Latest News TOP STORIES

नयी शिक्षा नीति, टीबी मुक्तिसे संवरेगा भविष्य-आनंदीबेन

आंगनबाड़ी प्रशिक्षण कार्यक्रम का किया उद्घाटन, उद्यमियों से संवाद
वाराणसी (का.प्र.) । उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि प्रदेश का भविष्य संवारने के लिये शिक्षा, स्वास्थ्य को सुधारना अत्यंत आवश्यक है। ऐसे में नई शिक्षा नीति और टीबी मुक्ति अभियान को धार देना होगा। इसके लिये जरूरी है कि जागरुकता के साथ इस दिशा में कार्य किया जाय। प्रशासन, स्वास्थ्य कर्मियों, उद्यमियों और अन्य वर्ग को इसमें आगे आने के लिये उन्होंने प्रेरित भी किया। अपने चार दिवसीय दौरे पर वाराणसी पहुंची राज्यपाल अलग-अलग कार्यक्रमों में शामिल हुईं और शिक्षा, स्वास्थ्य सहित अन्य बिंदुओं पर विचार व्यक्त किये। बीएचयू के विज्ञान संकाय में जिला प्रशासन एवं विद्या भारती के सहयोग से आयोजित आगनवाड़ी के तीन दिवसीय कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति में बहुत बल है। भारत का भविष्य करने के लिए बच्चों को संस्कारित शिक्षा से बढ़ाया जाए। मातृभाषा से सीख जल्दी होती है और नई शिक्षा नीति में इसका समावेश है। कहा कि आंगनवाड़ी में आने से पहले बच्चे ने घर में क्या देखा, क्या सुना, कैसा व्यवहार देखा, कैसे बात की वही सब लेकर आंगनवाड़ी में आता है और वैसा ही करता है। इसको आंगनवाड़ी में समझना होगा कि बच्चे में क्या क्वालिटी है तथा कमी भी पता चलेगी। राज्यपाल ने कहा कि संसाधनों की कमी नहीं है। आंगनवाड़ी केंद्र को अनुपमशाला बनाएं। वाराणसी के साड़ी इंडस्ट्रीज और माइक्रो स्मॉल एंड मीडियम इंटरप्राइजेज, एमएसएमई के कार्यक्रम में राज्यपाल ने उद्यमियों से टीवी से ग्रसित बच्चों एवं आंगनवाड़ी केंद्रों को गोद लेकर समाज का सहयोग करने की अपील की। उन्होंने टीवी से ग्रसित बच्चों एवं आंगनवाड़ी केंद्रों को गोद लेकर उनकी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए सामाजिक सहयोग के प्रति लोगों को सामाजिक दायित्व का बोध कराते हुए सहयोग के लिए प्रेरित किया। कहा कि बच्चे ही देश का भविष्य हैं। जब वही कुपोषित होंगे तो भविष्य कैसे बनेगा। देश की जितनी आबादी है, सरकार अपने स्तर पर हर क्षेत्रों में बहुत बड़े पैमाने पर लोगों के जीवन स्तर को सुधारने एवं सामाजिक कार्यों को कर रही है। लेकिन इस कार्य में समाज के उद्यमियों एवं प्रबुद्ध जनों को भी बढ़ चढ़कर आगे आकर अपने सामाजिक दायित्व का निर्वहन करना होगा। इस दौरान शिक्षा मंत्री, जिलाधिकारी सहित तमाम वरिष्ठï अधिकारी मौजूद रहे।