Mob: +91-7905117134,8354913828 | Mail: info@ajhindidaily.com


देशमें बढ़ा कोरोना संक्रमण

बनाने होंगे कई अस्थायी अस्पताल-केंद्र,दाखिल किया हलफनामा
नयी दिल्ली (आससे)। केंद्र सरकार ने उच्चतम न्यायालय को बताया है कि देश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है। ऐसे में बड़ी संख्या में मेक-शिफ्ट अस्पतालों की स्थापना करनी होगी। साथ ही सरकार ने कहा है कि संकट की इस घड़ी में मरीजों की देखभाल में जुटे स्वास्थ्यकर्मियों की देखभाल करने की जरूरत है तथा सरकार पूरी निष्ठा के साथ संरक्षण की कोशिशें कर रही हैं। कोरोना वायरस की महामारी को लेकर केंद्र सरकार ने आज उच्चतम न्यायालय में हलफनामा दाखिल किया। सरकार ने बताया कि कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है, ऐसे में बड़ी संख्या में मेक-शिफ्ट अस्पतालों की स्थापना करनी होगी। निकट भविष्य में किसी भी समय मौजूदा अस्पतालों के अलावा, कोविंड-19 मरीजों के लिये बड़ी संख्या में अस्थायी मेक-शिफ्ट अस्पतालों का निर्माण करना होगा, जिससे कि उनकी उचित चिकित्सा देखभाल और उपचार हो सके। केंद्र ने हलफनामे में कहा है कि संकट की इस घड़ी में तेजी से बढ़ रहे रोगियों की संख्या को वहन करने के लिये स्वास्थ्य देखभाल कार्य बल का संरक्षण समय की आवश्यकता है। कोरोना रोगियों को सर्वोत्तम चिकित्सा देखभाल प्रदान करने के लिए एक उपयुक्त बुनियादी ढांचे का सफलतापूर्वक निर्माण करने और मानव संसाधन मुद्दे पर केंद्र पर्याप्त कदम उठायेगा। केंद्र ने कहा कि कोरोना से लड़ाई में जुटे डॉक्टरों व हेल्थ केयर स्टॉफ के लिये विशेषक्षों ने समय-समय पर कदम उठाये हैं और उनके लिए दिशा निर्देश और प्रोटोकॉल तैयार किया है। सरकार की ओर से 99.34 लाख पीपीई किट वितरित किये गये हैं, जबकि 1 जून तक 123.08 लाख एन 95 मॉस्क वितरित किये गये हैं। केंद्र सरकार की ओर से कहा गया है कि संकट की इस घड़ी में मरीजों की देखभाल में जुटे स्वास्थ्य कर्मियों की देखभाल करने की जरूरत है। सरकार की ओर से पूरी निष्ठा के साथ संरक्षण की कोशिशें की जा रही हैं। शीर्ष अदालत ने याचिकाकत्र्ता डॉ. आरुषि जैन ने को केंद्र के हलफनामे पर जवाब देने को कहा है। कोरोना के इलाज में लगे डॉक्टरों को क्वारंटाइन करने के लिये बेहतर इंतजाम की मांग पर अदालत ने सरकार से एक हफ्ते में जवाब मांगा था। डॉ. आरुषि जैन द्वारा दाखिल याचिका में कहा गया है कि कई जगह 2 डॉक्टरों को एक कमरे में रखा गया है और वहां साझा टॉयलेट है, इससे संक्रमण का खतरा है। इस पर न्यायालय ने कहा था कि हॉस्पिटल के नजदीक होटल या भवन में बंदोबस्त किया जाये। बता दें कि पिछले कुछ दिनों में भारत में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़े हैं। पिछले तीन-चार दिन में तो रोज 8 हजार से अधिक मामले सामने आये हैं। जबकि, गुरुवार को 9 हजार से अधिक केस रिपोर्ट हुये, गुरुवार सुबह तक देश में कोरोना वायरस के कुल केस की संख्या 2.17 लाख तक पहुंच गई, जबकि मरने वालों का आंकड़ा 6 हजार का आंकड़ा पार कर गया।
-----------------
२४ घंटेमें सामने आये रिकॉर्ड ९३०४ कोरोना मरीज
नयी दिल्ली (आससे)। देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 2 लाख 16 हजार के पार पहुंच गये हैं। अब तक 104107 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। पिछले 24 घंटों में देश भर से कुल 9304 नये मामले सामने आये हैं और 260 लोगों की मौत हो गयी है। यह एक दिन में अब तक कोरोना मरीजों के मिलने का सबसे बड़ा आंकड़ा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि फिलहाल देश में कोरोना के कुल 106737 सक्रिय मामले हैं और अबतक 6075 लोगों की जान जा चुकी है। महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात और दिल्ली जैसे कुछ चुनिंदा राज्यों के चलते नये मामलों की बढ़ती संख्या में कमी नहीं आ रही। मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के रिकॉर्ड 9,304 नए मामले सामने आए हैं, जबकि इस दौरान 260 लोगों की मौत हुई है।