Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


झूठ बोलनेकी मशीन हैं राहुल-केशव प्रसाद मौर्य

सूबे उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी झूठ बोलने की मशीन हैं। सही कहा जाय तो उन्हें पता ही नहीं होता कि वह क्या बोल रहे हैं और इसका सत्यता, तथ्य से कोई लेना-देना है या नहीं। उनके इस बोल के ही कारण उनकी पार्टी गर्त में जा रही है और कांग्रेस मुक्त भारत आकार ले रहा है। आने वाले दिनों में भाजपा की सरकार अन्य राज्यों में भी बनेगी और केंद्र में भी मोदी सरकार का फिर गठन होगा। पार्टी के खिलाफ कांग्रेस नेता लगातार आरोप लगा रहे हैं, लेकिन वह भूल रहे हैं कि वह जितना कीचड़ उछालेंगे, कमल खिलकर रहेगा।
वह गुरुवार को श्री काशी विश्वनाथ मंदिर और माता अन्नपूर्णा दरबार में दर्शन-पूजन के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राहुल आलू की मशीन से सोना निकालते हैं, राफेल की कीमत अंदाजे पर बता देते हैं, प्रधानमंत्री के खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग करते हैं और यह सब बोलकर अपना गाल बजाते हैं। लेकिन जनता की दिल में प्रधानमंत्री का विशेष स्थान है और इसका जवाब जनता समय-समय पर कांग्रेस को दे रही है। यही वजह है कि आने वाले दिनों में तीन राज्यों मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान में भाजपा की सरकार बनेगी और मिजोरम, तेलंगाना में पार्टी बड़ी ताकत बनकर उभरेगी। उन्होंने कहा कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर के अलावा कुछ नहीं बनेगा और बाबर के नाम पर एक भी ईंट रखने नहीं दी जायगी। इसके लिये सभी साधु-संतों का आशीर्वाद भी पार्टी के साथ है और आम भावना का ख्याल रखते हुए मंदिर निर्माण की दिशा में पार्टी ने कार्य शुरू कर दिया है। मंदिर बनाने की तारीख के सवाल कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा पूछे जाने के सवाल पर उपमुख्यमंत्री ने कहा कि तारीख वही बतायेंगे। पहले तो राम मंदिर के पक्ष में ही नहीं थे, लेकिन जनता का मिजाज समझकर अब मंदिरों के चक्कर लगा रहे हैं। उन्होंने अन्नपूर्णा मंदिर में दर्शन-पूजन किया और जनमानस के कल्याण के लिये श्रीयंत्र का पूजन किया। महंत रामेश्वर पुरी से भी उन्होंने आशीर्वाद लिया और महंत रामेश्वर पुरी ने उन्हें धनतेरस का खजाना, मंदिर का प्रसाद भेंट किया। इस दौरान मंदिर के उप महंत शंकर पुरी, आचार्य और बीएचयू के असोसिएट प्रोफेसर रामनारायण द्विवेदी सहित अन्य लोग रहे।
चौकाघाट-लहरतारा उपरिगामी सेतुका निर्माण कार्य समयसे हो पूरा
प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने निर्माणाधीन चौकाघाट-लहरतारा उपरिगामी सेतु के निर्माण कार्य को निर्धारित समयावधि में पूर्ण कराये जाने के लिए विभागीय अभियंताओं को कड़े निर्देश दिए। उन्होंने कार्य के दौरान सुरक्षा से किसी भी प्रकार का समझौता न करने तथा निर्माण कार्य को मानक के अनुरूप गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराये जाने पर विशेष जोर दिया।
गुरुवार को सर्किट हाउस सभागार में वह विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने डीएलडब्ल्यू मार्ग पर चल रहे कार्य की धीमी गति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कार्य में तेजी लानेका निर्देश दिया। पंचक्रोशी मार्ग पर चल रहे सड़क निर्माण एवं चौड़ीकरण कार्य को हर हालमें १५ दिसंबर तक पूर्ण कराये जाने का निर्देश देते हुए कहा कि अगले वाराणसी दौरे के दौरान वे स्वयं पंचक्रोशी सड़क मार्ग के निर्माण कार्य का स्थलीय निरीक्षण करेंगे। उन्होंने सारनाथ से रिंग रोड तक के लिंक रोड को उच्च गुणवत्ता युक्तका बनाये जाने का निर्देश दिया। बैठक में राज्यमंत्री अनिल राजभर, विधायक (पिंडरा) अवधेश सिंह, मुख्य अभियंता लोक निर्माण, परियोजना अधिकारी (सेतु निगम) सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।
काशी खंडोक्तके मंदिरोंको संवारेंगे
उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि विश्वनाथ मंदिर कारीडोर और परिसर का विस्तारीकरण, सुुंदरीकरण भक्तों को सुलभ दर्शन कराने के लिये किया जा रहा है। इसमें सभी का सहयोग लिया जा रहा है और अधिकारियों को भी इसके लिये लगातार निर्देशित किया जा रहा है। ऐसे में किसी भी मंदिर और धर्मस्थल को क्षति नहीं पहुंचाई जायगी। काशी खंडोक्त के मंदिरों को संवारने के लिये सरकार प्रतिबद्घ है और इस दिशा में कार्य चल रहा है। काशी विद्वत परिषद के संचालक मंडल सदस्य और बीएचयू के असोसिएट प्रोफेसर ने उन्हें मंदिर विस्तारीकरण के दौरान जनभावनाओं का ख्याल रखने का मुद्दा सामने रखा तो डिप्टी सीएम ने आश्वस्त किया कि सभी का आदर रखा जायगा और सभी के सहयोग से ही मंदिर विस्तारीकरण किया जायगा।
गोपाष्टïमीपर पूजी गयी गो माता
गौशालाओं में रहा उत्सव का माहौल, निकली गो यात्रा
कार्तिक मास शुक्ल पक्ष की अष्टïमी पर गुरुवार गौमाता का पूजन कर लोगों ने सुख समृद्धि की कामना की। शिव की नगरी काशी में अवस्थित गौशालओं में पूरे दिन उत्सव जैसा माहौल रहा। गौ शालाओं में आकर्षक सजावट की गयी थी तथा गायों को वस्त्र और आभूषण धारण कराकर सजाया गया था। गौशालाओं में सुबह से ही गोभक्तों की भीड़ उमड़ी रही। हर कोई गाय माता का पूजन कर उन्हें हरा चार, गुड और विभिन्न प्रकार के व्यंजन खिलाकर उनका आशीर्वाद लेने को आतुर रहे। दुर्गाकुंड स्थित धर्मसंघ शिक्षा मंडल के गोशाला में गायो के षोडशोचार पूजन के बाद विशेष भोग प्रसाद के बाद आरती उतारी गयी। पूजन के उपरांत भव्य गो यात्रा निकाली गयी। यात्रा में सबसे आगे विशाल धर्म ध्वजा साथ पांच डमरू के डिम डिम के अनुगूँज के साथ सुशोषित गोमाता चल रही थी जिसके पीछे सैकड़ों के संख्या में बटुक धर्म ध्वजा के साथ चल रहे थे। यात्रा के अंत में गोभक्त भजन कीर्तन करते चल रहे थे। यात्रा धर्म संघ परिसर से निकल कर गुरुधाम भेलूपुर सोनारपुरा अस्सी होते हुए धर्म संघ शिक्षा मंडल में समाप्त हुई। रास्ते में आधे दर्जन जगह गाय कि पूजा के साथ आरती उतारी गयी। शास्त्रों के अनुसार गाय में ३३ कोटि देवी देवता का निवास होता है यही वजह है कि सनातन धर्म में गोमाता का विशेष महत्तव है साथ ही आज के दिन से ही भगवान श्री कृष्ण गायो को चराने का काम शुरू किया था। गो पूजन धर्म संघ शिक्षा  मंडल के महामंत्री जगजीतन पाण्डेय के नेतृत्व में एमएलसी केदार नाथ सिंह विधायक सुरेन्द्र सिंह, सुधीर मिश्र, अध्यक्ष पउं डाक्टर भानुशंकर पाण्डेय, अध्यक्ष सेंट्रल बार असोसिएसन प्रभु नाथ पांडेय सुनील सिंह जबकि गो शोभायात्रा में कुमार प्रभुनारायण, मनोज पांडेय, देवेन्द्र मिश्रा, शशिकान्त पांडेय, राजमंगल पांडेय, रमेश ओझा, गिरीश उपाध्याय, प्रभात सिंह सुबोध त्रिपाठी, दिलीप पांडेय, धनंजय तिवारी, रविन्द्र सिंह, विनायक राजपूत रजत मिश्र वृजेश, विजय मिश्रा सुभाष पांडेय, कृष्ण मोहन पांडेय, जयप्रकाश मिश्रा, नवीन दुबे एवं यशोवर्धन पांडेय का योगदान रहा।
कार्तिक मास शुक्ल पक्ष की अष्टïमी पर गुरुवार गौमाता का पूजन कर लोगों ने सुख समृद्धि की कामना की। शिव की नगरी काशी में अवस्थित गौशालओं में पूरे दिन उत्सव जैसा माहौल रहा। गौ शालाओं में आकर्षक सजावट की गयी थी तथा गायों को वस्त्र और आभूषण धारण कराकर सजाया गया था। गौशालाओं में सुबह से ही गोभक्तों की भीड़ उमड़ी रही। हर कोई गाय माता का पूजन कर उन्हें हरा चार, गुड और विभिन्न प्रकार के व्यंजन खिलाकर उनका आशीर्वाद लेने को आतुर रहे। दुर्गाकुंड स्थित धर्मसंघ शिक्षा मंडल के गोशाला में गायो के षोडशोचार पूजन के बाद विशेष भोग प्रसाद के बाद आरती उतारी गयी। पूजन के उपरांत भव्य गो यात्रा निकाली गयी। यात्रा में सबसे आगे विशाल धर्म ध्वजा साथ पांच डमरू के डिम डिम के अनुगूँज के साथ सुशोषित गोमाता चल रही थी जिसके पीछे सैकड़ों के संख्या में बटुक धर्म ध्वजा के साथ चल रहे थे। यात्रा के अंत में गोभक्त भजन कीर्तन करते चल रहे थे। यात्रा धर्म संघ परिसर से निकल कर गुरुधाम भेलूपुर सोनारपुरा अस्सी होते हुए धर्म संघ शिक्षा मंडल में समाप्त हुई। रास्ते में आधे दर्जन जगह गाय कि पूजा के साथ आरती उतारी गयी। शास्त्रों के अनुसार गाय में ३३ कोटि देवी देवता का निवास होता है यही वजह है कि सनातन धर्म में गोमाता का विशेष महत्तव है साथ ही आज के दिन से ही भगवान श्री कृष्ण गायो को चराने का काम शुरू किया था। गो पूजन धर्म संघ शिक्षा  मंडल के महामंत्री जगजीतन पाण्डेय के नेतृत्व में एमएलसी केदार नाथ सिंह विधायक सुरेन्द्र सिंह, सुधीर मिश्र, अध्यक्ष पउं डाक्टर भानुशंकर पाण्डेय, अध्यक्ष सेंट्रल बार असोसिएसन प्रभु नाथ पांडेय सुनील सिंह जबकि गो शोभायात्रा में कुमार प्रभुनारायण, मनोज पांडेय, देवेन्द्र मिश्रा, शशिकान्त पांडेय, राजमंगल पांडेय, रमेश ओझा, गिरीश उपाध्याय, प्रभात सिंह सुबोध त्रिपाठी, दिलीप पांडेय, धनंजय तिवारी, रविन्द्र सिंह, विनायक राजपूत रजत मिश्र वृजेश, विजय मिश्रा सुभाष पांडेय, कृष्ण मोहन पांडेय, जयप्रकाश मिश्रा, नवीन दुबे एवं यशोवर्धन पांडेय का योगदान रहा।
रामेश्वर। काशी जीवदया विस्तारिणी गोशाला व पशुशाला  के १३० वीं स्थापना दिवस पर रामेश्वर गोशाला में गोपाष्टमी महोत्सव का आयोजन किया गया।  काफी संख्या में गो भक्तों ने मन्त्रोच्चार के साथ गाय का पूजन किया। महोत्सव में सूर्यकान्त जालान उर्फ कानू बाबू, आदित्य तिवारी,डाक्टर आर.के. सिंह, डाक्टर ए.के. सिंह, रामगोपाल चौरसिया, ओमप्रकाश, रामप्रकाश यादव ने गाय का पूजन कर गुड़, हरा चारा एवं पूड़ी हलवा खिलाया। गाय का चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लिया। मन्त्रोच्चार पण्डित अभय तिवारी ने किया। इस अवसर पर प्रमुख रूप से पण्डित रामराज, रघुपत तिवारी, राजेन्द्र सिंह, अशोक, रामप्रकाश, ओमप्रकाश, रविन्द्र पाण्डेय, अजय ओझा, बीरबल सिंह व रमाशंकर सहित कई गांवो के पशुपालक उपस्थित रहे। कार्यक्रम में चक्का, डगमगपुर स्कुल एवं उत्तर भारत के सैकड़ो बच्चों ने विविध प्रकार के गीत, नृत्य, झांकी, प्रतियोगिता में शामिल होकर रामेश्वर मन्दिर का भ्रमण किया। गो सेवा जीवन में जरूरी विषयक संगोष्ठी में मुख्य अतिथि सतुवा बाबा आश्रम में महन्त महामंडलेश्वर सन्तोष दास सहित कई वक्ताओं ने विचार व्यक्त किया। प्रारम्भ में गोशाला परिवार की ओर से महंत संतोष दास  ने स्वागत किया गया। इस अवसर पर महंत जी ने गायों की सेवाए सेवा भावना के साथ करने और दैनिक जीवन में गोमूत्र व गोदुग्ध, गोघृत, गोबर के प्रयोग एवं पूजन पर जोर दिया।
गोपाष्टïमी के पावन पर्व से सात दिवसीय संगीतमय भागवत कथा महोत्सव का प्रारम्भ बहुत ही धूमधाम से हुआ। जिसके तहत चौखम्भा स्थित गोपाल मंदिर से कलश यात्रा का प्रारम्भ हुआ, जिसमें सैकड़ों महिलाएं अपने सर पर कलश रखकर चल रही थी। बृज किंकर बृजवासी महाराज के सानिध्य में कालभैरव, भुतई इमली, गोलघर होते हुए श्री काशी गौशाला गोलघर, कोतवाली कथा स्थल पर जाकर समाप्त हुयी। गोपाष्टïमी के अवसर पर गोरक्षा का संकल्प लिया गया। इस अवसर पर अंजनी मिश्र, सीताराम केशरी, राघवेन्द्र चौबे, अंकित रस्तोगी, प्रवीण यादव, शैलेश वर्मा, रवि सराफ, सुशील दूबे, बउवा मेहता, अमित मिश्र, शैलेन्द्र पटेल, किशन यादव, अशोक सिंह, अभिषेक सिंह, दीपू यादव आदि लोग उपस्थित रहे।