Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


आपदा पीडि़तोंको आर्थिक मदद देगी सरकार-योगी

गोरखपुर (आससे)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जब तक किसान खुशहाल नही होगा देश खुशहाल नही हो सकता है। इसके लिए प्रदेश सरकार किसानों की आय दोगुना करने की योजना पर काम कर रही है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्राकृतिक आपदा से नुकसान होने पर सरकार किसानों को मुआवज़ा देगी। इसके लिए मंत्री एंव अधिकारियों की टीम जिलों में जाकर सर्वे कर रही है। उन्होंने किसानों का आश्वस्त किया कि फसल ऋण मोचन योजना प्रमाण दिखाने पर कोई बैंक का आदमी ऋण की वसूली के लिए उन्हें तंग नही करेगा।
पंडित दीन दयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय गोरखपुर के प्रांगण में प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना फसल ऋण मोचन योजना के लाभार्थी किसानों को एक लाख रूपये की ऋण माफी का प्रमाण पत्र वितरण करने के बाद मुख्यमंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा। इस अवसर पर उन्होंने 30 किसानों को मंच पर ऋण मोचन का प्रमाण पत्र दिया। शेष लगभग 11 हजार किसानों को पण्डाल में प्रमाण पत्र दिया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि 19 मार्च 2017 को सरकार गठन के बाद कैबिनेट की पहली बैठक में प्रदेश के 86 लाख किसानों का 36 हजार करोड़ रूपये कर्ज माफी का निर्णय लिया गया है। इसी क्रम में प्रथम चरण में गोरखपुर के 77 हजार किसानों का ऋण मोचन करते हुए प्रदेश सरकार ने पैसा उनके खाते में भेजा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने 6 माह के भीतर किसानों के हित के लिए कई योजनाओं पर काम किया है। किसानों से 37 लाख मी0टन गेहूं खरीद करके मूल्य का भुगतान सीधे उनके खातों में किया गया है। इससे किसानों को बिचौलियों से मुक्ति मिली है तथा पैसे के लिए इधर उधर भटकना नही पड़ा।  मुख्यमंत्री ने कहा कि इसी प्रकार धान खरीद के लिए भी 3 हजार धान क्रय केन्द्र पूरे प्रदेश में खोले जायेंगे। किसानों को मूल्य समर्थन योजना में 1550 एंव 1590 के अतिरिक्त 15 रूपये दिये जायेंगे। उन्होंने बताया कि किसानों का 23800 लाख रूपये गन्ना मूल्य का भुगतान कराया गया जो पिछले कई सालों से बकाया था। उन्होंने घोषणा की कि अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में पिपराइच तथा मुण्डेरवा बाजार में 540 करोड़ की लागत से उच्च पेराई क्षमता वाली चीनी मिलों का स्थापना के लिए शुभारम्भ किया जायेगा। इससे समय से किसानों का गन्ना की पेराई होगी। उन्होंने किसानों से अपील किया कि वे अपना बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक करायें। उन्होंने जिला प्रशासन को निर्देश दिया कि ब्लाक, तहसील स्तर पर कैम्प लगाकर किसानों का खाता आधार कार्ड से लिंक करायें ताकि दूसरे एंव तीसरे चरण में भी पात्र किसानों को लाभान्वित किया जा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह जनता की अपनी सरकार है। यह जाति, धर्म, वर्ग के आधार पर भेद भाव न करते हुए सबका साथ सबका विकास के आधार पर निर्णय लेती है। पिछले 6 माह में 6 लाख युवाओं का स्किल डेवलपमेन्ट किया गया है ताकि वे अपने पैरों पर खड़े हो सके। पिछली सरकारों की भांति विकास चन्द लोगों तक सीमित नही रहेगा। उन्होंने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। एम0पी0 कन्या इंटर कालेज की छात्राओं ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत किया। प्रदेश के कृषि, कृषि शिक्षा एंव कृषि अनुसंधान मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि रबी अभियान में प्रदेश में 44 लाख कुन्तल बीज की व्यवस्था की गयी है। खाद बीज पानी की कमी नही होने दी जायेगी। दस हजार सोलर पम्प स्थापित किये जायेंगे जिसमें 2 एंव 3 हार्स पावर पर 70 प्रतिशत तथा 5 हार्स पावर वाले पर 40 प्रतिशत अनुदान किसानों को दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि तोरिया, राई, मसूर, चना का 3.50 लाख मिनी किट पूरे प्रदेश में निशुल्क दिया जायेगा। गोरखपुर मण्डल में 12100 मिनी किट वितरण का लक्ष्य है। प्रदेश के सिंचाई मंत्री एंव जिले के प्रभारी मंत्री धर्मपाल सिंह ने कहा कि कृषि देश की अर्थ व्यवस्था है। सीमान्त एंव लघु किसानों को सिंचाई की दिक्कत नही होने दी जायेगी। ड्रिप सिंचाई पर किसानों को 80 प्रतिशत अनुदान दिया जायेगा। जिलाधिकारी राजीव रौतेला ने सभी का स्वागत करते हुए बताया कि जिले में कुल 77 हजार किसानों को ऋण मोचन योजना का लाभ दिया जायेगा। प्रथम चरण में 13535, दूसरे चरण में 15000 तथा तीसरे चरण में 48000 किसानों को लाभान्वित किया जायेगा। जिले के दूसरे चरण के किसानों को लाभान्वित करने की तैयारी चल रही है। समारोह के दौरान विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल, फतेह बहादुर सिंह, विपिन सिंह, महेन्द्रपाल सिंह, संत प्रसाद, शीतल पाण्डेय, एमएलसी देवेन्द्र प्रताप सिंह, पूर्व मेयर अंजू चौधरी, उपेन्द्र शुक्ल, जनार्दन तिवारी, कामेश्वर सिंह, राहुल श्रीवास्तव, धर्मेन्द्र सिंह, कुलपति डा0 बी0के0 सिंह, मण्डलायुक्त अनिल कुमार सहित भारी संख्या में किसान, जन प्रतिनिधि, अधिकारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन अनिता सहगल ने किया जबकि धन्यवाद ज्ञापन सी.डी.ओ. अनुज सिंह ने किया।
बीमारोंको आर्थिक सहायता
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गंभीर रूप से बीमार लोगों के इलाज के लिये दो करोड़ चार लाख 24 हजार रूपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां बताया कि मुख्यमंत्री योगी ने प्रदेश के 144 जरूरतमंद लोगों को किडनी, कैंसर, हृदय, कूल्हे, न्यूरो, लिवर, ब्रेन ट्यूमर, हड्डी, हेपेटाइटिस, अर्थराइटिस, पथरी से सम्बन्धित गम्भीर रोगों के उपचार के लिए दो करोड़ चार लाख 24 हजार रुपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की है। उन्होंने बताया कि श्री योगी ने किडनी रोग पीडि़त चन्दौली के राम किशुन,गोरखपुर के वाजिद अली,इलाहाबाद की श्रीमती उजमा बेगम,कुशीनगर के शत्रुघन सिंह, अमेठी के हरिओम शुक्ला, प्रतापगढ़ के राम अकबाल तिवारी, हरदोई के श्रीराम लखन, रायबरेली के रमेश सरोज, लखनऊ के उदय प्रताप यादव समेत अन्य मरीजों को वित्तीय सहायता प्रदान की है। सूत्रों ने बताया कि कैंसर के इलाज के लिये जौनपुर के सत्यम कुमार, इलाहाबाद की रेशमा अंसारी, बाराबंकी के मो.सलीम, प्रतापगढ़ के मास्टर आकाश यादव, वाराणसी की श्रीमती गीता,फैजाबाद के बृजेश कुमार, लखनऊ की आरती गुप्ता, औरैया के भान सिंह, रायबरेली के ओम प्रकाश,बिजनौर के जयपाल सिंह समेत कई अन्य मरीजों को आर्थिक मदद उपलब्ध करायी गयी। उन्होंने बताया कि हृदय रोग के उपचार के लिये कुशीनगर के हरीलाल भाटिया, इलाहाबाद की रीना देवी, अमेठी की करमइता, मऊ की उजमा, बलिया के मास्टर सत्या, गोरखपुर के अभिमन्यु कुमार, लखीमपुर खीरी के मुश्ताक, उन्नाव के रमेश, मुरादाबाद के शकील अहमद, लखनऊ की गीता एवं शिखा जैन समेत अन्य को वित्तीय सहायता प्रदान की गई। मुख्यमंत्री ने कई मरीजों को इलाज के लिये वित्तीय सहायता उपलब्ध करायी।