Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


पौत्रने की दादाकी कुल्हाड़ीसे हत्या

लिलासी(सोनभद्र)। म्योरपुर थाना क्षेत्र के अति पिछड़े आदिवासी बाहुल्य पश्चिम देवहार गांव मेें मंगलवार की अपरान्ह करीब साढे तीन बजे नाती ने दादा को कुल्हाड़ी से प्रहार कर मौत के घाट उतार दिया। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र दुद्धी भेज दिया। हत्या का कारण भूत-प्रेत का होना बताया जा रहा है। उधर, छोटे बेटे द्वारा दिये गये तहरीर पर पुलिस आरोपी के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार ग्राम प्रधान शिवनाथ, ग्रामीण बलवंत, मनोज, नंदलाल ने बताया कि 60 वर्षीय रामजीत और छोटे बेटे भगवान का पुत्र सूरजमन के साथ शराब पिया और जब नशा चढ़ा तो नाती सूरजमन ने बाबा पर भूतप्रेत का आरोप लगाते हुए कुल्हाड़ी से हमला बोल दिया जिससे कुल्हाड़ी दादा के पैर पर लग गई और पैर जख्मी हो गया इसके बाद वह बेहोश होकर जमीन पर गिर पड़ा। जब तक गांव के लोग मौके पर पहुंचते तब तक आरोपी वहां से फरार हो गया। घटना के थोड़ी देर बाद उसकी मौत हो गई।
मौत की खबर लगते ही परिजनों में कोहराम मच गया। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र दुद्धी भेज दिया। बुधवार को मृतक के छोटे बेटे द्वारा पुलिस को दिये गये तहरीर पर पुलिस ने आरोपी के विरूद्ध मुकदमा पंजीकृत कर तलाश शुरू कर दी। घटना के संबंध में प्रभारी निरीक्षक विजय शंकर सिंह ने बताया कि मृतक गांव से दूर अपने खेत पर रहता था। इस कारण हत्या की जानकारी गांव वालों को पांच घंटे बाद हुई और पुलिस को भी देर से सूचना दी गई। उन्होंने बताया कि आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और उसे जल्द ही  गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
प्रभारी निरीक्षक समेत दो लोगोंपर हत्याका मुकदमा
राबट्र्सगंज/चतरा(सोनभद्र)। चोरी के आरोपित की पन्नूगंज थाने में बीते मंगलवार को हुई मौत के मामले में पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी के निर्देश पर मंगलवार की रात में ही थाने के प्रभारी निरीक्षक समेत दो लोगों के खिलाफ हत्या व धमकी देने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया गया।
इसके बाद एसपी ने इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया। हालांकि सुबह जिला अस्पताल के पोस्टमार्टम हाउस के पास जुटे परिजन व ग्रामीणों की भीड़ आरोपित इंस्पेक्टर को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर करीब आठ घंटे तक बवाल किया। सुबह से लेकर दो बजे अस्पताल परिसर में हो हल्ला होता रहा। मृतक के गांव वाले कभी पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी तो कभी आरोपित की गिरफ्तारी के लिए नारेबाजी कर रहे थे। लोगों ने दोपहर में वाराणसी-शक्तिनगर मार्ग को जामकर नारेबाजी किया। हालांकि बाद में तीन चिकित्सकों के पैनल द्वारा वीडियो रिकार्डिग के बीच पोस्टमार्टम शुरू कराने पर माहौल शांत हुआ।
सजौर गांव निवासी शिवम शुक्ला को पन्नूगंज पुलिस ने चोरी के आरोप में हिरासत में लिया था। मंगलवार की देर शाम लाकअप में मौत हो गई। पुलिस ने थाने में फांसी लगाकर खुदकुशी करने की बात कहीं तो मृतक के परिजनों ने पुलिस पर हत्या का आरोप लगाया।एसपी प्रभाकर चौधरी ने मंगलवार की रात दस बजे पन्नूगंज थाने का निरीक्षण किया और माहौल को देखने के बाद तत्काल प्रभाव से प्रभारी निरीक्षक रामनारायण राम को हटा दिया। साथ ही मृतक के पिता उमापति शुक्ला की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया।
उधर दूसरी ओर सुबह जब पोस्टमार्टम की कार्रवाई शुरू हुई तो परिजन आरोपित इंस्पेक्टर की गिरफ्तारी की मांग करते हुए पंचनामा पर हस्ताक्षर करने सेे इंकार कर दिया। दोपहर करीब 12 बजे तक ग्रामीण हाइवे पर उतर आये और प्रदर्शन करने लगे। हालांकि वहां पर मौजूद पुलिस अधिकारियों ने लोगों को समझा बुझाकर माहौल शांत कराया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट ही शिवम की मौत का राज खोलेगी कि उसकी मौत पुलिस की पिटाई से हुई है या उसने आत्महत्या की है। उधर, आरोप-प्रत्यारोप न लगने पाये इसलिए वीडियो रिकार्डिंग के बीच तीन चिकित्सकों के पैनल ने पोस्टमार्टम किया। टीम में डा. बीके श्रीवास्तव, डा. पीएस सिंह एवं डा. पीके सिंह शामिल है। घटना के बाद जिलाधिकारी एस. राजलिंगम एवं पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी जिला अस्पताल पहुंचकर परिजनों से बातचीत किये। अधिकारीद्वयों ने मामले की जांच कराने का आश्वासन दिया। डीएम ने मृतक परिजनों से कहा कि इसकी मजिस्ट्रीयल जांच करायी जाएगी। जिला अस्पताल एवं पन्नूगंज थाने का निरीक्षण करने के बाद व पुलिस कर्मियों से जानकारी लेने के बाद एसपी श्री चौधरी ने कहा कि यह मामला पुलिस अभिरक्षा मेें मौत का मामला है। वैसे इस मामले की जांच करायी जाएगी। निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह, एसडीएम यमुना धर चौहान आदि मौजूद रहे।