Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


किस्मत आजमाने उतरेंगे स्वीडन और द. कोरिया

निजनी नोवगोरोड (एजेन्सियां)। स्वीडन पिछले दो संस्करणोंसे गायब रहने के बाद स्टार खिलाड़ी ज्लातान इब्राहिमोविकके बगैर सोमवारको फीफा विश्वकपमें खेले जाने वाले अपने पहले मुकाबलेमें दक्षिण कोरियाके खिलाफ निजनी नोवगोरोड स्टेडियममें किस्मत आजमाने उतरेगी। दक्षिण कोरिया भी इस मैचमें अपने कप्तानकी सुंग युइंग और सोन हीयुंग मिनके दमपर ही स्वीडनको टक्कर देने उतरेगी। ऐसेमें दोनों टीमोंमें से विजेता टीमका आंकलन कर पाना मुश्किल है। साल २०१४ विश्वकपमें उतरी दक्षिण कोरियाकी टीमका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा और इस कारण वह ग्रुप स्तरसे आगे नहीं बढ़ पाई। हालांकि, २००२ में उसने सेमीफाइनल तकका रास्ता तय किया था। एशियाई देशोंमें दक्षिण कोरिया एकमात्र ऐसी टीम है जिसने विश्वकपमें सेमीफाइनल तकका सफर तय किया है। ऐसेमें उसके प्रदर्शन पर शक नहीं किया जा सकता। लाजमी है कि अपने मिडफील्डर और कप्तान यूइंगके दमपर वह स्वीडनको करारी टक्कर देने की कोशिश करेगी। इसके अलावा फारवर्ड मिनपर भी टीमका प्रदर्शन निर्भर करता है। स्वीडनके पास भले ही उसका स्टार खिलाड़ी इब्राहिमोविक न हो लेकिन उसकी सबसे बड़ी मजबूती उसकी एकता है। ऐसेमें वह अधिक प्रतिस्पर्धी है। टीमके महत्वपूर्ण खिलाड़ी और कप्तान आंद्रेस ग्रैक्विस्ट नेतृत्वके लिए पूरी तरहसे तैयार हैं। विक्टर क्लासेन भी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देनेकी कोशिश करेंगे। दक्षिण कोरियाके खिलाफ ऐसेमें स्वीडनको जीतकी आशा जरूर है लेकिन यह उसके लिए आसान नहीं होगा। प्रतिद्वंद्वी टीम भी अपने पहले मैचके लिए पूरी तरहसे तैयार है। दोनों टीमें जीतके साथ विश्वकप का आगाज करने की पूरी तैयारी में हैं इसीलिए यह मैच रोमांचक रहेगा। दक्षिण कोरिया के अहम खिलाड़ी सोनने कहा लोग जब मेरे बारेमें अच्छी बातें कहते हैं तो मुझे बहुत अच्छा महसूस होता है। हालांकि मैं पिच पर कैसा प्रदर्शन करता हूं यह मेरे लिए बेहद महत्वपूर्ण है। मैं जानता हूं कि कई लोगोंकी उम्मींदे मुझसे जुड़ी हुई हैं और इसीलिए मैं खुदपर अधिक जिम्मेदारी महसूस करता हूं। यह मैच भारतीय समयानुसार शाम ५.३० बजेसे खेला जायेगा।