Mob: +91-7905117134,0542 2393981-87 | Mail: info@ajhindidaily.com


नवीनतम समाचार » जौनपुर समाचार

जौनपुर समाचार

जौनपुर। शहर पुरानी बाजार इलाके के गुर्जीखानी मोहल्ले में गुरुवार की सुबह संदिग्ध परिस्थितियों में धारदार हथियार से सीने में हुए गहरे घाव से किशोर की मौत हो गई। मृतक के पिता का कहना है कि बहन के साथ खेलने के दौरान धक्का लगने पर गिरने से पहसुल सीने में घुस गया। पुलिस इत्तेफाकिया हादसे का मामला दर्ज कर छानबीन कर रही है। घटना को लेकर मोहल्ले में तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं।
उक्त मोहल्ला निवासी संजू साहू के पुत्र शुभम साहू (14) को स्वजन करीब साढ़े नौ बजे खून से लथपथ हाल में लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। उसके सीने में धारदार हथियार का गहरा घाव था। डाक्टरों ने प्राथमिक इलाज के बाद हालत नाजुक देखते हुए बीएचयू ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया। वहां ले जाते समय रास्ते में ही दम तोड़ देने पर स्वजन शव लेकर वापस आ गए। मौके पर शहर कोतवाल पवन कुमार उपाध्याय और पुलिस चौकी शकरमंडी प्रभारी मो. सैफ पहुंच गए। कोतवाल के मुताबिक पूछताछ में संजू साहू ने बताया कि उनका बेटा शुभम अपनी बहन श्रुति साहू (16) संग घर में खेल रहा था। धक्का लगने से शुभम अचार बनाने को आम काटने को रखे गए पहसुल पर गिर गया। पहसुल सीने में घुस जाने से उसकी मौत हो गई। पुलिस शव कब्जे में लेकर आवश्यक कार्रवाई कर रही है।
उपचारके अभावमें क्वारंटाइन युवककी मौत

सुरेरी। स्थानीय थाना क्षेत्र के स्थानीय गांव निवासी अनुसूचित जाति के 40 वर्षीय जयशंकर अपने पत्नी बच्चों व परिजनों के साथ बीते 14 मई को मुंबई से घर के लिए रवाना हुए थे। जो स्पेशल ट्रेन से 16 मई को वाराणसी पहुंचे थे। वहीं घर पहुंचने के बाद जयशंकर अपने परिजनों संग सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामपुर जांच कराने के लिए पहुंचे लेकिन ज्यादा भीड़ व असुविधा होने के कारण उनकी जांच नहीं हो सकी। वहीं जयशंकर अपने परिजनों संग गांव में ही एक पेड़ के नीचे क्वॉरेंटाइन हो गए।
मुंबई से आने के साथ ही जयशंकर खांसी और जुखाम से पीडि़त थे, जिसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग टीम को भी दी गई थी लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया। बीती रात लगभग आठ बजे जयशंकर को सांस लेने में दिक्कत होने लगी, स्थिति को गंभीर देखते हुए परिजनों ने एंबुलेंस का सहयोग लेना चाहा लेकिन किसी कारण बस एंबुलेंस भी नहीं मिल सकी। परिजन अपने निजी साधन से उपचार के लिए भदोही के एक निजी अस्पताल ले गए जहां पर डॉक्टरों ने स्थिति को गंभीर देखते हुए जौनपुर जिला अस्पताल भेज दिया वहीं रास्ते में ही युवक की मौत हो गई लेकिन परिजन अस्पताल पहुंचे जहां डॉक्टरों ने युवक को मृत होना बताकर उन्हें वापस कर दिया। परिजन शव को लेकर पुन: क्वॉरेंटाइन हुए स्थान बगीचे में पहुंचे और शव को रखकर पुलिस विभाग सहित स्वास्थ्य विभाग को इसकी सूचना दी। लेकिन सूचना के लगभग 12 घंटे बाद थानाध्यक्ष सुरेरी मौके पर पहुंचे और उन्होंने घटना की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी। उच्चाधिकारियों के हरकत में आने के बाद क्षेत्राधिकारी मडिय़ाहूं, प्रभारी चिकित्साधिकारी रामपुर व मौके पर पहुंचे और परिजनों को मृतक के शव को लपेटने के लिए एक कीट दिए, जिसमें शव को लपेटकर दाह संस्कार करने की अनुमति दे दी। वहीं प्रशासन की उपस्थिति में मृतक के परिजन कोचारी गांव के समीप बसुही व वरुणा नदी के मिलने वाले स्थान शंगोनाथ घाट पर मृतक का दाह संस्कार कर दिया। मौके पर पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मृतक के संग मुंबई से आए उनके परिजनों का सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिया। ग्रामीणों की माने तो मृतक की सैंपल नहीं की गई, जिससे यह कह पाना बड़ा ही मुश्किल है कि युवक की मौत कैसे हुई, हालांकि मृतक जब से मुंबई से आया हुआ था उसे खांसी व जुकाम की समस्या थी। वहीं देर रात सांस लेने की दिक्कत पर परिजन उन्हें उपचार के लिए अस्पताल ले जा रहे थे जहां रास्ते में मौत हो गई। इस संदर्भ में प्रभारी चिकित्साधिकारी रामपुर प्रभात यादव ने बताया कि मौत की सूचना पर स्वास्थ विभाग की टीम मौके पर पहुंची थी, मृतक के शव का दाह संस्कार कराया गया व उनके साथ क्वॉरेंटाइन हुए लोगों का सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिया गया है।
थाना प्रभारीने भाजपा नेताको पीटकर हवालातमें डाला

सिद्दीकपुर। सरायख्वाजा थाना के प्रभारी ने थाने पर पैरवी गए करने गए भाजपा नेता को पीटकर हवालात में डाल दिया और मोबाइल व अन्य सामान कब्जे में ले लिया। गुस्साए भाजपा नेताओं, कार्यकर्ताओं ने थाने का घेराव कर हंगामा किया। थानाध्यक्ष पर कार्रवाई के लिए अड़ गये। राज्यमंत्री के प्रतिनिधि के समझाने बुझाने पर मामला शांत हुआ।
जानकारी के अनुसार भाजपा जिला कार्यकारिणी के सदस्य मुड़ैला निवासी संजीव पाठक पकड़ी के अध्यापक दिलीप प्रजापति के जमीनी विवाद को लेकर पैरवी करने गुरुवार को दोपहर में थाने पर गए थे।  थाना प्रभारी सत्यप्रकाश सिंह से दिलीप प्रजापति के जमीन पर हो रहे कब्जे को लेकर उनसे बातचीत के दौरान गरमा गरम बहस होने लगी। दोनों ओर से नोकझोंक कहासुनी होने लगी। गुस्साए थाना प्रभारी ने संजीव पाठक को थप्पड़, लात, घूसों से पिटाई कर दी और खींचकर हवालात में डाल दिया। मोबाइल फोन भी कब्जे में ले लिया। इस दौरान वहां मौजूद खेतासराय मंडल अध्यक्ष धर्मेंद्र मिश्रा ने अन्य भाजपा नेताओं को घटना के बारे में बताया। जिस पर गुस्साए भाजपा नेताओं के साथ राज्यमंत्री के प्रतिनिधि अजय सिंह, पूर्व मंडल अध्यक्ष रविंदर मिश्रा, जिला महामंत्री रामसूरत बिंद, राजकेशर मिश्रा, हीरा सिंह, गभीरन मंडल अध्यक्ष मदनलाल सोनी सहित सैकड़ों भाजपा नेता एवं कार्यकर्ता थाने पर पहुंच गए। थाने का घेराव कर हंगामा करने लगे और इस दुव्र्यवहार पर थाना प्रभारी के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। काफी दबाव पडऩे पर संजीव पाठक को हवालात से बाहर किया गया। उसके बाद उनकी मोबाइल दी। वहीं संजीव पाठक ने कहा कि इन्सपेक्टर ने उनके साथ मारापीटा दुव्र्यवहार किया है। हम जिला संगठन से बात करेंगे। आए दिन भाजपा कार्यकर्ताओं से दुव्र्यवहार थाने पर किया जा रहा है। कार्यवाही नहीं हुई तो आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।
आम तोडऩेके विवादमें घरमें घुसकर तोडफ़ोड़
शाहगंज। कोतवाली क्षेत्र के परासिन गांव में बुधवार की दोपहर आम तोडऩे को लेकर दो पक्षों के बीच कहासुनी के बाद हल्की मारपीट की घटना हो गयी। इसी घटना को लेकर रात में एक पक्ष ने अपने विपक्षी के घर पर लामबंद होकर हमला बोल दिए। हमलावरों ने घर के अन्दर तोडफ़ोड़ शुरू कर दिए जिससे पीडि़त पक्ष ने परिवार सहित भागकर अपनी जान बचाई। सूचना पर सर्किल क्षेत्र के सभी थानों के साथ क्षेत्राधिकारी मौके पर पहुंच कर मामले को शांत कराया।
क्षेत्र के परासिन गांव में आम तोडऩे के लेकर बुधवार की दोपहर धनेश्वर चौहान व रमेश सिंह के पक्ष के बीच विवाद की स्थिति उत्पन्न हो गई विवाद के दौरान कहासुनी हल्की-फुल्की मारपीट की घटना भी हुई। इसी बात को लेकर बुधवार की रात करीब 8 बजे एक पक्ष  लाठी-डंडे से लामबंद होकर विपक्षी के घर पर हमला बोल दिया। लोग कुछ समझ पाते कि इससे पहले हमलावरों ने घर में घुसकर कर तोडफ़ोड़ शुरू कर दी। किसी तरह से पीडि़त पक्ष के घर के लोगों ने भागकर अपनी जान बचाई। इस घटना की जानकारी जब कोतवाली पुलिस को हुई तो मांमला दो अलग-अलग जातियों की होने की वजह से तत्परता दिखाते हुए क्षेत्राधिकारी जितेंद्र दुबे सहित सर्किल क्षेत्र के सभी थाने मौके पर पहुंचकर लोगों को शांत कराया।