Mob: +91-7905117134,0542 2393981-87 | Mail: info@ajhindidaily.com


रेलवेके निजीकरणका कोई प्रस्ताव नहीं-पीयूष गोयल

नयी दिल्ली(आससे)केन्द्र सरकार ने कहाहै कि रेलवेके निजीकरण काकोई प्रस्ताव नहींहै। साथ हीकेंद्र ने यहभी कहा हैकि 2030 तक रेलवेनेटवर्क के विस्तार,क्षमता वृद्धि और अन्यआधुनिकीकरण के लिए50 लाख करोड़ रुपये निवेशकरने की जरूरतहोगी। आज राज्यसभामें रेल मंत्रीपीयूष गोयल नेएक लिखित सवालके जवाब मेंउक्त स्पष्टीकरण दिया।हालांकि गोयल नेकहा कि 2030 तकरेलवे नेटवर्क केविस्तार, क्षमता वृद्धि औरअन्य आधुनिकीकरण केलिए 50 लाख करोड़रुपये निवेश करनेकी आवश्यकता होगी।गोयल ने कहाकि सार्वजनिक-निजीभागीदारी मॉडल केअंतर्गत रेलवे ने कुछपहल की है,जिसमें बेहतर सेवा प्रदानकरने के लिएचयनित रेल मार्गोंपर यात्री रेलगाडियोंको चलाना औरकैपिटल फंडिंग के अंतरको मिटाने केसाथ-साथ आधुनिकरेक भी शामिलकिया जाना है।उन्होंने कहा किऐसे सभी मामलोंमें रेल संचालनऔर सुरक्षा प्रमाणनभारतीय रेल केपास ही रहेगा।  रेलमंत्रीने बताया किरेल के डिब्बे,इंजन और गोदामोंके रखरखाव केलिए निजी निवेशकी आवश्यकता है।उन्होंने स्पष्ट किया किभारतीय रेलवे की सेवाओंका परिचालन प्रभावितनहीं हो रहाहै। उन्होंने कहाकि भारत मेंकोई भी नियमितयात्री रेलगाड़ी निजी ऑपरेटरोंद्वारा संचालित नहीं कीजा रही है।

क्लोन ट्रेनोंके लिए आजसेशुरू होगा आरक्षण

लखनऊ (आससे.) रेलवेप्रशासन द्वारा यात्रियों कीडिमांड पर ट्रेनोंका ग्राफ बढ़ानेका सिलसिला शुरूहो गया है।21 सितंबर से क्लोनट्रेनें चलाई जाएंगी,इसके लिए 19 सितंबरसे आरक्षण ऑफलाइनव ऑनलाइन शुरूकर दिया जाएगा।आगामी त्योहारों कोदेखते हुए यहनिर्णय रेलवे प्रशासन द्वाराकिया गया है।रेलवे बोर्ड देशभर में दसजोड़ी ट्रेनों कीशुरूआत करेगा। इनमें पांचट्रेनें लखनऊ केरास्ते गुजरेंगी। पूर्वोत्तर रेलवेऔर उत्तर रेलवेदोनों मिलकर ट्रेनोंका संचालन करेंगे।ये ट्रेनें लखनऊके ऐशबाग, चारबागव लखनऊ जंक्शनपर तय सयमसारिणी से ठहरावहोगा। पूर्वोत्तर रेलवेके अधिकारी बतातेहै कि पूर्वके संचालित ट्रेनोंके विकल्प केरूप में क्लोनट्रेनें संचालित की जारही है।