Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


स्मिथ, वार्नरको न चुनना भारतकी गलती नहीं-गावसकर

नयी दिल्ली (एजेन्सियां)। भारत की आस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक जीत की पूर्व क्रिकेटरों ने जमकर तारीफ की और अपने जमाने के दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने उन आलोचकों को भी करारा जवाब दिया जिन्होंने कमजोर आस्ट्रेलियाई टीम की बात कहकर इसे कम आंकने की कोशिश की। भारत ने चार मैचों की शृंखला २-१ से जीती जो उसकी आस्ट्रेलियाई सरजमीं पर टेस्ट शृंखला में पहली जीत है। आस्ट्रेलिया ने चार मैचों की शृंखला में लचर प्रदर्शन किया और अगर मौसम खराब नहीं होता तो भारत का जीत का अंतर इससे बेहतर होता। कहा जा रहा है कि गेंद से छेड़छाड़ के कारण प्रतिबंध झेल रहे स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर की अनुपस्थिति के कारण भारत को यह जीत मिली लेकिन गावस्कर ने इसे मानने से इन्कार कर दिया। गावस्कर ने मैच के बाद सोनी सिक्स पर कार्यक्रम में कहा आस्ट्रेलियाई टीम अगर डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ के बिना खेली तो यह भारत की गलती नहीं है। आस्ट्रेलिया उन पर कम अवधि का प्रतिबंध लगा सकता था लेकिन निश्चित तौर यह माना गया कि एक साल का प्रतिबंध आस्ट्रेलियाई क्रिकेट के लिये अच्छा साबित होगा क्योंकि वे एक उदाहरण पेश करना चाहते थे। उन्होंने कहा भारत के सामने जो टीम उतारी गयी वह उससे खेला और यह बहुत बड़ी उपलब्धि है। गावस्कर के अनुसार कोहली की टीम और पूर्व की टीमों में मुख्य अंतर फिटनेस का है। उन्होंने कहा हम भी जीत के लिये खेले थे लेकिन फिटनेस के मामले में यह टीम भिन्न स्तर पर है और कप्तान इसमें उदाहरण पेश करता है।
हमारे समय में हम निजी तौर पर अपनी फिटनेस पर ध्यान देते थे। इस बीच कई पूर्व क्रिकेटरों और प्रशासकों ने ट्विटर पर भारत को जीत की बधाई दी। बिशन सिंह बेदी ने कहा भारतीय टीम को दक्षिण अफ्रीका और इंगलैण्ड की हार से उबरकर इस शानदार जीत के लिये बधाई। आस्ट्रेलिया को उसकी सरजमीं पर हराना वास्तव में उल्लेखनीय उपलब्धि है। चेतेश्वर पुजारा और जसप्रीत बुमराह ने निरंतरता दिखायी। पूरी टीम की प्रतिबद्धता से मिली जीत। वीवीएस लक्ष्मण ने कहा आस्ट्रेलिया में इस ऐतिहासिक जीत के लिये भारतीय टीम को बधाई। यह संपूर्ण टीम के प्रयासों का नतीजा है। खिलाडिय़ों ने मैदान पर जो कुछ किया वह आनंद और संतुष्टि की असीम अनुभूति प्रदान करता है। आओ इस विशेष जीत का जश्न मनाये।  वीरेंद्र सहवाग ने कहा भारतीय टीम को इस यादगार जीत के लिये बधाई। प्रत्येक भारतीय क्रिकेट प्रेमी को इस जीत पर बहुत गर्व होगा। टीम के प्रत्येक सदस्य ने विशेष प्रयास से यह परिणाम सुनिश्चित किया। हरभजन सिंह ने कहा मुझे आप पर गर्व है। आस्ट्रेलिया में शृंखला जीतने पर भारतीय टीम को बधाई। मैन आफ द शृंखला चेतेश्वर पुजारा भारतीय बल्लेबाजी की रीढ रहे। यह फार्म बरकरार रखो। गेंदबाजी में जसप्रीत बुमराह का जवाब नहीं। सुरेश रैना ने कहा आखिरी बार आपने कब पहली बार कुछ किया। भारत की आस्ट्रेलिया में टेस्ट शृंखला में पहली ऐतिहासिक जीत। भारतीय टीम का बेहतरीन प्रयास। यह भले ही बारिश में खत्म हो गया लेकिन इससे जश्न पर असर नहीं पड़ा। मुझे गर्व है। आस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज मिशेल जानसन ने कहा भारतीय क्रिकेट टीम को इतिहास रचने पर बधाई। आस्ट्रेलिया में पहली बार जीतना भारत में सभी के लिये गौरवशाली क्षण है।
-----------------
भारतीय गेंदबाजी आक्रमण सर्वश्रेष्ठ-पेन
सिडनी (एजेन्सियां)। भारत से टेस्ट शृंखला हारने के बाद आस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने सोमवार को स्वीकार किया कि भारत का मौजूदा गेंदबाजी आक्रमण दुनिया का सर्वश्रेष्ठ आक्रमण है। भारतीय गेंदबाजों ने उनके बल्लेबाजों को भारी दबाव में ला दिया जिससे मेहमान टीम आस्ट्रेलियाई सरजमीं पर पहली टेस्ट शृंखला अपने नाम करने में सफल रही। एससीजी पर चौथा और अंतिम टेस्ट मैच ड्रा रहा जिससे भारतीय टीम ने शृंखला २-१ से जीत ली। इसके बाद पेन ने कहा यह भारतीय आक्रमण सचमुच काफी अच्छा था मुझे नहीं लगता कि आस्ट्रेलिया में हमने उन्हें इसका श्रेय दिया कि वे कितने निरंतर रहे हैं। तीन तेज गेंदबाजों ने काफी तेज रफ्तार से गेंदबाजी की वे दबाव बनाने में निरंतर रहे। उन्होंने कहा इसलिये उनके गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ बल्लेबाजी करना काफी मुश्किल था। मार्कस (हैरिस) और ट्रेविस (हेड) का दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ रन बनाना सचमुच काफी सकारात्मक था। भारत ने एडीलेड में पहले और मेलबर्न में तीसरे टेस्ट में जीत हासिल की जबकि आस्ट्रेलियाई टीम पर्थ में दूसरे मैच में जीती थी और चौथा टेस्ट ड्रा रहा। पेन ने कहा कि एडिलेड टेस्ट मैच उनकी टीम के पक्ष में जा सकता था लेकिन भारत ने अहम क्षणों में जीत के बाद शृंखला अपने नाम कर ली। उन्होंने कहा ईमानदारी से मुझे लगता है कि हमने एडीलेड टेस्ट हाथ से गंवा दिया। हमें लगा कि उस टेस्ट के दौरान हमें कई मौके मिले और जब भी ये मौके आये तो सच कहूं तो भारत ने इन्हें लपक लिया।
अब उसे सोचते हुये लगता है कि अगर हम उस टेस्ट में जीत गये होते तो यह नतीजा २-१ से हमारे पक्ष में हुआ होता। इस विकेटकीपर ने कहा यह थोड़ा अजीब लगता है कि चार टेस्ट की बड़ी शृंखला में पहले ही टेस्ट में कुछ मौके बने जिसे हमने गंवा दिया और भारत ने हमें हरा दिया जिसके बाद शृंखला का अंत इस तरह हुआ इसे पचा पाना सचमुच काफी मुश्किल है। पेन ने कहा इस शृंखला से पहले हमें लगा कि आस्ट्रेलिया में हम भारत को हरा सकते हैं। लेकिन पूरी शृंखला के दौरान भारत ने बड़े मौकों का फायदा उठाया विराट ने रन बनाये, पुजारा ने रन बनाये, बुमराह ने शानदार गेंदबाजी स्पैल फेंका। इसी तरह से आप टेस्ट मैच जीत सकते हैं इसलिये भारत ने यह शृंखला जीत ली।