Latest News TOP STORIES प्रदेश

यूपीमें वैक्सीनका अंतिम ड्राई रन,१६ से टीकाकरण

लखनऊ (आससे)। पूरे उत्तर प्रदेशमें आज कोरोनाके टीका करणके लिए अंतिम ड्राईरन हुआ। १६ से टीका करण शुरू हुआ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार सुबह लखनऊ सिविल अस्पताल पहुंचकर कोरोना वैक्सीन के ड्राईरन के ट्रायल और वैक्सीनेशन की तहत चल रही तैयारियों का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री योगी सिविल अस्पताल सोमवार सुबह नौ बजकर 44 मिनट पर पहुंचे। करीब छह मिनट यहां रूककर सुविधाएं देखी। उन्होंने रजिस्ट्रेशन हाल, वैक्सीनेशन और परीक्षण कक्ष का निरीक्षण किया। ड्राई रन के ट्रायल में शामिल 15 स्वास्थ्य मौजूद थे। तय समय पर शुरू हुआ। मुख्यमंत्री सिविल अस्पताल में आखिरी ड्राईरन की तैयारियों से संतुष्ट दिखे। निरीक्षण के पश्चात मुख्यमंत्री ने आगामी 16 जनवरी से प्रदेश में प्रारम्भ किए जा रहे कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान के सम्बन्ध में जनपदों की व्यवस्थाओं की लोक भवन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की तथा अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सभी के सहयोग से कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने में जिस प्रकार सफलता मिली है, उसी प्रकार कोरोना वैक्सीनेशन अभियान को पूरी प्रतिबद्धता से संचालित किया जाए। उन्होंने कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य प्रत्येक दशा में भारत सरकार की गाइडलाइन्स के अनुरूप संचालित किए जाने के निर्देश दिए हैं। वैक्सीनेशन कार्य को अन्तर्विभागीय समन्वय के माध्यम से किए जाने के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग वैक्सीनेशन अभियान में नोडल विभाग के रूप में कार्य करेगा। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मुख्यमंत्री ने जनपद मेरठ, सिद्धार्थनगर, वाराणसी, गोरखपुर तथा लखनऊ के जिलाधिकारियों तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारियों से संवाद स्थापित कर उनके जनपद में वैक्सीन की कोल्ड चेन, स्टोरेज, ट्रांसपोर्टेशन तथा कार्मिकों के प्रशिक्षण, वैक्सीनेशन बूथ की स्थापना आदि कार्यों के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आज संचालित किया जा रहा ड्राई रन, कोविड वैक्सीनेशन अभियान में अत्यन्त उपयोगी सिद्ध होगा। बैठक में अवगत कराया गया कि प्रदेश के 1500 स्थानों पर कोरोना वैक्सीनेशन का ड्राई रन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के दृष्टिगत प्रत्येक स्तर पर सावधानी बरती जाए। लोगों को कोरोना से बचाव के बारे में निरन्तर जागरूक किया जाए। कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ बनाए रखा जाए। उन्होंने जनपद स्तर पर स्थापित इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर को पूरी सक्रियता से कार्यशील रखने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कोरोना संक्रमण की चेन को तोडऩे में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा सर्विलांस सिस्टम की उपयोगी भूमिका पर बल देते हुए इन कार्यों को पूरी प्रतिबद्धता से संचालित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की मेडिकल टेस्टिंग का कार्य पूरी क्षमता से किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी सरकारी तथा निजी अस्पतालों में फायर सेफ्टी के प्रबन्धों का सत्यापन कार्य प्राथमिकता पर सम्पन्न हो। उन्होंने ‘102Ó तथा ‘108Ó एम्बुलेंस सेवाओं को और बेहतर करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए एम्बुलेंस सेवाओं को मण्डल स्तर पर विकेन्द्रित करते हुए इनका सुचारु संचालन सुनिश्चित किया जाए। वहीं केजीएमयू में डीएम ने कोरोना वैक्सीनेशन का फाइनल रिहसर्ल का निरीक्षण किया। वहीं 11 जनवरी को वैक्सीनेशन का फाइनल ड्राइ रन शुरू हुआ। यह ड्राई रन कोरोना वैक्सीन अभियान शुरू करने की तर्ज पर चल रहा है। ऐसे में वैक्सीन के सुरक्षित डिलेवरी व वापसी भी सुनिश्चित की जा रही है। इसके लिए पुलिस की निगरानी में हेल्थ टीम कोल्ड बॉक्स लेकर वाहनों से रवाना हुई। डिस्ट्रिक इम्युनाइजेशन ऑफीसर डॉ. एमके सिंह के मुताबिक सोमवार को 61 अस्पतालों में वैक्सीनेशन शुरू हो गया है। हर साइट पर 15 लाभार्थियों को ट्रायल के लिए बुलाया गया है। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग, पुलिस, प्रशासन, प्राइवेट अस्पतालों के नोडल ऑफीसर, आंगनबाड़ी सुपरवाइजरों ने व्यवस्था पर नजर रखी। हेल्थ वकर्र ने 10 से 12 बजे तक वैक्सीनेशन पूर्वाभ्यास प्रोटोकॉल के अनुसार करेंगे। वहीं डिस्ट्रिक वैक्सीन स्टोर के अलावा 21 कोल्ड चेन प्वाइंट बनाए गए हैं। मुख्य स्टोर से 21 कोल्ड प्वाइंट पर वैक्सीन भेजने का अभ्यास किया गया। इसके बाद 61 अस्पतालों से शेष वैक्सीन भेजने का रिहर्सल किया गया।