पटना

नाबार्ड बिहार की विभिन्न योजनाओं पर खर्च करेगा 5 हजार करोड़ : सुनील

पटना (आससे)। नाबार्ड क्षेत्रीय कार्यालय, पटना के मुख्य महाप्रबंधक सुनील कुमार ने कार्यालय सभागार में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि वर्ष २०१९-२० में नाबार्ड ने बिहार में कुल ४१४७ करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता विभिन्न रूपों में दिया था। जिसमें वाणिज्यिक बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, सहकारी बैंकों एवं सूक्ष्म ऋण संस्थानों को दी गयी पुनर्वित सहायता तथा राज्य सरकार को ग्रामीण आधारभूत ढांचा तथा सिंचाई परियोजनाओं के लिए भी सस्ते ब्याज पर दी गयी ऋण सहायता भी शामिल है।

उन्होंने बताया कि इसके अलावे राज्य में चल रहे जनजातीय विकास कार्यक्रम, वाटर शेड विकास कार्यक्रम, स्वयं सहायता समूहों का उद्यमिता विकास कार्यक्रम, कृषक उत्पादन संगठनों का निर्माण एवं संवद्र्धन जैसे अन्य कार्यक्रमों के लिए भी नाबार्ड द्वारा अनुदान सहायता प्रदान की गयी। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि ३१ मार्च २०२१ तक नाबार्ड द्वारा बिहार के विभिन्न योजनाओं के लिए ५००० करोड़ रुपये तक का अनुदान सहायता दिया जायेगा।

उन्होंने बताया कि नाबार्ड बिहार में ग्रामीण आधारभूत संरचना के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। राज्य में ग्रामीण इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए वर्ष २०१९-२० के दौरान नाबार्ड ने १८३४ करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता दी थी। उन्होंने बताया कि बिहार सरकार को अब तक विभिन्न परियोजनाओं के लिए कुल १५,२०१ करोड़ रुपयों से अधिक की वित्तीय सहायता नाबार्ड द्वारा स्वीकृत की गयी है। इन परियोजनाओं में सडक़ों, पुलों, सिंचाई, ग्रामीण भंडारण, आईटी केन्द्र, ग्रामीण पेयजल व्यवस्था एवं कृषि कार्यों से संबंधित है।

इस अवसर पर एजीएम सावन प्रकाश ने बिहार में नाबार्ड द्वारा किये जा रहे अनुदान सहायता की विस्तार से चर्चा की। संवाददाता सम्मेलन में डीजीएम मृणाल रंजन सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।