Latest News TOP STORIES गोरखपुर प्रदेश

प्राथमिकताके आधारपर सबको लगेगा टीका-मुख्य मंत्री

वैक्सीनके लिए न करें हड़बड़ी
गोरखपुर(एजेंसी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना टीकाकरण में भगदड़ न मचाएं। वैक्सीन लगवाने के लिए हड़बड़ी न करें। प्राथमिकता के आधार पर बारी-बारी से सबको टीका लगेगा। टीकाकरण के लिए जब जिसे, जहां बुलाया जाए, वही पहुंचे। अनावश्यक भीड़ लगाने से बचें। मुख्यमंत्री बुधवार को दो दिवसीय गोरखपुर महोत्सव के समापन समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मकर संक्रांति के बाद 16 जनवरी से कोरोना पर अंतिम प्रहार के लिए पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व और मार्गदर्शन में कोरोना टीकाकरण का महा अभियान शुरू हो रहा है। वैक्सीन की सुविधा सभी के लिए होगी। छीनाझपटी वाली प्रवृत्ति से बचना होगा। उतावलापन भी नहीं, मान कर चलिए कि सभी की बारी जरूर आएगी। कोई अव्यवस्था नहीं, जब बारी आएगी तभी वैक्सीन लगेगी। उस बारी के साथ देश की कोरोना के खिलाफ लड़ाई को आगे बढ़ाएंगे। योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना के खिलाफ जंग में देश के प्रयासों और नतीजों को पूरी दुनिया ने सराहा है। सबसे अधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश के मॉडल की सराहना विश्व स्वास्थ्य संगठन तक ने की है। अब यह लड़ाई अंतिम दौर में आ गई है। संयम और धैर्य से देश निश्चित तौर पर कोरोना को हराने में सफल होगा। योगी ने रामगढ़ झील से सी-प्लेन सेवा जल्द शुरू करने का ऐलान किया। यह प्लेन एयरपोर्ट के साथ पानी में भी उतर सकेगा। उन्होंने कहा कि गोरखपुर से आज देश के सभी प्रमुख शहरों के लिए नौ फ्लाइट हैं। जल्द ही कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट चालू होने के बाद अंतरराष्ट्रीय उड़ानें भी शुरू हो जाएंगी। आने वाले दिनों में यदि किसी को आवश्यकता पड़ेगी तो वह सर्किट हाउस के पास रामगढ़झील से सी-प्लेन पकड़ कर देश के किसी भी कोने में पहुंच जाएगा। योगी ने आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर को विकास की आवश्यकता बताते हुए कहा कि इसका लाभ लोगों को मिलना चाहिए। इससे युवाओं के समक्ष रोजगार और स्वयं को आत्मनिर्भर बनाने के अवसर उपलब्ध होंगे। इस सेवा के साथ गोरखपुर में रोड और एयर कनेक्टिविटी की स्थित और मजदूत होगी। उन्होंने कहा कि जल्द ही सी-प्लेन के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने लोगों को मकर संक्रांति की शुभकामनाएं दीं। इस दौरान मंच पर एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और पर्यटन राज्य मंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी भी मौजूद रहे।