Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


बेटियोंके लिए कन्या सुमंगला योजना-योगी

जन्मसे लेकर पढ़ाई तक खर्चका जिम्मा उठायेगी सरकार
लखनऊ (आससे)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बेटियों के लिये कन्या सुमंगला योजना शीघ्र शुरू की जायेगी। बेटियों के जन्म से लेकर उनकी पढ़ाई-लिखायी का जिम्मा सरकार उठायेगी। उन्होने कहा कि पिछले 15 साल से प्रदेश की पहचान गायब हो गयी थी। आज सरकार के ढाई साल के शासन में यूपी की पहचान और उसकी धमक देश और दुनिया में नया रूप ले रही है।  प्रदेश और देश की सरकार के प्रति विश्वास कायम हुआ है। सरकारी आवास पर आयोजित पत्रकार वार्ता में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डेढ़ घंटे तक प्रदेश के  हर वर्ग हर क्षेत्र के लिये किये गये उल्लेखनीय कार्यो की उपलब्धियँा गिनायी। उन्होने कहा कि सपा बसपा के शासन में किसान आत्महत्या के लिये मजबूर हो रहे थे ङ्क्षकतु अब प्रदेश में किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लिये सार्थक प्रयास और योजनायें चलायी जा रही हैं। चुनाव के पहले जो वायदा किया था उसे पूरा किया। 86 लाख से अधिक किसानों का 36 हजार करोड़ का ऋण मोचन कर उन्हे मजबूत बनाया। सपाध्यक्ष  अखिलेश यादव के आरोपों पर उन्होने कहा कि उनकी विफलता ही हमारी सफलता है। उन्हे प्रदेश की जनता ने 2014, 2017 व 2019 में सबक सिखा दिया है। अब प्रदेश में काम करने वालों को जनता अपना समर्थन दे रही है। कानून-व्यवस्था पूरी तरह ठीक है। अपराधी या तो जेल में हैं या प्रदेश छोड़कर चले गये निवेश का माहौल बना है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 14 वर्ष के वनवास के बाद प्रदेश में बनी वर्तमान सरकार के पास अपार चुनौतियां थी। उन चुनौतियों को टीम वर्क के साथ अवसरों में बदलने का कार्य राज्य सरकार ने किया। उन्होंने कहा कि विगत ढाई वर्षों में प्रदेश को आगे बढ़ाने में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का मार्गदर्शन भी प्रदेश सरकार को मिलाए जिसका परिणाम रहा राज्य तेजी से विकास की ओर अग्रसर हुआ।  मुख्यमंत्री ने सूचना एवं जनस पर्क विभाग, उ0प्र0 द्वारा प्रकाशित विकास एवं सुशासन के ३0 माह   पुस्तक का विमोचन भी किया। उन्होंने कहा कि ढाई वर्षों में हुए कामों से उत्तर प्रदेश के पर्सेप्शन में सकारात्मक बदलाव आया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने प्रदेश की 2३ करोड़ जनता का विश्वास अर्जित किया है। इसी के दृष्टिगत जाति, मत, मजहब से ऊपर उठकर गांव, गरीब, किसान,मजदूर को केन्द्रित कर योजनाएं बनायी गयी हैं।  मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार बनते ही ३6 हजार करोड़ रुपये की धनराशि से 86 लाख लघु एवं सीमान्त किसानों के फसली ऋ ण को माफ करने का कार्य किया गया।  फ सलों की नयी प्रोक्योरमेंट पॉलिसी लागू किया गया है, जिसका लाभ किसानों को मिल रहा है। वर्षों से अधूरी पड़ी सिंचाई परियोजनाओं को पूरा करने का काम वर्तमान सरकार ने किया है, जिससे 2.67 हेक्टेयर सिंचन क्षमता में वृद्धि हुई है। प्रधानमंत्री किसान स मान निधि योजना के अन्तर्गत 2 करोड़ ३३ लाख किसान परिवारों को लाभान्वित करने की प्रक्रिया संचालित है। अब तक 01 करोड़ 57 लाख किसानों को इससे लाभान्वित किया जा चुका है। किसानों की आय को दोगुना करने के लिए तकनीकी बढ़ावा देेने का काम किया जा रहा है। कृषि विज्ञान केन्द्रों के माध्यम से किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरित किये गये हैं। प्रदेश सरकार ने गन्ना किसानों को 7३ हजार करोड़ रुपये का भुगतान किया है। अब शुगर से एथेनॉल बनाने की अनुमति भी दी जा रही है।   मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार ने चिकित्सा क्षेत्र में काफी सुधार किया है। जेई, एईएस जैसी बीमारियों में काफ ी कमी आयी है। विगत ढाई वर्षों में सरकार के प्रयासों एवं अन्तर्विभागीय समन्वय से इस घातक रोग के मामलें में ३5 फ ीसदी की कमी हुई है तथा मृत्यु आंकड़ों में 65 प्रतिशत तक कमी आयी है। गोरखपुर और रायबरेली एम्स में 50-50 एमबीबीएस सीटों पर छात्रों का प्रवेश प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है। 08 मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य प्रगति पर है। इसके अलावा, 14 राजकीय मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए भारत सरकार को प्रस्ताव भेजे गये हैं। पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न स्व0 अटल बिहारी वाजपेयी की स्मृति में एक नये चिकित्सा विश्वविद्यालय का निर्माण कार्य कराया जा रहा है।