Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


सेंसेक्स 306 अंक गिरा, निफ्टी 10,500 अंकसे नीचे बंद

मुंबई। बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स आज 306 अंक गिरकर 34,344.91 अंक पर बंद हुआ जो पिछले एक महीने का निचला स्तर है। इसकी प्रमुख वजह धातु और तेल कंपनियों के शेयरों में जोरदार बिकवाली होना रहा। पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के बोझ को आपस में बांटने के लिए सरकार की ओर से कहे जाने की संभावना के बीच सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियां हिंदुस्तान पेट्रोलियम, भारत पेट्रोलियम, इंडियन ऑयल, ओएनजीसी और ऑयल इंडिया लिमिटेड के शेयरों में बिकवाली का रुख देखा गया। बंबई शेयर बाजार का 30 कंपनियों के शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 306.33 अंक यानी 0.88प्रतिशत गिरकर 34,344.91 अंक पर बंद हुआ। हालांकि इसकी शुरूआत आज काफी बेहतर रही यह 34,656.63 अंक पर खुला और दिन में कारोबार के समय 34,668.47 अंक तक पहुंच गया। सेंसेक्स का 19 अप्रैल के बाद यह सबसे निचला स्तर है, तब यह 34,427.29 अंक के निचले स्तर पर बंद हुआ था। इसी प्रकार 50 कंपनियों के शेयरों पर आधारित नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 106.35 अंक यानी 1.01 प्रतिशत घटकर 10,430.35 अंक पर बंद हुआ है। दिन में कारोबार के दौरान यह 10.417.80 से 10,533.55 अंक के दायरे में रहा। हालांकि, आरंभिक आंकड़ों के अनुसार मंगलवार को विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 1,651.63 करोड़ रुपये के शेयर बेचे जबकि घरेलू सांस्थानिक निवेशकों ने 1,496.83 करोड़ रुपये के शेयरों की खरीद की। अमेरिका और चीन के बीच व्यापार मोर्चे पर अनिश्चितता के बीच वैश्विक बाजार में भी कारोबार कमजोर बना रहा।
सोने-चांदीकी कीमतोंमें तेजी

नयी दिल्ली। वैश्विक बाजार में पीली धातु में रही तेजी और स्थानीय जेवराती मांग में सुधार से दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 120 रुपए की तेजी के साथ 32,000 रुपए प्रति दस ग्राम बोला गया। इस दौरान सिक्का निर्माताओं के उठाव में आई तेजी और औद्योगिक ग्राहकी निकलने से चांदी भी 300 रुपए महंगी होकर 41,400 रुपए प्रति किलोग्राम बोली गई। अंतरराष्ट्रीय बाजार में लंदन का सोना हाजिर 0.50 डॉलर चमककर 1,292.35 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया। अमेरिका का जून सोना वायदा भी 0.8 डॉलर की तेजी के साथ 1,292.80 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया। चांदी हालांकि 0.04 डॉलर लुढ़ककर 16.48 डॉलर प्रति औंस पर आ गई। विश्लेषकों के मुताबिक दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं के बास्केट में डॉलर के कमजोर पडऩे से सोने की चमक तेज हुई है। इसके अलावा अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चीन के साथ जारी बातचीत पर नाशुखी जाहिर करने तथा 12 जून को उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन के साथ होने वाली बैठक पर संशय व्यक्त करने से निवेशकों का रुझान सुरक्षित निवेश में बढ़ा है।