Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


जान जोखिममें डाल रेलवे ट्रैक पार करनेको बच्चे मजबूर


राजगढ़,मीरजापुर। स्थानीय विकास खंड क्षेत्र के राजगढ़-भवानीपुर एवं सतौहा-धनसिरियां पर बने रेलवे अंडर ब्रिज होने से स्कूली बच्चों को जान जोखिम में डालकर रेलवे ट्रैक पार करना पड़ रहा है।    प्राप्त जानकारी के अनुसार राजगढ़ क्षेत्र में विगत तीन दिनों से हो रही भारी बारिश के कारण रेलवे अंडर पास पुल में पानी भर जाने के कारण स्कूली बच्चे एवं क्षेत्रीय लोग रेलवे ट्रैक को पार करने के लिए मजबूर हैं। यह रेलवे अंडरब्रिज लोगों की सुरक्षा के लिए बनाया गया था, पर बरसात के दिनों में अंडरब्रिज में पानी लबालब भरे होने के कारण रेलवे अंडरब्रिज निरर्थक साबित हो रहा है। जिससे स्कूली बच्चे रेलवे ट्रैक पार करने को विवश हैं। अभिभावक भी बच्चों की सुरक्षा के प्रति चिंतित रहते हैं। शिकायत के बाद भी विभागीय अधिकारी मौन हैं।
चुनार-चोपन रेल मार्ग पर स्थित स्थानीय रेलवे स्टेशन लुसा से पूरब की ओर स्थित राजगढ़-भवानीपुर मार्ग पर रेलवे अंडर ब्रिज बना हुआ है जब रेलवे ट्रैक पर कोई ट्रेन खड़ी रहती है, उस समय स्कूली बच्चे तथा साइकिल सवार रेल लाइन पार करते देखे जाते हैं। पानी भरा होने के कारण ऊपर से रेलवे ट्रैक पार करते हैं। कई बार रेल विभाग तथा विभागीय अधिकारियों तथा जनप्रतिनिधियों को पत्राचार किया गया, लेकिन समस्या का समाधान नहीं किया जा सका है। इस बाबत लूसा स्टेशन अधीक्षक का कहना है कि जब भी रेलवे अंडर ब्रिज में भारी बारिश के कारण जल जमाव होता है तो मशीन लगा कर निकलवाया जाता है। फिर भी पूरा पानी निकासी नहीं हो पाता है। जल्द से जल्द ही क्षेत्र के सभी रेलवे अंडर ब्रिज को उपर से कवर कर दिया जाएगा।
मेलेकी तैयारियां २५ तक हों पूरी-डीएम

मीरजापुर। मॉं विन्ध्यवासिनी देवी के धाम विन्ध्याचल में आगामी 28, 29 की मध्य रात्रि से प्रारम्भ कर सात अक्टूबर तक प्रारम्भ होने वाले शारदीय नवरात्र में दर्शनार्थियों को बेहतर सुविधा व दर्शन कराने के दृष्टिगत जिलाधिकारी अनुराग पटेल व पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार पाण्डेय के द्वारा संयुक्त रूप से गुरूवार को कलेक्ट्रेट सभागार में सम्बंधित अधिकारियों व कार्यदायी संस्थाओं की बैठक कर मेला के तैयारियों को समय से कराने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने मेला में तैनात अधिकारी व पुलिस कर्मी दर्शनाथियों से सद्व्यहार के साथ पेश आयें। जिलाधिकारी ने कहा कि मेला कार्य कुछ विभागों के द्वारा अभी शिथिल दिखाई पड रहा है वे अपने विभाग से सम्बंधित कार्य कल से प्रारम्भ करें तथा कार्य में तेजी लाकर 25 सितम्बर तक हर हाल पूर्ण करे। उन्होंने कहा कि गंगा नदी में बढ़ते पानी के दृष्टिगत घाटों पर मजबूत बैरीकेटिंग लगाया जाये तथा पानी में लगाये गये बैरीकेटिंग के नीचे जाल लगाया जाये यह भी कहा कि पानी का जल स्तर जैसे-जैसे घटे तत्काल सीढिय़ों की सफाई की जाये ताकि फिसलन आदि न रहे।  जिलाधिकारी ने कहा कि अधिकांश कार्य जिला पंचायत परिषद द्वारा कराया जाना है, अपर मुख्य अधिकारी अपने अधीनस्तो की ड्यूटी कार्य के अनुसार लगा दें ताकि कार्य को समय से पूर्ण किया जा सके। उन्होंने यह भी मेला में घाटों सहित कुल 150 अस्थाई शौचालयों का निर्माण समय से करा लें। अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत के द्वारा गंगा के किनारे महिलाओं के वस्त्र बदलने के लिये 30 नग टेन्ट की व्यवस्था, मेला क्षेत्र व घाटों पर मजबूत बैरीकेटिंग, गंगा किनारे अस्थाई विद्युत प्रकाश व्यवस्था, आवागमन हेतु पर्याप्त बसों का संचालन कार्य ए0आर0एम0 रोडवेज तथा रेलवे पर यात्रियों के लिये पर्याप्त व्यवस्था व साफ सफाई की व्यवस्था के लिये स्टेशन मास्टर रेलवे का दिेया गया। जिला विद्यालय निरीक्षक, दुग्ध विभाग, परिवहन विभाग,, सहायक श्रमायुक्त, बाटमाप विभाग को भी अपने-अपने कार्यो के निर्वहन के लिये निर्देश दिया गया। अपर पुलिस अधीक्षक प्रकाश स्वरूप पाण्डेय ने बताया कि मेला में पुलस की पर्याप्त व्यवस्था रहेगी। उनहोंने बताया कि पुलिस व्यवस्था 08 जोन 18 सेक्टरों में बांट कर 16 राजपत्रित पुलिस अधिकारी, 18 इस्पेक्टर, 40 इस्पेक्टर सहित कुल एक हजार पुलिस कर्मियों की तैनाती विभिन्न स्थानों पर रहेगी।इस अवसर पर अपरजिलाधिकारी यू0पी0 सिंह ,अपर मुख्य अधिकारी विन्ध्याचल सिंह कुशवाहा, एआरएम0 रोडवेज,ईओ नगर पालिका मीरजापुर, अघिषासी अभ्यिान्ता लोक निर्माण विभाग, विदयुत मनोज कुमार यादव सहित सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।