Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


पुलिस मुठभेड़में दो बदमाश जख्मी


फूलपुर, आजमगढ़। कोतवाली पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता 25-25 हजार के दो इनामिया बदमाश  मुठभेड़ में घायल हो गये। अंधेरे का फायदा उठा एक बदमाश फरार हो गया। पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई है। गिरफ्तार घायल बदमाशों में एक बड़ा अपराधी  फूलपुर में 13 जून की प्रदीप बरनवाल कपड़ा व्यवसायी हत्याकांड में मुख्य शूटर था। प्राप्त जानकारी के अनुसार पवई थानाध्यक्ष संजय सिंह एडीजी के आदेश पर समस्त थाना क्षेत्र में हो रही चेकिंग के अंतर्गत थाना क्षेत्र में चेकिंग अभियान पर निकले थे कि मंगलवार शाम को मैगना बाजार की एक सरकारी शराब की दुकान पर आल्टो कार से तीन लोग पुलिस देख हड़बड़ी में भागते दिखे जिसका पीछा पवई एसएचओ संजय सिंह ने किया तो वह फायरिंग कर फूलपुर कोतवाली क्षेत्र में दाखिल हो गए। जिसकी सूचना एसएचओ ने फूलपुर कोतवाल सहित आलाधिकारियों को दे दिया। फूलपुर कोतवाल शिवशंकर सिंह पुलिस कर्मियों संग एक स्कूल के समीप घेराबंदी कर लिया तभी बदमाशों का कार पुलिस को दिखा। रुकने का इशारा करने पर बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायरिंग शुरु कर दी जिसमें एक कांस्टेबल सूर्यभान के हाथ में गोली लगने व एक सिपाही विश्वनाथ भी बदमाशों की गोली से घायल हो गए। तीन बदमाशों में दो बदमाश घायल हो कर वहीं गिर पड़े जबकि एक बदमाश मौके से फरार हो गया। घायल बदमाशों से जब पूछताछ हुई तो पता चला दोनो 25-25 हजार के इनामिया बदमाश हैं जो पैसे पर हत्या आदि करते हैं। दोनो बदमाश श्यामबाबू पासी गिरोग के प्रमुख सदस्यों मेसे एक हैं। एक घायल बदमाश सुनील सरोज पासी पुत्र स्व रामनाथ पासी ग्राम बासगीत थाना जहानागंज 13 जून को फूलपुर बाजार में व्यवसायी प्रदीप बरनाल की हत्या का मुख्य शूटर था। वह ससुराल पक्ष से गैंग सरगना से हुए 10 लाख के करार पर प्रदीप हत्याकांड को अन्जाम दिया था। जिसमें मुख्तार और पासी दोनो गिरोहों ने सहयोग किया था। श्यामबाबू पासी हत्या की सुपारी के समय आजमगढ़ जेल में बंद था जो अब बरेली जेल में बंद है। जेल से ही दिशा निर्देश देकर प्रदीप की हत्या का षडय़ंत्र रचा गया था मृतक प्रदीप के मऊ निवासी ससुराली जनो का मुख्तार अंसारी परिवार से करीबी सम्बन्ध भी है जिससे प्रदीप बरनवाल पुत्र सुभाष बरनवाल की हत्या की सुई शुरु से ही ससुराल पक्ष की तरफ इशारा करती रही। वहीं दूसरा घायल 25 हजार के इनामी बदमाश थाना बिलरियागंज के ग्राम सहाबुद्दीनपुर निवासी गैंगेस्टर एक्ट के मुकदमे में वांछित परशुराम यादव पुत्र बहादुर यादव के रूप में हुई है। घायल बदमाशों को जिलास्पताल से फस्ट एड देकर वाराणसी के लिए रेफर कर दिया गया जब कि घायल दोनो सिपाही खतरे से बाहर हैं। बदमाशों के पास से 32 बोर का एक ऑटोमैटिक पिस्टल, तमंचा, जिंदा व मृत कारतूस छ: हजार रुपए नगद व एक आल्टो गाड़ी बरामद की है।