Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


खुली बैठक करके पास हुआ कोटेका प्रस्ताव

सगड़ी, आजमगढ़। हरैया ब्लाक के ग्राम सभा उसरी में एसडीएम सगड़ी के आदेश पर सरकारी सस्ते गल्ले कोटे की दुकान कि खुली बैठक करके प्रस्ताव पास हुआ। ग्राम सभा उसरी में सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान का प्राथमिक विद्यालय उसरी के प्रांगण में  खुली बैठक की गई। इस बैठक में ग्राम विकास अधिकारी सुरेंद्र राम, संतोष सिंह, लाल बहादुर यादव, राजेश यादव, आईएसबी पर्यवेक्षक सुभाष चंद्र रहे। ग्राम प्रधान मनोज सोनकर की अध्यक्षता में खुली बैठक की गई। सर्वप्रथम ग्रामीणों से हस्ताक्षर करवा कर कोरम पूरा होने पर बैठक संपन्न हुई। वहीं पर ग्राम विकास अधिकारी सुरेंद्र राम ने बताया कि ग्राम सभा में कुल 12सौ जनसंख्या 854 वोटर हैं जिसमें कोरम पूरा के लिए 171 लोगों का हस्ताक्षर जरूरी है। वहीं पर हस्ताक्षर के दौरान कुल 182 लोगों ने हस्ताक्षर कर कोरम पूरा किया। बैठक के बाद एलाउंसमेंट कर बताया गया कि जो लोग कोटे की दुकान में अपना आवेदन करना चाहते हैं । कर सकते हैं। उसके बाद आवेदक में शंकर सोनकर पुत्र बुलाकी सोनकर, खेताऊ सोनकर पुत्र सुभाष सोनकर, रविंद्र सोनकर पुत्र बाबूराम सोनकर, त्रिवेणी पुत्र निहोर चार लोगों ने आवेदन किया। चारों लोगों को निर्देश दिया गया कि लाइन में खड़ा होकर अपने-अपने समर्थकों को लेकर लग जाए ।ऐसा होने पर चारों के लोगों की गिनती हुई। जिसमें शंकर सोनकर को 30 लोगों ने समर्थन किया। तो खेताऊ सोनकर को 60 लोगों ने समर्थन किया। त्रिवेणी को 45 लोगों ने समर्थन किया। रविंदर पुत्र बाबूराम सोनकर को 71 लोगों ने अपना समर्थन करके उनके पक्ष में प्रस्ताव पास किया। वहीं पर जब इस संबंध में ब्लॉक से आए हुए कर्मचारियों से बातचीत की गई तो उन लोगों ने बताया कि हम लोग एसडीएम सगडी़ के आदेश पर आज यहां पहुंचे हैं और खुली बैठक करवा कर कोरम पुरा होने पर प्रस्ताव पास हुआ। कोरम पूरा करते हुए सबसे ज्यादा समर्थन व मत रविंदर पुत्र बाबू राम सोनकर को 71 लोगों ने कतार मे खडा़ होकर समर्थन किया। अब हम लोग प्रस्ताव पास करके एसडीएम सगड़ी को रिपोर्ट देंगे। शेष कार्यवाही एसडीएम सगड़ी करेंगे इस मौके पर ग्रामीणों का हुजूम लगा हुआ था तो बड़े मजे की बात यह थी कि वहीं पर विद्यालय प्रांगण में एक तरफ पठन-पाठन का कार्य चल रहा था तो एक तरफ खुली बैठक का जब इस संबंध में प्रधानाचार्य से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि मुझे इस बात का पता नहीं है कि आज हमारे विद्यालय प्रांगण में बैठक होनी है जब उनसे यह बात की गई कि आप इस संबंध में अपने उच्च अधिकारियों को सूचना दिए तो गोलमोल जवाब देते हुए बात को टाल दिए बैठक के दौरान पठन-पाठन बाधित रहा।