Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


थानेदार अब करेंगे वरुणामें मिल रहे मृत पशुओंकी निगरानी

सेवापुरी। जंसा थाना क्षेत्र के सत्तनपुर वरुणा नदी में प्राय: मिल रहे टैग शुदा मृत पशुओं के मामले में अब प्रशासन सख्त रुख अपनाने लगा है।इस मामले का खुलासा करने के लिए एसडीएम राजातालाब अमृता सिंह ने जंसा व कपसेठी के थानाध्यक्षो को पत्र लिख कर आदेशित किया है कि पता लगाए कि वरुणा नदी में कहा से मृत पशुओं को बहाया जा रहा है।सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने जिले में कई गो आश्रय केंद्रों की स्थापना करवा कर छुट्टा पशुओं को बचाने का कुशल अभियान चलाया है।सीएम के इस नेक पहल की सर्वत्र सराहना भी हो रही है। परंतु गो आश्रय केंद्रों के संचालकों ने कानून एवं मानवता की सारी हदे तो तब पार कर दी जब पशुओं के चारे के लिए मिलने वाले अल्प धन से पशुओं को चारा खिलाने के बजाय खुद खाने लगे है। जिसके कारण आश्रय केंद्रों में भूख से तड़प कर पशुओं की मौत हो रही है। ऐसे में प्रशासन सख्त रुख नही अपनाया तो सीएम की यह पूण्य कमाने वाली जैसी योजना पर ग्रहण लग सकता है। आश्चर्य की बात तो यह है कि टैग शुदा वरुणा में मिल रहे मृत पशुओं के मामले में पशु पालन विभाग मौन क्यो है,यह लोगो के बीच रहस्य बना हुआ है। बतादे कि पिछले तीन दिनों में जंसा थाना क्षेत्र के सत्तनपुर स्थित वरुणा नदी में लगभग दर्जन भर टैग शुदा मृत पशु मिल चुके है।इसके पूर्व भी दर्जनों मृत पशु बहाए जा चुके है। ग्रामीणों का कहना है कि कुछ आश्रय केंद्र के संचालक अपने निजी स्वार्थ के लिए सीएम की इस योजना को बदनाम करने की कोशिश कर रहे है। जिनके खिलाफ जांच कराकर सख्त कार्यवाई होनी चाहिए।
सेवापुरी। जंसा थाना क्षेत्र के सत्तनपुर वरुणा नदी में प्राय: मिल रहे टैग शुदा मृत पशुओं के मामले में अब प्रशासन सख्त रुख अपनाने लगा है।इस मामले का खुलासा करने के लिए एसडीएम राजातालाब अमृता सिंह ने जंसा व कपसेठी के थानाध्यक्षो को पत्र लिख कर आदेशित किया है कि पता लगाए कि वरुणा नदी में कहा से मृत पशुओं को बहाया जा रहा है।सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने जिले में कई गो आश्रय केंद्रों की स्थापना करवा कर छुट्टा पशुओं को बचाने का कुशल अभियान चलाया है।
सीएम के इस नेक पहल की सर्वत्र सराहना भी हो रही है। परंतु गो आश्रय केंद्रों के संचालकों ने कानून एवं मानवता की सारी हदे तो तब पार कर दी जब पशुओं के चारे के लिए मिलने वाले अल्प धन से पशुओं को चारा खिलाने के बजाय खुद खाने लगे है। जिसके कारण आश्रय केंद्रों में भूख से तड़प कर पशुओं की मौत हो रही है। ऐसे में प्रशासन सख्त रुख नही अपनाया तो सीएम की यह पूण्य कमाने वाली जैसी योजना पर ग्रहण लग सकता है। आश्चर्य की बात तो यह है कि टैग शुदा वरुणा में मिल रहे मृत पशुओं के मामले में पशु पालन विभाग मौन क्यो है,यह लोगो के बीच रहस्य बना हुआ है।
बता दे कि पिछले तीन दिनों में जंसा थाना क्षेत्र के सत्तनपुर स्थित वरुणा नदी में लगभग दर्जन भर टैग शुदा मृत पशु मिल चुके है।इसके पूर्व भी दर्जनों मृत पशु बहाए जा चुके है। ग्रामीणों का कहना है कि कुछ आश्रय केंद्र के संचालक अपने निजी स्वार्थ के लिए सीएम की इस योजना को बदनाम करने की कोशिश कर रहे है। जिनके खिलाफ जांच कराकर सख्त कार्यवाई होनी चाहिए।
निवेदिता को पढ़ाने वाली अध्यापिकाओं से पुलिस ने की पूछताछ
निवेदिता के हत्यारों की तलाश जुटी लंका पुलिस ने उसके साथ सामनेघाट स्थित स्कूल में पढ़ाने वाली अध्यापिकाओं से पूछताछ करने के साथ सभी का मोबाइल रेकार्ड खंगाला। इसके साथ ही  निवेदिता के पति के द्वारा बताये गये चन्दौली के रहने वाले प्रतीक सिंह की भी तलाश की जा रहा है। इंस्पेक्टर (लंका)  भारत भूषण तिवारी ने बताया कि निवेदिता की हत्या करवाने से पहले अपनी बचत के लिए उसके पति ने कई कडिय़ों को जोड़कर घटना को अंजाम दिलवाया है। घटना का पर्दाफाश करने काप्रयास किया जा रहा है। निवेदिता के पिता सुबोध ठाकुर का कहना हैकि यदि गुरुवार तक हत्यारो की गिरफ्तारी नहीं हुआ तो आंदोलन किया जाएगा।
महापौरने रामापुराका किया औचक निरीक्षण
महापौर श्रीमती मृदुला जायसवालने मंगलवारको रामापुरा क्षेत्रका औचक निरीक्षण किया। निरीक्षणके दौरान क्षेत्रमें कई जगह कूड़ा फैला पाया और क्षेत्रमें निर्मित मकानोंका मलबा देख महापौरने चालान काटनेको निर्देशित किया। कई जगह सीवर ओवर फ्लो, नाली जामकी समस्या दूर करनेका निर्देश दिया। निरीक्षणमें चौका पत्थर रिसेटिंगकी आवश्यकता एवं सुबह ९.३० बजे तक फिलिप्स की लाइटे जलती हुई पायी गयी और शिकायत मिली की रातमें कई जगह की लाईटे नहीं जलती है। साथ में क्षेत्रीय पार्षद द्वारा अवगत कराया गया कि क्षेत्रमें कई जगह लोहे की बनी जाली चेम्बरपर रखवाया जाय एवं कई स्थलोंपर गली पीट बनवाया  जाय, इससे काफी हद तक जल निकासी की समस्याका समाधान हो जायेगा। इसपर महापौरने संबंधित अधिकारीको समस्याको दूर करनेका निर्देश दिया। निरीक्षणके दौरान क्षेत्रीय पार्षद मनोज सिंह, मुख्य अभियंता सूरज पाल, अधिशासी अभियंता जलकल महेश चन्द्र आजाद, प्रभारी नगर स्वास्थ्य अधिकारी आर.एस. यादव, जोनल अधिकारी दशाश्वमेध धर्मराज सिंह एवं सफाई निरीक्षक शिवेश तिवारी आदि लोग उपस्थित रहे।
पीपल वृक्षकी परिक्रमा और पूजासे होगा कष्टïका निवारण
भारतीय सनातन धर्म में हिन्दू धर्मशास्त्रों के अनुसार हर पर्व कीविशेष महिमा है। प्रख्यात ज्योतिषविद् विमल जैन ने बताया कि भाद्रपद कृष्णपक्ष की अमावस्या तिथि कुशोत्पाटनी अमावस्या तिथि के नाम से जानी जाती है। इस अमावस्या पर ब्राह्मïण वर्ग धाॢमक और मांगलिक कृत्यों को सम्पन्न करने व सम्पादित करवाने के लिए कर्मकाण्डी ब्राह्मïण विद्वानï् कुश का उत्पाटन करते हैं। कुशा नामक घास वर्षभर धाॢमक कृत्यों में प्रयोग करने के लिए संचित की जाती है। हिन्दुओं के धाॢमक अनुष्ठïानों में किसी न किसी रूप में कुश का प्रयोग अवश्य होता है। भाद्रपद की अमावस्या तिथि के दिन ही कुश का उत्पाटन किया जाता है।
ज्योतिषविद् श्री विमल जैन जी ने बताया कि भाद्रपद कृष्णपक्ष की अमावस्या तिथि २९ अगस्त, को सायं ७ बजकर ५६ मिनट पर लगेगी जो कि अगले दिन ३० अगस्त,को अपराह्नï ४ बजकर ०७ मिनट तक रहेगी। इस तिथि पर विधि-विधानपूर्वक घर के पितरों की पूजा करने का भी विधान है। आज के दिन स्ïनान-दान का विशेष महत्व है। ऐसी मान्यता है कि पितरों के आशीर्वाद से जीवन में भौतिक सुख-सौभाग्य सदैव बना रहता है। भाद्रपद की अमावस्या तिथि के दिन माता राणीसती के दर्शन-पूजन की विशेष महिमा है। आज के दिन राणी सती की महिमा में उनकी अनुकम्पा प्राप्ति के लिए मंगलपाठ करके रात्रि जागरण किया जाता है। माता राणीसती की विधि-विधानपूर्वक की गई पूजा से सुख-समृद्धि, सौभाग्य की प्राप्ति होती है।
पितरों की ऐसे करें पूजा-लकड़ी के पीढ़े पर जल से भरा लोटा या छोटा कलश रखकर उसपर तेरह रोली की बिन्दी, तेरह मेंहदी की बिन्दी एवं तेरह काजल की बिन्दी लगाई जाती है। तत्पश्ïचातï् नारियल, प्रसाद, लड्ïडू, पूड़ी, रोली, चावल, मेंहदी, चूड़ी, सिन्दूर एवं जल अॢपत करके धूप-दीप के साथ पूजा की जाती है। आज के दिन ब्राह्मïïणों को निमन्त्रित करके उन्हें भोजन करवाना चाहिए। साथ ही उन्हें दान-दक्षिणा देकर उनका चरणस्पर्श कर आशीर्वाद लेना चाहिए जिससे जीवन में सुख, समृद्धि, खुशहाली बनी रहे।
ज्योतिषविद् श्री विमल जैन ने बताया कि पौराणिक मान्यता के अनुसार पीपल के वृक्ष को ङ्क्षसचन करके विधि-विधानपूर्वक पूजा करने का भी विधान है। जिससे शनिग्रह के दोष का शमन होता है तथा देवी-देवताओं का आशीर्वाद मिलता है। पीपल वृक्ष पूजा के मन्त्र-ú मूलतो ब्रह्मरूपाय मध्ये विष्णुरूपिणे अग्रतो शिवरूपाय पीपलाय नमो नम:। आज के दिन यथासम्भव गरीबों, असहायों और जरूरतमंन्दों की सेवा व सहायता तथा परोपकार के कृत्य अवश्य किए जाने चाहिए।
इग्नू में प्रवेश आवेदन की तिथि ३१ तक
यूपी कॉलेज स्थित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) अध्ययन केंद्र पर जुलाई सत्र के सभी सर्टिफिकेट, डिप्लोमा, पीजी डिप्लोमा, स्नातक व स्नातकोत्तर ऑनलाइन और ऑफ लाइन प्रवेश हेतु आवेदन की अंतिम तिथि २७ अगस्त से बढ़ाकर ३१ अगस्त कर दिया गया है । उक्त तिथि तक प्रवेश हेतु इच्छुक अभ्यर्थी आवेदन कर सकते हैं। यह जानकारी केंद्र समन्वयक डॉक्टर नरेंद्र प्रताप सिंह ने दी है। उन्होंने बताया कि किसी भी कार्य दिवस पर आकर अभ्यर्थी प्रवेश आवेदन ले सकते है।
काशी विद्यापीठ के छात्र खिलाड़ी सम्मान समारोह के लिए रवाना
काशी विद्यापीठ के वाइसचांसलर प्रोफेसर टी.एन.सिंह एवं लेडीज वाइसचांसलर श्रीमती अल्पना सिंह ने राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर राजभवन लखनऊ में आयोजित खिलाड़ी सम्मान समारोह में जाने वाले को हरी झण्डी दिखकर वाहनों को रवाना किया। कार्यक्रम में अखिल भारतीय स्तर पर मेडल प्राप्त खिलाडिय़ों,कोच,मैनेजर एवं अधिकारी खेल दिवस २९ अगस्त को  राजभवन में खिलाड़ी सम्मान समारोह में भाग लेने के लिए रवाना हुुये। इस अवसर पर प्रोफेसर आर.पी.सिंह, डाक्टर विजय कुमार राय, डाक्टर राहुल गुप्त, डाक्टर संजय कुमार सिंह, डाक्टर सरवन कुमार यादव, डाक्टर सैयद दुलारे हुसैन, डाक्टर राधेश्याम राय, बीना, डाक्टर अमरेन्द्र कुमार सिंह, डाक्टर संतोष कुमार सहित अन्य उपस्थित रहे।
सम्पूर्णानन्द संगीत प्रमाणपत्रीय प्रवेश आवेदन पांच सितम्बर तक
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय कें संचालित संगीत प्रमाण पत्रीय प्रथम खण्ड एवं द्वितीय खण्ड डिप्लोमा कक्षाओं में प्रवेश हेतु आनलाइन पंजीकरण पांच सितम्बर तक अभ्यर्थी कर सकते है। यह जानकारी छात्रकल्याण संकाया यक्ष प्रोफेसर रामपूजन पाण्डेय ने दी। उन्होंने बताया कि अभ्यर्थी ईचालान के मा यम से पांच सितम्बर तक इलाहाबाद बैंक के किसी भी शाखा में पंजीकरण शुल्क जमा कर सकते है। तथा विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर ऑनलाइन प्रवेश आवेदन पत्र उपलब्ध होने तथा पूरित करने की तिथि सात सितम्बर तक र्निधारित की गयी है। अभ्यर्थी प्रवेश आवेदन पत्र की हार्ड कापी को संलग्न सहित आठ सितम्बर तक विश्वविद्यालय के  विभागीय कार्यालय में जमा कर सकते है।
राधा-कृष्ण के स्वरूप बनाने की कलासे अवगत हुए छात्र
काशी विद्यापीठ के ललित कला विभाग के कला र्दीर्धा में राजस्थानी एवं पहाड़ी शैली के पारम्परिक कला विषय पर चल रहे चार दिवसीय कार्यशाला के दूसरे दिन मंगलवार को राधा-कृष्ण के विभिन्न स्वरूपों को  रंग लाइन के माध्यम से छात्र-छात्राओं ने पेपरों पर उकेडने का कार्य किया। कार्यशाला के नेतृत्व कर रहे मुंगेर बिहार के कलाकार विशाल विश्वकर्मा ने राधा-कृष्ण के विभिन्न स्वरूपों के चित्रों में पारम्परिक खनिज रंग जैसे- खडिय़ा, सफेदा, सिन्दुरी, प्योरी, हिरौजी एवं काजल के मा यम से चित्रों को स्वरूप देने में सहयोग कर रहे है। इस कार्यशाला में मुख्य परिसर, एनटीपीसी एवं गंगापुर परिसर के बीएफए, एमएमएफ के लगभग ५० छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। इस अवसर पर डाक्टर सुनील कुमार, डाक्टर रामराज, डाक्टर शत्रुध्न प्रसाद उपस्थित रहे।
पुण्यतिथि पर मुकेश को किया गया याद
डर्बी शायर क्लब वाराणसी के तत्वावधान में बेनियाबाग पार्क मे स्वर सम्राट मुकेश साहब की ४२वीं पुण्यतिथि के अवसर परक्लब सदस्यों ने मुकेश के चित्र पर माला-फूल चढ़ाया तथा उन्हें श्रद्घाजंलि अर्पित किया गया। इस अवसर पर श्रीशकील ने कहा कि मुकेश साहब ने सजन रे झूठ मत बोलो खुदा के पास जाना है, एक दिन मिट जायेगा माटी के मोल, जग में रह जायेगे प्यारे तेरे बोल जैसे हजारों कर्णप्र्रिय गीतों से श्रोताओं का मन मोह लिया। श्रीशकील ने कहा कि मुकेश साहबने बीते जमाने के राजकूपर, मनोज कुमार, राजेन्द्र कुमार, धमेन्द्र, राजेश खन्ना, अमिताभ बच्चन जैसे महान नायकों को अपनी आवाज दी। उनके निधन से मानों संगीत की गति ही रूक गयी, देश के एक महान गायक को खो दिया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से प्रमोद वर्मा, हैदर हुसैन, मौलाई, आफाक हैदर, बबलू विश्वकर्मा, चिन्तित बनारसी, इरफान हुसैन, बच्चेलाल , नीलेश कुमार मौर्या, आदि लोग उपस्थित रहे।
सिल्वर ग्रोव ने जीता प्रथम पुरस्कार
भारत विकास परिषद शिव शाखा द्वारा राष्टï्रीय समूह गान प्रतियोगिता का (हिन्दी एवं संस्कृत) में अग्रसेन इंटर कालेज में आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में आर्य महिला इंटर कालेज, गोपी राधा बालिका इंटर कालेज, वल्लभी विद्यापीठ, दुर्गा चरण इंटर कालेज आदि विद्यालयों ने प्रतिभाग किया, जिसमें सिल्वर ग्रोव स्कूल महेशपुर ने प्रथम स्थान प्राप्त कर विद्यालय का नाम रोशन किया। निर्णायक मंडल में उत्तम आकाश चटर्जी, शालिनी, सुनीता अग्रवाल एवं नीलम शर्मा थे। निर्देशिका  रचना श्रीवास्तव एवं प्रबंधक मोहित श्रीवास्तव ने टीम की भूरी भूरी प्रशंसा करते हुए उन्हें बधाई दी और कहाकि इस तरह के राष्टï्रीय समूह गान प्रतियोगिता से बच्चों के अंदर राष्टï्रप्रेम की भावना जागृत होती है। भारत विकास परिषद शिव शाखा से श्री राजीव अग्रवाल, सूरज अग्रवाल, मितेश आशर, प्रवीण पटेल प्रीति अग्रवाल आदि मौजूद रहे।
संस्कृतके उद्भट विद्वान राजेन्द्र प्रसाद पाण्डेय का निधन
संस्कृत एवं हिन्दी के उदï्भट विद्वान डाक्टर राजेन्द्र प्रसाद पाण्डेय के निधन से साहित्य संगीत परिषद मर्माहत है। डाक्टर परिषद के अध्यक्ष डाक्टर पवन कुमार शास्त्री ने कहा कि संस्कृत एवं हिन्दी साहित्य में डाक्टर पाण्डेय द्वारा किया गया अवदान अविस्मरणीय रहेगा। डाक्टर पाण्डेय के निधन से संस्कृत एवं हिन्दी साहित्य की अपूरणीय क्षति हुई है। इस अवसर डाक्टर पवन कुमार शास्त्री की अध्यक्षता मेंं एक शोक सभा में हुई तथा सदस्यगण डाक्टर पाण्डेय को श्रंद्घाजंलि अर्पित करके उनकी अङ्क्षतम यात्रा में सम्मिलति हुए।
भाजपाइयों के तेवर का असर, घण्टेभर में ठीक हुई सड़क
पिंडरा। बाबतपुर चौराहे की  जर्जर एवं गड्ढा युक्त सड़क होने से आये दिन हो रही दुर्घटना के बाद भाजपाइयों के विरोध पर मंगलवार को घण्टे भर बाद ही ठीक कर दिया गया।रघुनाथपुर निवासी वीरेंद्र नाथ दुबे गड्डायुक्त सड़क होने के चलते सोमवार की रात गिर गए थे, और उनकी पसली टूट गई। जिसके बाद  बीजेपी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने आक्रोश दिखा और  एनएचआई के ठीकेदार और प्रोजेक्ट मैनेजर को घेर लिया और शिकायत दर्ज कराई। जिसके बाद अधिकारियों के निर्देश पर ठीकेदार ने तुरंत जेसीबी मशीन लगाकर जलजमाव वाले स्थान व सड़क को ठीक किया।  शिकायत व घेराव करने वालो में  भाजपा जिला मंत्री  डाक्टर जय प्रकाश दुबे , दीपक सिंह, संदीप सिंह,  हौशिला पांडेय,  शैलेश पांडेय,   निलेश दुबे,आजाद शैलेंद्र जायसवाल,  मनीष पाठक , अमित दुबे , पप्पू श्रीवास्तव , हेमंत दुबे, विकास दुबे , विपुल दुबे  समेत बाजार के व्यापारी भी शामिल रहे।