Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


नवीनतम समाचार » मीरजापुर समाचार

मीरजापुर समाचार

जिले के शहर कोतवाली क्षेत्र अन्तर्गत वासलीगंज मोहल्ले में सोमवार की रात साधु द्वारा दिए गए प्रसाद खाने के बाद पूर्व प्रधानाचार्य की मौत हो गई जबकि उसके परिवार के सभी सदस्य विशाक्त पदार्थ के प्रभाव में आकर अचेत हो गये।
पुलिस के अनुसार रविवार को दिल्ली से दो लोग पुरानी तहसील की गली वासलीगंज स्थित पूर्व प्रधानाचार्य गोपालकृष्ण सिन्हा 75 वर्ष के घर पर आये थे, जिसमें एक तथाकथित साधु भी बताया जा रहा है। पुलिस ने बताया कि सोमवार की रात खाना खाने के दौरान साधु ने परिवार के सभी सदस्यों को प्रसाद दिया था। जिसे खाने के बाद पूरा परिवार बेहोश हो गया, जिसमें उनका पुत्र सुनील 50 वर्ष, पत्नी सकुन्तला 72 वर्ष, पुत्र वधू कुमुद 45 वर्ष व पौत्री अनुषिका 18 वर्ष शामिल है। पौत्र पढ़ाई के सिलसिले में मुरादाबाद में था। घटना की जानकारी मंगलवार की सुबह दूधिया के आने बाद हुई। दूधिया के शोर करने पर पडोसियों ने पुलिस को सूचना दी और मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी को उपचार के लिए मण्डलीय चिकित्सालय में भर्ती कराया, जहां चिकित्सकों ने परीक्षण के दौरान गोपालकृष्ण को मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना पर पुलिस अधीक्षक शालिनी सहित तमाम बड़े आला अफसर मौके पर पहुंचे और चिकित्सालय में भर्ती सभी सदस्यों से मिलकर जानकारी हासिल की। पूर्व प्रधानाचार्य की मौत की जानकारी होने पर भारी संख्या में लोग मौजूद हो गये। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि डॉग स्क्वायड टीम भेजकर मामले की जांच की जा रही है, पर अभीतक खास जानकारी नहीं मिल पाई है। पुलिस अधीक्षक ने शीघ्र ही घटना के खुलासे का आश्वासन दिया। पुलिस ने मृतक के शव का पंचनामा कर उसे अन्त्यपरीक्षण को भेजा। घटना के सम्बन्ध में पुलिस ने बताया कि घर में कोई लूट की वारदात को अंजाम नहीं दिया गया है।
दुर्गा पूजा मेलेमें शोहदों पर रहेगी पैनी नजर
नरायनपुर, मीरजापुर। स्थानीय बाजार व आसपास के गांवो मे होने वाले दुर्गा पूजा व मेले  मे !शान्ति ब्यवस्था के मद्देनजर मंगलवार को पुलिस चौकी नरायनपुर मे बैठक का आयोजन किया गया जिसमे पूजा पण्डाल समिति के पदाधिकारियो व ग्राम प्रधानो ने उपस्थिति दर्ज कराई। बैठक मे पूजा समिति द्वारा सुरक्षा ब्यवस्था की मांग पर चौकी ईन्चार्ज नरायनपुर ज्ञानेन्द्र सिह ने कहा कि पूजा समिति के पदाधिकारी वालेन्टीयर नियुक्त कर सुरक्षा ब्यवस्था पर नजर रखेगे द्यविन्ध्याचल मेला व शीतला मन्दिर मेला ड्यूटी को देखते हुए सीमीत पुलिस कर्मियो का सहयोग करेगे। उन्होंने चेतावनी दिया कि दुर्गा पूजा के समय लगने वाले मेले मे अवांछनीय तत्व व शोहदो की अभद्रता को बर्दास्त नही किया जायेगा द्य शिकायत मिलने व पकड़े जाने पर कड़ी कानूनी कार्यवाही की जायेगी द्यग्राम प्रधानो से कहा कि गांव मे बैठक कर भटके हुए युवाओ को समझाने का कार्य करे द्यमेले मे गोलबन्दी करके बार बार चक्कर काटने व अभद्रता से दूरी बना कर रखेगे। पूजा कमेटी के पदाधिकारियो ने मांग किया कि शासन के मंशानुसार मूर्ती विसर्जन स्थल (पोखरे )की साफ सफाई कराकर पानी भरवाए जाने की मांग किया।
उक्त अवसर पर प्रभारी निरीक्षक थाना अदलहाट बृजेश सिंह, प्रधान दिलीप जायसवाल, रमापति सिह ,ललित कुमार शुक्ला, एकलाख खान, कान्ता सिंह, प्रमोद गुप्ता, कमलेश सिह, प्रतिभा सिंह, उत्कर्ष सिंह, विनय कुमार आदि उपस्थित रहे।
दो वांछित गिरफ्तार

मीरजापुुर। पुलिस अधीक्षक शालिनी के निर्देशन में तथा अपर पुलिस अधीक्षक नगर, क्षेत्राधिकारी सदर के कुशल पर्यवेक्षण में अपराध नियन्त्रण एवं अपराधियों की धरपकड़ के लिए चलाये गये अभियान के दौरान थानाध्यक्ष कछवां विजय प्रताप सिंह ने मंगलवार को वांछित कपीश कुमार सरोज पुत्र सुग्रीव प्रसाद सरोज निवासी चडिय़ को आहीं गेट से गिरफ्तार किया। पुलिस ने उसके पास से आलाकतल लाईसेन्सी एकनाली बन्दूक मय खोखा कारतूस बरामद किया। वहीं अहरौरा पुलिस ने मुन्ना पटेल पुत्र स्वर्गीय प्रभुनाथ निवासी रामपुर ढबही सगहा को ग्राम सगहाँ से गिरफ्तार किया।
इज्जत घरमें रखा मिला भोजन बनानेका सामान
छानबे, मीरजापुर। शासन के लाख प्रयास के बाद भी न तो प्रधान के कान पर जू रेंग रही है और न ही लाभार्थी के। इसका एक उदाहरण कामपुरकला है, जहां लागभग 25 दिन पूर्व छानबे विधायक द्वारा शौचालय के लिए खोदे गये गड्डे की चिनाई तक नहीं कराई गई और न ही उसमें प्याले लगाये गये। सिर्फ दीवार जोड़कर छोड़ दिया गया है। जब विधायक द्वारा खोदे गये गड्ढे की यह स्थिति है तो अन्य गॉवों में बने शौचालयों की क्या स्थिति होगी। इसका अनुमान सहज ही लगाया जा सकता है। तमाम प्रचार-प्रसार के बावजूद क्षेत्र के ग्रामीणों द्वारा इज्जत घर का प्रयोग नहीं किया जा रहा है। उ
दाहरण के तौर पर ग्राम पंचायत चतुरिया में निर्मित एक इज्जत घर में खाद्यान्न रखा पाया गया। इतना ही नहीं कर्मचारी द्वारा फोटो लेने के लिए जब शौचालय का दरवाजा खुलवाया गया तो उसमें बर्तन तथा भोजन बनाने की अन्य सामग्रियां भरी पड़ी थी। इसी तरह कामपुरकला में बने शौचालय पर सब्जी की फसलें चढ़ाई गई हैं। क्षेत्र खुले में शौचमुक्त है। गॉवों में नोडल स्वच्छाग्राही सहित निगरानी टीम तथा ग्राम प्रधान व सचिव देखरेख में लगे हैं। उसके बाद यह स्थिति है।
शारदीय नवरात्र : वैष्णो देवी मन्दिरके तर्जपर की गयी सुरक्षा व्यवस्था
विन्ध्याचल, मीरजापुर। दस अक्टूबर से आरम्भ हो रहे विश्व प्रसिद्ध विन्ध्याचल शारदीय नवरात्र मेले को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए सुरक्षा व्यवस्था वैष्णो देवी मन्दिर के तर्ज पर की गई है। मेले में भगदड़ तथा आग आदि से बचाने के लिए भी ड्रोन कैमरा से निगरानी की सुरक्षा व्यवस्था की गई है।
प्रसिद्ध विन्ध्याचल मेले की सुरक्षा व्यवस्था के लिए अर्ध सैनिक बल सहित तीन हजार जवानों को तैनात किया गया है। पूरे मेला क्षेत्र ड्रोन कैमरे एवं सीसीटीवी कैमरे की जद में रहेगा। सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए दर्शनार्थियों को त्रिस्तरीय चेकिंग से गुजरना होगा। गर्भगृह में मॉ का चरण छूकर दर्शन-पूजन पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगा दिया गया है। यह वीआईपी व्यक्तियों पर भी लागू होगा। इस बार महत्वपूर्ण व्यक्तियों के दर्शन के लिए शाम चार से छह बजे तक का समय निर्धारित किया गया है। तीर्थपुरोहित, नाई एवं मन्दिर परिसर के सफाईकर्मियों के लिए ड्रे्स कोड निर्धारित किये गये हैं। भगदड़ की स्थिति न पैदा हो, इसके लिए जिला प्रशासन फूंक-फूंककर कदम उठा रहा है। गंगा घाटों पर इस बार विषेश व्यवस्था की गयी है। यातायात नियंत्रण एक चुनौती रहेगी। इस बार दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए दो हजार से अधिक स्थलों पर चेतावनी बोर्ड एवं मार्गदर्शक बोर्ड लगाये गये हैं। पुलिस उपमहानिरिक्षक पीयूश श्रीवास्तव मेला क्षेत्र का निरीक्षण कर अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। जिला प्रशासन ने मेले की मुकम्मल व्यवस्था कर लेने का दावा किया है। नगर मजिस्ट्रेट सुनील कुमार श्रीवास्तव को मेलाधिकारी बनाया गया है। मेला व्यवस्था के सम्बन्ध में जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने बताया कि नवरात्र मेले को आठ जोन एवं अठ्ठारह सेक्टरों में बॉटकर जोनल मजिस्ट्रेट एवं सेक्टर मजिस्टेऊटों की नियुक्ति की गयी है। भगदड़ की स्थिति न हो इसके लिए छब्बीस स्थानों पर बैरियर लगाये गयें है। किसी भी स्थिति में क्षमता से अधिक भीड़ मन्दिर परिसर एवं गलियों में नहीं होने पायेगी। उन्होंने बताया कि भीड़ छोडऩे एवं रोकने के लिए कन्ट्रोल रूम से निर्देश दिये जायेंगे। जिलाधिकारी ने बताया कि मेला क्षेत्र में दुकानदारों को रेट लिस्ट लगाने के निर्देश दिये गयें हैं। जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित रेट पर श्रद्धालुओं के भोजन के लिए मेला क्षेत्र में जगह-जगह स्टाल लगाये जा रहें है। उन्होंने बताया कि यात्रियों के सुविधाओं के लिए पेयजल, रैनबसेरे, सस्ते सामनों की दुकान एवं अस्थायी शौचालय आदि की व्यवस्था कर ली गई है। पुलिस अधीक्षक शालिनी ने बताया कि मेले में तीन हजार से अधिक सुरक्षा कर्मियों को लगाया गया है। पूरे मेला क्षेत्र में संवेदनशील एवं अतिसंवेदनशील स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाये गयें है। मन्दिर परिसर के सभी प्रवेश द्वारों पर मेटल डिटेक्टर से श्रद्धालुओं को गुजरना होगा। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से त्रिस्तरीय चेकिंग व्यवस्था की गयी है। पूरे मन्दिर की सुरक्षा व्यवस्था वैष्णो देवी मन्दिर के तर्ज पर की गयी है। उन्होने कहा कि सादे वर्दी में सौ से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। खुफिया पुलिस को सर्तक रहने के निर्देश दिये गयें है। किसी भी आपात परिस्थिति से निपटने के लिए चौबीस घण्टे रिजर्व जवान तैयार रहेंगे। चौदह वर्ग किलोमीटर परिक्षेत्र में फैले इस मेले में इस समय तैयारियों को लेकर अनूठा दृष्य है। हालांकि जिला प्रशासन ने सम्पूर्ण व्यवस्था कर लेने का दावा किया है पर मेला क्षेत्र में आधी-अधूरी व्यवस्था जिला प्रशासन के दावे को खोखला सिद्ध कर रही है।
बगैर सूचनाके हुई जीपीडीपी योजनाकी बैठक
पटेहरा, मीरजापुर। स्थानीय विकास खण्ड सभागार में मंगलवार की सुबह से ही गुप् चुप  तरीके से आनन फानन में की गई, जहां 50 ग्राम पंचायतों में 28 प्रधान व प्रधान प्रतिनिधि आये वहीं केवल 29 रोजगार सेवकों की उपस्थिति रही।
प्रशिक्षक रतन कुमार सिंह ने कम उपस्थिति पर नाराजगी प्रकट करते हुए बताया कि अक्टूबर माह में ग्राम पंचायतों में जीपीडीपी योजना की महत्व पूर्ण बैठकें होनी है जिसमें शासन द्वारा तय प्रारूप को बताते हुए कहे कि सबसे महत्व पूर्ण विकास कार्यो की रूपरेखा तैयार करना है। प्राय: देखा जाता है कि प्रधान अपने चहेते को लाभ देने हेतु अनावश्यक कार्य करा देते थे अब नही होगा ग्राम पंचायत में खुली बैठक से प्रस्तावित कार्यो का सर्वे बैठक में नामित प्रधान क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत सदस्य व गांव के सम्भ्रांत नागरिक के बीच किया जायेगा उसी सर्वे रिपोर्ट के आधार पर अब विकास किये जायेंगे। बैठक की अध्यक्षता खण्ड विकास अधिकारी डीपी सिंह व संचालन सहायक विकास अधिकारी पंचायत अशोक दूबे सूर्यनरायन पाण्डेय, जेई एमआई राजकुमार ने किया।
शो-पीस बनकर खड़े हैं विद्युत पोल


कलवारी, मीरजापुर। पटेहरा विकास खण्ड के ग्रामसभा बेदौली देवदहां बसहटीया में विद्युत पोल पूरे गांव में शो-पीस के तौर पर सीधा कर दिया गया है परन्तु उस पर अभीतक तार नहीं लगाया गया जिससे कनेक्शन चालू नहीं किया जा सका है। ठेकेदार तथा सरकारी कर्मचारियों द्वारा गांव में खड़े किए गए। बिजली के खंभों को देखकर बिजली आने की आस में इंतजार कर रहे हैं। पानी की भी समस्याओं से लोगों को सामना करना पड़ रहा है। सरकारी कर्मचारियों तथा ठेकेदारों के प्रति गांव के लोग आक्रोशित हैं। ग्रामीण परमेश्वर गिरी, हरिश्चंद्र गिरी, राजेश मौर्य, कमलेश मौर्य, दुलारे मौर्य, प्रमोद गिरी, तौलन आदिवासी, मंगरु आदिवासी, चंदा आदिवासी, बल्लू यादव ,हजारी सोनकर, लाला विश्वकर्मा आदि ने तत्काल विद्युत पोल में तार खींचकर विद्युत आपूर्ति बहाल किये जाने की मांग की।

विन्ध्यधाममें धुम्रपान, मोबाइल, शस्त्र रहेंगे प्रतिबन्धित

विन्ध्याचल, मीरजापुर। शारदीय नवरात्र मेला सकुशल सम्पन्न कराने के उद्देश्य से पण्डा समाज के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों ने सोमवार को तीर्थपुरोहितों के साथ बैठक कर मन्दिर व्यवस्था पर चर्चा की।
इस दौरान निर्णय लिया गया कि गर्भगृह के अन्दर पान-गुटखा, मोबाइल व शस्त्र इत्यादि पर पूरी पाबन्दी रहेगी। माँ विन्ध्यवासिनी मन्दिर की गरिमा से किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जायेगा। इसके अलावा कई मुद्दों पर तीर्थपुरोहितों से चर्चा की गई।
दुकानके आसपास मिली गन्दगी तो होगा चालान-डीएम
मीरजापुर। मॉ विन्ध्यवासिनी धाम में मंगलवार की मध्यरात्रि से आरम्भ होने वाले शारदीय नवरात्र मेले की तैयारियों का जायजा जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने अपर जिलाधिकारी राजितराम प्रजापति व नगर मजिस्ट्रेट तथा उपजिलाधिकारी सदर के साथ मेला क्षेत्र का भ्रमण कर लिया। इस दौरान उन्होंने स्थानीय दुकानदारों से अपनी दुकानों के पास डस्टबीन रखने तथा दुकान के आसपास साफ-सफाई का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जिस दुकान के पास डस्टबिन नहीं पाया जायेगा और गन्दगी मिली तो उसका चालान करते हुए मेला अवधि तक दुकान बन्द करा दिया जायेगा। जिलाधिकारी ने दुकानदारों से अपील करते हुए कहा कि किसी भी दुकान में प्रतिबन्धित प्लास्टिक का उपयोग नहीं किया जायेगा। निरीक्षण के दौरान प्लास्टिक पाये जाने पर आर्थिक दण्ड का जुर्माना लगाया जायेगा। भ्रमण के दौरान जिलाधिकारी ने सीताकुण्ड की सीढिय़ों तथा उसके आसपास पड़ी गन्दगी को साफ कराते हुए कूड़ा जलवाया और आसपास गन्दगी न फैलाने का निर्देश दिया। उन्होंने कालीखोह, अष्टभुजा पहाड़ी व मन्दिर के आसपास की सीढिय़ों का निरीक्षण किया। रोडवेज तथा रेलवे स्टेशन के निरीक्षण के दौरान वहां गन्दगी पाये जाने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए स्टेशन अधीक्षक को निर्देशित किया कि तत्काल सफाई करायें।  दूर-दराज से आने वाले दर्शनार्थियों को किसी भी प्रकार की परेशानी न होने पाये, इसका समुचित ध्यान रखा जायेगा। ग्रामीणोंने मगरमच्छको पीटकर मार डाला
मडि़हान, मीरजापुर। चार दिनों से लावारिस मगरमच्छ को ग्रामीणों ने पीट-पीटकर मार डाला। वन विभाग की टीम यदि पकड़़ ली होती तो मगरमच्छ की जान बच जाती। शनिवार की रात गंगापुर गांव निवासी राजेश सिंह के तालाब में मगरमच्छ दिखाई पड़ा था। सूचना पर सौ नम्बर पीआरवी पुलिस व वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची किन्तु रात होने के कारण मगरमच्छ नहीं पकड़ा जा सका। दूसरे दिन पकडऩे का प्रयास किया गया होता तो मौत से मगरमच्छ बच जाता।
वारण्टी गिरफ्तार
मीरजापुर। पुलिस अधीक्षक शालिनी के निर्देशन में थाना अदलहाट पुलिस ने मंगलवार को वारन्टी कृष्ण देव पुत्र हौसला प्रसाद निवासी भोरमार माफी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया।
शान्तिभंगमें १५ का चालान
मीरजापुर। जनपद में कानून व्यवस्था व अपराध नियंत्रण के लिए चलाये जा रहे अभियान के क्रम में पुलिस ने जनपद के विभिन्न थाना क्षेत्रों से कुल पन्द्रह लोगों का शान्तिभंग में चालान किया।