Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


भारत दावेदार, पर पहला लक्ष्य क्वार्टर फाइनल हो

छोटी होती है ड्रैग फ्लिकरकी जिंदगी
टीममें नहीं होना चाहिए बार-बार गलती करने वाला खिलाड़ी
वाराणसी। विश्वकप में भारत की संभावनाएं काफी प्रबल है। मनप्रीत की इस टीम को अभी फाइनल नहीं क्वार्टर फाइनल में पहुंचने का लक्ष्य बनाना चाहिए। यह कहना है भारतीय हाकी टीम के पूर्व कप्तान ओलम्पियन संदीप सिंह का जो सामनेघाट स्थित सनबीम एकेडमी में पत्रकारों से रू-ब-रू थे। संदीप ने कहा कि भारत ने शुरुआत तो अच्छी की है पर उसे बेल्जियम से सतर्क रहना होगा, क्योंकि इस टीम ने अपने संघर्ष का लोहा मनवाया है। विश्वकप की अभी तो शुरुआत है ऐसे में कोई भी टीम अपने पूरे फार्म में नहीं आयी है। जैसे-जैसे मैच बढ़ता जायेगा टीमों का प्रदर्शन भी निखरता जायेगा। खिताब के दावोदारों के बाबत पूछे जाने पर संदीप ने कहाकि भारत को घरेलू मैदान का लाभ मिलेगा और वह चैम्पियन होने का सम्मान हासिल कर सकता है, इसके अलावा बेल्यिजम और आस्ट्रैलिया भी ट्राफी चूम सकते है। उन्होंने कहाकि भारत को आगे का सफर तय करने के लिए छोटी-छोटी गलतियों को सुधारना होगा। पेनलटी कार्नर विशेषज्ञ और ड्रैग फ्लिकर संदीप ने कहाकि ड्रैग फ्लिकर की लाइफ काफी छोटी होती है मैं सौभाग्यशाली हूं कि १० से ११ वर्ष तक खेल सका। सनबीम एकेडमी के समारोह में आये संदीप ने कहाकि खिलाडिय़ों को गलतियां दोहरानी नहीं चाहिए। अगर कोई खिलाड़ी बार-बार गलती करता है तो उसका टीम में स्थान कत्तई नहीं बनता। पूर्व कप्तान ने कहाकि आज के दौर में कोई छोटी टीम नहीं है। जापान की टीम काफी नीचे रैकिंग वाली टीम है आज वह एशिया कप की चैम्पियन है। उन्होंने कहाकि जिस टीम में युवा खिलाड़ी अच्छे होते है वें आगे बेहतरीन टीम बन जाती है। उन्होंने माता-पिता से कहाकि अगर उन्हें अपने बच्चों को नशे से बचाना है तो उन्हें खेल के मैदान में पहुंचाना होगा।