Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


नवीनतम समाचार » सोनभद्र समाचार

सोनभद्र समाचार

सोनभद्र)। पत्नी की विदायी न होने पर युवक ने ससुराल मे ही विषाक्त पदार्थ का सेवन कर लिया। हालत बिगड़ते देख घरवालों ने उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गयी। वाकए की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेजवा दिया। जानकारी के अनुसार चंदौली जनपद के चकरघट्टा थाना क्षेत्र के देवदत्तपुर गांव निवासी सरोज 25 वर्ष पुत्र रमाशंकर की शादी विगत तीन पर्व पूर्व पन्नूगंज थाना क्षेत्र के तेलियापुर गांव हुई थी। मंगलवार को सरोज अपनी पत्नी की विदायी कराने के लिए ससुराल तेलियापुर गांव पहुंचा। जहां पत्नी की विदाई न होने पर सरोज से उसकी पत्नी व ससुराल पक्ष के लोगों को नोक-झोंक हुई। पत्नी से साफ शब्दों में अपने पति के साथ ससुराल जाने से मना कर दिया। इससे क्षुब्ध होकर सरोज ने ससुराल में विषाक्त पदार्थ का सेवन कर लिया। इसके बाद वहां के लोगों ने सरोज के घर वालों को घटना की जानकारी फोन के माध्यम से दी। उधर हालत बिगड़ते देख उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उपचार केे दौरान उसकी मौत हो गई। मृतक युवक की तीन वर्ष पूर्व शादी हुई थी। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजवा दिया। मृतक की पत्नी अपने पति के साथ ससुराल क्यों नहीं आना चाह रही थी समाचार लिखे जाने तक मालूम नहीं चल सका था।
समय रहते अस्पताल पहुंच गया होता तो बच जाती जान
चोपन(सोनभद्र)। नगर के दक्षित छोर पर प्रीत नगर स्थित एक पेट्रोल पंप के समीप कई घंटे से घायल अवस्था में एक व्यक्ति सड़क के किनारे दर्द से कराह रहा था लेकिन आने-जाने वालों की नजर उस पर नहीं पड़ रही थी जबकि नगर का सबसे व्यस्त रास्ता वहीं है। जब लोगों की नजर दर्द से करार रहे व्यक्ति पर पड़ी तब तक बहुत देर हो चुकी थी। जब लोग उसे उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले आये तो चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक की उम्र करीब 40 वर्ष बतायी गयी है। समाचार लिखे जाने तक मृतक का नाम व पता की जानकारी नहीं हो पायी थी।
इम्तियाज हत्याकांडमें मजिस्ट्रीयल जांच अविवेकपूर्ण निर्णय
राबट्र्सगंज(सोनभद्र)। चोपन नगर पंचायत चेयरमैन इम्तियाज अहमद की हत्या के मामले में जिलाधिकारी द्वारा दिये गये मजिस्ट्रीयल जांच पर सवाल खड़ा हो गया है। सेवानिवृत्त आईजी एसआर दारापुरी ने कहा कि इम्तियाज हत्याकांड में मजिस्ट्रीयल जांच की कोई आवश्यकता नहीं है। जिला प्रशासन के पास जांच की कोई ऐसी एजेंसी नहीं है जिससे निष्पक्ष जांच की उम्मीद की जा सके। मजिस्ट्रीयल जांच का कोई मतलब नहीं है। न्यायायल में पुलिस द्वारा की गई जांच रिपोर्ट ही मानी जाती हैै। श्री दारापुरी इम्तियाज अहमद हत्याकाण्ड के बावत पूछे गए एक सवाल के जवाब में बोल रहे थे। हमारे प्रतिनिधि ने जब उनसे पूछा कि क्या इम्तियाज हत्याकांड में मजिस्ट्रीयल जांच आवश्यक है तो उन्होंने सीधा जवाब देते हुए कहा कि इस हत्याकांड में मजिस्ट्रीयल जांच की कोई आवश्यकता नहीं है। सेवानिवृत्त आईजी ने कहा कि मजिस्ट्रीयल जांच की आवश्यकता तब होती है जब किसी व्यक्ति की हत्या बलवा, भीड़ या गोपनीय तरीके से की गई हो जहां साक्ष्य न मिल पा रहा हो वहां मजिस्ट्रीयल जांच में लोगों के बयान लिये जाते हैं। नामित मजिस्ट्रेट घटना स्थल पर जाकर भी भौतिक सत्यापन व पूछताछ करता है। उन्होंने कहा कि इम्तियाज अहमद की हत्या में हमलावर गिरफ्तार भी हो गया है। मृतक के परिजनों की तरफ से नामजद व अज्ञात के खिलाफ तहरीर भी दी गई है। यह क्राइम आइने की तरह है इसमें पुलिस को सिर्फ अपराधियों को पकडऩे की जरूरत है सब कुछ अपने आप सामने आ जाएगा। मजिस्ट्रीयल जांच थोड़ी देर के लिए पुलिस जांच को प्रभावित करने का काम करेगी लेकिन न्यायालय में पुलिस की जांच रिपोर्ट व चार्जशीट ही स्वीकार की जाती है। उन्होंने जिलाधिकारी के आदेश को अविवेकपूर्ण निर्णय करार दिया।
डाकघरकी दुव्र्यवस्थाको लेकर सपाका प्रदर्शन
इम्तियाज हत्याकांडमें मजिस्ट्रीयल जांच अविवेकपूर्ण निर्णय
राबट्र्सगंज(सोनभद्र)। चोपन नगर पंचायत चेयरमैन इम्तियाज अहमद की हत्या के मामले में जिलाधिकारी द्वारा दिये गये मजिस्ट्रीयल जांच पर सवाल खड़ा हो गया है। सेवानिवृत्त आईजी एसआर दारापुरी ने कहा कि इम्तियाज हत्याकांड में मजिस्ट्रीयल जांच की कोई आवश्यकता नहीं है। जिला प्रशासन के पास जांच की कोई ऐसी एजेंसी नहीं है जिससे निष्पक्ष जांच की उम्मीद की जा सके। मजिस्ट्रीयल जांच का कोई मतलब नहीं है। न्यायायल में पुलिस द्वारा की गई जांच रिपोर्ट ही मानी जाती हैै। श्री दारापुरी इम्तियाज अहमद हत्याकाण्ड के बावत पूछे गए एक सवाल के जवाब में बोल रहे थे। हमारे प्रतिनिधि ने जब उनसे पूछा कि क्या इम्तियाज हत्याकांड में मजिस्ट्रीयल जांच आवश्यक है तो उन्होंने सीधा जवाब देते हुए कहा कि इस हत्याकांड में मजिस्ट्रीयल जांच की कोई आवश्यकता नहीं है। सेवानिवृत्त आईजी ने कहा कि मजिस्ट्रीयल जांच की आवश्यकता तब होती है जब किसी व्यक्ति की हत्या बलवा, भीड़ या गोपनीय तरीके से की गई हो जहां साक्ष्य न मिल पा रहा हो वहां मजिस्ट्रीयल जांच में लोगों के बयान लिये जाते हैं। नामित मजिस्ट्रेट घटना स्थल पर जाकर भी भौतिक सत्यापन व पूछताछ करता है। उन्होंने कहा कि इम्तियाज अहमद की हत्या में हमलावर गिरफ्तार भी हो गया है। मृतक के परिजनों की तरफ से नामजद व अज्ञात के खिलाफ तहरीर भी दी गई है। यह क्राइम आइने की तरह है इसमें पुलिस को सिर्फ अपराधियों को पकडऩे की जरूरत है सब कुछ अपने आप सामने आ जाएगा। मजिस्ट्रीयल जांच थोड़ी देर के लिए पुलिस जांच को प्रभावित करने का काम करेगी लेकिन न्यायालय में पुलिस की जांच रिपोर्ट व चार्जशीट ही स्वीकार की जाती है। उन्होंने जिलाधिकारी के आदेश को अविवेकपूर्ण निर्णय करार दिया।
डाकघरकी दुव्र्यवस्थाको लेकर सपाका प्रदर्शन
राबट्र्सगंज(सोनभद्र)। राबट्र्सगंज डाकघर की दुव्र्यवस्थाओं को लेकर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को विरोध प्रदर्शन कर जमकर नारेबाजी किया। इस दौरान मीडिया प्रभारी महफूज आलम खां, आनन्द चौबे, ओमप्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि राबट्र्सगंज डाकघर में स्थापित आधार केन्द्र का उद्घाटन किया गया है तभी से आज तक एक भी आधार का एनरोलमेंट नहीं किया गया है तथा नियुक्त आधार आपरेटर भी डाकघर में मौजूद नहीं रहते है। उन्होंने कहा कि जब भी कोई खातधारक अपनी पासबुक इंट्री कराने के लिए जाता है तो कहां जाता है कि अभी प्रिंटर खराब पड़ा हुआ है। प्रदर्शन करने वालों में आकाश गुप्ता, जावेट कुरैशी, चन्द्रबली पटेल, जितेन्द्र बियार, अली खान, निखल पटेल, सत्यम सोनी, धीरज मिश्रा, अंकित सिंह, ओमप्रकाश सिंह, अभिषेक सिंह, शत्रुधन मार्या, अम्बुज शुक्ला, रोशन शुक्ला, विपिन पाण्डेय आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।
कार्यमें पारदर्शितापर जोर
घोरावल(सोनभद्र)। भाजपा मंडल घोरावल की मासिक बैठक मंडल अध्यक्ष कैलाश सिंह की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में अध्यक्ष ने सरकार की मंशा के अनुरूप सभी कर्मचारियों एवं कार्यकर्ताओं को कार्य करने की बात कहीं और कार्य में पारदर्शिता पर विशेष जोर दिया गया। बैठक में सूर्यमणि तिवारी, सुरेश शुक्ल, पूर्व विधायक तीरथराज, लोलारक मौजूद रहे। 
एसपीने पुलिस चौकीका किया निरीक्षण
राबट्र्सगंज(सोनभद्र)। पुलिस अधीक्षक किरीट राठोड ने मंगलवार को चौकी कस्बा राबट्र्सगंज का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने परिसर में खड़ी गाडिय़ों के बावत पूछताछ करने के साथ ही चौकी परिसर को साफ सुथरा रखने का चौकी इंचार्ज को निर्देश दिया। एसपी ने नगर में रूटमार्च कर अतिक्रमण हटाने हेतु यातायात प्रभारी को सख्त निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि नगर में किसी भी सूरत में अतिक्रमण नहीं होना चाहिए इससे लोगों के आवागमन में घोर परेशानियां होती है। यातायात व्यवस्था बनाये रखने हेतु यातायात प्रभारी के साथ चौकी प्रभारी व प्रभारी निरीक्षक नगर में चक्रमण करते रहे।
अग्रिम सूखा राहतकी मांगको लेकर अभिकर्ताओंका धरना
राबट्र्सगंज(सोनभद्र)। प्रदेश शासन द्वारा सोनभद्र जनपद को सूखा घोषित किए जाने के बावजूद एलआईसी प्रबंधन द्वारा अभिकर्ताओं को  सूखा राहत अग्रिम न दिये जाने के विरोध में आल इंडिया लाइफ इंश्योरेंस एजेंट एसोसिएशन के बैनर तले एलआईसी राबट्र्सगंज शाखा के अभिकर्ताओं ने मंगलवार को दो दिवसीय धरना प्रदर्शन की शुरूआत कर दिया। एसोसिएशन के शाखा अध्यक्ष अरविन्द कुमार सिंह की अध्यक्षता में चल रहे धरने में भारी संख्या में अभिकर्ताओं ने अपनी मौजूदगी दिखाकर अपने आपको बीमा कार्य से विरत रखा। शाखा अध्यक्ष अरविन्द सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा जब भी सूखा घोषित किया गया है अभिकर्ताओं को सूखा राहत अग्रिम दिया जाता रहा। चूंकि इस बार प्रदेश के कुछ जनपदों के साथ पूर्वांचल में सोनभद्र को सूखा घोषित किया गया है इसलिए एलआईसी प्रबंधन अभिकर्ताओं को सूखा राहत अग्रिम नहीं दे रहा है। पहले तो प्रबंधन ने शासनादेश मांगा। जिलाधिकारी से पत्र भी मांगा जब सब कुछ उपलब्ध करा दिया गया तब प्रबंधन के वरिष्ठ अधिकारी सूखा राहत अग्रिम देने से इंकार कर रहे हैं। उन्होंने प्रबधन को आगाह किया कि यदि हमारे अभिकर्ताओं की जायज मांग की अनदेखी की गई तो प्रबंधन को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। संगठन के महासचिव कन्हैया पाण्डेय ने बताया कि अध्यक्ष के निर्देशन में हमारे अभिकर्ताओं द्वारा न तो नया बीमा किया गया और न ही किश्ते जमा करायी गयी। इस मौके पर अशोक कुमार पाण्डेय, जय प्रकाश सिंह, राजकुमार मिश्रा, दिनेश कुमार, संजय कुमार, अर्जुन प्रसाद, काशी नरेश, निहार हैदर, सुरेन्द्र प्रसाद, योगेन्द्र त्रिपाठी, प्रशांत श्रीवास्तव, रामप्रसाद, अहमद अली, संजय कुमार शर्मा, परिक्षित नाथ राय, महेश कुमार, बिपिन विहारी सिंह, संजय कुमार सिंह, विजय कुमार समेत भारी संख्या में अभिकर्ता मौजूद रहे।
नगर पंचायतके खिलाफ  अनशन         
ओबरा(सोनभद्र)। स्थानीय सुभाष तिराहे पर मंगलवार को सामाजिक कार्यकर्ता ओमप्रकाश अंबर व राजन नगर पंचायत के खिलाफ  दस सूत्रीय मांगों को लेकर अनशन पर बैठ गये। इस दौरान पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष उमाशंकर सिंह ने अनशन पर बैठे लोगों का माल्यार्पण किया। मौके पर श्री अंबर ने कहा कि नगर पंचायत में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार किया जा रहा है। मांग किया कि नगर पंचायत में रखे गए 240 कार्यरत कर्मियों की सार्वजनिक परेड कराई जाए। प्रत्येक माह 5 लाख रुपए के डीजल के खपत की जांच हो। 14वें वित्त ने कराए गए विकास कार्यों की जांच कराई जाए। हर महीने स्टेशनरी पर होने वाले खर्च की जांच करायी जाए। नगर पंचायत में कार्यरत संविदा कर्मियों को न्यूनतम मजदूरी के साथ पहचान पत्र जारी किया जाए।
कार्यो को लेकर टेंडर निकाले जाने वाले अखबार की जानकारी सार्वजनिक की जाए। हर महीने बाउचर द्वारा किए जा रहे भुगतान की जांच करायी जाए। नगर पंचायत क्षेत्र से बाहर कराए गए विकास कार्यों की जांच करायी जाए। नगर पंचायत में ठेकेदारी हेतु रजिस्ट्रेशन कराए गए लोगों को कार्य दिया जाए,साथ ही चहेतों को दिए गए कार्यों की जांच की जाए। उपरोक्त बिंदुओं की उच्च स्तरीय जांच करायी जाए। चेतावनी दिया कि जल्द मांगों को पूरा नहीं किया गया तो और उग्र आंदोलन किया जाएगा। क्रमिक अनशन के समर्थन में मनोज, गुड्डू,सुनील, सुभाष, शंकर, विशाल, शनि, राजेश, विरेंदर,राजा राम, राहुल, महेश, सूरज, विनय, अर्जुन, उपेंद्र, सुरेश राम आदि दर्जनों लोग शामिल रहे।
कुएंमेें गिरनेसे बालिकाकी मौत
बभनी(सोनभद्र)। स्थानीय थाना क्षेत्र के पोखरा गांव में मंगलवार की दोपहर कुएं में गिरने से रितु कुमारी उम्र करीब दो वर्ष की मौत हो गई। मौत की खबर लगते ही परिजनों में कोहराम मच गया। बताया जाता है कि दोपहर में विद्यालय की छुट्टी होने के बाद वह घर लौट रही थी कि रास्ते में वह अमरूद तोडऩे के चक्कर में कुएं में जा गिरी जिसकी उसकी मौत हो गई।
घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए दुद्धी सीएचसी भेजवा दिया।
चालकके विरुद्ध मुकदमा
घोरावल(सोनभद्र)। कोतवाली क्षेत्र के ओदार गांव में रविवार की देर शाम बोलेरो के धक्के से साइकिल सवार की हुई मौत के मामले में पुलिस ने चालक के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर लिया।
शौचालयके पैसेका हो रहा दुरुपयोग
घोरावल(सोनभद्र)।  जहां सरकार स्वच्छता मिशन के तहत गांव तथा नगरों को ओडीएफ कराने के लिए तत्पर है वहीं कहीं-कहीं पर लाभार्थियों द्वारा रूपये का दुरूपयोग कर दिया गया और अभियान के तहत शौचालय का कार्य अधूरा छोड़ दिया गया। मंगलवार को नगर पंचायत अधिशासी अधिकारी चैतन्य तिवारी ने बताया कि शासन नगर को ओडीएफ करने को लेकर दृढ़संकल्पित है। जिसमें कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि कुछ ऐसे भी लाभार्थी है जिनके खाते में पैसा आ चुका है और वे लोग अभी तक शौचालय का कार्य शुरू नहीं कराये हैं। उन्होंने उन लोगों से कहा कि वे लोग एक सप्ताह के भीतर शौचालय निर्माण कार्य शुरू करा दें।