धनबाद

धनबाद: सीबीआई ने जज उत्तम आनंद हिट एंड रन मामले में ठोस सुराग देने वाले को 5 लाख रुपये नकद पुरस्कार देने की घोषणा की


  • सीबीआई ने गुरुवार को मामले की जांच पर झारखंड उच्च न्यायालय में  अपनी पहली रिपोर्ट दायर की थी
  • सीबीआई ने केस अपने हाथ में लेने के बाद ड्राइवर लखन वर्मा और राहुल वर्मा को रिमांड पर लेकर , उनका फोरेंसिक साइकोलॉजी टेस्ट किया और सीन रीक्रिएट किया था 

धनबाद। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने धनबाद के अतिरिक्त जिला न्यायाधीश (एडीजे) उत्तम आनंद की कथित हत्या की योजना बनाने या उसे सुगम बनाने में शामिल किसी भी व्यक्ति के बारे में विश्वसनीय जानकारी देने वाले को 5 लाख रुपये का नकद इनाम देने की घोषणा की है।

यदि किसी व्यक्ति को उत्तम आनंद की हत्या से संबंधित किसी भी प्रकार की महत्व जानकारी है तो वह कृपया सीबीआई, विशेष अपराध-I, नई दिल्ली, कैंप सीएसआईआर सत्कार गेस्ट हाउस, धनबाद को फोन नंबरों पर सूचित कर सकता है। सीबीआई के नोटिस में कहा गया है कि अपराध के संबंध में सार्थक जानकारी देने वाले को 5 लाख रुपये का नकद इनाम दिया जाएगा।

शहर में अलग-अलग जगहों पर चिपकाया गया पोस्टर

मालूम हो की:  एडीजे उत्तम आनंद की 28 जुलाई की सुबह धनबाद में रणधीर वर्मा चौक के पास दैनिक दौड़ के दौरान एक ऑटोरिक्शा की चपेट में आने से मौत हो गई। शुरू में यह घटना एक दुर्घटना लग रही थी, लेकिन सीसीटीवी फुटेज में गड़बड़ी की ओर इशारा किया गया, जिससे हत्या की जांच छिड़ गई। वीडियो में देखा जा सकता है कि गाड़ी एडीजे की ओर दौड़ती है, उसे मारती है और फिर ज़ूम करके जाती है। नतीजा, सुप्रीम कोर्ट और झारखंड उच्च न्यायालय ने मामले का स्वत: संज्ञान लिया था।

 


Leave a Reply

Your email address will not be published.