Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


क्रिकेट अब पावर गेम-उथप्पा

जयपुर (एजेन्सियां)। कोलकाता नाइट राइडर्स के आक्रामक बल्लेबाज राबिन उथप्पा का मानना है कि क्रिकेट 'पावर गेमÓ की ओर अधिक झुक रहा है और अब ऐसा लगता है कि किसी भी लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। उथप्पा ने कहा खेल में काफी बदलाव आए हैं। ऐसा लगता है कि अब किसी भी लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। मुझे लगता है कि क्रिकेट पावर गेम की ओर जा रहा है इसलिए लक्ष्य का पीछा करना अच्छा विकल्प है। केकेआर ने पांच मैचों में तीसरी जीत दर्ज की और उथप्पा ने कहा कि वह टूर्नमेंट में अपनी टीम की प्रगति से संतुष्ट हैं। हम जिस स्थिति में हैं हमें उसकी खुशी है। हम शीर्ष पर हैं और भले ही हमने एक मैच ज्यादा खेला हो लेकिन हमने अच्छा क्रिकेट खेला है। यह महत्वपूर्ण है कि हम सही समय पर अपना शानदार खेल दिखाएं। मिडिल आर्डर में उपयोगी योगदान देने के बाद उथप्पा अपनी बल्लेबाजी फार्म से भी खुश हैं। उथप्पा ने मैन आफ द मैच नीतीश राणा की भी तारीफ की जो अब तक पांच मैचों में १६२ रन बना चुके हैं। राजस्थान रायल्स के कप्तान अजिंक्य रहाणे ने केकेआर के खिलाफ बड़ा स्कोर नहीं खड़ा कर पाने के लिए स्वयं को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ मैच की तुलना में यह अलग विकेट था।

 यह धीमा था और गेंद नीची आ रही थी। मुझे लगता है कि यह मेरी जिम्मेदारी थी कि मैं पारी को आगे बढ़ाऊं। रहाणे ने कहा धीमी शुरुआत से उबरना मुश्किल होता है क्योंकि टी-२० एक या दो बड़े ओवरों का खेल है। मैं दूसरे छोर पर अच्छी बल्लेबाजी कर रहा था और १४वें या १५वें ओवर तक खेलना चाहता था। रहाणे ने कहा कि हार के लिए उनके गेंदबाज जिम्मेदार नहीं हैं और तीनों मैचों में उनके गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया है।
कार्तिक ने की धोनी के अंदाज में विकेटकीपिंग
जयपुर (एजेन्सियां)। कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) और राजस्थान रॉयल्स के साथ हुए मुकाबले का एक विडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है जिसमें केकेआर के कप्तान दिनेश कार्तिक ने शानदार विकेटकीपिंग का नमूना पेश करते हुए राजस्थान के कप्तान अजिंक्य रहाणे को चलता किया था। सातवें ओवर में अजिंक्य रहाणे बल्लेबाजी कर रहे थे। ३६ रनों पर खेल रहे रहाणे ने नीतीश राणा की गेंद पर आगे बढ़कर शाट लगाने का प्रयास किया लेकिन गेंद ज्यादा दूर नहीं गई और कार्तिक ने डाइव लगाकर उसे पकड़ लिया। रहाणे कार्तिक के हाथों में गेंद देखकर जबतक क्रीज की तरफ बढ़े तबतक बहुत देर हो चुकी थी। कार्तिक ने फटाफट गेंद लपकर हाथ को पीछे घुमाकर विकेट में दे मारा था। कार्तिक का यह स्टाइल कुछ-कुछ महेंद्र सिंह धोनीकी तरह था।