Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


आदर्श ग्राम योजनासे बदलें गांवोंकी तस्वीर


चंदौली। केन्द्र द्वारा संचालित योजना प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के क्रियान्वयन को लेकर जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल कलेक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक की। बताया कि योजना के तहत 50 प्रतिशत से अधिक आबादी वाले कुल 20 ग्रामों का चयन किया गया है। पेयजल एवं स्वच्छता, शिक्षा, स्वास्थ्य एवं पोषण, सामाजिक सुरक्षा, ग्रामीण सड़के एवं आवास, बिजली एवं स्वच्छ ईधन, कृषि पद्धतियां, वित्तीय समावेशन, डिजिटलीकरण एवं आजीविका एवं कौशल विकास के कुल 50 बिंदुओं दिये गये है। इन्हीं के आधार पर सर्वेक्षण किया जायेगा। उन्होंने बताया कि इसमें जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला स्तरीय एवं सम्बन्धित ग्रामों के ग्राम प्रधान की अध्यक्षता में समिति का गठन किया गया है। ग्राम स्तरीय समिति द्वारा 50 बिंदुओं के आधार पर 10 सितम्बर तक सर्वे का कार्य पूर्ण कर सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को कार्य योजना प्रस्तुत करने का निर्देश दिया गया। कहा कि आप के विभाग सम्बन्धित बिंदू पर सटीक कार्ययोजना बनाकर उसमें शत.प्रतिशत सुधार लाये जाने के प्रयास करें। ताकि केन्द्र सरकार के मंशा के अनुसार चिन्हित ग्रामों में महत्वाकांक्षी योजनाओं का गरीबों में लाभ मिल पाये। कहा कि इस वित्तिय वर्ष में जनपद के 20 ग्रामों का चयन किया गया है। जिसमें प्रथम चरण में विकास खण्ड नियामताबाद के भरछा ग्राम पंचायत, छित्तमपुर,  तारनपुर, कुढ़कला सदर चन्दौली विकास खण्ड में सिरसी, नवही, मसौनी शहाबगंज में भुसीकृतपुरवा, चकिया में सोनहुल, नौगढ़ ब्लाक के बोझ ग्राम पंचायत एवं धानापुर के विशुनपुर ग्राम पंचायत को चिन्हित किया गया है। इस दौरान जिला विकास अधिकारी पद्मकान्त शुक्ल, जिला चिकित्साधिकारी डा. आरके मिश्रा उपस्थित थे।
जच्चा-बच्चाकी मौतपर हंगामा
धानापुर । स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर बुद्धवार को प्रसव के दौरान जच्चा-बच्चाकी मौत हो जाने से क्षुब्ध परिजनों नें  सीएचसी के सामने दोनो शवों को रखकर जमकर घंटो बवाल काटा। सुचना पर पहुंची पुलिस नें मृतक के परिजनों को समझानें बुझानें का काफी प्रयास किया लेकिन परिजन लापरवाह स्टाप नर्स के खिलाफ कार्यवाई की मांग को लेकर अपनी जिद्द पर अड़े रहे। मिली जानकारी के अनुसार क्षेत्र के सीतापोखरी गांव की आशा देवी अपनी बेटी सुजीता 24 को प्रसव करानें के लिए सुबह आठ बजे लेकर स्थानीय सीएचसी पर पहुंची। आरोप है कि पांच हजार रूपये की दवा पहले बाहर से सीएचसी पर तैनात स्टाप नर्सों नें लिखी। फिर मरीज की हालत बिगडऩें पर भी नही छोड़ा। मृतक की मां आशा देवी नें बताया कि जब बच्चे की हालत काफी बिगड़ गयी। तब जाकर रेफर किया। मृतका के पिता मंहगू चौहान नें कहा कि हमें गुमराह करके पहले मरणासन्न स्थिती में बच्चे को देकर आगे इलाज करानें के लिए भेज दिया। अभी कुछ दूर ही पहुंचे थे कि बीस मिनट के बाद मेरे मोबाईल पर फोन आ गया कि सुजीता  की मौत हो गयी।उसी दौरान बच्चे की भी मौत हो गयी। मृतक के परिजनों नें जच्चा व बच्चा के शव को सीएचसी पर रखकर  दोनों आरोपी स्टाप नर्स के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मृतक परिजनों को सहायत दिये जाने की मांग को लेकर धरने पर बैठ गये। दो घंटों तक उच्चाधिकारियों का इंतजार के पश्चात मांगों के समर्थन में शव को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के सामनें धानापुर.डेढ़ावल मार्ग पर रखकर सड़क को जाम कर दिया। सुचना मिलते ही  सीओ सकलडीहां प्रदीप सिंह चंदेल समझा- बुझा कर मामला शांत कराया।
गंगाका जलस्तर बढऩेसे मंदिर डूबा
चहनियां। पिछले चार दिनों से गंगा का जलस्तर बढ़ाव पर है। मंगलवार की रात में जलस्तर में करीब डेढ़ फीट की बढोत्तरी दर्ज की गयी। बलुआ गंगा घाट पर स्थित मन्दिर चेंजिंग रूम पूर्ण रूप से डूबने के बाद शव दाह गृह भी आधा डूब गया। गंगा का पानी बलुआ बाजार की तरफ रुख करने लगा है । तटवर्ती ग्रामीणों में भी दहशत का मौहाल बना हुआ है । गंगा के जलस्तर में बढ़ाव तेजी से जारी है । बिगत चार  दिनों में कभी 6 फीट तो कभी 8 फीट पानी बढ़कर बिकराल रूप ले लिया है। मंगलवार की रात में भी पानी डेढ़ फीट बढ़ा हैसीढियां, मन्दिर व चेंजिग रूम पूर्ण रूप से डूबने के ऊपर बने शवदाह गृह भी आधा डूब गया है । नये घाट पर बना विश्रामालय, स्नानार्थियों को बैठने के लिए बना सीमेंटेड कुर्सियों के पास एक फीट ऊंचाई  तक पानी बढ़ा है। एक दो दिन में पानी बलुआ बाजार व तटवर्ती गांव कांवर,  महुआरी खास,  बिशुपुर,  महुअरिया,  सराय, बलुआ, डेरवा, महुअरकला,  बिजयी के पूरा, गनेशपूरा,  टांडाकला, सरौली, महमदपुर, भूसौला, सरैया, बडग़ांवा,  तीरगांवा, हसनपुर, नादी निधौरा आदि गांवों में पानी रुख करने लगा है।
उपजिलाधिकारीने सुनी समस्याएं
नौगढ़। उपजिलाधिकारी विजय नरायन सिंह के नेतृत्व मे आयोजित विशेष सुनवाई कार्यक्रम के तहत सिंचाई विभाग वनविभाग की भूमि पर जोत को लेकर चल रहे दो मामलो की गहन सुनवाई हुयी। जिसमे संबंधित विभाग व जोतदारो ने अपना अपना तर्क प्रस्तुत किया जिसमे सिंचाई विभाग व वन विभाग ने टीम गठित कराकरके मौके का पुन: सर्वे कर एक हफ्ते में रिपोर्ट देने को कहा है। इस बारे में जानकारी देते हुए तहसीलदार आनंद कुमार कन्नौजिया ने बताया कि भैसौड़ा गांव में सिंघाई व वनविभाग की भूमि पर जोत को लेकर के जोतदारो के बीच काफी पुराना विवाद है वही चन्द्रकांता किला के समीप महाराजा काशी नरेश की भूमि व सिंचाई विभाग के बीच भी जोत को लेकर दो पक्षो में विवाद चल रहा है। दोनों मामलो की विशेष सुनवाई बुद्धवार को तहसील मे दिन भर चली। एक ही भूमि को वनविभाग अपनी भूमि बतला रहा है तो सिंचाई विभाग अपना।   जिसपर खेती करने वाले लोगों को सिंचाई विभाग ने पट्टा जारी किया है तो कुछ का पट्टा निरस्त किया है वहीं वनविभाग अपनी भूमि बतला कर अवैध रूप से आरक्षित वन भूमि पर कब्जा करने के आरोप में केस भी दर्ज किया है। महाराजा काशी नरेश की स्वामित्व वाली भूमि के कुछ भाग को रजिस्टी लेकर कब्जा दखल करने वाले लोगों के विरूद्ध भी सिंचाई विभाग ने मुकदमा दर्ज किया है तथा उसी भूमि को दूसरे ब्यक्तिओ के नाम सिंचाई विभाग का पट्टा जारी है। महाराजा काशी नरेश की स्वामित्व वाली भूमि पर सिंघाई विभाग का नाम दर्ज हो जाने से महाराजा कुंवर अनंत नारायण सिंह ने माननीय उच्च न्यायलय इलाहाबाद में वाद दायर किया हुआ हैं। जो कि विचाराधीन है।  तहसीलदार ने कहा कि क्षेत्र में करीब 35 ऐसे मामले चिन्हित किए गए हैं। जिसमे वनविभाग सिंचाई विभाग व काश्तकार के बीच विवाद है। जिसका निस्तारण किए जाने के लिए विशेष सुनवाई कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। प्रकरण पर गंभीरता से सुनवाई के लिए सभी पक्षों की दलीलो को सुनकर यथावोचित निर्णय जल्द ही करके निपटारा किया जाएगा।  इस दौरान पुलिस उपाधीक्षक आपरेशन नीरज सिंह नौगढ व चकरघट्टा थाना पुलिस एक्सियन चन्द्रप्रभा प्रखण्ड अवर अभियंता जिलेदार क्षेत्रीय वन अधिकारी द्रय व वनकर्मी तथा राजस्व निरीक्षक लेखपाल मौजूद रहे।