Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


अपहर्ताओंका पीछा नहीं कर पायी पुलिस

मउफ। अपराधें की रोक थाम और अपराध्यिं की गिरफ्रतारी को लेकर पुलिस कितना सक्रिय है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कक्षा एक की छात्रा का गुरूवार को दिन दहाड़े तथाकथित अपहरण कर भाग रहे लोगों की ध्ूल भी पुलिस नहीं देख पायी और इलाके में दहशत पफैल गयी। देखते ही देखते भारी संख्या में ग्रामीण मौके पर जमा हो गये। बाद में यह मामला पति-पत्नी के बीच विवाद का प्रकाश में आया। जिसमें यह बात सामने आयी कि पिता ने खुद अपनी पुत्रा का तथाकथित अपहरण कराया था। बताया जाता है कि सरायलखन्सी थाना क्षेत्रा के खानपुर स्थित ननिहाल में अपनी मां के साथ रह रही शीतल उम्र आठ वर्ष पुत्रा ज्ञानदीप संत रविदास बाल विद्यालय खानपुर में कक्षा एक में पढ़ती है। वह रोज की भांति स्कूल गयी थी। इस बीच करीब सवा बारह बजे स्कूल के बाहर आकर एक बोलेरो रूकी और उसका चालक विद्यालय में आया और शीतल को गोद में उठा कर बोलेरो में बैठे व्यक्ति को गाड़ी का दरवाजा खोले बगैर ही सौंपा और गाड़ी को तेज गति से लेकर भागने लगा। यह दृश्य देखकर ग्रामीणों में सनसनी पफैल गयी। विद्यालय के किसी अध्यापक ने 1076पर पफोन कर इस घटना की जानकारी दी। सूचना पाकर पुलिस विद्यालय पर पहुॅची। साथ ही सरायलखन्सी थानाध्यक्ष और क्षेत्राध्किरी भी पहुॅचे। लेकिन गाड़ी का पीछा कर पुलिस उसे पकड़ नहीं पायी। लेकिन सूत्रों से पुलिस ने यह पता लगा लिया कि असलियत क्या है। यह मामला पति-पत्नी के बीच विवाद का निकला। ननिहाल में रह रही पुत्रा को गाजीपुर जनपद के मरदह थाना क्षेत्रा निवासी पिता ने किसी को भेज कर मंगवाया था। हालांकि यह पूरी घटना किसी अपहरण के तर्ज पर ही घटित हुई। इस घटना को लेकर क्षेत्रा में तरह-तरह की चर्चाओं का बाजार गर्म है। स्कूली बच्चों के अपहरण की आये दिन अपफवाहें सुनने को मिल रही हैं। इसके बावजूद पुलिस की सक्रियता नहीं दिख रही है। लोगों का कहना है कि भले ही लड़की के पिता ने ही इस घटना को अंजाम दिलवाया। लेकिन यह घटना देखने में बिल्कुल अपहरण जैसी ही थी। यदि पुलिस सक्रिय रहती तो तथाकथित अपहरण कर भाग रही  बोलेरो पुलिस के कब्जे में होती। यही नहीं,घटना स्थल से दो किमी की दूरी पर ही पुलिस ने बैरियर भी लगा रखा है। मगर,सड़क पर लगाये गये बैरियर सिपर्फ ढोंग ही साबित हो रहे हैं।

करेण्टसे दो पशुओंकी मौत

अमिला ;मऊद्ध। घोसी कोतवाली अंतर्गत रामपुर हिरऊटाड निवासी महेंद्र यादव पुत्रा घुनई यादव  की गुरुवार को सुबह आठ बजे अचानक बिजली का तार टूट कर गिरने से दरवाजे पर बध्ी लगभग एक लाख रुपये की  एक भैंस एवं एक गाय करेंट की चपेट में आने से मर गई। मिली जानकारी के अनुसार महेंद्र यादव नित्य की भांति अल सुबह अपने पशुओं को दरवाजे के सामने बने नांद पर खिलाने हेतु बाधे थे। उनके दरवाजे से होकर खम्भे से बिजली का नंगा तार बिजली आपूर्ति हेतु गाँव मे गया है । सुबह 8 बजे उक्त तार अचानक टूट कर गिर गया । तार टूटने के उपरांत वहीँ बने नांद में चारा खा रहे पशु एक गाय एवं एक भैस करेंट की चपेट में आ गये। संयोग अच्छा रहा कि वहाँ पीड़ित के साथ दो बच्चें भी मौजूद रहे नहीं तो किसी बड़ी घटना से इंकार नहीं किया जा सकता था। वही पीड़ित ने बताया  कि मेरे दोनों पशुओं की कीमत लगभग एक लाख रुपये थी। बिजली विभाग को उक्त घटना की जानकारी देने के उपरांत भी बिजली की सप्लाई नहीं काटी गई एवं  बिद्युत उपकेंद्र पर पहुँचने के उपरांत बिजली की सप्लाई काटा गया। यदि सूचना देने के उपरांत तुरन्त बिजली आपूर्ति रोक दी गई होती तो मेरी गाय बच गई होती। वहीं परिजनों का रो रो के बुरा हाल हो रहा था एवं जानकारी मिलते ही ग्रामीणों की भीड़ इकट्ट्ठा हो गई। वहीं मौके पर ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि् सर्वेश यादव ने पहुँच पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता के लिये आश्वासन दिया।