Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


नवीनतम समाचार » जौनपुर समाचार

जौनपुर समाचार

दुर्गा पूजनोत्सवकी धूमसे मातृ शक्तिकी आराधनाका केंद्र बन जायेगा जनपद
जौनपुर। शारदीय नवरात्र बुधवार से आरम्भ हो रहा है। इसी के साथ ही पूरा जनपद मातृ शक्ति की आराधना में लीन हो जायेगा। भोर से ही मां शीतला धाम चौकिया सहित जिले भर की देवी मंदिरों में आस्था का सैलाब उमड़ पड़ेगा। उधर जनपद में करीब डेढ़ हजार स्थानों में बनाए गए पंडालों में मंगलवार की देर रात तक पहुंची मां दुर्गा सहित अन्य अन्य देवी-देवताओं की प्रतिमा स्थापित कर दी गई, जहां विधि-विधान से पूजन अर्चन के बाद सुबह कपाट खोला जायेगा।
भोर चार बजे मां शीतला धाम चौकिया और मैहर माता धाम वाजिदपुर में प्रथम आरती की गई। 15 मिनट बाद भक्तजनों के लिए कपाट खोला गया, जिसके बाद दर्थनार्थियां की भीड़ लगी रही। इनमें जनपद सहित पूर्वांचल के कई जिलों से आए भक्तजन भी शामिल रहे। उधर मां विध्यवासिनी धाम जाने के लिए जौनपुर डिपो से 25 बसे लगाई गई, जिसमें पहली बस भोर में करीब साढ़े चार बजे रवाना हुई। इसके बाद हर आधे घंटे-पौने घंटे पर रवाना होती रही। पंडित मुरारी श्याम पांडेय व्यास ने बताया कि कलश स्थापना दिन में 7 बजकर 56 मिनट के अंदर या अभिजित मुहूर्त दिन में 11 बजकर 37 मिनट से 12 बजकर 23 मिनट के मध्य हो जाना है। महाष्टमी व्रत 17 अक्टूबर बुधवार और उसी दिन 12 बजकर 27 मिनट के बाद नवमी लग जाएगी। इस लिए हवन का कार्यक्रम इसी दिन 12 बजकर 27 मिनट से प्रारम्भ होकर 18 अक्टूबर 2 बजकर 32 मिनट तक है। इसके बाद दशमी हो जाएगा। इसलिए नवरात्र व्रत रहने वाले 18 अक्टूबर को 2 बजकर 32 मिनट के बाद अन्न ग्रहण करेंगे। इस बार माता रानी का आगमन नौका और गमन गज से हो रहा है। गुरुवार से देवगुरू बृहस्पति तुला राशि को छोड़ वृश्चिक राशि में प्रवेश करेंगे। बृहस्पति का यह परिवर्तन शारदीय नवरात्रि में हो रहा है इसलिए इसका प्रभाव भी नवरात्र से दृष्टिगोचर होगा। ज्योतिषविद् डा. शैलेश मोदनवाल के अनुसार वृश्चिक का बृहस्पति द्वादश राशियों को शुभाशुभ फल प्रदान करेगा। गुरू की शांति के लिए पं मुरारी श्याम पांडेय ने बताया कि नवरात्रि के नौ दिन मां दुर्गा को हल्दी, कुमकुम चढ़ायें, पीले फूल की माला अर्पण करें साथ ही केले का भोग अवश्य लगाएं। गाय को गुड़ चने की दाल व हल्दी मिलाकर खिलाने एवं ब्राह्मण को मिष्ठान खिलाकर उनका आर्शीवाद लेने से देव गुरू बृहस्पति की कृपा प्राप्त होती है।
छापेमारी कर लिये गये नमूने
जौनपुर। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की टीम ने मंगलवार को दुकानों पर छापेमारी करते हुए नमूने लेकर जांच के लिये भेज दिया। छापेमारी की वजह से दुकानदारों में हड़कम्प मचा रहा। कुछ दुकानदार छापेमारी के डर से भाग गये। मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी अनिल कुमार राय के नेतृत्व में खाद्य सचल दल में सम्मिलित खाद्य सुरक्षा अधिकारी राजेन्द्र कुमार एवं राजेश मौर्य द्वारा जालान्स सूपर मार्केट में छापेमारी की। जहां से अधिकारियों ने मूंगफली का दाना, सिंघाड़ा का आटा, संतोष कुमार दूबे द्वारा रिलायबल स्मार्ट सस्ता बाजार, अमरदेव सिंह कुशवाहा द्वारा टीबी अस्पताल के पास से पनीर का एक-एक नमूना लेकर जांच के लिए राजकीय लैब को भेजा गया। इसी प्रकार खाद्य सचल दस्ता द्वारा विभिन्न स्थानों से कुल चार नमूना जांच के लिए लेकर लैब भेजा गया। इस दौरान अभिहित अधिकारी डा. वेद प्रकाश मिश्र ने बताया कि आगामी नवरात्रि और दशहरा पर्व को देखते हुए ये छापेमारी की जा रही है जिससे दुकानदार मिलावटी सामान न बेच सके। उन्होंने कहा कि छापेमारी अभियान 18 अक्टूबर तक चलेगा।
कब्रसे निकलवाया युवतीका शव
जौनपुर। सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के स्थानीय गांव की एक युवती प्रेमी से धोखा खा कर आग लगाकर मौत को गले लगा ली थी। परिजनों ने उसके शव को दफना दिया था। जानकारी होने पर पुलिस ने मंगलवार को शव को बाहर निकाला और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
उक्त गांव की युवती विगत एक माह पूर्व अपने गांव की एक विजातीय युवक के साथ फरार हो गए थी।  2 दिन पूर्व अपने घर लौटी। युवती के परिजनों ने कहा कि जिसके साथ भागी थी उसी से विवाह कर लो। इसके बाद लड़की ने अपने प्रेमी को फोन करके शादी के लिए दवाब बनाया। लेकिन लड़के ने शादी से इंकार कर दिया। जिससे धोखा मिलने पर युवती ने घर में रखा मिट्टी के तेल छिड़क लिया था और आग लगा ली थी। जिसके कुछ घंटों बाद उसकी मौत हो गई थी। परिजनों ने बिना पुलिस को सूचना दिए उसे दफना दिया था। जानकारी होने के बाद पुलिस ने उच्चाधिकारियों से वार्ता करके मंगलवार की दोपहर कब्र से युवती का शव बाहर निकला और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस बारे में थानाध्यक्ष राजेश यादव ने कहा कि मामला संदिग्ध था। बिना सूचना दिए परिजनों ने शव को दफन कर दिया था। शव को कब्र से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। इसके बाद जांच पड़ताल के बाद कार्रवाई की जाएगी।
जांच करने पहुंची टीमने पाया ग्राम प्रधानको नशेमें धुत
नेवढिय़ा। विकास खण्ड रामनगर के ग्रामसभा मधुपुर के ग्रामीणों ने मुख्य विकाश अधिकारी को प्रार्थनापत्र देकर ग्रामप्रधान पर ग्राम विकास कार्यों में धांधली करने का आरोप लगाया था। जिसमे मंगलवार शाम लगभग चार बजे गांव में विकास खण्ड रामनगर की टीम जांच करने पहुंची। जानकारी के अनुसार विकास खण्ड रामनगर के मधुपुर गांव में ग्रमीणों ने ग्राम प्रधान के ऊपर गांव के विकास कार्यों में धांधली करने का आरोप लगाया था। ग्रामीणों का कहना है कि खड़ंजा, तालाब सुंदरीकरण, पानी निकासी के लिए नाली, हैण्डपम्प आदि के लिए विकासकार्यों के नाम पर सरकारी पैसा निकाल लिया गया लेकिन मौके पर कोई भी विकासकार्य ही नही किया गया। जिसमे मुख्य विकास अधिकारी के आदेश पर चयनित टीम विकास खण्ड अधिकारी रामचरित यादव के नेतृत्व में गांव में जांच करने पहुंची। टीम कुछ समय में ही गांव से चली गई। इस बात को लेकर वहां पर इक_े ग्रामीणों ने गलत जांच करने का आरोप लगाते हुए कहा कि पहले तो बिना जांच के ही रिपोर्ट लगा दिया गया था। लेकिन दोबारा शिकायत किया गया तब गांव में जांच की गई जिसमें किसी भी प्रकार का आस्वासन ग्रामीणों को नही दिया गया। इस संदर्भ में एडी ओ पंचायत राधेश्याम यादव ने बताया जांच करने जब गाँव मे टीम पहुची तो प्रधान सहित कई लोग नसे में धुत थे। आपस मे कहासुनी करने लगे, जिसे देख किसी भी विकास कार्यो की जांच ठीक तरीके से नही हो पाई। जिसके कारण जांच दूसरे दिन की जाएगी। पूरी जांच होने के बाद ही निष्कर्ष पर पहुचा जा सकता है।
संपेरेने घरसे तीन सांपोंको पकड़ा, तब मिली राहत
दो मौतोंके बाद घर वालोंने भयवश जाग कर गुजारी रात
मडिय़ाहूं। स्थानीय कोतवाली क्षेत्र के इमामशाहपुर गांव में सर्प के काटने से हुई देवर भाभी समेत दो मौतों के बाद घर के बाकी सदस्यों ने सोमवार की रात घर के बाहर जागते हुए गुजारी। मंगलवार को सुबह एक सपेरे ने घर से तीन सर्पों को पकड़ा तब जाकर परिजनों ने राहत की सांस लिया। घटना के सम्बंध में बताया जाता है कि उक्त गांव के धरिकार बस्ती में राधेश्याम बेनवंशी का परिवार रहता है।
शनिवार की रात राधेश्याम का पुत्र रमेश अपने बिस्तर पर सो रहा था कि इसी दौरान उसे सर्प ने डस लिया। वह चीखने लगा। परिजन उसकी चीख सुनकर जब उसके पास पहुंचे तो देखा उसके मुंह से झाग निकल रहा था। परिजन आनन फानन में जिला अस्पताल ले गए। जहां जवाब मिलने पर झाड़ फूंक के लिए कई जगह पर लेकर गए लेकिन हर जगह से जवाब मिलने पर मायूस होकर वापस लौट आए और सई नदी के गुतवन घाट पर शव को प्रवाहित कर दिया। उक्त घटना के दूसरे दिन रविवार की भोर में राधेश्याम की बहू मीरा देवी पत्नी रमाशंकर को भी उक्त सर्प ने शौच जाते समय अपना शिकार बना लिया। सांप के काटे जाने पर वह चीखते हुए गिर पड़ी। परिजन मीरा देवी को इलाज हेतु अटाला मस्जिद लेकर गए वहां के पश्चात जिला अस्पताल समेत अन्य जगह ले गए लेकिन कोई सफलत न मिलने पर शव को घर पर लेकर आ गए और घर पर ही एक ओझा के देख रेख में झाड़ फूंक कराया परन्तु यहां भी निराशा हाथ लगी। तब शव को सोमवार की रात में सई नदी में प्रवाहित कर दिया गया। उक्त दोनों मौतों के घर के बाकी सदस्य पूरी रात दहशत में रहे घर के बाहर बैठ कर जागते हुए गुजारी। मंगलवार को सर्प पकडऩे में माहिर जफराबाद निवासी लल्लन पंडित को बुलाया गया तो उन्होंने  घर के अंदर से दो व बाहर से एक सर्प को पकड़ा। तब जाकर लोगों ने राहत की सांस ली। सांप पकड़े जाने के दौरान गांव वालों की भारी भीड़ लगी रही।
विकास कार्य नहीं हुआ तो सड़कपर उतरेंगे ग्रामीण

डोभी। क्षेत्रीय सांसद, विधायक के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। क्षेत्र के सारे विकास कार्य फर्जी तरीके से शोसल मिडिया के माध्यम जनता के बीच परोसने को लेकर क्षेत्र के खुज्जी तिराहे पर सैकड़ों की संख्या में जुटे डोभी के किसानों सहित अन्य लोगों ने अजीत सिंह के नेतृत्व में बैठक कर वर्तमान में केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा होने वाले विकास कार्य की सराहना करते हुए बताया की स्थानीय प्रतिनिधि डोभी के विकास में लचर रवैया अपना रहे हैं। इसी का विरोध करते हुए प्रतिनिधियों को सभा के माध्यम से अवगत कराया और कहा की जनवरी माह तक विकास कार्य में तीव्रता नहीं आती है तो स्टेट से लेकर केंद्र तक हम ये आवाज उठाएंगे। जनता के साथ सड़क पर उतर भूख हड़ताल भी करने को बाध्य होंगे।
डोभी में अनगिनत समस्याओं को बताते हुए प्रमुखता से किसानों को खेती हेतु समय पर नहर में पानी नहीं मिलना और कागजों में आधिकारिक पुष्टि में नहरों में पानी निरंतर मिलने की झूठी खबर पर प्रतिनिधियों ने भी गंभीरता से नहीं लिया। यह समस्याएं किसानों की कमर तोड़ती है। तीन माह से शारदा सहायक खण्ड 36 पेशारा वाली नहर में पानी नहीं आया है। उसको भी सांसद, विधायक हेड से टेल तक पानी जाने की खबर फेसबुक, ट्विटर भेज दिया जबकि नहर पानी आया ही नहीं। डोभी के मुख्य बाजारों में प्रतीक्षालय सहित शौचालय और बाजारों मै सोलर लाइट और सफाई का उचित व्यवस्था और टूटे हुए बिजली के तारों और मुख्यतया टूटी जर्जर सड़के जो दुर्घटनाएं आए दिन होती रहती है। सभा को संबोधित करते हुए नव उमंग संस्था के संयोजक अजीत सिंह ने कहा कि सांसद व विधायक के खराब रवैए को मुख्यमंत्री तक पहुंचाऊंगा। वक्ताओं ने कहा कि क्षेत्रीय सांसद, विधायक कभी भी जनता से नहीं जुड़े थे। जिसके चलते आज जनता किसानों के दुख दर्द से उन्हें कोई लेना देना नहीं है। हमारे दोनों जनप्रतिनिधि केवल झूठी लोकप्रियता बटोरने के आलावा और कुछ नहीं कर रहे हैं। सभा के इर्द गिर्द प्रशासन भी मुस्तैद रहा। इस अवसर पर शैलेंद्र सिंह, गुड्डू, राजेश सिंह, सुजीत सिंह, गौरव, सूबेदार राम, रामजन्म राम, अमित राजेश्वर, बुलबुल, भारद्वाज, दया यादव सहित अन्य लोग रहे।
असलहेके बलपर ४५ हजारकी छिनैती
सुइथाकला। सरपतहां थाना क्षेत्र के बरउद गांव के पास हौसलाबुलंद बाइक सवार बदमाशों ने तमंचे के बल पर महिला से पैंतालीस हजार लूट लिए। जानकारी के अनुसार थाना क्षेत्र के सलेमपुर निवासिनी उर्मिला देवी बतौर एनम शाहगंज अस्पताल में कार्यरत हैं। मंगलवार को वह स्टेट बैंक की शाखा शाहगंज से 45000 रूपये निकालकर अपने पति झिनकू राम के साथ घर लौट रही थी कि बरउद नहर की पुलिया के पास पीछे से आ रहे बाइक सवार तीन बदमाश ओवरटेक कर तमंचा दिखाकर उसे रोक लिया तथा धक्का देकर बाइक गिरा दिया। तमंचे से आतंकित कर रुपयों से भरा बैग, मोबाइल तथा बाइक की चाभी छीन कर  सरायमोहिउद्दीनपुर की तरफ फरार हो गये। स्थानीय लोगों द्वारा पुलिस को घटना की सूचना दी गई। सूचना पाकर क्षेत्राधिकारी अजय श्रीवास्तव, प्रभारी निरीक्षक सरपतहां भैया शिव प्रसाद सिंह, सरायमोहिउद्दीनपुर चौकी प्रभारी राम जी राम सैनी द्वारा मौके पर पहुंचकर छानबीन शुरू कर दी गयी।
मूर्ती ले जाते समय मामूली विवादमें मारपीट
महराजगंज। क्षेत्र के एक गांव में सोमवार की रात दुर्गा जी की मूर्ति ले जाते समय हुई मामूली झड़प के बाद जमकर मारपीट हो गई। जिसमें कई घायल हो गए। घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया, जिसमें से एक को चिकित्सकों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। सुजानगंज थाना क्षेत्र के केशवपुर निवासी देर रात दुर्गा प्रतिमा लेकर लौट रहे थे। जैसे ही वे महराजगंज थाना क्षेत्र के रामपुर गांव पहुंचे तो ग्रामीणों ने शोर शराबा सुनकर सोचा कि चोर आ गए हैं तो सड़क पर पेड़ की डाल रख दिये। लेकिन जब ग्रामीणों ने देखा कि मूर्ति लेकर आ रहे हैं तब सड़क पर रखे पेड़ की डाल हटा दिए। मूर्ति ले जाने वालों ने विरोध किया कि यह पेड़ की डाल जान-बूझकर रखा गया है। ग्रामीणों के समझाने के बाद मूर्ति लेकर चले गए और मामला शांत हो गया। कुछ समय बाद 3 बाइक से नौ युवक नशे में धुत वापस उसी गांव में आये और स्थानीय निवासी संदीप (23) पुत्र श्यामसुंदर, श्यामसुंदर (40) पुत्र रामकिशोर, प्रमीला पत्नी श्यामसुंदर को मारने-पीटने लगे। जिसमें तीनों घायल हो गए। शोर शराबा सुनकर ग्रामीण इक_ा हुए तब तक आठ मनबढ़ फरार हो गए। एक बचे हुए मनबढ़ प्रदीप यादव निवासी केशवपुर को ग्रामीणों ने जमकर पीटा। जिससे वह भी बुरी तरह घायल हो गया। मौके पर पहुंची 100 न. पुलिस की मदद से घायलों को महराजगंज सीएचसी ले जाया गया। जिसमें एक की हालत गंभीर देखते हुए जिले अस्पताल रेफर कर दिया।
हत्याके प्रयास के आरोप में पांच वर्षकी कैद
जौनपुर। अपर सत्र न्यायाधीश एफटीसी प्रथम महेंद्र सिंह की अदालत ने चाकू से मार कर हत्या करने के प्रयास के आरोप में एक व्यक्ति को 5 वर्ष के कारावास तथा तीस हजार रूपये अर्थदंड से दंडित किया। अभियोजन कथानक के अनुसार खुटहन थाना क्षेत्र के जमीन धमौर गांव निवासी रवि कुमार यादव पुत्र राजपत यादव ने थाने में मामला पंजीकृत करवाया की दिनांक 21 सितंबर 2013 को उसकी बहन सोई हुई थी। रात लगभग 12 बजे आरोपी अनीस पुत्र यासीन निवासी गांव भटपुरा ने अचानक चाकू से हमला करके उसकी बहन को घायल कर दिया और भाग गया। अभियोजन पक्ष से सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता एसएमयू के हसन सिद्दीकी के द्वारा परीक्षित करवाए गए गवाहों के बयान एवं पत्रावली पर उपलब्ध साक्ष्य के परिसीलन के पश्चात न्यायालय ने आरोपी अनीस को हत्या करने के प्रयास का में दोषी पाते हुए भादवि की धारा 307 के अंतर्गत 5 वर्ष के कारावास तथा तीस हजार रूपये जुर्माने से दंडित किया।
अराजक तत्वोंने ढहायी मंदिरकी बाउंड्रीवाल
खुटहन। थाना क्षेत्र के मखदूमपुर बासगांब स्थित अति प्राचीन भगवान शिव मन्दिर मंदिर की 20 फिट बाउन्ड्रीवाल सोमवार की रात अराजक तत्वों ने ढहा दिया। जिसे लेकर मन्दिर के आसपास काफी तनाव बढ़ गया। मामला एक धर्म विशेष से जुड़े होने के चलते हिन्दू धर्मावलंबी इसको लेकर आक्रोशित हो गये। मौके पर कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचे बजरंग दल जिला मिलन प्रमुख अनुपम पंडित व बृजेश दुबे ने थानाध्यक्ष वीरेन्द्र कुमार बरवार को घटना की सूचना दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने सम्भ्रान्त लोगों को एकत्रित कर माहौल को शांत कराया। पुलिस की इस प्रकार की पहल से अराजकतत्वों की उन्मादी मंशा पर पानी फिर गया। ग्रामवासियों ने घटना में शामिल आधा दर्जन नामजद आरोपियों के खिलाफ थाने में तहरीर दी है। पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर घटना की जांच पड़ताल में जुट गयी।