Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


छत्तीसगढ़में नक्सलियोंने की ठीकेदारकी हत्या

सात वाहनोंको किया आगके हवाले
जगदलपुर (हि.स.)। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में गुरुवार की दोपहर नक्सलियोंं ने सड़क निर्माण में संलग्न एक ठेकेदार हरिशंकर साहू की गला रेतकर हत्या कर दी। उसके बाद ठेकेदार के सात वाहनों को आग लगा दी। दोरनापाल थाना क्षेत्र के ग्राम चिचोरगुड़ा से पिन्ना-भेज्जी तक प्रधानमंत्री सड़क रोजगार योजना के तहत, सड़क निर्माण कार्य चल रहा है, जिसका ठेका दुर्ग की कंपनी साहू एंड कुलकर्णी बिल्डकॉन प्राईवेट लिमिटेड ने लिया है। सड़क निर्माण के घोर विरोधी नक्सलियों ने निर्माण कंपनी को 15 दिन पूर्व ही काम बंद करने की चेतावनी दी थी। इसके बावजूद उसने काम बंद नहीं किया। गुरुवार की दोपहर कार्यस्थल गांव उपमपल्ली में 15-20 सशस्त्र नक्सलियों ने धावा बोल दिया। दुर्ग निवासी ठेकेदार हरिशंकर साहू की टंगिए से गला रेतकर  हत्या कर दी। बाकी के जो मजबूर वहां काम कर रहे थे, उन्हें नक्सलियों ने धमकी देकर भगा दिया। इसके बाद मौके पर खड़े सात वाहनों का डीजल टैंक फोड़कर उनमें आग लगा दी। आगजनी में वाहन जलकर खाक हो गए। सुकमा एसपी अभिषेक मीणा ने बताया कि चुनाव के मद्देनजर आशंकावश पुलिस ने भी ठेका कंपनी को फिलहाल काम बंद करने की सलाह दी थी। क्योंकि चुनाव की व्यस्तताओं के चलते निर्माण कार्य को सुरक्षा देना संभव नहीं था। इसके बावजूद ठेकेदार ने काम चालू रखा। मामले की जांच की जा रही है।
----------------
पांच वर्षमें नक्सल समस्याका समाधान-राजनाथ

रायपुर(एजेंसी)।  केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि देश में अगले तीन से पांच वर्ष के भीतर नक्सल समस्या का समा?धान हो जाएगा। सिंह ने आज यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भारत में नक्सलवाद अपने अंतिम दौर से गुजर रहा है। पहले देश के 90 जिले नक्सल प्रभावित थे लेकिन अब 10 से 11 जिले ही नक्सल प्रभावित हैं। बहुत जल्द भारत नक्सल समस्या से मुक्त होगा। राजनाथ सिंह से पूछा गया कि कब तक देश से नक्सल समस्या समाप्त होगी। इस पर उन्होंने कहा कि अगले तीन से पांच साल के भीतर भारत नक्सल समस्या से मुक्त हो जाएगा। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि पहले नक्सली घटनाओं में सुरक्षा बलों की ज्यादा शहादत होती थी। अब मामला उलट गया है और अब नक्सली ज्यादा मारे जा रहे हैं। उन्होंने नक्सलियों से हथियार छोडऩे और आत्मसमर्पण करने के लिए अपील की। उन्होंने कहा कि आत्मसमर्पण की नीति बहुत अच्छी है। इसे और प्रभावी बनाने का फैसला हमने किया है। सिंह ने उम्मीद जताई कि छत्तीसगढ़ में चौथी बार भाजपा की सरकार बनेगी तब नक्सलवाद समाप्त होगा। राजनाथ सिंह ने कहा कि राज्य में पिछले 15 वर्षों से भाजपा की सरकार है और यहां की जनता का भरोसा भाजपा और मुख्यमंत्री रमन सिंह पर बरकरार है। देश में सभी विपक्षी दलों के प्रति लोगों का विश्वास घटा है। आज कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल विश्वास की कमी के दौर से गुजर रहे हैं। सिंह ने कहा कि कांग्रेस की हालत और भी कमजोर हो गई है। कांग्रेस को राज्य में मुख्यमंत्री पद का कोई उम्मीदवार नहीं मिला है। राज्य में कांग्रेस की स्थिति बिना दूल्हे की बारात की तरह हो गई है।
भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा? कि कांग्रेस ने जो घोषणा पत्र जारी किया है उसका कोई मतलब नहीं है। जो राजनीतिक पार्टी अपना विश्वास खो चुकी है और जिसकी बातों पर भरोसा न हो, ऐसे में उसके घोषणा पत्र का क्या औचित्य है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने गरीबी हटाने का नारा दिया था लेकिन गरीबी नहीं हटी बल्कि गरीबों को परेशानी हुई। बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया लेकिन इससे गरीबों का भला नहीं हुआ। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैंकों का सामान्यीकरण किया तब लोगों को फायदा मिला। राजनाथ? सिंह ने कहा कि कांग्रेस लगातार झूठ का सहारा लेती है और यह झूठ दस दिन भी नहीं चल पाता। कर्ज माफी की बात की जा रही है लेकिन कर्नाटक में किसानों के घरों में वारंट पहुंच रहा है। ?उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस के घोषणा पत्र के बारे में यही कह सकते हैं कि यह दिवालिया हो चुके बैंक के पोस्ट डेटेड चेक की तरह है। एक सवाल के जवाब में राजनाथ सिंह ने कहा कि देश में महंगाई दर कम हुई है। पहले जीडीपी से मंहगाई दोगुनी होती थी। अब जीडीपी आगे निकल गई है। दोगुनी होने लगी है। सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ में भाजपा की सरकार बनने के बाद से परिवर्तन हुआ है।