Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


देरराततक वोट प्रतिशत बढ़ानेकी रणनीतिमें जुटे रहे पार्टियोंके नेता

सभी दल के नेता घर-घर पहुंचकर मतदाताओं को अपे पक्ष में वोट के लिए करते रहे मनुहार
वाराणसी लोकसभा संसदीय क्षेत्र के लिए रविवार को मतदान होगा। लोकसभा क्षेत्र के १८,५४,५४१ मतदाता इस बार २६ प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र होने कारण मतदान को लेकर वोटरों में उत्साह है, ऐसी स्थिति में इस बार मतदान का प्रतिशत पिछले बार से और अधिक बढऩे की संभावना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के लोगों के नाम अपने संदेश में लोगों से लोकतंत्र के इस महापर्व में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने की अपील की थी। आवाहन किया था कि काशी के लिए मतदान को लेकर नया रिकॉर्ड बनाना चाहिए। वही शहर से लगायत गांव तक में वोट डालने को लेकर हर आयुवर्ग के लोग उत्सुक हैं। महिने भर से विभिन्न सामाजिक संघठनों की ओर से मतदाता जागरुकता कार्यक्रम चलाकर लोगों को जागरूक भी किया गया। लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण के चुनाव प्रचार के आखिरी दिन तक वाराणसी में रविवार तक सभी दलों ने अपनी पूरी ताकत लगाने में पीछे नही रहे। बीजेपी की ओर से नरेन्द्र मोदी और कांग्रेस की ओर से प्रियंका गांधी ने रोड शो कर पहले ही वोटरो मे जोश भर गये। वही महागठबंधन की तरफ से अखिलेश यादव, मायावती और अजीत सिंह ने जनसभा कर मतदान के रंग को और गहरा कर गये। इसके अलावा नेताओं ने घर-घर जाकर भी प्रचार किया और अपने पक्ष में वोट मांगे। चुनाव को लेकर पार्टी के स्थानीय नेता रविवार को देर रात तक अपने अपने प्रत्याशियों के पक्ष मे वोट डलवाने के लिए वोटरों को साधने में लगे रहे। वोटरों को मतदाता पर्ची नही मिलने की शिकायत पर संबंधित बीएलओ को भी सम्पर्क कर मालूमात कर पर्ची की व्यवस्था करायी। मतदान केन्द्रों पर प्रत्याशी एजेंटो सहित अन्य व्यवस्था को लेकर रणनीति बनाने में पार्टी कार्यालय में पदाधिकारी पूरे दिन जुटे रहे। रविवार को चुनाव को लेकर शहर में सर्वाधिक जोश और उत्साह युवा वर्ग में देखने को मिल रहा है। लोकतंत्र के इस पर्व में ईवीएम का बटन दबाकर अपनी पहली भागीदारी दर्ज कराने का उत्साह और इंतजार नवमतदाताओ को है। नवमतदाता मतदाता पर्ची की मिलने की खुशी को रविवार को सोशल मीडिया पर शेयर कर जताते दिखे। इस बार वाराणसी लोकसभा संसदीय क्षेत्र में कुल ५८५९४ नये मतदाता जुड़े है। इसमें ३०२०० पुरुष, २८३४० महिलाएं और २३ अन्य शामिल है। चट्टी चौराहों पर भी रविवार को मतदान की चर्चा होती रही। घरों में लोग वोट देने के समय का निर्धारण भी अपने अपने हिसाब से करने में लगे रहे। तेज गर्मी और धूप का आकलन किसी ने सुबह - सुबह ही या शाम को वोट देने का फरमान सुनाया। वही कोई भरी दोपहरी मे भीड़ कम होने के चलते वोट देने जाना आसान बताया।  

आज मतदान को लेकर नव मतदाताओं में सर्वाधिक उत्साह एवं बेसब्री, सभी दल के नेता घर-घर पहुंचकर मतदाताओं को अपने पक्षमें वोटके लिए करते रहे मनुहार
वाराणसी लोकसभा संसदीय क्षेत्र के लिए रविवार को मतदान होगा। लोकसभा क्षेत्र के १८,५४,५४१ मतदाता इस बार २६ प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र होने कारण मतदान को लेकर वोटरों में उत्साह है, ऐसी स्थिति में इस बार मतदान का प्रतिशत पिछले बार से और अधिक बढऩे की संभावना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के लोगों के नाम अपने संदेश में लोगों से लोकतंत्र के इस महापर्व में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने की अपील की थी। आवाहन किया था कि काशी के लिए मतदान को लेकर नया रिकॉर्ड बनाना चाहिए। वही शहर से लगायत गांव तक में वोट डालने को लेकर हर आयुवर्ग के लोग उत्सुक हैं। महिने भर से विभिन्न सामाजिक संघठनों की ओर से मतदाता जागरुकता कार्यक्रम चलाकर लोगों को जागरूक भी किया गया। लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण के चुनाव प्रचार के आखिरी दिन तक वाराणसी में रविवार तक सभी दलों ने अपनी पूरी ताकत लगाने में पीछे नही रहे। बीजेपी की ओर से नरेन्द्र मोदी और कांग्रेस की ओर से प्रियंका गांधी ने रोड शो कर पहले ही वोटरो मे जोश भर गये। वही महागठबंधन की तरफ से अखिलेश यादव, मायावती और अजीत सिंह ने जनसभा कर मतदान के रंग को और गहरा कर गये। इसके अलावा नेताओं ने घर-घर जाकर भी प्रचार किया और अपने पक्ष में वोट मांगे। चुनाव को लेकर पार्टी के स्थानीय नेता रविवार को देर रात तक अपने अपने प्रत्याशियों के पक्ष मे वोट डलवाने के लिए वोटरों को साधने में लगे रहे। वोटरों को मतदाता पर्ची नही मिलने की शिकायत पर संबंधित बीएलओ को भी सम्पर्क कर मालूमात कर पर्ची की व्यवस्था करायी। मतदान केन्द्रों पर प्रत्याशी एजेंटो सहित अन्य व्यवस्था को लेकर रणनीति बनाने में पार्टी कार्यालय में पदाधिकारी पूरे दिन जुटे रहे। रविवार को चुनाव को लेकर शहर में सर्वाधिक जोश और उत्साह युवा वर्ग में देखने को मिल रहा है। लोकतंत्र के इस पर्व में ईवीएम का बटन दबाकर अपनी पहली भागीदारी दर्ज कराने का उत्साह और इंतजार नवमतदाताओ को है। नवमतदाता मतदाता पर्ची की मिलने की खुशी को रविवार को सोशल मीडिया पर शेयर कर जताते दिखे। इस बार वाराणसी लोकसभा संसदीय क्षेत्र में कुल ५८५९४ नये मतदाता जुड़े है। इसमें ३०२०० पुरुष, २८३४० महिलाएं और २३ अन्य शामिल है। चट्टी चौराहों पर भी रविवार को मतदान की चर्चा होती रही। घरों में लोग वोट देने के समय का निर्धारण भी अपने अपने हिसाब से करने में लगे रहे। तेज गर्मी और धूप का आकलन किसी ने सुबह - सुबह ही या शाम को वोट देने का फरमान सुनाया। वही कोई भरी दोपहरी मे भीड़ कम होने के चलते वोट देने जाना आसान बताया।
मतदानका मतलब हैं आत्मधिकार-गोपवन्धु मिश्र

लोकतंत्र में मतदान का मतलब हैं आत्मधिकार और अपने अधिकार का उपयोग करके हम देश में उचित सरकार का निर्माण करते है, जो सरकार देशहित में उपयोगी सिद्ध होती है इसलिए मतदान में सभी नागरिक को सम्मिलित होकर अपनी भूमिका को अदा करना चाहिये। यह बाते शनिवार को काशी विद्वत परिषद् की आरे से '''राष्ट्र निर्माण में मतदान की उपयोगिताÓÓ विषयक राष्ट्रीय संगोष्ठी में सोमनाथ संस्कृत विश्वविद्यालय गुजरात के वाइसचांसलर प्रोफेसर गोपवन्धु मिश्र ने बतौर मुख्य अतिथि व्यक्त किया।  मुख्य वक्ता काशी विद्यापीठ के चीफ प्राक्टर प्रोफेसर चतुर्भुज नाथ तिवारी ने कहा कि मतदान की चर्चा सबसे पहले बौद्ध ग्रन्थो में मिलती है और आज बुद्ध पूर्णिमा हैं १८ मई को राजू गांधी ने २१वर्ष में जो मताधिकार का प्रयोग किया जाता था।  पूर्व वाइसचांसलर  प्रोफेसर आर सी पण्डा ने कहा कि लोक तंत्र की प्रतिष्ठा में मतदान सभी को करना चाहिये। कार्यक्रम की अध्यक्षता अन्नपूर्णा मन्दिर के महन्त रामेश्वर पुरी ने किया। कार्यक्रम का संचालन डाक्टर रामनारायण द्विवेदी एवं धन्यवाद ज्ञापन डाक्टर गायत्री प्रसाद पाण्डेय ने किया। इस अवसर पर प्रोफेसर रामयत्नशुक्ल, प्रोफेसर वशिष्ठ त्रिपाठी,  प्रोफेसर के के शर्मा, प्रोफेसर रामकिशोर त्रिपाठी, प्रोफेसर प्रभुनाथ द्विवेदी, प्रोफेसर नरेंद्र नाथ पाण्डेय, प्रोफेसर जानकी प्रसाद द्विवेदी, प्रोफेसर हरप्रसाद दीक्षित, प्रोफेसर हरिशंकर शुक्ल, प्रोफेसर फूल चंद्र जैन, डाक्टर आर पी पाण्डेय, डाक्टर दिनेश गर्ग, डाक्टर उत्तम ओझा, पंडित सतीश चन्द मिश्र  सहित अन्य लोगो ने अपने विचार व्यक्त किया। कार्यक्रम में  ११ विद्वानो सम्मानित किया गया।
मतदाता जागरूकता के लिए हुई बैठक
उत्तर प्रदेश स्ववित्त पोषित महाविद्यालय असोसिएशन ने मतदाता जागरूकता हेतु महाविद्यालय प्रबन्धक की बैठक डाक्टर घनश्याम सिंह महाविद्यालय सोयेपुर लमही में सम्पन्न हुयी। बैठक में असोसिएशन के अध्यक्ष विनय त्रिवेदी ने कहा कि प्रदेश के मुख्य चुनाव अधिकारी वेकटेश्वर के आवाह्न पर लगभग ९३ प्रतिशत की सहायता से मतदाताओं को जागरूक  करने का अभियान चला रहा है। स्ववित्तपोषी महाविद्यालय प्रबन्ध असोसिएशन के अध्यक्ष नागेश्वर सिंह ने नकल विहिन परीक्षा सम्पन्न कराने के लिये काशी विद्यापीठ के वाइसचांसलर प्रोफेसर टी.एन.सिंह की सराहना की। बैठक में महामंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह सहित काशी विद्यापीठ स्ववित्तपोषित महाविद्यालय के वाराणसी, चंदौली, भदोही, सोनभद्र, मिर्जापुर के प्रबंधक  उपस्थित रहे।