Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


नवीनतम समाचार » भदोही-ज्ञानपुर समाचार

भदोही-ज्ञानपुर समाचार

 सीतामढ़ी। जिले के प्रमुख पर्यटन व धार्मिक स्थल सीतामढ़ी में रविवार को सैर सपाटा करने आये इलाहाबाद जिले के तीन युवक रविवार को गंगा स्नान के दौरान मस्ती करते समय डूबने लगे। घाट पर मौजूद स्थानीय लोगों ने दो को तो किसी तरह बचा लिया किन्तु एक युवक की गंगा में डूबने से मौत हो गयी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची कोइरौना पुलिस गोताखोरों के माध्यम से घण्टे भर बाद शव बरामद कराने में सफल हुई। वहीं सीतामढ़ी आये जिलाधिकारी राजेंद्र प्रसाद ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। नहाने वालों के लिए सीतामढ़ी स्थित महर्षि वाल्मीकि गंगा घाट डेंजर जोन साबित हो रहा है। जिलाधिकारी ने बताया कि बढ़ती घटनाओं को देखते हुए बैरिकेडिंग करायी गयी थी और सतर्कता बरतने हेतु चेतावनी बोर्ड भी लगाया गया था। लेकिन इसके बाद भी लोग जिला प्रशासन की हिदायतों को किनारे कर गंगा में कूद जा रहे हैंए जो उनके लिए खतरनाक साबित हो रहा है। उधर फादर्स डे के दिन बेटे के खोने का गम घटनास्थल पर रोते बिलखते पहुंचे पिता और परिजनों के चेहरे पर साफ झलक रहा था। बता दें कि इलाहाबाद जिले के हंडिया कोतवाली के भीटी रमनाथी गांव निवासी अनिल मौर्या 22 पुत्र महेंद्र मौर्य और इसी गांव का दिनेश कुमार मौर्या 25 पुत्र बृजेश मौर्या के अलावा किरांव धनूपुर निवासी मनीष मौर्या 26 पुत्र विजय प्रसाद रविवार को करीबी पर्यटन स्थल सीतामढ़ी में घूमने आए थे। सुबह तकरीबन 9 बजे तीनों साथी गंगा में स्नान करने लगे। अचानक मनीष स्नान के दौरान गंगा में डूबने लगा उसे बचाने के लिए अनिल और दिनेश आगे बढ़े लेकिन वह दोनों भी डूबने लगे। इस दौरान घाट पर मौजूद मल्लाह माल्टा ने मनीष और दिनेश को तो बचा लिया ए लेकिन अनिल गंगा में डूब गया। कोइरौना पुलिस के नेतृत्व में गोताखोंरों के अथक प्रयास के बाद लगभग 10रू30 बजे उसका शव निकाला गया। जिसे पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। अनिल कुल चार भाई व एक बहन के बीच तीसरा था और अभी अविवाहित था। उधर जिलाधिकारी ने घटनास्थल के निरीक्षण के दौरान जान बचाने वाले स्थानीय गोताखोर क्रमश: दिनेश माल्टा व लथेरन सिंह की प्रसंशा की। लोगों की मांग पर गोताखोरों के पास आवास सुविधा उपलब्ध न होने पर कहा कि जल्द ही आवास उपलब्ध कराया जाएगा।
अक्सर मस्ती करनेके दौरान ही डूबते हैं लोग
सीतामढ़ी। लोग जानते हैं कि गहरे पानी से पंगा लेना उनके लिए खतरनाक साबित हो सकता है लेकिन फिर भी मौज मस्ती करते करते वह इसे नजरअंदाज कर देते हैं जो उनके व उनके परिजनों के लिए आफत पैदा कर जाती है। सीतामढ़ी स्थित महर्षि वाल्मीकि गंगा घाट पर हजारों पर्यटक व दर्शनार्थी हर रोज आते हैं। जिनमें काफी तैरना नही जानते रहते और ग्रुप के साथ नहाने के दौरान गंगा नदी के गहरे पानी मस्ती करने लगते हैं। मौज मस्ती व पानी के साथ खिलवाड़ करने के अलावा अक्सर नययुवक व नवयुवतियां गहरे पानी मे सेल्फी लेते दिखते हैं। स्थानीय लोगों के मना करने पर ज्यादातर नवयुवक तुमसे क्या मतलब बोलकर तथा विवाद कर उन्हें चुप करा देते हैं जो जाने अनजाने उनकी मौत का कारण बन जाता है। 3 माह के भीतर आधा दर्जन लोगों की जान जा चुकी जिनमें सभी नवयुवक ही थे।
मौतका सौदागर बना सीतामढ़ीका गंगा घाट
सीतामढ़ी। बड़ा सवाल है कि क्या मौत के सौदागर से मनमानी मस्ती करते लोगों के आगे प्रशासन पनाह मान चुका है या लापरवाही बरत रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि धार्मिक नगरी सीतामढ़ी का महर्षि वाल्मीकि गंगा घाट लगातार खतरनाक बनकर उभर रहा रहा है। ढ़ाई माह के भीतर 6 जानें उक्त घाट पर नहाने के दौरान जा चुकी हैं। लेकिन जिला प्रशासन के तरफ से कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। जो बैरिकेडिंग डीएम के निर्देश पर 2 माह पूर्व जिला पंचायत द्वारा कराई गई थी वह नाकाफी है। लगने के बाद से ही वह आसानी से जगह जगह टूट गई। वास्तव में रस्सियों से बांधकर बैरिकेडिंग स्नान घाट पर की गई है जो पानी बढऩे व नहाने वाले नवयुवकों के मस्ती का शिकार हो करीब करीब टूटने के कगार पर पहुंच चुकी है। लोगों का कहना है कि पुरुषोत्तम व गर्मी मास के चलते इधर बीच अधिक भीड़ लग रही है लेकिन चंद कदम पर स्थित सीतामढ़ी चौकी का कोई सिपाही सुरक्षा की दृष्टि से झांकने तक नही आता।
जल पुलिसकी स्थापनासे वंचित हो रहा मौतका तांडव
सीतामढ़ी। गंगा तट पर बसी आस्थावानों की पवित्र नगरी सीतामढ़ी एक बार फिर रविवार को सप्ताह में दूसरी बार व तिमाही में छठवीं बार एक नययुवक की मौत से दहल उठी। जिसने भी मौत के मुंह में एक और युवक के समाने की खबर सुना वह कराहता दिखा। घाट पर नहा रहे बुजुर्ग सीतामढ़ी के गंगा घाट को देसी भाषा में जीवधारी कहते दिखे। वास्तव में कालीन नगरी के लिए दुनिया भर में मशहूर गंगा जमुनी तहजीब वाले काशी प्रयाग भूमिक्षेत्र के मध्य में स्थित भदोही जिले की पहचान इन दिनों पर्यटन नगरी व धार्मिक स्थली के रूप में भी होने लगी है। उसकी वजह सीतामढ़ी की सीता समाहित स्थल है। लेकिन स्थली क्षेत्र के महर्षि वाल्मीकि गंगा तट पर इन दिनों गर्मी में पानी घटाव के बाद से ही मौत का तांडव मचा हुआ है। जिससे लोग भयभीत तो हैं लेकिन चेत नही रहे हैं। गांवों में हड़कंप तो है पर लोग सीख नही रहे हैं। पिछले दिनों हुई घटनाओं से सबक लेकर डीएम ने बैरिकेडिंग कराने के साथ नोटिस बोर्ड भी लगवा दिया था। लेकिन नवयुवकों की मनमानी के आगे सब बौना साबित हो रहा है। आये दिन घटनाएं घट रही हैं कोई ठोस पहल प्रशासन व जनप्रतिनिधियों द्वारा नही की जा रही है। बताते चलें कि 30 जून 1994 को वाराणसी से बंटकर प्रदेश के 65 वें जिले के रूप में भदोही का विस्तार हुआ था। जिले के कुल 47 गांव गंगा किनारे बसे हुए हैं जिनमें लाखों जनता निवास करती है। साथ ही दर्जनों बड़े घाट भी बने हुए हैं। सभी घाटों सहित सर्वाधिक घटनाएं सीतामढ़ी गंगा घाट पर ही घटती हैं। लेकिन ऐसे संवेदनशील जिले में जलपुलिस की स्थापना आज तक प्रशासन द्वारा नही कराया गई। न ही डेंजर जोन बन चुके सीतामढ़ी गंगा घाट पर स्नान के समय गोताखोरों या पुलिस की ही व्यवस्था की गई है। जनता के वोट लेकर नोट बटोरने वाले जनप्रतिनिधि भी विल्कुल चुप्पी साधे बैठे हुए हैं।
सड़कपर बांधके फैलावके कारण हो रहे हादसे
सीतामढी। आप यकीन कीजिए अथवा नहीं लेकिन भदोही जिले के प्रमुख धार्मिक स्थल सीतामढ़ी के समीप एक ऐसा स्थान है जहां पिछले एक माह से लगातार हादसा हो रहा है। हादसा की वजह एक पेड़ बना हुआ है खास बात तो यह है कि दिन में कभी.कभी दो से तीन की सँख्या तक हादसे हो जाया करते हैं। इससे इतर ना तो यह पेड़ काटा काटा जा रहा है और ना ही हादसा ही थमने का नाम ले रहा है । लोगों की माने तो जिला प्रशासन और लोक निर्माण विभाग को इस स्थान पर किसी बड़े हादसे का इंतजार है। यह स्थान जंगीगंज.धनतुलसी मार्ग पर निबिहा के पास है जहां पटरी पर लगे बाँस के पेड़ के सड़क पर झुकने से कारण न सिर्फ  आवागमन मे अवरोध पैदा कर रहा है बल्कि हर दिन हादसे हो रहे हैं। जंगीगंज से सीतामढी तक सडक का विस्तारिकरण होने के बाद वाहनो की तादात और रफ्तार दोनो बढ़ गयी है। निबिहा मोड के समीप पटरी के पास लगे बास के झूरमुट आंधी में सड़क पर झुक कर फैल गये है। कोई वाहन अगर ओवरटेक कर आगे निकलना चाहे तो वह निकल नही सकता। इस स्थान पर छोटे मोटे हादसे तो रोज हो रहे हैंए लेकिन बड़े हादसे की संभावना हमेशा बनी हुई है। खास बात यह भी है कि कई प्रदेशों से सीतामढी के लिऐ पर्यटकों की बड़ी बसे भी आती है जो यहाँ से मुश्किल से निकल पाती हैं। दो पहिया वाहन सवार आये दिन चोटिल होते रहते है । लोक निर्माण विभाग पटरियों को खाली करा सडक के आवागमन के लिए सुचारू बनाने मे कोई रूचि नही ले रहा है। लगता है कि लोक निर्माण विभाग किसी बड़े हादसे के बाद ही चेतेगा।
सूर्यदेवके उगल रहे आगसे चलना मुश्किल
ज्ञानपुर। सूर्यदेव लगातार आग उगल रहे हैं जिससे तापमान बढऩे से लोग तपन सहने को मजबूर हैं। दूसरे ओर इस गर्मी में विद्युतापूर्ति पूरी तरह ध्वस्त हो गई है। जिससे आमजनमानस पूरी तरह हलाकान है। बरसती आग व चरम पर पहुंच चुकी गर्मी के बीच बिजली आपूर्ति की हालत पूरी तरह लचर दिख रही है। दो दिनों से तो बिजली क्षेत्र के पचास से अधिक गांवों में दो से तीन घण्टे भी नही पा रही है। अत: जमीनी हकीकत पर नई सरकार पहली गर्मी में बिजली व्यवस्था में पूर्णतया फेल साबित होती दिख रही है। लोग दिन की तो छोडि़ए रात्रि जागरण को विवश हैं। लोग अंदर.बाहर करते रात काट रहे हैं। विद्युत उपकेंद्र गोपीगंज से जुड़े  के लगभग सैकड़ों गांवों में भीषण कटौती व अनियमित सप्लाई के कारण आम उपभोक्ता जहां परेशान हैं तो वहीं व्यवसायिक कार्य भी प्रभावित होकर रह गए हैं। बढ़ती गर्मी के साथ नगर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों तक में बिजली की अघोषित कटौती का सिलसिला तेज हो उठा है। विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में तो आपूर्ति व्यवस्था पूरी तरह धराशाई हो उठी है। वैसे तो ग्रामीण क्षेत्रों के लिए विद्युतपूर्ति के लिए 18 घंटे का रोस्टर जारी किया गया है किंतु बिजली कब आएगी और कब काट दी जाएगी कोई समय व ठिकाना नहीं रह गया है। आलम यह है घंटे.दो घंटे भी नियमित आपूर्ति लोगों को नहीं मिल पा रही है। विद्युत उपकेंद्र ज्ञानपुर गोपीगंज आदि फीडरों पर विद्युतपूर्ति का हाल यह है कि दिन में जहां कई बार.बार कटौती की जा रही है वहीं रात में तो स्थिति और भी दयनीय है। इधर बिजली आई लोग पंखा आदि चलाकर सोने की तैयारी में जुटे की विद्युतापूर्ति ठप हो गई। पूरी रात तक चलने वाले कटौती के इस सिलसिले से लोग अंदर.बाहर करते रह जा रहे हैं। बिजली के इंतजार में लोगों के आंखों से नींद गायब हो जा रही है। यहां तक कि छोटे.छोटे बच्चे तक करवट बदलते रह जा रहे हैं। उधर अनियमित कटौती से लोगों के व्यवसायिक कार्य भी प्रभावित हो रहे हैं। आटा तेल चक्कियां ट्यूबवेल पम्पिंगसेट तक सुचारू रूप से संचालित नही हो पा रही हैं।
दूसरे दिन भी अमरौना गांवमें तैनात रही पीएसी

 भदोही। शुरू से ही गंगा जमुनी तहजीब के मिशाल को कायम रखने वाली कालीन नगरी भदोही में कतिपय अराजक तत्वों के कारण दो समुदायों के बीच उत्पन्न हुईै  तनाव की स्थिति को लेकर कोतवाली क्षेत्र के नई  बाजार स्थित फत्तूपुर अमरौना गांव में रविवार को दूसरे दिन भी पुलिस एवं पीएसी के जवानों की तैनाती कायम रही। जहां एक ओर शनिवार को लोग आपसी सौहार्द और प्रेम के प्रतीक पर्व ईद की खुशियों में शामिल रहे। वहीं नई बाजार क्षेत्र के उक्त गांव में सांप्रदायिक सौहार्द तार-तार होते-होते बचा। समय रहते मामले की जानकारी होने पर उच्चाधिकारियों के त्वरित कार्यवाही से एक बड़े मामले को पर काबू पा लिया गया अन्यथा स्थिति काफी गंभीर रूप बदल चुकी थी। यद्यपि स्थिति को नियंत्रण में ला दिया गया है, लेकिन एहितायत के तौर पर गांव में तैनात पुलिस एवं पीएसी पूरी सक्रियता बनाये हुए है। गौरतलब हो कि उक्त गांव में 13 जून को दलित परिवार के बीच आये बारात में रात के समय आर्केस्टा कार्यक्रम चल रहा था। आरोप है कि इसी बीच संप्रदाय विशेष के पहुंचे कुछ युवकों ने स्टेज पर चढ़कर नर्तकी से छेड़छाड़ करने लगे। उस समय मामला किसी तरह शांत हो गया, लेकिन शनिवार को ईद पर्व के दिन दो समुदायों के बीच जमकर चले ईंट पत्थर और तोडफ़ोड़ से तनाव पूर्ण वातावरण बन गया। इस मामले में एक पक्ष की माने तो दूसरे पक्ष के लामबंद हुए पहुंचे लोगों ने उनके घरों पर पथराव, तोडफ़ोड़ के साथ ही लोगों को मारापीटा। वहीं यह सूचना फैलते ही पुलिस क्षेत्राधिकारी भदोही अभिषेक कुमार पांडेय सहित अन्य अधिकारियों ने गांव में पहुंचकर त्वरित कार्रवाई कर 18 लोगों को शाम होते-होते गिर तार कर जेल भेज दिया। साथ ही नामजद व अज्ञात आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में कार्रवाई भी की गई है। अब तक 48 लोगों को शांतिभंग की आशंका में पाबंद भी किया जा चुका है। रविवार को पुलिस एवं पीएसी के जवानों के तैनाती के बीच रहे आलम में गांव में पूरी तरह से सन्नाटा छाया रहा। लोग अपने घरों में ही दुबके रहे। इस दौरान गांव में पहुंचे भाजपा जिलाध्यक्ष हौसिला प्रसाद पाठक, पालिकाध्यक्ष अशोक कुमार जायसवाल सहित अन्य भाजपा नेताओं ने दलित परिवार के बीच जाकर वस्तु स्थिति की जहां जानकारी ली, वहीं उन्हें पूरी तरह से न्याय दिलाने का भरोशा भी दिलाया। इस संबंध में हुई बातचीत में भाजपा जिलाध्यक्ष श्री पाठक ने कहा कि जिस तरह से दलित परिवार के बीच जाकर घर में घुसकर महिलाओं और बच्चों को मारा पीटा गया, यह एक गंभीर अपराध है। कहा कि वहां पर किसी भी अप्रिय की घटना की संभावना थी, लेकिन पुलिस प्रशासन ने अपने स्तर से कार्रवाई करते हुए स्थिति को नियंत्रण में लाने का काम किया। उन्होंने कहा कि जिले के प्रशासनिक अधिकारियों के साथ इस मामले में बात भी की गई है। जो दोषि और आरोपी है, उनकी गिर तारी भी जारी है। कहा कि सामाजिक सद्भाव और कानून व्यवस्था के खिलवाड़ करने वाले लोग चाहे जो भी, वह कार्रवाई से बच नहीं सकते। वहीं दूसरी तरफ घटना के बाबत गांव के कुछ लोगों ने बताया कि यहां पर दोनों वर्गो के लोग मिलकर रहते हैं दुर्भाग्य था कि झगड़ा दो समुदायों के बीच बढ़ा। कहा कि यह दो समुदाय नहीं बल्कि ऐसे ना समझ लोगों का झगड़ा रहा, जो किसी भी दशा में सही नहीं है। देखा जाय तो कालीन नगरी के सौहार्द पूर्ण माहौल को समय-समय पर अराजक तत्वों द्वारा बिगाडऩे की कोशिश होती रही है, लेकिन हर बार यहां के अमन पंसद लोगों ने उनके मंसूबों को ध्वस्त भी किया है। फिलहाल गांव के स्थिति को लेकर प्रशासन पूरी तरह से सजग है। साथ ही आरोपियों पर कार्रवाई भी जारी है। वहीं दूसरी तरफ लोगों के बीच बनी चर्चाओं पर गौर किया जाय, तो इस तरह के मामले प्रशासन के लिए भी काफी गंभीर है। भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो, इसके लिए और भी कड़े कदम प्रशासन से उठाने की मांग भी लोग कर रहे हैं। वहीं उपरोक्त प्रकरण में क्षेत्राधिकारी भदोही की कुशल कार्यशैली और त्वरित सक्रियता से माहौल नियंत्रण में आने को लेकर लोगों में सराहना का विषय भी बना हुआ है।
अंधाधुंध विद्युत कटौती से लोग बेहाल
मोढ़। भीषण गर्मी के बीच जारी विद्युत कटौती की समस्या में कोई सुधार नहीं आ पा रहा हैै। बिजली कब आयेगी और कब जायेगी न तो इसकी कोई समय सीमा रह गयी है और न ही अधिकारी ही कटौती को लेकर कुछ जानकारी दे पा रहे हैं। बताया जाता है कि  24 घंटे में कुल मिलाकर 6 से 7 घंटे की ही आपूर्ति हो पाना मुश्किल हो गया है। हालत यह है कि बिजली के अभाव में घरों में रह रहे लोग जहां गर्मी और उमस से जुझ रहे हैं, वहीं द तरों और प्रतिष्ठानों में होने वाला कार्य भी प्रभावित हो रहा है। एक ओर सरकार गांव में 20 घंटे की आपूर्ति का दावा कर रही है, तो दूसरी तरफ विभागीय स्तर पर बरती जा रही लापरवाही सरकारी दावे की धज्ज्यिां उड़ा रही है। बिजली की समस्या से जुझ रहे लागों ने कहा कि बेहिसाब कटौती के चलते लोगों का दिनचर्या पूरी तरह से बाधित बना हुआ है। बारिश के मौसम में धान की रोपाई को लेकर खेतों में नर्सरी डाले किसान उसे बचाने के लिए मारे-मारे फिर रहे हैं। किसानों का कहना है कि पानी के अभाव में नर्सरी को कैसे बचाया जा सके, यह एक गंभीर चुनौती बन चुका है। हद तो यह है कि विभाग की बेलगाम नीति पर सत्ता पक्ष के जनप्रतिनिधि भी कुछ नहीं बोल रहे हैं। ऐसे में लोगों के बीच काफी आक्रोश बना हुआ है। किसानों ने मांग किया कि आपूर्ति व्यवस्था में जल्द सुधार लाया जाय, अन्यथा किसान विभाग का घेराव व प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे।
शालापूर्व शिक्षा पाठ्यक्रमपर दिया प्रशिक्षण

औराई। डा. श भूनाथ सिंह रिसर्च फाउंडेशन द्वारा प्लान इंडिया के सहयोग से जनपद भदोही में ब्लाक औराई के 27 ग्राम पंचायतों के 34 समुदायों के 46 आंगनवाड़ी व सुपरवाइजरों की शालापूर्व शिक्षा पाठ्यक्रम एवं शिक्षण प्रशिक्षण अधिगम तैयार करने हेतु तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम ब्लाक मु यालय सभागार औराई में स पन्न हुआ।
कार्यक्रम के दौरान बाल विकास परियोजना अधिकारी  आमोद कुमार ओझा ने कहा कि इस प्रशिक्षण के द्वारा आंगनवाड़ी कार्यकत्र्रियों में बच्चों के विकास में एक सकारात्मक कौशल का विकास होगा साथ ही शिक्षण प्रशिक्षण अधिगम तैयार करने का कौशल प्राप्त करके उन्हे अपने केन्द्रों पर बच्चों के विकास हेतु खिलौने आदि बनाने में भी मदद मिलेगी, जिससे बच्चों का केन्द्रों पर ठहराव बढ़ेगा। दो बैच में चलने वाले इस प्रशिक्षण को शरीफा प्लान के परियोजना प्रबन्धक महेंद्र कुमार शुक्ला एवं परियोजना समन्वयक अजय कुमार मिश्रा द्वारा प्रदान किया जा रहा है। जिन्होंने पूर्व में दिल्ली से इसका प्रशिक्षण प्राप्त किया है। कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुये शरीफा प्लान के परियोजना प्रबन्धक महेंद्र कुमार शुक्ला ने बताया की महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा पहल पुस्तिका सभी कार्यकत्रियों को पूर्व में प्रदान किया गया है, परंतु अभी तक कार्यकत्रियों को उसकी तकनीक एवं कौशल के बारे में जानकारी नही था। जिससे वह बंद होकर केवल शोपीस बनकर रह गई थी। उन्हें संबन्धित विषयों व पाठ्यक्रमों पर आधारित शिक्षण संबंधी खिलौनों एवं खेल-खेल में सिखाने वाले अधिगम सामग्रियों को बनाने का कौशल प्रदान किया गया। साथ ही उनके केन्द्रों पर उपलब्धता हेतु चार्ट, पोस्टर, खिलौने, मार्कर, पेंट, कलर, अक्षर ज्ञान, जानवरो की पहचान स बन्धों व संस्कार सामग्री उपलब्ध कराई गई, जिससे बच्चों का सर्वांगीण विकास हो सके। परियोजना समन्वयक अजय कुमार मिश्रा द्वारा कार्यकत्रियों को बच्चों के चार विकास शारीरिक मानसिक भाषा व संग्यानात्मक विकास संबंधी जानकारी विभिन्न प्रकार के खेलों एवं खेल सामाग्रियों द्वारा प्रदान किया गया। कार्यक्रम में सिउर, नकटापुर, कुरौना, लोकमानपुर, इटवा, तिउरी, उमरहा, विक्रमपुर, कुनवीपुर की कार्यकत्रियां एवं उनके सुपरवाइजर के अलावा परियोजना के दिव्या, सत्यादेव और फुलगेंन व रमेश पाठक उपस्थित थे।
केन्द्र सरकारमें दलितों, पिछड़ों पर बढ़ा अत्याचार

भदोही। समाजवादी पार्टी की ओर से जिले में चलाये जा रहे पिछड़ा और अति पिछड़ा व दलित जोड़ों अभियान के क्रम में क्षेत्र के खेतलपुर गांव में रविवार को बैठक का आयोजन किया गया। इस अवसर पर 2019 के होने वाले आम चुनाव को देखते हुए सभी पिछड़ों, अति पिछड़ों तथा दलित समाज के लोगों से एकजुटता का आह्वान किया गया। बैठक में कार्यक्रम के आयोजक ह्दयनारायण प्रजापति ने कहा कि केंद्र और राज्य मं ेचल रही भाजपा सरकार विकास के साथ ही कानून के मुद्दे पर पूरी तरह से विफल साबित हो रही है। सरकार में आयेदिन दलित और पिछड़ों के साथ अन्याय हो रहा है। कहा कि दलितों और पिछड़ों की बात पूरी तरह से सत्ता के इसारे पर सरकारी मशीनरी अनदेखी कर रही है। कहा  िकइस सरकार में अपराधियों के सफाये के नाम पर फर्जी एनकाउंटर की आड़ में पिछड़े और दलितों को निसाना बनाया जा रहा है। महिला उत्पीडऩ, दुष्कर्म तथा हत्या और अराजकता का पूरे प्रदेश में इस समय पर माहौल बना हुआ है। कहा कि झूठे वादे और झूठके सपने दिखाकर भाजपा ने दलित और पिछड़ों का  वोट लेकर सत्ता में पहुंचने के बाद दोहरी राजनीति का खेल खेल रही है। एक तरफ इस समाज के उत्थान की बात हो रही है, तो दूसरी तरफ इस समाज से आने लोगों को फर्जी मुकदमें में फंसाया जा रहा है। प्रदेश में मौजूदा समय में बने हालात खुद गवाही दे रहे हैं  िकइस तरह यह सरकार महिलाओं के साथ अत्याचार और बलात्कार करने वाले विधायकों को बचाया जा रहा है। ऐसी स्थिति में जनता भय और दहशत के साये में जीवन जीने को विवश है। कहा कि केंद्र में चार साल और प्रदेश में डेढ़ साल की भाजपा सरकार ने विकास का कोई नया कार्य नहीं किया। वहीं जो पूर्व की सरकार में जनहित से जुड़े कार्य हो रहे थे, उसे भी बंद करने का काम कर रही है। कहा कि अपने अधिकार और स मान को लेकर दलित और पिछड़ा समाज भाजपा के बहकावें में आने वाला नहीं है। कहा कि 2019 को लोकसभा चुनाव  देश और प्रदेश के लिए महत्वपूर्ण है। झूठी सरकार को सबक सिखाने के लिए जनता अब तैयार है। बैठक में सलाउद्दीन अंसारी, घनश्याम पासी, रविशंकर यादव, गुलाब पाल, जटाशंकर प्रजापति, सरिता गौड़, कमला देवी, जीत लाल पटेल, गुलाब अंसारी, रामलाल गौड़, रामशिरोमणि बिंद, मुन्ना विश्वकर्मा, भोला यादव, देवा जायसवाल, महेश यादव, कैलाश नाथ समेत काफी सं या में लोग मौजूद रहे।
परिश्रम ही हो हमारा ध्येय
ज्ञानपुर। शुक्रवार को नगर स्थित हंसवाहिनी कोचिंग में विदाई समारोह का आयोजन हुआ। जिसमे कार्यक्रम की शुरुआत माँ सरस्वती के प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर दीप प्रज्ज्वलित किया गया। उसके पश्चात टेस्ट परीक्षा में टॉप टेन व टॉप फाइव आने वाले छात्र.छात्राओं को पुरस्कृत भी किया गया। अपने सम्बोधन में ओमप्रकाश पाण्डेय ने कहा कि मन में अगर कुछ करने की जिद हो तो सफलता अवश्य मिलती है। उन्होंने कहा कि परिश्रम हमारा मुख्य ध्येय होना चाहिए। विनोद तिवारी ने कहा कि हमे सफलता पाने के लिए कठिन परिश्रम करना होगा तो वहीं अनिरुद्ध तिवारी ने कहा कि अगर हमारे अंदर कुछ करने की तमन्ना हो तो हम जरूर सफल हो सकते है। इस मौके पर अनेक लोग मौजूद थे। 

कारखाना संचालककी अब तक नहीं हुई गिरफ्तारी
ज्ञानपुर। कालीन कारखाना संचालको द्वारा आये दिन बाल मजदूरी  कराने के मामले सामने आते रहते है। लेकिन कम्पनी संचालको पर सम्बंधित विभागो द्वारा कोई ठोस कदम न उठाये जाने के कारण उनके हौसले बढे रहते है। जबकि देखा जाय तो बचपन बचाओ आन्दोलन संस्था द्वारा माह नवम्बर २०१७ को २९/३० नवम्बर कालीन कारखाना द्वारा कराये जा रहे बाल बंधुओ मजदूर के मामले में सख्त कदम उठाते हुए भदोही कोतवाली में धारा ३७०ए, ३७४, ७५, ७६ की धारा में मुकदमा दर्ज होने के बावजूद भी अभी तक संचालक की गिरफ्तारी न होना विभाग पर एक बड़ा प्रश्न चिन्ह लगा रहा है। सबसे अहम बात यह भी है कि न्यायपीठ बाल कल्याण समिति में अभी तक चार्जशीट नही पेश किया गया है जिससे केश का फैसला नही आ पा रहा है। मामले को घटित हुए सातवा माह चल रहा है। ज्ञात हो कि एक ठेकेदार द्वारा बिहार प्रदेश के बडरवारी थाना ताडावारी से १० बच्चो को भदोही कोतवाली अन्तर्गत नई बाजार स्थित एक कालीन प्रतिष्ठïान में काम पर लगा दिया गया। उक्त बालको को भदोही कोतवाली पुलिस द्वारा उक्त कालीन कम्पनी से भी मुक्त कराया गया। तत्पश्चात बच्चो को न्यायालय बाल कल्याण समिति  द्वारा उनका मेडिकल परीक्षण कराने के पश्चात अभिभावको को सौप दिया गया। सच तो यह है कि यदि विभाग द्वारा कोई ठोस कार्रवाई कालीन कारखाना संचालक के खिलाफ नही की गयी तो संचालक इसी तरह बाल बधुआ मजदूरी कराते रहेगे। इस पर विभाग सख्त कदम उठाये ताकि कालीन कम्पनी संचालक बाल बधुआ मजदूरी कराने पर सोचे।
मृतक व्यक्तिके नामसे विद्युत विभागने कराया एफआईआर
ज्ञानपुर। हाय रे विद्युत विभाग। विद्युत विभाग ड्यूटी इतने अच्छी तरह से निभायी कि मृतक व्यक्ति के नाम से ही गोपीगंज थाने में विद्युत चोरी करने के आरोप में गोपीगंज थाना क्षेत्र के पुरेगुलाब गांव निवासी मृतक शिव नारायण तिवारी के नाम से मुकदमा दर्ज करा दिया। उक्त मामले को लेकर क्षेत्रवासियों में विद्युत विभाग द्वारा किये गये इस कृत्य की घोर निन्दा की गयी। जबकि यह भी चर्चा सामने आया कि विभाग आंख खोलकर नही बल्कि आंख मुदकर काम करने में विश्वास रखती है। उक्त मामले को लेकर समाजसेवी धर्मेन्द्र कुमार द्विवेदी द्वारा इस कार्य को लेकर आन्दोलन करने की चेतावनी दे डाली है। समाजसेवी श्री द्विवेदी ने पूरे मामले की जानकारी मुख्यमंत्री, उर्जामंत्री सहित जिलाधिकारी को ज्ञापन सौपकर चेताया हेै कि यदि १८ जून तक विद्युत विभाग द्वारा बरती गयी लापरवाही के खिलाफ कार्रवाई नही की गयी तो एक दिवसीय अनशन किया जायेगा। ज्ञापन के माध्यम से बताया कि जब उक्त मामले को लेकर विद्युत विभाग के उच्चाधिकारियों को अवगत कराया गया तो मामले का हल करने के बजाय असंसदीय शब्दो का प्रयोग किया जिससे क्षुब्ध होकर वापस चले आये और फरियाद का निस्तारण नही हो पाया। श्री द्विवेदी ने कहा कि विद्युत विभाग के खिलाफ आरपार की लडाई लडकी जायेगी। 
फि ल्टर पानीके नाम पर बिक रहा ठंडा टंकीका पानी
गोपीगज। नगर में इन दिनों फिल्टर आर
ओ पानी पिलाने के नाम पर तेजी से गोरख धंधा फल फूल रहा है जहां देखिए वही लोग आ रो पानी बेचने के नाम पर प्लांट लगाकर प्लास्टिक की टंकियों में भरकर ठंडा पानी की सप्लाई धड़ल्ले से कर रहे हैं जबकि खुलेआम बिक रहे मानक के विपरीत ठंडा पानी के गुणवत्ता व मानक की सही जानकारी न तो बेचने वाले दुकानदार को है न हीं खरीदने वाले उपभोक्ताओं को है ऐसे में  जिला खाद्य विभाग महकमा मौन धारण किए हुए हैं देखा जाए तो खाद विभाग के अधिकारी आए दिन बाजारों में सैंपल के नाम पर हड़कंप मचाए रहते हैं लेकिन जिले में कई जगह आरो पानी के नाम पर ठंडा पानी बिक रहा है ऐसे में विभाग मौन धारण किए हुए हैं जिस पर आम उपभोक्ताओं ने सवालिया प्रश्नचिन्ह खड़ा कर दिया है जबकि  लोग घरों में भी  आरो मशीन लगाकर  स्वच्छ और शुद्ध पानी पी रहे हैं बताते चलें कि गोपीगज बाजार में दर्जनों आ रो प्लांट धड़ल्ले से खुल गए हैं और यह अपने वाहनों में ठंडा पानी कर घर घर छोटी टंकियों में पानी भर सप्लाई कर रहे हैं और गर्मी के दिनों में इनकी सप्लाई अन्य दिनों से कई गुना अधिक बढ़ जाती है जिससे यह उपभोक्ताओं का आर्थिक शोषण आर ओ के नाम पर ठंडा पानी पिलाकर कर रहे हैं जो मानक और स्वास्थ के बिल्कुल विपरीत है और स्वास्थ्य के ऊपर भी इसका गलत असर पड़ता है ज्यादा ठंडा पानी पीना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक बताया जाता है मामले को लेकर बताते हैं कि शादी विवाह में जहां आ रो पानी की सप्लाई के नाम पर दुकानदार ठंडा पानी बेच रहे हैं वही लोग अपने घरों में भी इन दिनों ऐसे ही पानी का उपयोग कर रहे हैं मामले को लेकर नागरिकों ने जिला खाद्य अधिकारी से मांग किया है कि अनाधिकृत रूप से संचालित ऐसे आर ओ प्लांट के पानियों की जांच कर इनके खिलाफ तत्काल वैधानिक कार्यवाही सुनिश्चित करें जिससे आम जनजीवन व स्वास्थ्य के साथ कोई खिलवाड़ ना कर सके।
डाक विभाग आधुनिककरण बनानेके लिए सीएसआईकी शुरुआत
उंज। जनता और ग्राहक सेवा बेहतर बनाने के उद्देश्य से भारत सरकार के निर्देश पर सीएसआई प्रणाली का शुभारंभ 19 जून से किया जाएगा डाक विभाग की डिजिटल लेनदेन एक कदम रख रहे हैं डाक विभाग कोर सिस्टम इंटीग्रेशन सीएसआई। की सुविधा शुरू करने की तैयारी चल रही है डाक विभाग का आधुनिकरण के क्षेत्र में एक कदम और आगे बढ़ाएं डाक अधीक्षक वाराणसी पश्चिम मंडल प्रभाकर त्रिपाठी ने बताया कि शहरी ग्रामीण डाकघरों वाराणसी प्रधान डाकघर से जुड़े भदोही जिले के समस्त डाकघर  शाखा डाकघर को सीएसआई लागू होने की तैयारी चल रही है समस्त ग्राहक को ऑनलाइन की सुविधा मिलेगी इसके लिए डाकघर की वेबसाइट से जुड़ेंगे अब ग्राहक घर बैठे बुकिंग वितरण बैंकिंग बीमा सहित तमाम योजनाएं की जानकारी ले सकेंगे खास बात यह कि एक ही काउंटर पर सभी कार्य हो जाएंगे काम में तेजी आएगी और ग्राहकों को सुविधा मिलेगी सभी प्रधान डाकघर शाखा डाकघर को निर्देशित किया गया कि कि16 जून से18 जून तक समस्त वित्तीय लेने देने बंद रहेगा जिससे सीएसआई रोलआउट लागू किया जा सक ग्राहक से अपील है कि प्रणाली के शुभारंभ तक डाक से लेन देन बंद रहने की अवधि तक सहयोग एवं धैर्य बनाएं।
कोनिया क्षेत्रमें एक सप्ताहसे विद्युत आपूर्ति नहीं
सीतामढी। डीघ विकास खण्ड के कोनिया क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति दोपहर में एक सप्ताह से न होने पर क्षेत्रीय लोगो में आक्रोश बना हुआ है। बेचैनी बढ़ा देने वाली गर्मी असहनीय होती जा रही है। सितम ढा रहे सूर्यदेव आसमान से आग बरसा रहे हैं और पारा 44 पार पहुंच गया है। तपति धूप व प्रचंड गर्मी से जीना मुहाल हो गया है।  उमस भरी गर्मी का कहर इस कदर बढ़ गया है कि लोगों का जीना मुहाल है। मौसम की बेरुखी से संक्रामक बीमारियों का प्रकोप बढ़ गया है।  सूर्यदेव का रौद्र रुप देख लोग घरों में कैद होने को विवश हो गए। सुबह दस बजते ही धूप इतना तल्ख हो गया कि घर से बाहर निकले लोग छांव की शरण में जाने को विवश हो गए। प्रचंड गर्मी व चिलचिलाती धूप में पड़ते ही घर से बाहर निकले लोग चकरा जा रहे हैं। तल्ख धूप व गर्म हवा की थपेड़ों ने घर से बाहर निकलना दुभर कर दिया है। सोमवार को सुबह दस बजते ही भगवान भास्कर का रौद्र रूप देख लोग घरों में कैद होने को विवश हैं। महाराजा चेतसिंह जिला अस्पताल में ओपीडी खुलने के पूर्व ही पंजीयन कक्ष के बाहर मरीजों का तांता लगना शुरू हो गया था। ओपीडी में मरीजों की लंबी कतार देख चिकित्सक भी पसीना.पसीना होते रहे। दोपहर 12 बजे तक लगभग तीन सौ से अधिक मरीजों का पंजीयन हो चुका था। जबकि वार्ड में उल्टीए दस्तए डायरियाए बुखारए सर्दीए पेट दर्द व मलेरिया से ग्रसित तीन दर्जन से अधिक मरीज वार्ड में भर्ती हैं। पानी की तलाश में मवेशी इधर.उधर भटक रहे हैं। गर्मी से बचाव का हर फंडा पल भर में फेल हो जा रहा है। रात में बत्ती गुल होते ही महिलाओं व बच्चों पर मानों मुसिबत आन पड़ती है। चिपचिपी गर्मी के बीच बेतहासा बिजली कटौती कोढ़ में खाज साबित हो रहा है। चिलचिलाती धूप व उमस भरी गर्मी ने खूब पसीना छुड़ाया। घर से बाहर निकले लोग उफ उमस हाय रे गर्मी कहते नजर आए। शरीर से झरने की तरह बहते पसीने ने उमस की तासीर बंया की। गर्मी व त्वचा झुलसा देने वाली धूप से भयभित हुए लोग घरों में कैद होकर रह गए हैं। तीखी धूप के बच चल रही गर्म हवा की थपेड़ों से लोगों के होठ सूख जा रहे हैं।
जिलाधिकारी राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि...
दो माह पूर्व निर्देश के बाद डेंजर जोन एरिया को लोहे की पाइपों के सहारे रस्सियों से सुरक्षित कर दिया गया था। पर्यटकों और यहां स्नान करने वालों के लिए हिदायत भी लिखी गयी हैए लेकिन उसकी परवाह किए बगैर लोग बैरिकेडिंग तोड़कर डेंजर जोन में चले जाते हैं जिसकी वजह से डूब जाते हैं। जिला प्रशासन इस तरह की घटनाओं पर दु:ख व्यक्त करता है। जल्द ही यहां बड़ा बोर्ड लगाया जाएगा। जब तक पानी कम है वहां और मजबूत बैरिकेटिंग करायी जाएगी। जल पुलिस स्थापना के सवाल पर जिलाधिकारी ने कहा कि शासन को पत्र लिखा गया है कि उम्मीद है कुछ न कुछ होगा। उम्मीद पर तो दुनिया कायम है। उन्होंने डेंजर जोन में स्नान न करने की हिदायत दी है व अपील भी की है।
आपसी विवादको लेकर तीन हिरासतमें
गोपीगज। कोतवाली छेत्र के भटपुरवा गांव निवासी तीन व्यक्तियों को पुलिस ने शांति भंग की आशंका में गिरफ्तार कर लिया बताया जाता है कि गांव निवासी विजय यादव जय प्रकाश यादव तथा विजय शंकर यादव को पुलिस ने आपसी विवाद के मद्देनजर हिरासत में लेकर चालान कर दिया।
करेण्टसे बालिका झुलसी
गोपीगंज । थाना क्षेत्र के गांधी गांव में रविवार को साहिबा नामक सात वर्ष बालिका गंभीर रूप से जख्मी हो गई। इलाज के लिए उसे सीएचसी में भर्ती कराया गया जहा प्राथमिक उपचार के बाद  बालिका को  चिकित्सक ने अन्यत्र उपचार करने के लिए  रेफर कर दिया बताते हैं गांव निवासी शमशाद की पुत्री घर में लगे विधुत उपकरण के स्पर्श में आकर गंभीर रूप से झुलस गई।
ब्लाक स्तरीय सम्मेलन १८ को
ज्ञानपुर। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजबब्बर जी के आवाह्नन पर होने वाले ब्लाक स्तरीय सम्मेलनों की कड़ी में भदोही जिले के औराई ब्लाक का सम्मेलन १८ जून दिन सोमवार को दिन 4 बजे से उगापुर  बाजार में रामजानकी मंदिर पर होगा। जिसमे आप सभी काँग्रेस जनो पार्टी पदाधिकारी उपस्थित होकर कार्यक्रम को सफल बनायें।
समर्थन जुटानेमें सक्रिय होने लगी पार्टियां
सीतामढ़ी। ज्यों . ज्यों 2०19 के चुनाव का समय नजदीक आता जा रहा है सभी दल अपने अपने तरीके से समर्थन जुटाने में तेजी से जुटती दिख रहीं हैं। सत्ताधारी पार्टी भाजपा भी समर्थन मुहिम चला रही है। इसी क्रम में पार्टी के निर्देश पर भाजपा प्रदेश कार्य समिति सदस्य व पूर्व सांसद भदोही पंण् गोरखनाथ पाण्डेय ने ज्ञानपुर और औराई विधानसभा क्षेत्र के जनता जनार्दन व विशिष्ट गणमान्य लोगों से मुलाकात कर सरकार की उपलब्धियां गिनाकर 2०19 में भाजपा के पक्ष में समर्थन मांगा। इस वोट एंड सपोर्ट के विशेष अभियान के तहत रविवार को श्री पाण्डेय ने डा.राजेश सिंह समाजसेवी डा.एसएनप्रसाद व्यवसायी रतनलाल अग्रहरी भगवती प्रसाद तिवारी, परमानन्द उपाध्याय वरिष्ठ एडवोकेट रविन्द्र नाथ एडवोकेट डा.एल.एस मिश्र मुख्य चिकित्साधिकारी से मुलाकात कर समर्थन मांगा। इस दौरान उनके साथ वरिष्ठ भाजपा नेता सरयूनाथ शुक्ल अरविन्द शुक्ल कृष्ण कुमार सर्राफ विरेन्द्र पाण्डेय गणेश कौशल सहित कई लोग रहे।

बाइक चलाते पुत्र को लगी झपकी, मां की हालत नाजुक
गोपीगज। मिर्जापुर शहर के कनौरा घाट ननिहाल से वापस आ रहे हैं पुत्र तथा मां की सड़क दुर्घटना में जहा पुत्र बाल.बाल बच गया वही बाइक से गिरने के कारण मां की हालत नाजुक बताई जा रही है ज्ञात हो कि इलाहाबाद जनपद के हंडिया कोतवाली ग्राम चकमासुम निवासी दुर्गावती देवी पत्नी चिंतामणि 48 वर्ष अपने पुत्र दीनदयाल उम्र 28 वर्ष के साथ अपने मायके से वापस घर बाइक से जा रही थी तभी मिजऱ्ापुर मार्ग स्थित ग्राम सभा के सामने पुलिया के पास चालक को बाइक चलाते समय झपकी आ जाने के कारण बाइक जब अनियंत्रित हो गई तो पीछे बैठी मां बाइक से नीचे गिर गई जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई आनन.फानन में ग्रामीणों ने 108 एंबुलेंस को सूचना देकर उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भेजा।
सरकारने आम जनताको सिर्फ ठगा-सुधाकर
ज्ञानपुर। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजबब्बर जी के निर्देश पर हो रहे पोल-खोल कार्यक्रम के अंतर्गत आज भदोही जिले में ज्ञानपुर ब्लाक के देवनाथपुर बाजार में जिलाध्यक्ष डॉ नीलम मिश्रा की अध्यक्षता में सभा की गयी जिसमे प्रदेश महासचिव सुधाकर तिवारी जी भी उपस्थित थे। सभा को सम्बोधित करते हुए सुधाकर जी ने कहा कि मोदी सरकार ने जनता को सिर्फ  धोखा दिया है जिसका जबाब जनता उन्हें 2०19 के लोकसभा चुनाव में देंगी। इसी क्रम में जिलाध्यक्ष डॉ नीलम मिश्रा ने कहा कि आज अगर मोदी सरकार के 4 वर्षों के शासनकाल की निष्पक्ष समीक्षा किया जाय तो मालूम होता हैं कि जनता से किये गए वादों के जगह केवल धोखा व विश्वासघात मिला है जितने भी वादे थे जैसे रोजगार कश्मीर शिक्षा विदेश नीति पाकिस्तान से एक के बदले राममंदिर धारा 37० समान नागरिक संहिता जैसे तमाम वादे छोड़ कर नफरत और सामाजिक विद्वेष तथा डर का माहौल देश मे पैदा किया जा रहा और अदूरदर्शिता की वजह से उत्साह में नोटबन्दी कर कितने लोगों की बेवजह जाने गयी और जी यस टी लगाकर व्यापारियों को संकट में डाल दिया जिससे देश की आर्थिक विकास रुक गया यही तक न रुकते हुए विदेशों में धन भेजने की सीमा बढ़ाकर अपने दोस्तों नीरव मोदी ललित मोदी माल्या जैसे लोगो की सहायता की जो देश की व्यवस्था को खराब कर रहा है आज कश्मीर जल रहा है रोज सैनिक मारे जा रहे है सेना के ऊपर पत्थरबाजी हो रही है पर सरकार एक तरफा सीज फायर का ऐलान कर बैठी है उन्होंने कहा ऐसी सरकार को सत्ता में रहने का कोई हक नहीं है आगे आने वाले लोकसभा चुनाव में इन्हें इसका जबाब मिल जाएगा। सभा का संचालन गुलजारी उपाध्याय व राजेन्द्र मौर्य ने किया। इस अवसर पर दर्जनों सपा नेताओ ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की जिसमे कन्हैया लाल बिन्द प्रमुख रूप से थे। उपास्थिति लोगो में प्रमुख रूप से श्रीउमापति मिश्र, जगदीश पासी, सुरेश उपाध्याय, संजीव दुबे, राजेश पाण्डेय, गुलजारी उपाध्याय, आनन्द उपाध्याय, अनिल मिश्रा, राजेन्द्र मौर्य, मनोज गौतम, लवकुश मिश्रा, सन्तोष पाल, सत्यप्रकाश, श्री प्रकाश उपाध्याय आदि उपस्थित थे।

दस दिनके अन्दर हो भुगतान
ज्ञानपुर। औराई तहसील क्षेत्र के फौदीपुर गांव निवासी बंशराज गोड के पक्ष मेंआयोग के फैसला देने के बावजूद भी नौकरी नही मिल पा रहा है। जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय में कंप्यूटर आपरेटर पर तैनात संविदा कर्मी को नौकरी से निकालने व मानदेय न दिए जाने के मामले में आयोग के आदेश के बावजूद भी निस्तारण नहीं हो सका। पीडि़त अपनी फरियाद को लेकर दर.दर की ठोकरें खाने को विवश है। ज्ञात हो कि संविदा पर जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय में वर्ष 2008 से 2013 तक कार्य किया था। उसको नौकरी से निकालने के साथ ही 102 दिन का मानदेय भुगतान भी नहीं किया गया। मामले को गंभीरता से लेकर आयोग के अध्यक्ष ने 22 मई को पीडि़त समेत जिलाधिकारी राजेंद्र प्रसाद व डीपीआरओ अनिल कुमार त्रिपाठी की मौजूदगी में सुनवाई कर आदेश पारित किया गया। आयोग की ओर से पीडि़त के अवशेष का भुगतान दस दिनों के भीतर व आउटसोर्सिंग के माध्यम से कार्य दिलाने का आदेश सुनाया गया। बावजूद इसके अभी तक मामले का निस्तारण न होने से आवेदक की समस्या की निदान नहीं हो सका है। हालांकि मामले में आज जिलाधिकारी की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय समिति सुनवाई करेगी।
विकास कार्योंमें लग रहा ग्रहण
कांवल। जनपद के विकास कार्यों में ग्रहण लगता हुआ दिखाई दे रहा है। विकास के नाम पर कागज में खानापूर्ति कर सब ओके दिखा दिया जा रहा है। गांव के मुखिया कहे जाने वाले प्रधान जी अपनी पीठ खुद ही थपथपाकर वाहवाही लूट रहे है। ग्राम प्रधान को शासन द्वारा जो जिम्मेदारी दी गयी है वे उसका भी पालन नही कर रहे है। ज्ञात हो कि ग्राम प्रधानों को रिबोरएशौचालय और आवास के समुचित कार्यों की जिम्मेदारी दी गयी है किन्तु प्रधानों के द्वारा यह लाभ अपने चहेतों को दिया जा रहा है और गाँव की अन्य जनता को लाभ नही मिल पा रहा है। यही नही कोटेदार और प्रधान मिलकर गांवो की जनता के हक को खा रहे है। आज टीम के द्वारा रविवार को प्रधानों के कार्यों की हकीकत को जानने के लिए जनपद के कुछ गांवो का भ्रमण किया गया। गांवों का भ्रमण के बाद तथा गांवों की जनता से पुछनें पर यही तथ्य सामने आया। अब प्रश्न यह है कि आखिर शासन द्वारा ग्राम प्रधानों के माध्यम से जो लाभ गांव की जनता को मिलना चाहिए वो क्यों नही मिल पा रहा है। सबसे बड़ी बात यह है कि उच्चाधिकारी जब गांवो में आते है तो उनके सामने शिकायतों का अम्बार लग जाता है लेकिन आखिर उन शिकायतों का निस्तारण क्यों नही किया जाता।
किशोरीने खाया विशाक्त पदार्थ
सुरियावां। भदोही कोतवाली क्षेत्र के सियरहां गांव निवासी सुजाता मौर्य 18 वर्ष पुत्री राम प्रसाद मौर्य रविवार की सुबह विशा त पदार्थ खा लेने से अचेत हो गई। किशोरी द्वारा विशा त पदार्थ क्यों और किन परिस्थिति में सेवन किया गया यह परिजन नहीं बता सके। जब उसे चक्कर आने लगा और वह गिर पड़ी तो परिजन उसे उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सुरियावां लेकर पहुंचे। जहां हालत बिगडऩे पर प्राथमिक उपचार के बाद जिला चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया। 
नपं नई बाजार अध्यक्षने पीडि़तोंका जाना हाल
भदोही। कोतवाली क्षेत्र के नई बाजार स्थित फत्तूपुर अमरौना गांव में दो समुदायों के बीच उपजे विवाद के मामले में नगर पंचायत नई बाजार अध्यक्ष व सपा नेता विजय सोनकर ने गांव में पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। इस दौरान श्री सोनकर ने कहा कि यह विवाद ना समझ युवकों के चलते हुआ था। पुलिस प्रशासन द्वारा बरती गई सक्रियता तथा त्वरित कार्रवाई से स्थिति अब नियंत्रण में है। कहा कि यहां कि लोग काफी अच्छे हैं। इस प्रकरण में पुलिस का कार्य सराहनीय रहा है।
ट्रेन की चपेटमें आने से युवककी मौत
दुर्गागंज। सरायकंशराय रेलवे स्टेशन के पश्चिमी आउटर के समीप भरदुआ गांव में शनिवार की रात लगभग 9:30 बजे सुपरफास्ट एक्सप्रेस टेऊन की चपेट में आने से एक युवक की मौत हो गई। बताया जाता है कि उक्त गांव निवासी आलोक यादव 21 वर्ष पुत्र गोली यादव शनिवार की रात रेलवे ट्रैक के किनारे खड़े होकर कान में ईयरफोन लगाकर मायके गयी अपनी पत्नी से मोबाइल से बात कर रहा था। इसी दौरान वाराणसी से जंघई होते हुए कुर्ला टर्मिनल की ओर जा रही उक्त ट्रेन की चपेट में वह आ गया। कान में ईयर फोन लगा होने के कारण ट्रेन की आवाज वह नहीं सून पाया था।
दूसरे दिन भी मना ईदका त्योहार 
भदोही। मुस्लिम समुदाय के बीच मनाया जाने वाला ईद का त्योहार दूसरे दिन भी सोत्साह मनाया गया। शनिवार को जहां ईद का त्योहार हंसी खुशी माहौल के दौर में रहा, वहीं रविवार को भी लोग एक दूसरे के बीच पहुंचकर पर्व की मुबारकबाद देते रहे। साथ ही सेवई और अन्य व्यंजनों का भी लोगों ने जमकर लु त उठाया।
सूर्यने तपाया, हवाने झुलसाया
कांवल। लगातार गर्मी से जनजीवन बेहाल हो रहा है। मौसम के इन दिनों सख्त तेवर से रोज तापमान में वृद्धि का अनुभव किया जा है। दिन में प्रचण्ड धूपए गर्मी तथा रात में मच्छरों का आतंक सिर पर चढ़कर बोल रहा है। रात में एक तो गर्मी के कारण नींद भी ठीक से नही आती दूसरे झपकी लगते ही मच्छर भी कानों के पास आकर भनभनाने लगते है। दिन में सूर्य की प्रचण्ड व तपती हुई किरणें सबकों परेशान कर देने वाली है। हां इतना जरूर है कि रात 12 बजे के बाद मौसम कुछ ठंडा जरूर होता है। जनजीवन पर गर्मी भारी पड़ रहा है। रविवार को जहां सूर्य ने अपनी किरणों से लोगों को तपकर रख दिया वहीं गर्म हवाओं के थपेड़ों ने लोगो को झुलसाकर रख दिया।
तेज धूपसे जीवन बेहाल
कांवल। आये दिनों से मौसम में काफी परिवर्तन हो रहा है। तेज धूप से जहां जनजीवन बेहाल है वहीं तेज हवाओं से शरीर झुलस सा जा रहा है। रविवार को दिन में तो धूप रहा लेकिन सायंकाल चार बजे के बाद मौसम एक बार फिर बिगड़ गया और आसमान में बादल छा गये। तेज हवाओं के चलने के कारण ऐसा मालुम होता था कि आंधी भी आयेगी। चारो ओर धूल.धूसरित सा दिखाई दे रहा था। हवाओं में गर्मी थी। गर्मी से निजात नही मिल पा रहा था। यही नही रोज मौसम धूल.धूसरित सा दिखाई दे रहा है।

भ्रष्टाचारकी शिकायतपर ८८ गांवोंकी जांच
ज्ञानपुर। जिला पंचायत राज अधिकारी अनिल कुमार त्रिपाठी ने बताया कि भदोही जिले के 561 ग्राम पंचायतों के 88 ग्रामसभाओं पर शिकायती पत्र के माध्यम से ग्रामीणों ने विकास कार्यों में धांधली बरत धन हड़पने का आरोप लगाया था। जिस पर अधिकारियों कर्मचारियों की टीम गठित कर जांच कराई जा रही है। किन्तु कई ग्राम पंचायतों के सचिवों द्वारा फाइल अभिलेख उपलब्ध कराने में लापरवाही बरत देरी की जा रही हैं जिस कारण जांच टीम कई गांव की फाइनल रिपोर्ट अब तक प्रस्तुत नहीं कर पाई है। यह गम्भीर विषय है। जांच में अपेक्षित व आवश्यक सहयोग न करने वाले सेक्रेटरी कार्यवाही के लिए तैयार रहें। बहरहाल ए अंतिम रिपोर्ट आते ही विकास कार्यों में अनियमितता बरत धन का गबन करने वाले प्रधानों व ग्राम पंचायत सचिवों के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। साथ ही गबन की गई धनराशि की वसूली भी कराई जाएगी। बता दें कि चतुर्थ राज्य वित्त व चौदहवें वित्त के माध्यम से ग्राम पंचायतों को करीब 2 वर्षों से लाखों की धनराशि गांव में विकास कार्य के लिए शासन द्वारा दी जा रही है। किन्तु लाखों की धन से मालामाल कई ग्राम पंचायतों के प्रधानों व सचिवों द्वारा मानक के अनुरूप तथा वित्तीय नियमों का अनुपालन कर विकास कार्य कराने के जगह अनियमितता बरत या सिर्फ कागजों पर काम दिखाकर धन का गबन बड़े पैमाने पर किया जा रहा है। जिससे गांव की स्थिति जस की तस बनी हुई है। इसी से आकर जिले के 88 गांव के आक्रोशित ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान और सचिव पर विकास कार्यों में धांधली कर भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाते हुए शिकायत की थी। जिसके मद्देनजर संबंधित ग्राम पंचायतों की टीम गठित कर जांच कराई जा रही है। बता दें कि जांच में गबन में लिप्त पाये गए परगासपुर मरसड़ा सहित कई गांवों के प्रधान व सचिवों के खिलाफ की जा चुकी है।
शीघ्र करायें कैशबुककी एमआईएमए, होगी काररवाई
 ज्ञानपुर। वित्तीय वर्ष समाप्त हुए लगभग तीन माह बीतने को हैं पर लाखों का उपभोग करने वाले जिले के अधिकांश ग्राम पंचायतों द्वारा अब तक आय व्यय का लेखा जोखा वेबसाइट पर फीड नही कराया गया है। डीपीआरओ अनिल कुमार ने वर्ष 2017.18 में हुए कार्यों के कैशबुक की एमआईएस फीडिंग कराने में ग्राम पंचायतों द्वारा बरती जा रही लापरवाही पर नाराजगी व्यक्त करते हुए सख्त निर्देश दिया है कि अतिशीघ्र एमआईएस अपलोड नहीं कराया गया तो सचिव व प्रधान के खिलाफ धन का गबन मानते हुए कार्यवाही प्रस्तावित कर दी जाएगी।
साड़ोंके हमलेसे छह घायल
महराजगंज। ग्रामीण क्षेत्रों में इन दिनों छूट्टा साड़ों का आतंक बढ़ जाने से लोगों में काफी भय बना हुआ है। हद तो यह है कि इसकी शिकायत वन विभाग से करने पर भी कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है। अब तक लगभग एक दर्जन से अधिक लोग सांड के आतंक की चपेट में आ गये है। जिनका उपचार जगह-जगह पर जारी है। बताया जाता है कि क्षेत्र के नेवादा, मगौली, घमहापुर सहित लगभग एक दर्जन गांवों में सांड का आतंक काफी तेजी से बढ़ा हुआ है। शाम ढलते ही जहां लोग घर के अंदर कैद हो जा रहे हैं, वहीं दिन में भी संभलकर चलने को विवश है। बताया जाता है कि सांड के प्रहार से शिवम श्रीवास्तव पुत्र अखिलेश श्रीवास्तव 25 वर्ष निवासी मगैनी, गजराज प्रजापति 30 वर्ष, अभिनव दीक्षित 6 वर्ष, सोनू 48 वर्ष, राजकुमारी 60 वर्ष निवासी नेवादा को सांड के प्रहार से गहरी चोट आयी है। उपरोक्त घायलों का उपचार विभिन्न अस्पतालों में हो रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि छूट्टा सांड इस समय लोगों के जान के दुश्मन बन गये हैं। कब, कहां किस समय सामने आकर प्रहार कर दें, यह कोई नहीं जानता। खेतों में बाई गई फसलों को जहां  क्षति पहुंचा रहे है, वहीं किसानों द्वारा डाली गई धान की नर्सरी को भी साड नष्ट कर दे रहे हैं। कहा कि इस आतंक से निजात दिलाने के लिए डायल 100 सहित वन विभाग को भी शिकायत की गई है, लेकिन अभी तक कोई आवश्यक कदम नहीं उठाया जा सहा है। नागरिकों ने मांग किया कि छूट्टा सांडों के आतंक के चलते दहशत में रह रहे लोगों को राहत दिलाने के लिए ठोस पहल किया जाय।

सिर कटे शव की हुई पहचान
दुर्गागंज। स्थानीय थाना क्षेत्र के कुढ़वा गांव स्थित जोगा पुल के नीचे गत 15 जून को अज्ञात युवक की सिर कटे मिले शव की पहचान शनिवार की देर शाम हो गई। मृतक युवक के भाई द्वारा उसकी सिना त की गई। बता दें कि 15 जून की सुबह उक्त पुल के नीचे एक अज्ञात युवक का सिरकटा शव पाया गया था। आशंकाओं के अनुसार उस युवक की हत्या किसी अन्यत्र जगह कर पुल के नीचे लाकर फेक दिया गया था। घटना प्रकाश में आने के बाद पुलिस द्वारा तमाम कोशीश के बाद भी उसकी सिना त नहीं हो पायी थी। वहीं इलाहाबाद जनपद के हंडिया थाना क्षेत्र अंतर्गत सैदाबाद सिरिया गांव निवासी मृतक के भाई ने मर्चरी हाउस पहुंचकर इसकी सिना त करते हुए कहा कि मृतक हजारी उर्फ रबि पासी 20 वर्ष पुत्र समरजीत पासी जो उसका भाई है। वहीं दूसरी तरफ घटना की छानबीन में जुटी पुलिस अभी भी हत्यारों तक नहीं पहुंच पायी है। मृतके के भाई के अनुसार वह परिवार से अलग रहता था और उसका विवाह भी अभी नहीं हो पाया था।