Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


एपीएलमें नांगरहरके कोच होंगे वेंकटेश

शारजाह (एजेन्सियां)। भारत के पूर्व तेज गेंदबाज और गेंदबाजी कोच रहे वेंकटेश प्रसाद ५ अक्टूबर से शुरू होने वाली अफगानिस्तान प्रीमियर लीग (एपीएल) में नांगरहर फ्रेंचाइजी के मुख्य कोच होंगे। इस लीग में पांच फ्रेचाइजी टीमें नांगरहर लियोपाड्र्स, काबुल जवानन, पाकतिया पैंथर्स, बाल्क लीजेंड्स और कंधार नाइट्स भाग लेंगी। टूर्नमेंट का प्रसारण डीस्पोर्ट पर किया जाएगा। नांगरहर टीम की अगुवाई वेस्ट इंडीज के ऑलराउंडर आंद्रे रसेल करेंगे, जबकि अफगानिस्तान के स्टार स्पिनर राशिद खान काबुल जवानन के कप्तान होंगे। शाहिद अफरीदी को पाकतिया पैंथर्स की कप्तानी सौंपी गई है। अफगान ऑलराउंडर मोहम्मद नबी बाल्क लीजेंड्स के कप्तान बनाए गए हैं, जिसकी तरफ से क्रिस गेल भी खेलेंगे। ब्रैंडन मैकुलम कंधार नाइट्स की अगुवाई करेंगे।
डेविड जानको चयन समितिसे हटाया
नयी दिल्ली (एजेन्सियां)। हॉकी इंडिया ने कुछ सीनियर खिलाडिय़ों के खिलाफ 'पक्षपातपूर्ण रवैयाÓ जाहिर करने की वजह से हाई परफार्मेंस निदेशक डेविड जान को पुरूष सीनियर टीम की चयन समिति से बाहर कर दिया। एशियाई खेलों में भारत के निराशाजनक प्रदर्शन की चर्चा मीडिया से करने वाले जान से हॉकी इंडिया खफा है। महासचिव राजिंदर सिंह को लिखे पत्र में हॉकी इंडिया के नये अध्यक्ष मोहम्मद मुश्ताक अहमद ने कहा कि जान नवंबर दिसंबर में होने वाले विश्व कप के लिये भारतीय टीम चुनने वाली चयन समिति का हिस्सा नहीं होंगे। सूत्रों ने कहा कि जान अब किसी भी चयन समिति में नहीं होंगे। उन्होंने कहा, मैं इस बात से खुश नहीं हूं कि जान ने एशियाई खेलों में भाग लेने वाले खिलाडिय़ों के प्रदर्शन पर चर्चा की। हम सार्वजनिक रूप से खिलाडिय़ों के व्यक्तिगत प्रदर्शन पर टिप्पणी नहीं करते और जान ने ऐसा करके प्रोटोकाल तोड़ा है। उन्होंने कहा, जान पुरूष टीम के कुछ सीनियर खिलाडिय़ों के खिलाफ बोले हैं लिहाजा वह विश्व कप के लिये सीनियर चयन समिति का हिस्सा नहीं होंगे।
यह फैसला इसलिये लिया गया है ताकि किसी के भी जेहन में चयन के समय कोई पूर्वाग्रह नहीं रहे। सूत्र ने यह भी कहा कि तोक्यो ओलंपिक २०२० तक जान का करार सुरक्षित है।

युवी विजय हजारे ट्रॉफीमें शतकसे चूके
बैंगलुरू (एजेन्सियां)। युवराज सिंह ने टीम इंडिया में जगह पाने का उम्मीद नहीं छोड़ी है। उन्होंने एक बार फिर धमाकेदार पारी खेली है। ३६ साल के युवराज ने विजय हजारे ट्रॉफी के मुकाबले में अपने पुराने रंग में दिखे। हालांकि वह महज चार रन से अपना शतक चूक गये, लेकिन उनकी टीम पंजाब ने रेलवे पर ५८ रनों से जीत हासिल की। तीसरे नंबर पर उतरे युवराज ने १२१ गेंदों की पारी में ९६ रन बनाये। जिसमें उनके ५ छक्के और ६ चौके शामिल रहे। उनकी यह पारी जरूर धीमी रही, लेकिन यह पारी आगे के मैचों में उनके आत्मविश्वास को बढ़ाने में मददगार साबित होगी।
इस धुरंधर बल्लेबाज की नजर टीम इंडिया में जगह हासिल करने पर है। युवराज २०१९ वल्र्ड कप के बाद ही अपने संन्यास पर फैसला लेंगे। सिक्सर किंग युवराज कह चुके हैं, इस बीच मुझे जितना भी क्रिकेट खेलने को मिलेगा वो अलग बात है, लेकिन मैं संन्यास पर फैसला २०१९ वल्र्ड कप के बाद ही लूंगा। रेलवे के खिलाफ इसी ५० ओवरों के मैच में शुभमान गिल ने ३९ गेंदों पर ५३ रन बनाए। गुरकीरत सिंह ने ९६ गेंदों में १०१ रनों की जोरदार पारी खेली।