अंक टूटकर 12,328.40 अंक पर खुला। इसका दिवस का उच्चतम स्तर 12,321.40 अंक और निचला स्तर 12,385.45 अंक रहा। अंत में यह गत दिवस की तुलना में 3.15 अंक नीचे 12,352.35 अंक पर बंद हुआ।
--------------------
ओरिएंटल इंश्योरेंस और यूनाइटेड इंडियाके विलयको मंजूरीकी उम्मीद

चेन्नई। सार्वजनिक क्षेत्र की दो जनरल इंश्योरेंस कंपनियों- ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड और यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के निदेशक मंडल की शुक्रवार को दिल्ली में हो रही अलग-अलग बैठकों में विलय को मंजूरी दी जा सकती है। जनरल इंश्योरेंस एम्प्लाइज ऑल इंडिया एसोसिएशन (जीआईईएआईए)के जनरल सेक्रेटरी के.गोविंदन ने आईएएनएस से कहा, यूनाइटेड इंडिया व ओरियंटल इंश्योरेंस के बोर्ड आज दिल्ली में अपनी बैठकें कर रहे हैं। दोनों बोर्डो के विलय को हरी झंडी देने के लिए एक प्रस्ताव पारित करने की उम्मीद है। एक अन्य अधिकारी ने भी घटनाक्रम की पुष्टि की और आईएएनएस से नाम नहीं जाहिर करने की शर्त के साथ कहा, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा संसद में बजट पेश करने से दो हफ्ते पहले यह घटनाक्रम हो रहा है। अधिकारी ने कहा कि वित्त मंत्री विलय किए गए निकाय के लिए पूंजी की घोषणा कर सकती हैं। गोविंदन के अनुसार, नेशनल इंश्योरेंस कंपनी के निदेशक मंडल के सोमवार को मिलने और विलय के लिए आवश्यक प्रस्ताव पारित करने की उम्मीद है। केंद्र सरकार ने सभी तीन कंपनियों को एक इकाई में विलय करने का प्रस्ताव दिया था।