Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


सेंसेक्स 119 तो निफ्टी 40 अंक उछला

मुंबई। कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट, रुपये में मजबूती तथा विदेशी कोषों के ताजा प्रवाह के बीच निवेशकों की धारणा में सुधार से गुरुवार को बीएसई सेंसेक्स 119 अंक चढ़ गया। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 10,600 अंक के स्तर को पार कर गया। बीएसई का 31 कंपनियों के शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 118.55 अंकों (0.34 फीसदी) तेजी के साथ 35,260.54 पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 कंपनियों के शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 40.40 अंकों (0.38 फीसदी) के उछाल के साथ 10,616.70 पर बंद हुआ। बुधवार को सेंसेक्स महज 2.50 अंक (0.01 फीसदी) की गिरावट के साथ 35,141.99 पर बंद हुआ था, वहीं निफ्टी भी मात्र 6.20 अंकों की गिरावट के साथ 10,576.30 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 35,402 का ऊपरी स्तर, जबकि 35,118.42 का निचला स्तर छुआ। वहीं निफ्टी ने 10,646.50 का ऊपरी स्तर, जबकि 10,557.50 का निचला स्तर छुआ। बीएसई पर 18 कंपनियों शेयर हरे निशान पर, जबकि 13 कंपनियों के शेयर लाल निशान पर बंद हुए। वहीं, एनएसई पर 29 कंपनियों के शेयर हरे निशान पर, जबकि 21 कंपनियों के शेयर लाल निशान पर बंद हुए। बीएसई पर अडानी पोट्र्स में 4.19 फीसदी, कोटक बैंक में 2.93 फीसदी, हीरो मोटोकॉर्प में 2.20 फीसदी, एक्सिस बैंक में 2.11 फीसदी और टाटा मोटर्स में 1.78 फीसदी की तेजी देखी गई। वहीं, यस बैंक में 7.42 फीसदी, एनटीपीसी में 2.16 फीसदी, ओएनजीसी में 1.15 फीसदी, सन फार्मा में 1.04 फीसदी और कोल इंडिया के शेयरों में 0.96 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। उधर, एनएसई पर अडानी पोर्ट में 4.28 फीसदी, टाइटन में 3.29 फीसदी, आयशर मोटर्स में 2.93 फीसदी, कोटक महिंद्रा बैंक में 2.77 फीसदी और हीरो मोटोकॉर्प में 2.53 फीसदी की तेजी दर्ज की गई।
 वहीं, ग्रासिम में 8.02 फीसदी, यस बैंक में 7.42 फीसदी, इंडिया बुल हाउजिंग फाइनैंस में 4.33 फीसदी, एनटीपीसी में 2.41 फीसदी और इंफ्राटेल में 2.02 फीसदी की गिरावट देखी गई।
रुपये में मजबूती, एशियाई बाजारों में तेजी तथा यूरोपीय बाजारों की बढ़त के साथ शुरुआत से यहां भी बाजार की धारणा सकारात्मक हुई। कारोबारियों ने कहा कि वैश्विक बाजारों में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट से अर्थव्यवस्था को काफी प्रोत्साहन मिलेगा। इससे देश का आयात बिल कम होगा, महंगाई नीचे आएगी और चालू खाते के घाटे की चिंता दूर हो सकेगी।
वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल के दाम अक्टूबर की शुरुआत से अब तक 30 प्रतिशत घटकर 65 डॉलर प्रति बैरल पर आ चुके हैं। उस समय ये 86 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गए थे। आपूर्ति बढऩे की संभावना के बीच ब्रेंट क्रूड 0.47 प्रतिशत टूटकर 65.81 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। ब्रोकरों ने कहा कि विदेशी कोषों के ताजा निवेश से भी निवेशकों की धारणा को बल मिला। हालांकि, कारोबार के अंतिम घंटे में मुनाफावसूली का सिलसिला चलने से बाजार का लाभ सीमित रहा।
मांग बढऩेसे सोना 350 रुपये चढ़ा, चांदी भी मजबूत

नयी दिल्ली। स्थानीय आभूषण विनिर्माताओं की मांग बढऩे और विदेशी बाजारों के मजबूत रुख से दिल्ली सर्राफा बाजार में बृहस्पतिवार को सोना 350 रुपये चढ़कर 32,250 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। औद्योगिक इकाइयों का उठाव बढऩे से चांदी भी 450 रुपये मजबूत होकर 37,900 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। कारोबारियों ने कहा कि डॉलर 16 माह के उच्चस्तर से फिसलने के बीच मजबूत वैश्विक रुख से भी सुरक्षित निवेश विकल्प के रूप में बहुमूल्य धातुओं की मांग बढ़ी है।  इसके अलावा स्थानीय जौहरियों की मांग बढऩे से भी धारणा को बल मिला। दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 99.9 प्रतिशत और 99.5 प्रतिशत शुद्धता 350-350 रुपये की बढ़त के साथ क्रमश: 32,250 रुपये और 32,100 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। इससे पिछले दो सत्रों में सोना 250 रुपये टूटा था। आठ ग्राम की गिन्नी के भाव 24,800 रुपये प्रति इकाई पर कायम रहे। सोने की तरह चांदी हाजिर भी 450 रुपये की बढ़त के साथ 37,900 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। साप्ताहिक डिलिवरी के भाव 452 रुपये चढ़कर 36,671 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गए।चांदी सिक्का लिवाल 73,000 रुपये और बिकवाल 74,000 रुपये प्रति सैकड़ा के स्तर पर कायम रहा।
स्वर्ण आभूषणोंके लिए हॉलमार्क शीघ्र ही अनिवार्य करनेपर विचार-पासवान

नयी दिल्ली। सरकार देश में बेचे जा रहे स्वर्ण आभूषणों के लिए शीघ्र ही हॉलमार्क अनिवार्य करने पर विचार कर रही है। खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने बृहस्पतिवार को इसकी जानकारी दी। पासवान ने भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) द्वारा विश्व मानक दिवस के उपलक्ष्य में मनाये जा रहे 'वैश्विक मानक एवं चतुर्थ औद्योगिक क्रांतिÓ समारोह में कहा, ''बीआईएस ने तीन श्रेणियों 14 कैरट, 18 कैरट और 22 कैरट के लिए हॉलमार्क के मानक तय किये हैं। हम इसे शीघ्र ही अनिवार्य करने वाले हैं।Ó अभी हॉलमार्क स्वैच्छिक है। यह सोने की शुद्धता का मानक है। इसका प्रशासनिक प्राधिकरण बीआईएस के पास है जो उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के तहत आता है। पासवान ने उपभोक्ताओं के हित में मानक अपनाने की जरूरत पर जोर दिया। हालांकि उन्होंने इसके क्रियान्वयन की तिथि के बारे में जानकारी नहीं दी। मंत्री ने कहा कि चौथी औद्योगिक क्रांति स्मार्ट प्रौद्योगिकियों की होगी और बीआईएस के समक्ष यह चुनौती है कि वह मानक तय करने का काम तेज करे ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि देश इस क्षेत्र में पीछे नहीं छूटेगा। पासवान ने इस मौके पर बीआईएस की नयी वेबसाइट की शुरूआत की और स्मार्ट विनिर्माण के बारे में मानक पूर्व रिपोर्ट जारी की। उपभोक्ता मामलों के केंद्रीय राज्य मंत्री सी.आर.चौधरी ने भी इस बात पर जोर दिया कि समय की जरूरत कृत्रिम बुद्धिमता जैसी नयी स्मार्ट प्रौद्योगिकियों के लिये मानक तय करने पर चर्चा करना है। बीआईएस की महानिदेशक सुरीना राजन ने कहा कि चौथी औद्योगिक क्रांति में इस्तेमाल होने वाली स्मार्ट प्रौद्योगिकियों के मानकीकरण के अध्ययन के लिए समितियां पहले ही गठित की जा चुकी हैं। इस क्रांति में मशीन भी मानवों की तरह कार्य कर रहे होंगे।
25 पैसे बढ़तके साथ 72.06 पर खुला रुपया
नयी दिल्ली। डॉलर के मुकाबले रुपये में मजबूती कायम है और रुपया आज 25 पैसे बढ़त के साथ 72.06 के स्तर पर खुला है। कल के कारोबार में भी रुपये में बढ़त देखने को मिली थी। डॉलर के मुकाबले रुपया कल 36 पैसे की जोरदार मजबूती के साथ 72.31 के स्तर पर बंद हुआ था। डॉलर के मुकाबले कल भी रुपये की शुरुआत आज जोरदार बढ़त के साथ हुई थी।  51 पैसे की बढ़त के साथ 72.16 के स्तर पर खुला है। कच्चा तेल की कीमतों में नरमी तथा घरेलू स्तर पर मुद्रास्फीति के बेहतर आंकड़ों से रुपया मंगलवार को अंतरबैंकिंग मुद्रा बाजार में शुरुआती कारोबार में 29 पैसे मजबूत होकर 72.60 रुपये प्रति डॉलर पर रहा था, इनके अलावा विदेशी निवेशकों के पूंजी झोंकने तथा अन्य प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर के नरम पडऩे से भी रुपये को समर्थन मिला।