Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


सेंसेक्स 642 अंक, निफ्टी 185 अंक टूटा

मुंबई। दिनभर के कारोबार के बाद सप्ताह के दूसरे कारोबारी दिन यानी मंगलवार को शेयर बाजार लाल निशान पर बंद हुआ। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 642.22 अंकों की गिरावट के बाद 36,481.09 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी 185.90 अंकों की गिरावट के बाद 10,817.60 के स्तर पर बंद हुआ। ग्लोबल मार्केट में गिरावट और रुपए में कमजोरी के बीच भारतीय शेयर बाजार एक बार बड़ी गिरावट के साथ बंद हुआ। सऊदी अरब में आरामको के तेल संयंत्रों पर ड्रोन हमले से कच्चे तेल की कीमतें प्रभावित हुई हैं और इसका भारत में भी तेल कंपनियों के शेयरों पर दबाव है। इस वजह से मंगलवार को भी बाजार में गिरावट जारी है। दिग्गज शेयरों की बात करें, तो मंगलवार को हीरो मोटोकॉर्प, टाटा स्टील, टाटा मोटर्स, एक्सिस बैंक और मारुति सुजुकी के शेयर लाल निशान पर बंद हुए। वहीं बढ़त वाले दिग्गज शेयरों की बात करें, तो इनमें टाइटन कंपनी, गेल, एचयूएल और एशियन पेंट्स के शेयर शामिल हैं। सेक्टोरियल इंडेक्स पर नजर डालें, तो सभी सेक्टर्स लाल निशान पर बंद हुए। इनमें बैंक, ऑटो, एनर्जी, इंफ्रा, मेटल, एफएमसीजी, आईटी और फार्मा शामिल हैं। शुरुआती कारोबार में शेयर बाजार लाल निशान पर खुला था। सेंसेक्स 112.62 अंक यानी 0.30 फीसदी की गिरावट के बाद 37,010.69 के स्तर पर खुला था। निफ्टी की बात करें, तो 32.30 अंक यानी 0.29 फीसदी की गिरावट के बाद निफ्टी 10,971.20 के स्तर पर खुला था। दोपहर 2:30 बजे के करीब सेंसेक्स 615.14 अंक यानी 1.66 फीसदी की गिरावट के बाद 36,508.17 के स्तर पर था। निफ्टी की बात करें, तो 178.20 अंक यानी 1.62 फीसदी की गिरावट के बाद निफ्टी 10,825.30 के स्तर पर था। पिछले कारोबारी दिन सेंसेक्स 261.68 अंकों की गिरावट के बाद 37,123.32 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 82.60 अंकों की गिरावट के बाद 10,993.30 के स्तर पर बंद हुआ था।
सोना 150 रुपये चमका, चांदी भी मजबूत

नयी दिल्ली। विदेशों में दोनों कीमती धातुओं के लगभग सपाट रहने के बीच डॉलर की तुलना में रुपए के कमजोर पडऩे से दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना मंगलवार को 150 रुपए चमककर लगभग एक सप्ताह के उच्चतम स्तर 38,720 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया. डॉलर की तुलना में रुपया सोमवार को 68 पैसे कमजोर पड़ा और गिरावट का यह मंगलवार को भी जारी रहा. इससे सोने में तेजी आई है. चांदी भी 75 रुपए की बढ़त में 47,500 रुपए प्रति किलोग्राम बिकी. लंदन एवं न्यूयॉर्क से मिली जानकारी के अनुसार, वैश्विक स्तर पर सोना हाजिर 0.25 डॉलर चढ़कर 1,499.10 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया जबकि दिसंबर का अमेरिकी सोना वायदा 5.20 डॉलर टूटकर 1,506.30 डॉलर प्रति औंस बोला गया। बाजार विश्लेषकों ने बताया कि निवेशक इस समय अमेरिकी फेडरल रिजर्व की बैठक के बाद जारी होने वाले बयान की प्रतीक्षा कर रहे हैं. फेड की दो दिवसीय बैठक बुधवार को समाप्त होगी जिसके बाद नीतिगत दरों को लेकर बयान जारी किया जाएगा. आम तौर पर ब्याज दरों में कटौती से पीली धातु को बल मिलता है. अंतररष्ट्रीय बाजार में चांदी हाजिर 17.83 डॉलर प्रति औंस पर स्थिर रही।
-------------------
अर्थव्यवस्थामें तेजी लानेको नये उपायोंपर विचार कर रही सरकार

नयी दिल्ली। पिछले कुछ समय से भारत के कई क्षेत्रों में सुस्?ती का दौर चल रहा है। कई कंपनियों ने छंटनी की तो कुछ ने काम के दिन-घंटे घटा दिए। हालांकि कहा जा रहा है कि देश में आर्थिक मंदी जैसी स्थिति नहीं है। सरकार का भी यही कहना है, पर वो आर्थिक मोर्चे पर सतर्क भी है। इसीलिए लगातार ऐसे-ऐसे उपाय कर रही है, जो अर्थव्यवस्था को गति दे सकें। अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए वित्त मंत्रालय उपायों की एक और खुराक देने की तैयारी में है। वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि प्रोत्साहन देने के लिए खाका तैयार है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अगले कुछ दिनों में इन उपायों की घोषणा करेंगी। हालांकि उन्होंने इन उपायों के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं दी। बता दें कि बीते कुछ दिनों में सरकार ने अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के लिए कई कदम उठाए हैं।
सरकार ने इससे पहले तीन चरणों में नए उपाय किए हैं। इसमें रीयल एस्टेट परियोजनाओं के लिए नया कोष बनाने, निर्यात क्षेत्र के लिए प्रोत्साहन, बैंकों का विलय और सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों (एमएसएमई) और वाहन क्षेत्र के लिए रियायतों की घोषणा शामिल है। भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने सोमवार को कहा कि सरकार ने अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए तीन चरणों में कई उपाय किए हैं। इससे अर्थव्यवस्था में सुधार आएगा। यह भी कहा कि अर्थव्यवस्था में तेजी लाने क लिए केंद्रीय बैंक नीतिगत दरों में कटौती कर रहा है। उन्होंने आगे और भी कदम उठाने के संकेत दिए।
सरकार ने पहले चरण (23 अगस्त) में विदेशी पोर्टफोलियो और घरेलू निवेशकों पर लगाया गया ऊंचा अधिभार वापस लिया है। इसके बाद दूसरे चरण (30 अगस्त) में 10 सार्वजनिक बैंकों को मिलाकर चार बड़े सरकारी बैंक बनाने की घोषणा की। पिछले हफ्ते सरकार ने निर्यात और रीयल एस्टेट क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए कदम उठाए। वित्त मंत्री इस सप्ताह जीएसटी परिषद की 37वीं बैठक की अध्यक्षता करेंगी, जिसमें वाहन, एफएमसीजी और होटल समेत विभिन्न क्षेत्र के लिए जीएसटी दरों में संशोधन पर चर्चा होने की उम्मीद है।
उद्योग जगत की आशंकाओं को दूर करने की कोशिश करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि मोदी सरकार संवेदनशील है और वह कारोबारियों को हो रही दिक्कतों पर गौर कर रही है। इसमें सुधारों से जुड़ी पहल से होने वाली समस्या को भी देखा जा रहा है। शाह ने उद्योगों की कुछ समस्याओं के लिए वैश्विक आर्थिक सुस्ती को भी जिम्मेदार ठहराया है। मंगलवार को ऑल इंडिया मैनेजमेंट एसोसिएशन (एआईएमए) के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, मैं आपकी समस्याओं, आशंकाओं को समझता हूं। जाहिर तौर पर कुछ अनिश्चितता हो सकती है, लेकिन यह एक संवेदनशील और भ्रष्टाचार मुक्त सरकार है। शुरुआती चरण में कुछ दिक्कतें हो सकती हैं, लेकिन ये दिक्कतें जल्द दूर हो जाएंगी। उन्होंने उद्योगों से इन दिक्कतों का सामना करने के लिए कहा क्योंकि ये सुधार सभी के लिए अच्छे होंगे।
--------------------------------
सऊदीकी घटनाके बाद रूससे तेल आयात बढ़ानेपर विचार

नयी दिल्ली। सऊदी अरब में सरकारी तेल कंपनी सऊदी अरामको के संयंत्रों पर पिछले सप्ताह हुए हमलों के बाद अपनी ऊर्जा सुरक्षा और बेहतर बनाने के लिए भारत रूस से कच्चा तेल आयात बढ़ाने पर गंभीरता से विचार कर रहा है। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने मंगलवार को कहा कच्चे तेल की कीमत बढऩे से भारतीय बाजार में चिंता पैदा होना स्वाभाविक है। हमें वास्तविकता को स्वीकार करना होगा। हमारे तेल आयात के स्रोत में विविधता है। मैंने आज सुबह ही रूस के पूर्व उप प्रधानमंत्री तथा (रूस की सरकारी तथा सबसे बड़ी तेल कंपनी) रोजनेफ्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी इगोर इवानोविच सेचिन से मुलाकात की। हमने रूस से तेल आयात के बारे विस्तार से चर्चा की। हम दुनिया के अलग-अलग क्षेत्रों से कच्चे तेल का आयात कर रहे हैं। हमारे आयात के स्रोत में पहले ही समुचित विविधता है। उल्लेखनीय है कि भारत का रूस से मौजूदा आयात बहुत कम है. पिछले वित्त वर्ष में रूस से मात्र 2,219.4 टन पेट्रोलियम तेल का आयात किया गया था। सऊदी अरामको के संयंत्रों पर गत शनिवार को ड्रोन से हमले हुए थे। इसके बाद कंपनी के उत्पादन में 57 लाख बैरल की गिरावट आई है जो कच्चा तेल के वैश्विक उत्पादन का 5 प्रतिशत है। प्रधान ने कहा कि सऊदी अरब की घटना से वैश्विक तेल बाजार में एक नई परिस्थिति पैदा हुई है। भारत इस पूरी स्थिति पर नजर रखे हुए है। उन्होंने कहा, सऊदी अरामको के अधिकारियों से हमारी तेल विपणन कंपनियों के अधिकारियों की चर्चा हुई है। कूटनीतिक स्तर पर भी हमने सऊदी अरब की सरकार से बात की है। भारत के राजदूत निरंतर सऊदी अधिकारियों से वार्ता कर रहे हैं। पेट्रोलियम मंत्री ने बताया कि सऊदी अरामको के साथ दीर्घकालीन संधि के तहत सितंबर महीने में भारतीय कंपनियों को जितना कच्चा तेल मिलना था उसमें आधे से ज्यादा हम ले चुके हैं। इस घटना के बाद भी हमें वहां से तेल मिल रहा है। हमने कल सोमवार को और आज मंगलवार को भी वहां से तेल लिया है।
प्रदूषण फैलानेके आरोपमें ओएनजीसीको 2.05 करोड़का जुर्माना

गुवाहाटी। असम के प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने उच्चतम न्यायालय के एक आदेश का उल्लंघन और पर्यावरण को प्रदूषित करने के आरोप में सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी ऑयल एंड नैचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) पर 2.05 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने यह आदेश असम में ओएनजीसी के छह कुओं में पर्यावरण नियमों के उल्लंघन मामले में जारी किया है। बोर्ड ने पांच सितंबर के आदेश में कहा, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, असम आपको सूचित करता है कि आपने (ओएनजीसी) पर्यावरण नियमों का उल्लंघन किया है। जिसके चलते पर्यावरण प्रदूषित हुआ है। आदेश में कहा गया है, राष्ट्रीय हरित अधिकरण की प्रधान पीठ की ओर से दिए गए फॉर्मूले के आधार पर पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने पर 2,04,90,000 रुपए का जुर्माना बनता है। ओएनजीसी को आदेश जारी होने के एक महीने के भीतर पैसे जमा करने के लिए कहा गया है। वहीं, ओएनजीसी के अधिकारियों ने इस पर तुरंत कोई प्रतिक्रिया देने से इनकार किया है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, असम ने यह कार्रवाई करने से पहले कंपनी को 28 जून को एक नोटिस जारी किया था जिसका ओएनजीसी ने 18 जुलाई को जवाब दे दिया था. हालांकि, आदेश में कहा गया है, कारण बताओ नोटिस पर आपका जवाब 6 से 8 जुलाई 2019 के दौरान इस बोर्ड के मुख्यालय से आए इंजीनियरों और वैज्ञानिकों द्वारा किए गए निरीक्षण में सामने आए तथ्यों और खोज पर आधारित नहीं है।
एक बारके खर्चमें महीनेभर चलेंगी कार

नयी दिल्ली। पेट्रोल के दाम तेजी से बढ़ रहे हैं ऐसे में कार चलाना बहुत ज्यादा कठिन होने कि सम्भावना है क्योंकि आने वाले समय में पेट्रोल के दाम व ज्यादा बढऩे वाले हैं. ऐसे में आज हम आपको ऐसी कारों के बारे में बताने जा रहे हैं जो सीएनजी पर चलती हैं व ये जबरदस्त माइलेज देती हैं व ये कारें आपका पेट्रोल का खर्च कम करेंगी।
मारुति सुजुकी की ऑल्टो 800 एक किफायती व लो मेंटेनेंस कार है जिसमें आपको सीएनजी का भी विकल्प मिलता है। बता दें कि इस कार में 800 सीसी इंजन लगा है, जो 5-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स से लैस है। यह इंजन 40बीएचपी की क्षमता के साथ 60एनएम का टॉर्क जनरेट करता है। इस कार को आप महज 2.51 लाख में खरीद सकते हैं। यह कार 30.46किमी/किग्रा. का माइलेज देती है। मारुति की वैगनआर के एलएक्सआई वेरिएंट में आपको सीएनजी किट मिलता है, बता दें कि इस कार में 998 सीसी का पेट्रोल इंजन लगा हुआ है। अगर आप इस कार को सीएनजी मोड़ पर चलाते हैं तो ये आपको 26.6 किमी/किग्रा का माइलेज देती है। इस कार को आप 4.87 रुपये में खरीद सकते हैं।
मारुति की आल्टो को हिंदुस्तान में लोग खूब पसंद करते हैं व यह सबसे ज्यादा बिकने वाली कार भी बन चुकी है। इस कार में 998 सीसी का पेट्रोल इंजन लगा है।
होण्डा अपनी सात कारोंपर दे रही है 4 लाखतक की छूट
नयी दिल्ली। अगर आप होंडा की नयी कार खरीदने का विचार कर रहे हैं तो आपके लिए यह कार्य की समाचारसाबित हो सकती है. सितंबर महीने में कारों की बिक्री बढ़ाने के लिए कंपनी डिस्काउंट ऑफर लेकर आई है, जिसके तहत होंडा की कारों पर 4 लाख रुपये तक की भारी छूट दी जा रही है. होंडा की किस कार पर कितना लाभ मिल रहा है, आइए जानते हैं यहा। होंडा जैज़ जैज़ के सभी वेरिएंट पर कंपनी 25,000 रुपये का नगद डिस्काउंट दे रही है। अगर आप पुरानी कार को एक्सचेंज कर नयी जैज़ लेना चाहते हैं तो आपको 25,000 रुपये का एक्सचेंज बोनस भी मिलेगा.इस प्रकार होंडा जैज़ पर कुल 50,000 रुपये का लाभ मिल रहा है। होंडा अमेज़ अमेज़ एस एडिशन पर कंपनी चौथे व पांचवे वर्ष के लिए अलावा वारंटी की पेशकश कर रही है, जिसकी मूल्य 12,000 रुपये है. इसके साथ ही कंपनी अमेज पर 30,000 रुपये का एक्सचेंज बोनस भी दे रही है। अगर आप पुरानी कार को एक्सचेंज नहीं करना चाहते तो कंपनी आपको अलावा वारंटी के साथ तीन वर्ष का मेंटेनेंस पैकेज भी देगी, जिसकी मूल्य 16,000 रुपये है। अगर आप अमेज़ एस एडिशन लेना चाहते हैं तो यह डिस्काउंट केवल पेट्रोल व डीजल इंजन वाले वीएक्स मैनुअल व वीएक्स सीवीटी वेरिएंट पर ही मिलेगा। होंडा डब्ल्यूआर-वी होंडा की इस सब-4 मीटर क्रॉसओवर पर 25,000 रुपये का नगद डिस्काउंट दिया जा रहा है। अगर आप पुरानी कार को एक्सचेंज कर नयी डब्ल्यूआर-वी लेते हैं तो कंपनी आपको 20,000 रुपये का एक्सचेंज बोनस भी देगी।
 इस कार पर कुल 45,000 रुपये के फायदे मिल रहे हैं. यह ऑफर होंडा डब्ल्यूआर-वी के सभी वेरिएंट पर मान्य है.
होंडा सिटी
सिटी सेडान के सभी वेरिएंट पर कंपनी 32,000 रुपये की नगद छूट व 30,000 रुपये के एक्सचेंज बोनस की पेशकश कर रही है. इस कार पर कुल 62,000 रुपये के फायदे मिल रहे हैं.
होंडा बीआर-वी
बीआर-वी के सभी वेरिएंट पर कंपनी 35,000 रुपये का नगद डिस्काउंट दे रही है. अगर आप पुरानी कार को एक्सचेंज कर नयी बीआर-वी लेने जा रहे हैं तो आपको 50,000 रुपये का एक्सचेंज बोनस भी मिलेगा. इसके साथ ही कंपनी इस कार पर 26,500 रुपये की फ्री एक्सेसरीज की भी पेशकश कर रही है. अगर आप पुरानी कार को बीआर-वी से एक्सेंज नहीं करते हैं तो आपको नगद डिस्काउंट के साथ 36,500 रुपये की फ्री एक्सेसरीज मिलेगी.
होंडा सिविक
अगर आप पेट्रोल इंजन वाली होंडा सिविक लेते हैं तो कंपनी वी सीवीटी वेरिएंट को छोड़कर सभी पर 25,000 रुपये का एक्सचेंज बोनस दे रही है.
सिविक डीजल व वी सीवीटी पेट्रोल पर 75,000 रुपये की छूट दी रही है. इस में 50,000 रुपये का नगद डिस्काउंट व 25,000 रुपये का एक्सचेंज बोनस शामिल है.
होंडा सीआर-वी
सितंबर महीने में होंडा सीआर-वी पर आपको सबसे ज्यादा लाभ मिलेगा. इस कार पर कंपनी 4 लाख रुपये की छूट दे रही है. यह ऑफर होंडा सीआर-वी के सभी वेरिएंट पर मान्य है. यह ऑफर केवल सितंबर 2019 के आखिर तक मान्य है. कार के वेरिएंट, कलर व शहर के हिसाब से डिस्काउंट कम-ज्यादा भी होने कि सम्भावना है.
एयरटेल पेमेंट्स बैंकने शुरू किया भरोसा बचत खाता
नयी दिल्ली। एयरटेल पेमेंट्स बैंक ने भरोसा बचत खाता शुरू करने की घोषणा की है जो बैंकिंग सेवाओं से दूर रह रहे ग्राहकों की जरूरतों को पूरा कर सरकार के वित्तीय समावेशन के उद्देश्य को पूरा करने में योगदान देगा। बैंक ने मंगलवार को यहां जारी बयान में कहा कि सुविधाजनक बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने के अलावा भरोसा बचत खाता प्रतिमाह एक विनिमय के साथ केवल 500 रुपये के बैलेंस बनाए रखने पर पाँच लाख रुपये मूल्य का निशुल्क व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा कवर प्रदान करेगा।
यदि ग्राहक सरकारी सब्सिडी अपने भरोसा खाता में प्राप्त करेंगे या इसमें नकद पैसे जमा करेंगे, तो उन्हें कैशबैक का लाभ भी मिलेगा।भरोसा को बाजार के शोध के बाद डिज़ाईन किया गया है। इस इनोवेटिव खाता के द्वारा एयरटेल पेमेंट्स बैंक का उद्देश्य औपचारिक बैंक के उपयोग एवं बैंक खाते द्वारा विनिमयों को बढ़ावा देना है।
बैंक के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी अनुब्रता बिस्वास ने कहा कि यह उत्पाद भारतीय बैंकिंग सेक्टर में विशेष स्थान रखेगा, क्योंकि यह उपयोगकर्ताकी जरूरत पर आधारित है। यह लाखों उपभोक्ताओं को औपचारिक बैंकिंग से जोडऩे के लिए डिजाइन किया गया है। यह आसान, सुलभ एवं सुविधाजनक बैंकिंग समाधानों के वर्तमान संग्रह में एक महत्वपूर्ण प्रस्तुति है। इसका उद्देश्य सरकार के वित्तीय समावेशन के लक्ष्य को पूरा करना है।