Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


जनपदमें विश्वकर्मा पूजनोत्सवकी धूम

जनपदमें सोमवारको चतुर्दिक विश्वकर्मा पूजनोत्सवकी धूम रही। कल-कारखानों, लौह कलासे जुड़े कारीगरों और शिल्पियोंने अपने ईष्टï देव भगवान विश्वकर्माको श्रद्धाके साथ याद किया। इस अवसरपर पूजा पाठके साथ प्रसादके रूपमें फल, मिष्ठïान, हलवा और धुधनीका वितरण किया गया। सोमवारको हर तरहके निर्माण कार्यसे जुड़े लोगोंने अपना काम बन्द कर भगवान विश्वकर्माकी आराधना की। शहरी क्षेत्रोंके साथ-साथ ग्रामीण इलाकोंमें भी धूमधामसे विश्वकर्मा जयन्ती मनायी गयी।
जनपदमें सोमवारको चतुर्दिक विश्वकर्मा पूजनोत्सवकी धूम रही। कल-कारखानों, लौह कलासे जुड़े कारीगरों और शिल्पियोंने अपने ईष्टï देव भगवान विश्वकर्माको श्रद्धाके साथ याद किया। इस अवसरपर पूजा पाठके साथ प्रसादके रूपमें फल, मिष्ठïान, हलवा और धुधनीका वितरण किया गया। सोमवारको हर तरहके निर्माण कार्यसे जुड़े लोगोंने अपना काम बन्द कर भगवान विश्वकर्माकी आराधना की। शहरी क्षेत्रोंके साथ-साथ ग्रामीण इलाकोंमें भी धूमधामसे विश्वकर्मा जयन्ती मनायी गयी।
लघु उद्योग भारती के कबीर चौरा स्थित कार्यालय में भगवान विश्वकर्मा का पूजन विध विधान एवं धूम धाम से किया गया। अध्यक्ष राजेश सिंह के नेतृत्व एवं समस्त पदाधिकारीयो के सहयोग से विश्वकर्मा जयंती मनायी गयी। आदरणीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्म दिवस के अवसर पर नगर एवं चांदपुर इंडस्ट्रियल स्टेट, करखियाव इंडस्ट्रियल स्टेट के सदस्यों के कारखाने से चुन हुए पूरे वर्ष में अच्छा कार्य करने वाले १०१ कर्मचारियों को वस्त्र, बर्तन आदि देकर सम्मानित किया गया है। इस अवसर पर कुमार कार्तिकेय, राजकुमार अग्रवाल, दिनेश गुप्त, मनोज मधेशिया, कमल अग्रवाल, राजेन्द्र सिंह देववंशी, अम्बरीष शर्मा मौजूद रहे।
डीएवी इण्टर कालेज में सोमवार को विश्वकर्मा पूजा धूमधाम से की गयी। विश्वकर्मा भगवान की विधिवत पूजा अर्चना के साथ उनकी भव्य आरती हुई। इसके बाद विद्यार्थियों में प्रसाद स्वरूप फल एवं मिष्ठïान का वितरण किया गया। प्रधानाचार्य, डाक्टर दयाशंकर मिश्र ने पूजन अर्चन किया। इस अवसर पर अध्यापकों द्वारा विश्वकर्मा भगवान के जीवन दर्शन पर प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से हरिवंश सिंह, शिव प्रकाश वर्मा, शिवशंकर सिंह आदि उपस्थित रहे।
चोलापुर थाना क्षेत्र में हर कल कारखाने, छोटे बड़े सर्विस सेंटर सहित औजारों से संबंधित कार्य करने वाले लोगों ने सुबह से ही भजन भाव कर अपने-अपने औजारों की पूजा की।  और भगवान विश्वकर्मा को याद किया। और संकल्प लिया कि अपने हुनर से दूसरों का भी कल्याण करेगे और अपने परिवार का भी पालन पोषण करेगे। इस अवसर पर छेदी यादव, धर्मेंद्र सिंह, रिंकू प्लान्ट, लोहा विश्वकर्मा, भोला विश्वकर्मा, सभा डेंटर, मनीष मिस्त्री, करिया मिस्त्री सहित सैकड़ों लोगों ने अपने अपने कारखानों में भव्य पूजा आरती की। और आने जाने वालों को प्रसाद वितरित किया।
पिंडरा। शिल्प देवता भगवान विश्वकर्मा का पूजन अर्चन सोमवार को परिषदीय विद्यालयों व स्कूल कालेजों में धूमधाम से किया गया। वही निजी संस्थानों व विद्युत उपकेंद्र व इंजीनियरिंग कालेज में में भी कार्यक्रम हुए। क्षेत्र के समस्त परिषदीय विद्यालयों में पहली बार शासन के निर्देश पर भगवान विश्वकर्मा का पूजन अर्चन के साथ बच्चों में प्रसाद का वितरण किया गया। प्राथमिक विद्यालय सैरागोपालपुर, जमापुर, फूलपुर, पिंडराइ, कटौना, रामपुर व पूर्व माध्यमिक विद्यालय रमईपट्टी, सिंधोरा, मंगारी, थानारामपुर व हिरामनपुर में बच्चों व शिक्षकों द्वारा उनके चित्र पर पुष्प अर्पित की और अर्चन किया। वही गजोखर स्थित बीआईटी कालेज, खालिसपुर स्थित गीता आईटीआई एवं कथौली स्थित पूर्वांचल आईटीआई कालेज में अखण्ड रामायण के समापन पर प्रसाद का वितरण किया गया। इसके अलावा विद्युत सब स्टेशन गजोखर, विद्युत उपकेंद्र पिंडरा, नेवादा, सिंधोरा व तरसड़ा को आकर्षक ढंग से सजाने के साथ विविध कार्यक्रम व प्रसाद वितरण किया गया। वही क्षेत्र के निजी प्रतिष्ठानों में भी विश्वकर्मा भगवान की जयंती धूमधाम से मनाई गई।
रामनगर। भगवान विश्वकर्मा देव के प्राकट्य दिवस समारोह पर सोमवार को धूमधाम से मनाया गया । कल - कारखानों में आदि शिल्पी की विधि. विधान से पूजा की गयी । वही शास्त्री चौक पर स्थित विश्वकर्मा देव के मंदिर का भव्य श्रृंगार किया गया । इस अवसर पर विश्वकर्मा समाज समिति की ओर से सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। जिसमें भक्ति संगीत का आमंत्रित कलाकारों ने माहौल को भक्तिमय बना दिया। रामनगर औद्योगिक क्षेत्र में स्थित सरकारी तथा गैर सरकारी कल .कारखानों में आदि शिल्पी की पूजा-आराधना की गयी। वही रामनगर चौक में अशोक स्तंभ के पास ऑटो यूनियन की ओर से विश्वकर्मा प्रतिमा स्थापित कर विधि-विधान से उसका पूजन किया गया। तो दूसरी ओर किला रोड पर स्थित विद्युत उपकेंद्र में भी भगवान विश्वकर्मा देव की धूमधाम से पूजा अर्चना की गयी। छोटे से छोटे और बड़े से बड़े प्रतिष्ठानों में सभी जगह विश्वकर्मा देव की पूजा आराधना की दिनभर धूम मची रही। पूजा आराधना के बाद लोगों में प्रसाद का वितरण किया गया। इस दौरान सांस्कृतिक कायक्रमों का भी बढ़ चढ़कर आयोजन किया गया। जिसमें कलाकारों ने एक से बढ़कर एक कार्यक्रम प्रस्तुत किये जिसका लोगों ने आनंद उठाया।
चिरईगांव। क्षेत्र के विभिन्न गांवो एवं बाजारो मे सोमवार को विश्वकर्मा पूजनोत्सव  श्रद्धा व उल्लास के साथ मनाया गया। क्षेत्र के उमरहां, सोनबरसा, भगतुआं, जाल्हूपुर, गौरा बाजार, डुबकिया, नरपतपुर, नारायनपुर, चिरईगाँव, लेढूपुर सहित अन्य बाजारो के कल कारखानो, सर्विस सेंटरो, वर्कशापों मे शिल्प देव विश्वकर्मा का पूजन किया गया। स्थानीय बाजारो मे विश्वकर्मा पूजन के पश्चात प्रसाद बितरण किया गया। इस अवसर पर कई दुकानदारों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया।
लालबागके राजा गणेशजीकी प्रतिमा मंदाकिनी कुंडमें विसर्जित
श्री काशी मराठा गणेश उत्सव समितिके तत्वावधानमें आसभैरो स्थित अग्रवाल भवनमें गणेशोत्सवके अंतिम दिन सोमवारको लालबागके राजा श्रीगणेश जीके प्रतिमाको बाजे-गाजेके साथ मैदागिन स्थित मंदाकिनी कुण्डमें 'अगले वर्ष तू फिर आनाÓ निमंत्रणके साथ विसर्जित कर दिया गया। विसर्जनके पूर्व श्री गणेश जीका विधि-विधानके साथ समितिके पदाधिकारियोंने पूजन किया। तत्पश्चात विविध प्रकारके सुगन्धित फूलोंके सुसज्जित रथपर विराजमान कर चौक, आसभैरो, नीचीबाग, बुलानाला, मैदागिन होते हुए कम्पनीबाग शोभायात्रा पहुंची जहां पर प्रतिमाको वैदिक मंत्रोंके बीच विसर्जित कर दिया गया। शोभायात्रामें समितिके सदस्य एवं मराठा समाजके लोग भारी संख्यामें शामिल रहे, जिसमें प्रमुख रूपसे अशोक शिंदे, चक्रवर्ती विजय नाबड़, निखित पाटिल, शुभम पाटिल, मूसा मूलानी, शिवम जायसवाल, आनन्द सूर्यवंशी, हनुमंत राव मोरे, नरेन्द्र पाल सहित अनेक भक्तगण शामिल रहे।
इसी क्रममें चौबेपुर क्षेत्रके धौरहरा बाजारमें श्री गणेश महोत्सव सेवा समिति द्वारा पांच दिवसीय गणेश महोत्सवके समापन अवसरपर सोमवारको धूम धामसे गणेश प्रतिमाका विसर्जन किया गया। गणपतिबप्पा मोरया एवं गणपति बप्पा अगले बरस फिर जल्दी आना-जल्दी आनाके उद्घोषके बीच गणेश प्रतिमाका विसर्जन किया गया। भक्तोंने ढोल नगाड़ों एवं डीजेकी थापपर जमकर नृत्य किया। मूर्ति विसर्जनके जुलूसमें उत्साहपूर्वक भाग लिया। गणेश प्रतिमाका विसर्जन भक्तोंके जयकारोंके साथ कुसीया स्थित पोखरेमें किया गया। इस दौरान रबि सेठ, लालजी मौर्य बीडीसी, अमरनाथ गुप्त, सुड्डïू गुप्त, नन्द किशोर गुप्त, प्रमोद बरनवाल, मुन्ना सिंह, डाक्टर जवाहरलाल आदि उपस्थित रहे।
चोलापुर थाना क्षेत्र के गोसाईपुर (छोटा)गांव में सोमवार की सायं श्री बागेश्वर ब्रह्म बाबा रामलीला समिति द्वारा स्थापित गणेश प्रतिमा को गोसाईपुर से ले जाकर आयर के लाट भवानी माता तलाव में विसर्जित किया गया।  मूर्ति विसर्जन से पूर्व धूमधाम से डी जे व ढोल नगाढ़े के साथ भक्तो ने झूमते नाचते गणपति का जय घोष किया। विसर्जन में प्रमुख रूप से ग्राम प्रधान सर्वेश मिश्र, संतोस मिश्र, किशन दादा, परमहंस मिश्र, श्रवण मिश्र, पिंटू गौड़, पप्पू गुप्त, छोटू राजभर आदि शामिल रहे।
डीरेका में भक्ति, निष्ठïा के साथ पूजे गये शिल्पके अधिष्ठïाता भगवान विश्वकर्मा
मेले का लोगों ने भरपूर आनन्द लिया
डीजल रेल इंजन कारखाना में विगत वर्षो की भांति इस वर्ष भी शिल्प, कला और निर्माण के अधिष्ठïाता भगवान विश्वकर्मा का पूजनोत्सव सोमवार को समारोह आयोजित किया गया। इस पावर अवसर पर कर्मचारियों द्वारा अपने कर्मशालाओं एवं कार्यस्थलों को फूल पत्तियों एवं रंग बिरंगी झण्डियों से सजाकर वहां अपने इष्टïदेव आदि शिल्पी भगवान विश्वकर्मा का अत्यन्त ही आकर्षक एवं सुन्दर चित्र स्थापित किया गया तथा भक्ति निष्ठïा एवं विधि विधान केसाथ पूजन अर्चन किया गया। इस अवसर पर प्रमुख मुख्य यांत्रिक इंजीनियर के साथ ही साथ अन्य विभागाध्यक्ष, अधिकारीगण अपने परिजनों एवं मित्रों सहित कारखाने के अन्दर एवं उपनगर में स्थित विभिन्न पूजा स्थलों पर गए, जहां कर्मचारियों ने हर्षोल्लास से उनका स्वागत किया। विभिन्न पूजा स्थलों पर अधिकारियों ने आदि शिल्प भगवान विश्वकर्मा का पूजन एवं आरती किया और पूजनोत्सव में सक्रिय रूप से भाग लिया तथा प्रसाद ग्रहण किया। विदित हो कि गंगा की स्वच्छता में अपनी महति भूमिका निर्वहन करते हुए इस वर्ष भी विभिन्न कार्यशालाओं एवं कार्यस्थलों पर भगवान विश्वकर्मा की मूर्तियों की जगह उनके चित्रों की पूजा की गयी। इस अवसर पर डीरेका परिसर एवं कर्मशाला में विशाल मेले का दृश्य दृष्टिïगोचर हो रहा था। पूजनोत्सव में जहां डीरेकाकर्मियों, उनके परिजनों एवं मित्रों ने मेले का भरपूर आनन्द लिया, वहीं कारखाना एवं उपनगर में स्थित विभिन्न कार्यशालाओं में रूचिपूर्वक सजाई गयी भगवान विश्वकर्मा की मनभावन एवं लुभावनी झांकियों का दर्शन एवं पूजन किया।
डीजल रेल इंजन कारखाना में विगत वर्षो की भांति इस वर्ष भी शिल्प, कला और निर्माण के अधिष्ठïाता भगवान विश्वकर्मा का पूजनोत्सव सोमवार को समारोह आयोजित किया गया। इस पावर अवसर पर कर्मचारियों द्वारा अपने कर्मशालाओं एवं कार्यस्थलों को फूल पत्तियों एवं रंग बिरंगी झण्डियों से सजाकर वहां अपने इष्टïदेव आदि शिल्पी भगवान विश्वकर्मा का अत्यन्त ही आकर्षक एवं सुन्दर चित्र स्थापित किया गया तथा भक्ति निष्ठïा एवं विधि विधान केसाथ पूजन अर्चन किया गया। इस अवसर पर प्रमुख मुख्य यांत्रिक इंजीनियर के साथ ही साथ अन्य विभागाध्यक्ष, अधिकारीगण अपने परिजनों एवं मित्रों सहित कारखाने के अन्दर एवं उपनगर में स्थित विभिन्न पूजा स्थलों पर गए, जहां कर्मचारियों ने हर्षोल्लास से उनका स्वागत किया। विभिन्न पूजा स्थलों पर अधिकारियों ने आदि शिल्प भगवान विश्वकर्मा का पूजन एवं आरती किया और पूजनोत्सव में सक्रिय रूप से भाग लिया तथा प्रसाद ग्रहण किया। विदित हो कि गंगा की स्वच्छता में अपनी महति भूमिका निर्वहन करते हुए इस वर्ष भी विभिन्न कार्यशालाओं एवं कार्यस्थलों पर भगवान विश्वकर्मा की मूर्तियों की जगह उनके चित्रों की पूजा की गयी। इस अवसर पर डीरेका परिसर एवं कर्मशाला में विशाल मेले का दृश्य दृष्टिïगोचर हो रहा था। पूजनोत्सव में जहां डीरेकाकर्मियों, उनके परिजनों एवं मित्रों ने मेले का भरपूर आनन्द लिया, वहीं कारखाना एवं उपनगर में स्थित विभिन्न कार्यशालाओं में रूचिपूर्वक सजाई गयी भगवान विश्वकर्मा की मनभावन एवं लुभावनी झांकियों का दर्शन एवं पूजन किया।
बधइया बाजे बाबा द्वारे...
हरे कृष्ण हरे राम संकीर्तन सोसाइटी की ओर से भगवान श्रीकृष्ण की अन्तरंगा शक्ति श्रीराधारानी का प्राकट्य दिवस श्रीराधाष्टïमी महामहोत्सव के रूप में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। भक्तों द्वारा दिन में दोपहर १२ बजे तक उपवास व्रत रखा गया। श्रीराधा रानी की सेवा में १०८ प्रकार के व्यंजनों का भोग गाया गया जिसमें विशेष रूप से अरूई से बने व्यंजन थे क्योंकि राधा रानी को अरूई विशेष रूप से पसंद थी। सायं तुलसी महारानी की आरती तुलसी कृष्ण प्रेयसी नमो नम: से प्रारम्भ हुआ। फिर श्रीकृष्ण एवं श्रीराधारानी के युगल स्वरूप चैतन्य महाप्रभु की आरती एवं महामंत्रो का गायन भक्तों द्वारा नाचते गाते हरे कृष्ण महामंत्र का कीर्तन किया गया। श्रीकृष्ण एवं श्रीराधारानी का श्रीविग्रह मनमोहक श्रंृगार सभी को लुभा रहा था तथा भगवान श्री जगन्नाथ, श्री बलदेव एवं सुभद्रा महारानी का श्रीविग्रह भक्तजनों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा था। सोसाइटी के भक्त श्री गुलाब प्रभु के भजन बधईया बाजे बाबा द्वारे तथा राघवेन्द्र प्रभु द्वारा प्रस्तुत भजन कजरा बन के बस जाओ श्याम मेरे नैनो में, मेरी गिनीयो ना अपराध लाडली श्री राधे पर भक्तजन भावविभोर होकर नृत्य कर रहे थे। तत्पश्चात केएल मेमोरियल स्कूल, निराला नगर के छात्रों द्वारा राधा ऐसी भई श्याम की दिवानी की जग में कहानी हो गयी, मच गया शोर सारी नगरी में, राधिका गोरी से बृज की छोरी से मईया करादो मेरो ब्याह इत्यादि भजनों पर नृत्य प्रस्तुत किया जो उपस्थित जनसमूह को भावविभोर कर रहा था जिसमें विशेष रूप से गीताजंली, खुशी सिंह, अंजली यादव, जानवी वर्मा, मानवी सिंह, मुस्कान राय, शिवांगी राय का विशेष योगदान रहा। श्री राधाष्टïमी के उपलक्ष्य में एक विशाल भण्डारे का आयोजन किया गया। जिसमें लगीाग पांच हजार लोगों ने महाप्रसाद भोजन ग्रहण किया। समाचार लिखेन तक भजन संध्या एवं भण्डारा चल रहा था।
पुष्पदंतका मोक्ष कल्याणक मनाया गया
भदैनी स्थित जैन धर्मके सप्तम तीर्थकर भगवान सुपाश्र्वनाथकी जन्म स्थली नौवें तीर्थकर भगवान पुष्पदंतका मोक्ष कल्याणक मनाया गया। इस अवसरपर प्राप्त अभिषेक वृहद शान्ति धारा दशलक्षण धर्म पूजनके बाद निर्वाण लाडू चढ़ाया गया। सायंकाल भव्य आरती मंगल प्रवचन एवं भजन आदि कार्यक्रम हुए। उत्तम सत्य धर्मपर सुरेन्द्र जैनने कहाकि हमें वाणीका सदुपयोग करना चाहिये। हित मित और प्रिये वचन बोलना ही वाणीका सदुपयोग है हमेशा सत्य बोलना चाहिये। पूजनमें बिमल कुमार जैन, सुरेन्द्र कुमार जैन, आकाश, नीरज जैन, सुमित, रोहित, डाक्टर वी.सी. अग्रवाल, श्रीमती लता जैन, श्रीमती शशी जैन, रंजना जैन, मनोरमा जैन, मुनमुन लवली आदिने धर्म लाभ लिया।
पूर्व सांसद ने शूलटंकेश्वर मंदिरमें की पूजा
सपा का शिष्टïमंडल चन्दौली के पूर्व सांसद श्री रामकिशनु यादव के नेतृत्व में ऐतिहासिक एवं पौराणिक शूलटंकेश्वर मंदिर पहुंचा ता जहां उन्होंने मानव कल्याण के लिए दर्शन पूजन किया। पूर्व सांसद ने दुग्धाभिषेक करके मानव कल्याण के लिए महादेव से प्रार्थना की। शिष्टïमंडल में सर्वश्री डाक्टर उमाशंकर, पारसनाथ यादव, सुजीत लक्कड़, राम सिंह, गोपाल यादव, मनीष सिंह, प्रकाश यादव, जगनारायण पटेल आदि लोग थे।
गणेशजीका किया गया पंचोपचार पूजन
नूतन बालक गणेशोत्सव समाज सेवा मण्डल द्वारा मनाये जा रहे ११०वें उत्सवके पांचवें दिन सोमवारको आचार्य पंडित धनंजय दातार एवं पंडित हेमंत जोशीके आचार्यत्वमें गणेश जीका पंचोपचार विधिसे पूजन किया गया। मुख्य यजमान डाक्टर माधव जनार्दन रटाटे थे। इस अवसरपर गणेश जीको मोदकोंका प्रसाद अर्पण किया गया। पंडित धनंजय दातारके आचार्यत्वमें श्रीमूर्तिका बादामसे सहस्रनामार्चन किया गया। रात्रिमें श्री कुमार अम्बरीष चंचल, डाक्टर रामचन्द्र कृष्ण भागवत एवं श्रेया शशांक सानेकी अध्यक्षतामें कनिष्ठï पद्यगान प्रतियोगिता एवं तत्पश्चात स्वर्गीय मनोरमा  बाई पुराणिक स्मृति वरिष्ठï पद्यगान प्रतियोगिता सजीव और आनलाइन आयोजित की गयी जिसमें देश-विदेशके पूर्व पद्यगान छात्रोंने इंटरनेटके माध्यमसे प्रतियोगितामें भाग लिया। इस क्रममें श्री काशी विश्वनाथ गणपति महोत्सवके गायघाट स्थित काशी विद्यामंदिरमें आयोजित गणेशोत्सके पांचवे दिन सोमवारको चित्रकला एवं देशभक्ति गीत और भजन प्रतियोगिता बच्चोंके बीच आयोजित की गयी। वहीं रामघाट स्थित साङ्गïवेद विद्यालयमें गणेशोत्सवके पांचवें दिन विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की गयी।