Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


नवीनतम समाचार » वाराणसी और आसपास

वाराणसी और आसपास

मंडुआडीह  मेेंं घटना
मंडुवाडीह थाना क्षेत्र के महेशपुर में गुरूवार को प्रात: कुंए की गडाऱी में रस्सी से फंदा लगाकर दशरथ बिन्द ४८ वर्ष ने खुदकुशी कर लिया। परिजनों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को नीचे उतारा और उसे कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। मृतक के परिजनों ने बताया कि सुबह दशरथ बाल्टी लेकर कुएं पर नहाने गए थे। कुछ देर बाद आसपास के लोगों ने देखा की दशरथ बिन्द का शव कुएं की गराड़ी के सहारे कुएं में लटक रहा है। बता दें कि पुलिस को घटना स्थल से कोई भी सूसाइड नोट नहीं मिला है मृतक के आत्महत्या करने की वजह का अब तक कुछ पता नहीं चल सका है। मिली जानकारी के अनुसार दशरथ बिन्द निवासी ग्राम जलालपुर पोखरी जिला मिर्जापुर का निवासी था और महेशपुर में किराये पर रह कर ऑटो चलाकर अपने परिवार का पेट भरता था। दशरथ बिंद का एक पुत्र और दो पुत्रियां हैं, जिनमे से एक पुत्री की शादी हो चुकी है।
तीन दिनोंसे जलापूर्ति ठप, पानी के लिए हाहाकार
मिर्जामुराद। सरकार की मंशा है कि हर घर में नल लगवा कर टोटियों तक शुद्ध पेयजल पहुंचाया जाए। इधर, प्रधानमंत्री के ही संसदीय क्षेत्र में ग्रामीणों को पीने का पानी नही नसीब हो पा रहा है। जलनिगम का नलकूप खराब हो जाने से मिर्जामुराद क्षेत्र में तीन दिन से पेयजलपूर्ति ठप है। पेयजल हेतु ग्रामीण परेशान हो डिब्बा.बाल्टी लेकर इधर-उधर भटक रहे है। बताते है कि गौर गांव (मिर्जामुराद) में ग्राम समूह पेयजल योजनान्तर्गत जलनिगम का दो नलकूप पंप व पानी टैंक बना है।जलनिगम की भूमिगत पाइप लाइन से गौर, मिर्जामुराद, चक्रपानपुर, खालिसपुर, अमिनी, टिकरा, लालपुर, प्रतापपुर गांवो में पेयजलपूर्ति की जाती है। विभागीय उदासीनता से प्रथम नलकूप का स्टार्टर करीब तीन माह से जलकर खराब होने के कारण नलकूप बंद पड़ा था कि मंगलवार की सुबह द्रितीय नलकूप का मोटर पंप भी जलकर खराब हो गया। दोनो नलकूप खराब हो जाने से क्षेत्र में पेयजल की आपूर्ति ठप हो गई है। तीन दिन से ग्रामीणों के घरों में लगे नलों की टोटियों सूखी पड़ी है। अवधेश सिंह जितेंद बिंद, अजय सिंह, भोला मिश्र, अशरफ खान, रंजीत गुप्ता, शिवधनी यादव, मनोज मोदनवाल, रमेश विश्वकर्मा आदि ग्रामीणों का आरोप है कि जलनिगम के जेई को फोन मिलाने पर उनका मोबाइल नही उठता।
मिर्जामुराद। सरकार की मंशा है कि हर घर में नल लगवा कर टोटियों तक शुद्ध पेयजल पहुंचाया जाए। इधर, प्रधानमंत्री के ही संसदीय क्षेत्र में ग्रामीणों को पीने का पानी नही नसीब हो पा रहा है। जलनिगम का नलकूप खराब हो जाने से मिर्जामुराद क्षेत्र में तीन दिन से पेयजलपूर्ति ठप है। पेयजल हेतु ग्रामीण परेशान हो डिब्बा.बाल्टी लेकर इधर-उधर भटक रहे है। बताते है कि गौर गांव (मिर्जामुराद) में ग्राम समूह पेयजल योजनान्तर्गत जलनिगम का दो नलकूप पंप व पानी टैंक बना है।जलनिगम की भूमिगत पाइप लाइन से गौर, मिर्जामुराद, चक्रपानपुर, खालिसपुर, अमिनी, टिकरा, लालपुर, प्रतापपुर गांवो में पेयजलपूर्ति की जाती है। विभागीय उदासीनता से प्रथम नलकूप का स्टार्टर करीब तीन माह से जलकर खराब होने के कारण नलकूप बंद पड़ा था कि मंगलवार की सुबह द्रितीय नलकूप का मोटर पंप भी जलकर खराब हो गया। दोनो नलकूप खराब हो जाने से क्षेत्र में पेयजल की आपूर्ति ठप हो गई है। तीन दिन से ग्रामीणों के घरों में लगे नलों की टोटियों सूखी पड़ी है। अवधेश सिंह जितेंद बिंद, अजय सिंह, भोला मिश्र, अशरफ खान, रंजीत गुप्ता, शिवधनी यादव, मनोज मोदनवाल, रमेश विश्वकर्मा आदि ग्रामीणों का आरोप है कि जलनिगम के जेई को फोन मिलाने पर उनका मोबाइल नही उठता।
बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ है कोरोना का मुख्य लक्षण-डाक्टर एसके पाठक
चीन के वुहान शहर से शुरू हुए कोरोना वायरस का कहर अब दुनियाभर में देखने को मिल रहा है। सीओ वीआईडी-१९ का यह संक्रमण अब पूरी दुनिया में फैल चुका है, चीन के बाद ईरान, हांगकांग, जापान, इटली, समेत कई देशों को अपनी चपेट में लेने के बाद अब इसने भारत में भी दस्तक दी है। ऐसे में इस संक्रमण से लोगों को जागरूक करने के लिये ब्रेथ ईजी टीबी, चेस्ट एलर्जी केयर हास्पिटल अस्सी वाराणसी के निदेशक एवं वरिष्ठï चिकित्सक डाक्टर एसके पाठक ने बताया कि कोरोना वायरस सीओवी का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है। डाक्टर पाठक ने बतायाकि इसके संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस, लेने में तकलीफ नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती है, यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है, इसलिये इसे लेकर बहुत सावधानी बरतनी चाहिये। डाक्टर पाठक ने इस वायरस से सर्तक रहने के लिये कुछ सुझाव दिये जिसमें हाथों से धोना, अल्कोहल आधारित हैंड रब का इस्तेमाल करना, खांसते और छीकते समय नाक और मुंह पर रूमाल रखना आदि है। डाक्टर पाठक ने बताया जिन व्यक्तियों में कोल्ड और फ्लू के लक्षण हो उसके दूरी बनाकर रखे, अंडे और मांस के सेवन से बचें और जंगली जानवरों के सम्पर्क में आने से बचें।
नागेपुर में जिम्मेदार पितृत्व अभियान का आगाज

नुक्कड़ नाटक और साइकिल यात्रा निकालकर किया गया जागरूक
मिर्जामुराद। प्रधानमंत्री के सांसद आदर्श ग्राम नागेपुर में स्थित डाक्टर भीमराव अम्बेडकर पार्क से गुरुवार को सादिका परियोजना के संयुक्त तत्वावधान में श्जिम्मेदार पितृत्व अभियान का शुभारंभ हुआ। ग्रामीण पुन:र्निर्माण संस्थान के निदेशक राजदेव चतुर्वेदी ने अभियान का शुभारंभ करते हुए कहा कि आज हम सब यहां समाज मे होने वाली घरेलू हिंसा एवं यौन उत्पीडऩ एवं किशोरियों संग छेड़छाड़ की घटनाओं को रोकने के लिए समाज को आगे आकर जिम्मेदार पितृत्व की भूमिका निभानी होगी। उन्होंने कहा कि घरेलू हिंसा, लिंगभेद, ऊंच-नीच को मिटाने में बाबा साहब ने संवैधानिक अधिकार दिलाया। घरेलू हिंसा अब घर की बात नहीं रही बल्कि अब यह समाज व कानून की बात हो गई है। इसलिए हम सब को मिलकर समाज से ऐसी घटनाओं का उन्मूलन करना होगा।अभियान के क्रम में लक्ष्य नाट्यम की टीम द्वारा ष्क्या करे क्या न करेष् घरेलू हिंसा यौन उत्पीडऩ, प्रजनन स्वास्थ्य, पोषण पर आधारित नुक्कड़ नाटक का मंचन किया गया।इसके साथ ही गांव में साइकिल यात्रा निकाल ग्रामीणों को घरेलू हिंसा एवं यौन उत्पीडऩ मुक्त समाज की स्थापना के लिए जागरूक किया गया। संचालन सरिता ने किया। अभियान में विकास बाजपेई, सरिता, रणविजय, फौजिया, अर्पित, महेंद्र, प्रिया, बाबू थापा, मुरारी, दिनेश, रामाश्रय, बाल प्रधान आकांक्षा समेत अन्य उपस्थित रहे ।